गर्भाशय के फाइब्रॉइड: 5 चीजें जिन्हें आपको जानना जरूरी है

24 अक्टूबर, 2018

आकार के अनुसार गर्भाशय के फाइब्रॉइड का इलाज अलग-अलग होता है। इसे निकालने के लिए सर्जरी की ज़रूरत हो सकती है या उचित दवा और नियमित जांच भी पर्याप्त हो सकता है।

स्पैनिश सोसाइटी ऑफ़ ओबस्टेट्रिक्स एंड गायनकोलॉजी (एसईजीओ) के अनुसार लगभग 70% महिलाएं अपने जीवन में किसी भी समय गर्भाशय फाइब्रॉइड की समस्या से ग्रस्त हो सकती हैं।

सबसे पहले आपको यह जानने की जरूरत है कि इन फाइब्रॉइड में से केवल 0.5% ही कैंसरकारक बन सकते हैं

लेकिन इनसे जो असुविधा और समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं उन पर भी ध्यान देने की ज़रूरत है। यह निश्चित रूप से काफी ज़रूरी चीज़ है जो हमें याद दिलाती है कि हमें नियमित स्त्री रोग संबंधी जांच कराने की बात नहीं भूलनी चाहिए।

गर्भाशय फाइब्रॉइड को लेयोओमामा (leiomyomas) या फाइब्रोमामास (fibromyomas) के रूप में भी जाना जाता है। यह महिलाओं में ट्यूमर की सबसे आम किस्म है।

यही कारण है कि हम आपको इनके लक्षण, इनकी उत्पत्ति और संभवतः आपके शरीर में होने वाले संभावित परिणामों को पहचानने के 5 तरीके देना चाहते हैं।

हमें यकीन है कि यह जानकारी आपके लिए लाभदायक होगी।

1 . गर्भाशय के फाईब्रॉइड: ये क्या हैं और क्यों होते है?

बहुत सी महिलाएं एक ही चीज के बारे में शिकायत करती हैं; कि वे स्वस्थ जीवन जीती हैं, अपने यौन स्वास्थ्य का काफी ख्याल रखती हैं, वे समय-समय पर स्त्री रोग संबंधी जांच भी करवाती हैं और फिर भी न जाने क्यों  कुछ समय बाद उन्हें गर्भाशय के फाइब्रॉइड हो जाते हैं।

गर्भाशय फाईब्रॉइड

तो ऐसा क्यों होता है? सच्चाई यह है कि, हम अभी भी नहीं जानते कि वास्तव में उनका क्या कारण है। आशंका है कि जेनेटिक्स उनके विकास में भूमिका निभाती है, लेकिन हम नहीं जानते कि वे वास्तव में कैसे पैदा होते हैं।

गर्भाशय में कई परतें होती हैं। उनमें से एक मायोमेट्रियम (myometrium) है।

  • एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरोन जैसे स्त्री हार्मोन, मायोमेट्रियम में छोटी-छोटी गांठों के विकास को प्रोत्साहित करते हैं जो धीरे-धीरे फाइब्रॉएड में बदल सकते हैं।
  • ये गर्भाशय फाइब्रॉइड अगर गर्भाशय की सतह पर हों तो सबसेरोसल (subserosal), अगर  गर्भाशय के अंदरूनी हिस्से में स्थित हों तो या इंट्रामरल फाइब्रॉइड (intramural fibroids) में, और गर्भाशय के भीतर स्थित होने पर सबम्यूकोसल फाइब्रॉइड (submucosal fibroids) में विकसित हो सकते है।

सबसेरोसल फाइब्रॉइड मुश्किल से किसी लक्षण को पेश करते हैं। लेकिन इंट्रामरल और सबम्यूकोसल फाइब्रॉएड एंडोमेट्रियम को प्रभावित करते है और रक्तस्राव, दर्द या सबसे चरम मामलों में, बांझपन का कारण बन सकते हैं।

गर्भाशय में अनुचित रक्त प्रवाह गर्भाशय फाइब्रॉएड का कारण बनता है, जिससे गंभीर दर्द और गर्भपात भी हो सकता है।

2 . गर्भाशय के फाइब्रॉइड से पीड़ित होने का सबसे बड़ा खतरा किसे है?

डॉक्टरों का मानना है कि ये आमतौर पर 35 से 55 वर्ष की आयु वर्ग के बीच दिखाई देते हैं और 45 से 55 वर्ष की आयु वर्ग के लोगों के बीच सबसे आम हैं।

  • इस तरह का दबा हुआ ट्यूमर फर्टाइल अवधि के दौरान आमतौर पर दिखाई देता है।
  • अगर आपकी मां को ये हो चुका है, तो आपमें गर्भाशय फाइब्रॉइड के विकास की संभावना हो सकती है।
  • गर्भाशय फाइब्रॉइड से पीड़ित होने का जोखिम ज्यादा होता है यदि आपका वजन ज्यादा है और कभी भी आपने बच्चे को जन्म नहीं दिया है।

3. गर्भाशय के फाइब्रॉइड के लक्षण

आपको यह ध्यान में रखना चाहिए कि लगभग 30% महिलाओं को लक्षणों का अनुभव नहीं होता है। आपके स्त्री रोग विशेषज्ञ द्वारा नियमित जांच ही निश्चित रूप से पता लगा सकती है कि आपको गर्भाशय के फाइब्रॉइड हैं या नहीं।

गर्भाशय फाइब्रॉइड और इसके लक्षण में से एक पेट दर्द

आइए उन सबसे स्पष्ट लक्षणों पर नज़र डालें जो ज्यादातर महिलायें अनुभव करती हैं:

  • मासिक धर्म के दौरान भारी रक्तस्राव
  • मासिक धर्म के अलावा रक्तस्राव
  • मासिक धर्म के दिनों की अवधि बहुत अधिक हो रही हो
  • फेरोपेनिक एनीमिया का अनुभव
  • सूजन और थकान
  • वजन बढ़ना
  • संभोग के दौरान दर्द
  • अधिक बार पेशाब करने की आवश्यकता हो

4 . गर्भाशय के फाइब्रॉइड के लिए क्या ट्रीटमेंट हैं?

