6 टिप्स वैरिकोज वेन्स को रोकने के लिए

अप्रैल 25, 2020
वैरिकोज वेन्स को रोकने और अपने ब्लड सर्कुलेशन में सुधार करने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है, हर दिन अपने पैरों को कई मिनट तक उठाये रखना। आजमा कर देखें!

वैरिकोज वेन्स (Varicose veins) पतली नसें होती हैं जो आम तौर पर खराब ब्लड सर्कुलेशन के कारण शरीर के निचले हिस्से में उभरती हैं।

ये संकेत देती हैं कि खून को ठीक तरह से वापस हार्ट में लौटने में कोई रुकावट हो रही है। यह किसी सूजनकारी  असंतुलन के कारण भी हो सकता है और नसों में खून को बहने की सहूलियत देने वाले वाल्व के कमजोर होने पर भी हो सकता है।

यह हमेशा एक सौंदर्य समस्या मानी जाती है, यह देखते हुए कि नसें लाल रंग की हैं या जख्म की तरह दिख रही हैं।

इसके अलावा बात जब सेहत की हो तो ये एक समस्या हो सकते हैं क्योंकि वे शरीर में भारीपन की भावना पैदा कर सकते हैं। खराब सर्कुलेशन से दर्द और दूसरे असुविधाजनक लक्षण हो सकते हैं।

सौभाग्य से कुछ आदतों से इसका जोखिम कम हो सकता है। कम उम्र में रूटीन शुरू करने पर यह विशेष रूप से समस्या हो सकती है।

इस आर्टिकल में हम उनकी रोकथाम के लिए 6 महत्वपूर्ण सुझाव देना चाहेंगे।

इन सुझावों से वैरिकोज वेन्स को रोकें

1. वजन पर काबू रखें

वैरिकोज वेन्स : वजन पर काबू रखें

वैरिकोज वेन्स ज्यादा वजन या मोटापे के मुख्य नतीजों में से एक हैं।

ज्यादा वजन खून को नसों में सामान्य रूप से आगे बढ़ने से रोकता है। यह सेल्स में सूजन पैदा करता है।

सुझाव

  • अपने भोजन में कैलोरी और फैट की मात्रा पर काबू पायें।
  • फल, सब्जियों और साबुत अनाज के प्रधानता वाला आहार खाएं।
  • नियमित एक्सरसाइज करें, रोजाना कम से कम 30 मिनट।
  • अगर मोटे हैं, तो एक डॉक्टर की सिफारिशों का पालन करें।

यह भी पढ़े: अपने हॉर्मोन को नियंत्रित करने के 5 घरेलू उपाय

2. आरामदेह जूते पहनें

आरामदेह जूते पहनना देह के निचले हिस्से में खून के आवागमन में आने वाली बाधा को कम करने में निर्णायक हो सकता है।

हाई हील्स उन नसों को कमजोर करती हैं जो खून के गुजरने पर कंट्रोल करती हैं, इससे वाटर रिटेंशन और सूजन की स्थिति पैदा होती है।

सुझाव

  • ऊँची एड़ी के जूते पहनने से बचें। उनकी ऊंचाई दो इंच से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।
  • ज्यादातर समय कम ऊँचाई वाले जूते पहने अच्छी वेंटिलेशन वाले।

3. ज्यादा पानी पियें

जो लोग पर्याप्त पानी नहीं पीते हैं, वे उन लोगों की तुलना में सर्कुलेशन समस्याओं से ज्यादा पीड़ित होते हैं जो पर्याप्त मात्रा में पानी पीते हैं।

पानी शरीर के सही कामकाज के लिए महत्वपूर्ण है और आपके खून को सही स्थिति में बनाए रखने में मदद करता है। यह शरीर के सभी हिस्सों से हृदय तक इसकी वापसी को सुविधाजनक बनाता है।

सुझाव

  • दिन में 6 से 8 गिलास पानी अवश्य पिएं।
  • यदि आपको इसे पीने में समस्या है, तो पानी की जगह फलों के स्वाद वाले पानी, अर्क या जूस पियें।

3. टाइट कपड़े पहनने से बचें

भले ही यह विश्वास करना मुश्किल है, पर बहुत तंग कपड़े वैरिकोज वेन्स और स्पाइडर वेन्स नसों की उपस्थिति को प्रभावित कर सकते हैं।

जींस, स्कर्ट और दूसरे कपड़े पहनना पैरों के सर्कुलेशन में हस्तक्षेप करता है। समय के साथ यह सौंदर्य समस्याओं को बढ़ावा देता है।

सुझाव

  • ढीले, मुलायम और हवादार कपड़े पहनें।
  • पैंट या इसी तरह के कपड़े खरीदते समय अपने शरीर के लिए सही साइज वाले चुनें।

इस लेख को देखें: वेरीकोस वेंस की समस्या से छुटकारा दिलाएंगे ये नेचुरल ट्रीटमेंट

5. वैरिकोज वेन्स को रोकने के लिए अपने पैरों को ऊपर उठाएं


पैरों को ऊंचा करने से यह परिसंचरण में सुधार कर सकता है।

यह एक्सरसाइज दिल के ऊपरी हिस्से में खून की वापसी की सुविधा देता है। यह थका देने वाली स्थितियों से विश्राम को बढ़ावा देता है।

सुझाव

  • संभव हो तो 2 या 3 मिनट तक पैरों को ऊपर उठाएं।
  • यह वर्कडे के अंत में करें।
  • यदि आप एक ही पोजीशन में दिन का ज्यादातर वक्त बिताते हैं, तो इसे अभ्यास में रखें।

6. ज्यादा नमक न खाएं

नमक उन चीजों में एक है जो किचेन में सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाता है। यह कई खाद्य पदार्थों में पाया जाता है। दुर्भाग्य से भोजन से इसे पूरी तरह से निकालना बहुत मुश्किल है।

बहुत से लोग नहीं जानते, ज्यादा मात्रा में इसका सेवन कई स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बनता है। इन स्थितियों में से एक वैरिकोज वेन्स।

यह शरीर में पानी के जमा होने का कारण बनता है और सूजन पैदा करता है। इस वजह से वैरिकोज वेन्स और सेल्युलाइटिस उभरते हैं।

सुझाव

  • नमक का सेवन सीमित करें। इसकी जगह दूसरे स्वस्थ मसाले इस्तेमाल करें।
  • नमक की मात्रा का पता लगाने के लिए सुपरमार्केट में फ़ूड लेबल पढ़ें।
  • मसाले के रूप में कम मात्रा में समुद्री नमक या हिमालयी नमक का उपयोग करने का विकल्प भी चुन सकते हैं।

क्या आप इन नसों को लेकर फिक्रमंद हैं? यहाँ बतायी गयी सिफारिशों पर अमल करें और उन्हें अपनी दिनचर्या का अंग बनायें।