पपीता, सेब और ओट स्मूदी जो आपके पाचन को संतुलित करने में मदद करती है

11 जून, 2020
अपने पाचक गुणों की बदौलत पपीते से बनी यह स्मूदी आपके पाचन के लिए एक बड़ी मददगार हो सकती है। यह नियमित मल त्याग करने में मदद कर सकता है।

जो लोग पाचन की समस्याओं से पीड़ित हैं, उन्हें इस स्वादिष्ट स्मूदी को आजमाना चाहिए। यह पपीता, सेब और ओट्स से बनायी गयी है। इसकी सबसे अच्छी बात यह है कि यह आपके पाचन को संतुलित करने में मदद कर सकती है।

इस आर्टिकल में इस आश्चर्यजनक स्मूदी के गुणों के बारे में जानिये जो आपके पाचन को संतुलित करने में मदद कर सकते हैं और इस तरह पाचन में सहायता करते हैं।

अपने भोजन से पाचन को बेहतर बनाने में मदद करें

पाचन समस्यायें आमतौर पर असंतुलित डाइट का नतीजा है। हालांकि दूसरे शारीरिक और भावनात्मक फैक्टर भी हैं जो आपके पेट, लिवर और आंतों पर असर डाल सकते हैं।

इसके अलावा, आपको यह ध्यान रखना चाहिए कि यदि आप पाचन की गड़बड़ी से पीड़ित हैं तो हर भोजन आपको बेहतर महसूस नहीं कराएगा। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि यह आपके लिए स्वस्थ है या नहीं।

आपको बैलेंस डाइट और अदल-बदलकर तरह-तरह के भोजन खाना चाहिए। उन खाद्य पदार्थों पर ध्यान दें जो आपको बेहतर महसूस कराते हैं। ऐसा करने से आप अपनी डाइट बना सकते हैं।

यहाँ और पढ़ें: नौ खाद्य जो दिलाते हैं गैस्ट्राइटिस से निजात

मेडिसिनल फ़ूड

कुछ खाद्य पदार्थ लगभग सभी के लिए बहुत फायदेमंद हो सकते हैं जो किसी न किसी तरह की पाचन गड़बड़ी के शिकार हैं। नीचे हम आपको उनमें से तीन के बारे में बताएँगे। इन्हें स्मूदी के रूप में एक साथ पिया जा सकता है।

पपीता

पपीता स्मूदी

पपीता एक ट्रॉपिकल फ्रूट है जो चीनी और फाइबर से समृद्ध है। यह अपने हाई बीटा-कैरोटीन कंटेंट के कारण अलग दिखता है। ये इसे इसका विशेष नारंगी रंग देते हैं।

यह विटामिन A, B और C सी का एक स्रोत भी है, इसके एंजाइम, पैपीन (papain) और दूसरे पोषक तत्वों की बदौलत पपीता पाचन के लिए शानदार हो सकता है। इसका कारण यह है:

  • इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं: यह दर्द से राहत देता है और आपके पूरे पाचन तंत्र में सूजन को कम करता है।
  • पाचन को बढ़ावा मिलता है। यह उन खाद्य पदार्थों के लिए विशेष रूप से सच है जो मांस और मछली जैसे प्रोटीन से भरपूर होते हैं।
  • पेट के एसिड को कम कर सकता है।
  • इसके अलावा यह आपकी आंतों को तकलीफ दिए बिना आंतों के मूवमेंट को बढ़ा सकता है।
  • इसके पीसे हुए बीज आंतों के पेरासाईट से लड़ने में मदद कर सकते हैं।

सेब

सेब एक बहुत ही सामान्य फल है। कभी-कभी हम उनकी सराहना नहीं करते हैं क्योंकि हम हमेशा उन्हें पहुंचते हैं।

