कंधे का दर्द करें छूमंतर इन आसान घरेलू उपचारों से

हालांकि कंधे का दर्द एक विकट स्थिति है। यह रोज़ के कामों को करना भी असंभव बना देता है। कुछ आसान घरेलू उपचार आपको बिना दवाओं के इससे छुटकारा दिला सकते हैं।
कंधे का दर्द करें छूमंतर इन आसान घरेलू उपचारों से

आखिरी अपडेट: 26 अगस्त, 2018

कंधे का दर्द एक बहुत ही असुविधाजनक और अक्षम कर देने वाली स्थिति है। कंधे के जोड़ से ही आप अपने चारों ओर के वातावरण के साथ कुशलतापूर्वक सामंजस्य स्थापित कर सकते हैं। कई प्रकार की चोटें होती हैं जो कंधे के दर्द, सूजन और गतिहीनता का कारण बन सकती हैं। साथ ही, यदि सही ट्रीटमेंट उपचार ना किया जाए तो सूजन लंबे समय तक चल सकती है।

सबसे पहले यह जान लेना जरूरी है कि कंधे का दर्द एक बहुत ही आम समस्या है। अस्थिभंग या हड्डी टूट जाने के मामलों में आपको डॉक्टर की राय लेनी होगी।

कंधे का दर्द: सबसे आम कारण और निदान 

कंधे के दर्द से संबंधित सबसे आम बीमारियां ये हैं:

  • ऑस्टियोआर्थराइटिस
  • गठिया
  • टेंडिनाइटिस
  • कैल्सिफिक शोल्डर टेंडीनाइटिस
कंधे का दर्द: सबसे आम कारण और निदान 

असुविधा का कारण बनने वाली कई अन्य समस्याएं भी हैं।

अस्थिभंग (Dislocation)

यह तब होता है जब ज्यादा भारी काम करने, खिंचाव या झटके के कारण बांह की हड्डी का ऊपरी सिरा कंधे के सॉकेट से बाहर आ जाता है

कभी-कभी कंधे के चारों ओर के अस्थि बंध (ligaments), टेंडन और मांसपेशियां ढीले हो जाते हैं या फट जाते हैं। ऐसे में आपको अस्थिभंग का सामना करने का खतरा हो सकता है। यदि आप अपनी बांहों को ऊपर उठाने या आगे ले जाने का प्रयास करते हैं तो इससे दर्द और अस्थिरता और अधिक बढ़ जाती है।

बर्साइटिस (Bursitis)

बर्सा या स्नेह-पुटी एक कुशन या गद्दी की तरह कार्य करती है, जो मांसपेशियों और हड्डियों के बीच घर्षण को कम करती है। बर्साइटिस कंधे के अत्यधिक उपयोग से होता है। इसके कारण रोजमर्रा के काम जैसे बालों में कंघी करने या कपड़े पहनने आदि में परेशानी और दर्द की शिकायत हो सकती है।

टेंडिनाइटिस

टेंडन उन संयोजक टिशू फाइबरों से बने होते हैं जो मांसपेशियों और हड्डियों को जोड़ते हैं। टेंडिनाइटिस या टेंडन में सूजन आ जाने का प्रमुख कारण है, सही पॉस्चर के बिना लगातार एक्सरसाइज करना। मोच या ऐसी ही अन्य दुर्घटनाओं के कारण भी यह हो सकता है।

फ्रैक्चर

फ्रैक्चर हड्डी टूटने पर होता है। ऊंचाई से गिरने, खेल के दौरान या गाड़ी से हुए एक्सीडेंट के कारण यह हो सकता है। इसके कारण असहनीय दर्द और सूजन पैदा होती है।

ऑस्टियो आर्थराइटिस 

यह जोड़ों के लगातार घिसते जाने के कारण होता है। लेकिन अक्सर इसे मांसपेशियों और टेंडन में घिसाव और संक्रमण से भी जोड़कर देखा जाता है।  इस के शुरुआती लक्षण सूजन, दर्द और कड़ापन हैं

गठिया (Rheumatoid Arthritis)

यह एक ऑटोइम्यून बीमारी है जो जोड़ों में सूजन पैदा करती है। इसके आम लक्षण हैं, दर्द, सूजन, लाली और आकार बिगड़ जाना।

