वजन घटाने वाली स्वादिष्ट पियर्स, चिया और ओट की पेट भराऊ स्मूदी

01 जुलाई, 2020
पेट भरने की तृप्ति देने के अलावा यह स्मूदी आंतों की स्थिति सुधारने और अतिरिक्त जहरीले तत्वों को खत्म करने में मदद करती है। साथ ही यह तेजी से वजन घटाने में भी मदद करती है।
 

जो लोग डाइटिंग कर रहे हैं उनके लिए वजन घटाने के लिए यह स्वादिष्ट और पेट भराऊ स्मूदी आदर्श है। इसमें कई पोषक तत्व हैं जो हमें भूख महसूस किए बिना आसानी से वजन घटाने में मदद करेंगे।

इस पेट भराऊ स्मूदी के फायदों के बारे में जानें जो आपके लिवर, गुर्दे और आंतों के कामकाज में सुधार करती है। यह आपको स्वस्थ तरीके से वजन कम करने में मदद करेगी।

वजन घटाने के लिए एक पेट भराऊ स्मूदी

अगर आप अपने खानपान में सुधार करके, बिना भूख महसूस किए अच्छी हैबिट अपनाकर वजन कम करने का तरीका ढूंढ रहे हैं, तो आपको ऐसे खाद्यों का चुनाव करना चाहिए जो पेट भरा हुआ महसूस कराते हुए पोषण भी देते हों।

ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जिनमें बहुत अधिक फाइबर होता है। फाइबर सिर्फ आंतों के कामकाज में मदद नहीं करता है, यह आपको लंबे समय तक पेट भरा हुआ महसूस करने में भी मदद करता है।

ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जो नेचुरल मिठास देते हैं। इस तरह आप चीनी वाली दूसरी मिठाई खानेकी आवश्यकता या लोभ महसूस नहीं करेंगे।

स्मूदी आपको इन दो तरह के खाद्य पदार्थों को मिलाने की सुविधा देती है जो मीठे हों और वजन घटाने वाले भी हों जिनकी आपको तलाशा है।

पियर (Pear)

वजन घटाने के लिए एक पेट भराऊ स्मूदी

पियर एक स्वादिष्ट, मीठा और ताज़ा फल है। वे आसानी से पचते हैं और बहुत सारी ऊर्जा और जीवन शक्ति देते हैं।

इनमें फाईबर की ऊँची मात्रा आंतों का कामकाज सुधारती है, जबकि उनमें मौजूद पोटैशियम और आर्बुटिन (arbutin) में तरल पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने का मूत्रवर्धक गुण होता है।

यह आपको पूरे दिन हल्का और भरा-पूरा महसूस करने में मदद करता है।

नाशपाती में कार्बोहाइड्रेट होता है जो शरीर में धीरे-धीरे अवशोषित होता है। फलों की मिठास के साथ वे आपको मिठाई खाने के प्रलोभन से बचने में मदद करते हैं, खासकर सुबह में।

इसे भी पढ़ें : सुबह वजन घटाने में होने वाली 6 गलतियाँ

 

चिया सीड्स


चिया सीड्स एक तरह के प्राकृतिक चमत्कार ही हैं। आकार में छोटे, भूरे रंग के बीज आंतों के कार्यों को रेगुलेट करने और वजन कम करने में आपकी सहायता करने का शानदार उपाय हैं।

उन्हें भिगोने से, चिया बीज म्युसेज मैदा करते हैं जो एक जिलेटिनस, घुलनशील फाइबर देता है और पाचन तंत्र की देखभाल करता है, साथे ही विषाक्त पदार्थों को ख़त्म करता है।

चिया एंटीऑक्सिडेंट है और प्रोटीन, फैटी एसिड और कैल्शियम जैसे मिनरल से  समृद्ध है। इसमें शानदार पेट भराऊ क्शषमता है और यह लिवर के कार्य की देखभाल करने में मदद करता है।

ओट्स या जई


अगर आप उच्च पोषक तत्वों और फाइबर के साथ वजन  कम करना चाहते हैं, ओट्स उन सबसे अच्छे अनाजोने में आटे हैं जिन्हें आप खा सकते हैं।

वे बहुत पेट भरने वाले हैं, आपको ऊर्जा देते हैं और साथ ही आपके नर्वस सिस्टम को शांत करते हैं। यह उस एंग्जायटी से लड़ने के लिए आदर्श है जो हमें खा जाती है।

जो लोग भुत खाने वाले हैं और जो इस पर काबू नहीं कर पाते उन्हें अपने आत्म नियंत्रण को मजबूत करने पर काम करने के लिए ओट्स से बहुत मदद मिल सकती है।

इसे भी पढ़ें : क्या ग्रीन टी वजन घटाने में लोगों की मदद करती है?

कैसे बनायें यह स्मूदी

सामग्री

  • 2 पके पियर्स
  • 1 बड़ा चम्मच चिया सीड्स (14 ग्राम)
  • 3 बड़े चम्मच ओट्स (30 ग्राम)
  • 1 गिलास पानी (200 मिली)
  • स्टीविया (स्वादअनुसार) (वैकल्पिक)

नोट: यदि नाशपाती ऑर्गनिक है, तो आप उन्हें छिलके के साथ खा सकते हैं, जो फाइबर से बहुत समृद्ध होते हैं।

तैयारी

  • गत रात ओट्स और चिया के बीज को पानी के गिलास में डालें। इसे ढक दें और रात भर भीगने दें।
 
  • सुबह जब स्मूदी बनाने का समय हो तो ओट्स और चिया के साथ-साथ पानी भी डालें। दोनों सामग्री के घुलनशील फाइबर के कारण जिलेटिनस दिखेंगी।
  • यदि आप स्मूदी को मीठा बनाना चाहते हैं, तो नाशपाती और स्टीविया के कटे हुए टुकड़ों को स्वाद अनुसार डालें।
  • कम से कम एक मिनट के लिए अच्छी तरह से मिलाएं जब तक कि टेक्सचर एक समान न हो जाए।

इसे कैसे और कब पिएं?

  • इस स्मूदी को पीने का सबसे अच्छा समय सुबह नाश्ते के लिए या सुबह किसी अन्य बिंदु पर है। इसके प्राकृतिक शर्करा से आपको घंटों तक क्रेविंग न करने में मदद मिलेगी।
  • चिया और जई की इसकी सामग्री सुबह में तुरंत आंतों के कार्यों को विनियमित करने में मदद करेगी।
  • आप इस स्मूदी को हर दिन या स्प्राउट्स में मिलाकर पी सकते हैं। उदाहरण के लिए, इसे हर महीने एक महीने के लिए पिएं और फिर ब्रेक लें। आपका शरीर आपको बताएगा कि कब इसकी आवश्यकता है।
 
  • Nutrición. (2017). Archivos de Bronconeumologia. https://doi.org/10.1016/S0300-2896(17)30365-4.

  • Carbajal, A. (2013). Manual de Nutrición y Dietética. Departamento de Nutrición. Facultad de Farmacia. Universidad Complutense de Madrid. https://doi.org/10.1007/s13398-014-0173-7.2.

  • Galarza, V., & Cabrera, G. (2008). Hábitos alimentarios saludables. Nutrición, Salud y Alimentos ….