  • सेब गैस्ट्रिक जूस को उत्तेजित करने में मदद कर सकता है। इसमें मौजूद हिस्टिडाइन अल्सर और गैस्ट्राइटिस के लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है।
  • उनका पेक्टिन आपकी आंतों की गति को ठीक करने में मदद करता है। और अगर आपको कब्ज या दस्त की प्रवृत्ति है तो भी यह काफी फायदेमंद हो सकता है।
  • इस वजह से, यह इर्रिटेबल बोवेल सिंड्रोम जैसी बीमारियों से निपटने में मदद करता है।
  • मैलिक एसिड स्वस्थ लिवर और गाल ब्लैडर को प्रोत्साहित करता है। नतीजतन, यह फैट को पचाने में मदद कर सकता है।
  • सेब में मौजूद घुलनशील फाइबर पाचन के दौरान ग्लूकोज के अवशोषण को धीमा कर सकता है।
  • यह आपके शरीर को क्षारीय बनाने में मदद करता है।
  • यह सांस की बदबू को कम कर सकता है।

हम हमेशा ऑर्गनिक सेब खाने की सलाह देते हैं। क्योंकि यह एक ऐसा फल है जिसे आमतौर पर बहुत ज्यादा कीटनाशकों की ज़रूरत होती है।

जई (Oats)

ओट्स सबसे अच्छे अनाज में से एक है जिसे आप खा सकते हैं। इसका पोषण मूल्य काफी हद तक भरपूर है। वे विटामिन, मीनार फाइबर, और म्युसिलेज से समृद्ध हैं।

स्वास्थ्य के लिए उनके कई फायदों में हम पाते हैं कि ओट्स:

  • में म्युसिलेज (mucilage) होते हैं जो तब निकलता है जब आप जई को भिगोते हैं। ये एक प्रकार के घुलनशील फाइबर हैं जो आपके पाचन के अंदर की चिकनाई और सुरक्षा में मदद करते हैं। यह गैस्ट्राइटीस और कोलाइटिस की समस्याओं के लिए बहुत फायदेमंद हो सकती है।
  • लिवर के कामकाज को प्रोत्साहित करने और अधिक लेसिथिन (lecithin) का उत्पादन करने में आपकी सहायता करता है।
  • काफी पेट भराऊ हैं।
  • बाइल एसिड को कम करने में मदद करता है।
  • कब्ज से लड़ने में मदद करता है।
  • इन पाचन गुणों के अलावा ओट्स आपके नर्वस सिस्टम को नियंत्रित करता है। यह उन लोगों के लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है जो एंग्जायटी होने पर पेट में तितलियाँ महसूस करते हैं।

डिस्कवर: पेट फूलना कम करने के लिए 5 प्राकृतिक नुस्ख़े

आपके पाचन तंत्र के लिए पपीता, सेब और ओट्स स्मूदी

पपीता, सेब और ओट्स

नीचे हम आपको यह बताने जा रहे हैं कि पपीता, सेब और ओट स्मूदी कैसे बनायी जाए। यह आसान है और उतना ही नेचुरल भी।

सामग्री

  • 1 पपीता स्लाइस
  • 1 सेब
  • 2 बड़े चम्मच ओट्स
  • 1 कप पानी
  • मीठा करने के लिए स्टीविया (वैकल्पिक, स्वाद के लिए)

क्या करने की ज़रूरत है?

  • पिछली रात आपको जई को एक कप पानी में भिगोना है।
  • सुबह पानी और ओट्स को सेब (छिलके के साथ अगर वे ऑर्गनिक हों) और पपीता के साथ मिलाएं।
  • चाहें तो पपीते के कुछ बीजों को मिला सकते हैं। हालाँकि 10 से ज्यादा न डालें।
  • यदि आप चाहते हैं कि यह अधिक पतला हो तो ज्यादा पानी डालें।
  • अंत में आप इसे स्टेविया से मीठा कर सकते हैं।
  • Muss, C., Mosgoeller, W., & Endler, T. (2013). Papaya preparation (Caricol®) in digestive disorders. Neuro Endocrinology Letters.
  • Tosh, S. M., & Miller, S. S. (2015). Oats. In Encyclopedia of Food and Health. https://doi.org/10.1016/B978-0-12-384947-2.00497-9
  • Anderson, J. W., Baird, P., Davis, R. H., Ferreri, S., Knudtson, M., Koraym, A., … Williams, C. L. (2009). Health benefits of dietary fiber. Nutrition Reviews. https://doi.org/10.1111/j.1753-4887.2009.00189.x