कंधे के दर्द से बचाव के लिए कुछ निर्देश

  • कभी भी अपनी शारीरिक क्षमता से अधिक श्रम ना करें। यदि आपको लगता है कि जो चीज आप उठाना या ले जाना चाहते हैं, वह अधिक भारी है तो किसी की मदद लेना बेहतर होगा।
  • जिम में वर्कआउट करने के दौरान सावधानी बरतें। बहुत से लोग सोचते हैं कि ज्यादा वजन उठाना उनकी मांसपेशियों को जल्दी मजबूत बनाएगा। लेकिन यदि आप चोट ग्रस्त नहीं होना चाहते और कंधे का दर्द नहीं बुलाना चाहते, तो वजन की मात्रा धीरे-धीरे बढ़ाएं।
  • नियमित व्यायाम करने से आपके स्वास्थ्य में सुधार होता है, चोट से भी आपका बचाव होता है।

किसी भी शारीरिक व्यायाम से पहले वार्म अप करना अनिवार्य है। ऐसा न करने से चोट लगने का खतरा बढ़ जाता है। साथ ही किसी भी शारीरिक गतिविधि के पहले और बाद में स्ट्रेचिंग करना ना भूलें।

कंधे के दर्द से राहत पाने के लिए प्राकृतिक उपाय

ये घरेलू उपाय दर्द से राहत पाने में चमत्कारी रूप से काम करते हैं। कभी-कभी कंधे का दर्द लगातार बना रहता है या यह किसी गंभीर दुर्घटना की वजह से हो सकता है। ऐसी स्थिति में आपको किसी विशेषज्ञ की राय अवश्य लेनी चाहिए, क्योंकि आपको दवाओं की जरूरत हो सकती है।

1. गठिया के दर्द के लिए रोज़मेरी (Rosemary for Arthritic)

सामग्री

आधा कप रोज़मेरी की पत्तियां (100 ग्राम)

एक बड़ा चम्मच लौंग का तेल (15 मिलीलीटर)

एक कप वेजिटेबल ऑयल (250 मिलीलीटर)

बर्तन

बैंडेज

रुई के गोले

तैयारी

  • सभी सामग्रियों को एक बर्तन में गर्म करें।
  • जब यह उबलने लगे तो इसे 2 मिनट के लिए आंच पर छोड़ दें।
  • फिर आँच से उतार कर कुछ देर के लिए रख दें
  • रुई की बॉल को इस में भिगोयें, उसे अपने कंधे पर रखें और पट्टी को उसके चारों ओर अच्छी तरह लपेट दें।
  • रात भर ऐसे ही रहने दें।

2. गठिया के लिए नींबू (Lemon for Arthritis)

कंधे का दर्द: गठिया के लिए नींबू

नींबू के दाहकरोधी गुणों के कारण गठिया के दर्द के लिए इससे बेहतर कुछ नहीं है।

सामग्री

5 नींबूओं का रस

1 बड़ा चमचा शहद (25 ग्राम)

तैयारी

सभी अवयवों को अच्छी तरह घुलने तक मिलाएं।

आराम होने तक हर दिन खाली पेट सेवन करें।

3.मेन्थॉल क्रीम (Menthol Cream)

कंधे का दर्द: मेंथोल

आप अपने दर्द और असुविधा को दूर करने के लिए अपनी स्वयं की  मेंथोलेटेड क्रीम बना सकते हैं। इसे बनाने की आसान विधि नीचे दी गयी है।

सामग्री

1 कप  विचहेज़ल (200 ग्राम)

4 बड़े चम्मच लैनोलिन (60 मिलीलीटर)

6 बड़े चम्मच मेन्थॉल  (90 मिलीलीटर)

तैयारी

  • एक डबल बॉयलर में सारी सामग्री को गर्म करें जब तक यह एक गाढ़ा पेस्ट न बन जाए।
  • आंच से हटाएँ और ठंडा होने दें।
  • जब क्रीम ठंडी और तैयार हो जाए, तो प्रभावित हिस्से पर मालिश करने के लिए इसका इस्तेमाल करें
  • रात भर लगा रहने दें।

इस लेख में बताई गई सभी बातों का ध्यान रखें, विशेष रूप से कंधे के दर्द के कारणों का। दरअसल कंधे का दर्द बहुत ही तकलीफदेह किस्म के दर्द में एक है। इसमें लापरवाही नहीं बरती जानी चाहिए।

यह आपकी रुचि हो सकती है ...
शोल्डर टेंडिनाइटिस के लिए एक्सरसाइज
स्वास्थ्य की ओरइसमें पढ़ें स्वास्थ्य की ओर
शोल्डर टेंडिनाइटिस के लिए एक्सरसाइज

किसी नस के फूलकर लाल हो जाने को टेंडिनाइटिस कहते हैं। कन्धों के हिलाने-डुलाने की क्षमता को कम कर देने वाली इस चोट का जोखिम सिर्फ पेशेवर खिलाड़ियों क...