एक या एक से अधिक गर्भाशय फाइब्रॉइड के पता लगते ही सबसे पहली बात आती है कि आपको सर्जिकल हस्तक्षेप की आवश्यकता हो सकती है।

  • ऐसी स्थिति हर बार नहीं होती है। छोटे गर्भाशय फाइब्रॉइड का इलाज एक विशिष्ट दवा और नियमित जांच के साथ किया जा सकता है।
  • यदि फाइब्रॉइड बहुत बड़ा है, या कोई मामूली दवा फायदा नहीं दे रही है, तो आपके पास इसे हटाने के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं होगा।
  • आप गर्भाशय को प्रभावित किए बिना एक मायोमेक्टोमी (फाइब्रॉइड निष्कर्षण) या एक हिस्टरेक्टॉमी करवा सकती हैं, जो गर्भाशय का आंशिक या पूर्ण निष्कासन होता है।
  • हालांकि, बहुत से विशेषज्ञ यूलिप्रिस्टेल एसिटेट (ulipristal acetate) के साथ चिकित्सा करवाने की सलाह देते हैं। यह एक प्रोजेस्टोरोन मॉडरेटर है जो गर्भाशय फाइब्रॉइड की उपस्थिति को काफी कम करता है।

5. गर्भाशय फाइब्रॉइड और प्रजनन क्षमता

आमतौर पर फाइब्रॉइड का लक्षण पता चलने पर महिलाओं के पास सबसे आम संदेहों में से एक यह होता है कि वे गर्भवती हो सकती हैं या नहीं।

हालांकि, यह आपकी उम्र पर निर्भर करता है। क्योंकि यह प्रजनन वाली उम्र के दौरान महिलाओं में होने वाला एक बहुत ही आम शांत ट्यूमर है, और यह निश्चित रूप से सबसे आम डर में से एक है।

एक्सपर्ट निम्नलिखित सुझाव देते हैं:

  • जब ट्यूमर बड़े होते हैं, तो वे गर्भावस्था की प्रजनन समस्याओं या जटिलताओं का कारण बन सकते हैं
  • महिलाएं जो मायोमेक्टोमीज़ से गुजरती हैं, मायक्टोमी हटाने के बाद भी गर्भवती हो सकती हैं।
  • फाइब्रॉइड गर्भपात का कारण बन सकता है, यही कारण है कि गर्भावस्था की योजना बनाना एक अच्छा विचार है और यह जानने के लिए एक स्त्री रोग विशेषज्ञ से परामर्श लें कि गर्भावस्था संभव है या नहीं, और जोखिम रहित है या नहीं।
गर्भाशय फाइब्रॉइड और गर्भावस्था

जब गर्भाशय के फाइब्रॉइड 4 सेमी से बड़े होते हैं तो वे गर्भावस्था में गंभीर असुविधाएं पैदा कर सकते हैं। समय से पहले डिलीवरी हो सकती है और पेल्विस में दर्द का अनुभव हो सकता है, और यहां तक कि प्लेसेंटा डिटेचमेंट भी हो सकता है।

अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखें और अपने स्वास्थ्य की देखभाल के लिए अनुभवी डॉक्टर के साथ नियमित चेकअप कराने से कभी न चूकें। वे हमेशा आपको इन महत्वपूर्ण विषयों के बारे में सलाह देंगे।

  • Taylor, D. K., Holthouser, K., Segars, J. H., & Leppert, P. C. (2015). Recent scientific advances in leiomyoma (uterine fibroids) research facilitates better understanding and management. F1000Research, 4(F1000 Faculty Rev), 183. doi:10.12688/f1000research.6189.1
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4513689/
  • Tratamiento de los miomas uterinos mediante ultrasonidos de alta intensidadTreatment of uterine fibroids using high-intensity ultrasound (2013). Antoni Pessarrodona, Jordi Isern, Jordi Rodríguez, Elena Vallejo, Jordi Cassado.
    https://doi.org/10.1016/S0025-7753(13)70049-6
  • Jacoby VL, et al. (2014). Use of medical, surgical and complementary treatments among women with fibroids [Abstract]. DOI:
    10.1016/j.ejogrb.2014.09.004
  • Uterine fibroids: Overview. (2017).
    ncbi.nlm.nih.gov/pubmedhealth/PMH0072719/
  • Sociedad Española de Ginecología. Miomas uterinos. https://sego.es/mujeres/Miomas_uterinos.pdf
  • MedlinePlus. Miomas uterinos. https://medlineplus.gov/spanish/ency/article/000914.htm
  • Obstet Gynecol Clin North Am. Author manuscript; available in PMC 2013 Dec 1. Published in final edited form as: Obstet Gynecol Clin North Am. 2012 Dec; 39(4): 521–533. The Impact and Management of Fibroids for Fertility: an evidence-based approach. doi: 10.1016/j.ogc.2012.09.005
  • Curr Obstet Gynecol Rep. 2016; 5: 81–88. Published online 2016 Apr 25. Fibroids and Infertility. doi: 10.1007/s13669-016-0162-2