दालचीनी को घर पर कैसे उगाएं

22 अक्टूबर, 2018
अपनी देखभाल और अपने घर की इंटीरियर डिज़ाइनिंग करने के लिए दालचीनी का कोई मुकाबला नहीं। आज जगह-जगह पनपते शहरी उद्यानों की बदौलत अब आप भी अपने घर में दालचीनी उगा सकते हैं।
 

ज़्यादातर लोग दालचीनी के फायदों से वाकिफ़ नहीं हैं। आमतौर पर मिठाई आदि पकवानों में इसका इस्तेमाल महक लाने के लिए किया जाता है।

लेकिन दालचीनी का  बार-बार सेवन करने का मतलब अपनी सेहत और फिगर का ध्यान रखना होता है।

अगर आपको डायबिटीज है तो दालचीनी आपके लिए बिल्कुल सही सप्लीमेंट है। इसका कारण यह है कि यह भोजन में मौजूद शुगर को सोख लेती है। यानी अपनी सेहत के साथ खिलवाड़ किए बगैर भी आप अपनी मनपसंद मिठाइयों का लुत्फ़ उठा सकते हैं।

डाइटिंग करने वाले लोगों के लिए भी दालचीनी से बेहतर कोई विकल्प नहीं होता। आख़िर चीनी से बड़ा परहेज़ उनके लिए और क्या हो सकता है?

दालचीनी के कुछ अन्य फायदों की बात करें तो यह खून में लिपिड की मात्रा को नियंत्रित करती है। हमारी चरबी को ट्राइग्लिसराइड्स और कोलेस्ट्रॉल में तब्दील करने के पीछे इन्हीं का हाथ होता है।

आप देख सकते हैं, अपने घर पर दालचीनी उगाना एक सूझबूझ-भरा फैसला होगा क्योंकि इसे अपने हिसाब से उगा पाने के साथ-साथ जब चाहें इसका इस्तेमाल भी कर सकेंगे।

घर पर दालचीनी उगाने के लिए ज़रूरी चीजें

दालचीनी उगाने के लिए गार्डनिंग किट

ऑर्गेनिक गार्डनिंग के लोकप्रिय हो जाने से अपने घर में पौधे लगाना बच्चों का खेल हो गया है

अब अपनी खुद की सब्ज़ियाँ और मिर्च-मसाले उगाने के लिए आपको किसी खेत-खलिहान की ज़रूरत नहीं है। आपको किसी चीज़ की ज़रूरत है तो वह है ढेर सारी सूरज की रोशनी और थोड़ा-सा पानी। इन दो चीज़ों के अलावा ज़रूरत के सभी उपकरण ऑनलाइन या फ़िर ख़ास कृषि भंडारों में उपलब्ध होते हैं।

इसे भी पढ़ें: 11 जड़ी-बूटियां जो मच्छरों को दूर भगाती हैं

आपको इन चीज़ों की आवश्यकता होगी:

  • दालचीनी के बीज: ये बीज सर्दियों में ब्लैकबेरी के पौधे से झड़ने वाली ब्लैकबेरीज़ से लिए जा सकते हैं। उन ब्लैकबेरीज़ को आप खा तो नहीं सकते, लेकिन इस कमाल को पौधे को उगाने के लिए ज़रूरी बीज आप उनसे ज़रूर निकाल सकते हैं।
  • शुरुआती उगाई के लिए छोटे-छोटे गमले: जैसाकि ज़्यादातर पौधों के साथ देखा जाता है, दालचीनी को उगाने के लिए आपको एक “इन्क्यूबेशन” पीरियड से शुरू करना होगा। इस बारे में हम आगे विस्तार से आपको बताएँगे।
 
  • मझौले साइज़ के गमले: बीजों के पक जाने पर आपको उन्हें बड़े-बड़े गमलों में रखना होगा। ध्यान रखें, दालचीनी का एक पूर्ण विकसित पौधा करीब 120 सेंटीमीटर का हो सकता है। जो भी हो, उसका आकार आपकी ज़रूरत व आपके घर की जगह पर निर्भर करता है।
  • एसिडिक मिट्टी, स्पैग्नम पीट मॉस और पर्लाइट का मिश्रण: इस मसाले को ढीली रेतीली ऊपरी मिट्टी की ज़रूरत होती है ताकि पानी की अत्यधिक मात्रा आसानी से बाहर निकाली जा सके। ज़्यादा से ज़्यादा जैविक सामग्री का इस्तेमाल करने में ही आपके दालचीनी के पौधे की भलाई है।
  • अच्छी रोशनी वाली कोई जगह (पौधे को सूरज की किरणों के सीधे संपर्क में न आने दें): नम वातावरण दालचीनी की पैदावार के अनुकूल होता है। आप अपने घर में दालचीनी को उगा पाने में सफल होंगे या नहीं, यह काफ़ी हद तक यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपने उसके पौधे को कैसी जगह पर रखा हुआ है।

घर पर दालचीनी कैसे उगाएं

दालचीनी का पौधा

इन छोटे-छोटे स्टेप का पालन कर आप दालचीनी का पौधा लगा पाने में सफल होंगे:

बीज को किसी गर्म जगह पर “इन्क्यूबेट” करें

प्राकृतिक रूप से दालचीनी नम इलाकों में उगती है। इसलिए हमारी आपको सबसे पहली सलाह यही कि होगी कि आप सब्सट्रेट को बीजों के साथ मिलाकर उस कटोरे को किसी छायादार जगह पर रख छोड़ें।

रोज़ाना पानी दें

दालचीनी को पानी तो चाहिए ही चाहिए। सही तरह की मिट्टी का इस्तेमाल करने वाले लोग पौधे में दिन में एक या दो बार पानी डालकर भी अपना काम चला सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: पुदीना के उपयोग से बने घरेलू नुस्खे

चार महीने बाद पौधे को स्थानांतरित कर दें

इस समय तक विकसित हो चुके पौधे को आपको उसके असली घर, यानी एक बड़े गमले तक ले जाना होगा। उसे किसी नये गमले में डालने से पहले एक बार अपने पौधे के आकार के बारे में ज़रूर सोच लें, क्योंकि उसकी डंडी गमले के साइज़ पर निर्भर करेगी

गमले को ज़्यादा रोशनी वाली किसी जगह पर रखें

 
सूरज की रोशनी आपकी दालचीनी के पौधे की सबसे अच्छी दोस्त होती है

पौधे के थोड़ा विकसित हो जाने पर उसके अंकुर के लिए हल्का-सा प्रकाश बहुत फायदेमंद होगा। लेकिन ध्यान रहे कि दालचीनी का पौधा सूरज की रोशनी के सीधे संपर्क में न आने पाए

अपने पौधे को पानी पिलाएं, उसे डुबाएं नहीं

शुरुआत की ही तरह, पौधों में बराबर मात्रा में पानी डालते रहे। पौधे की जड़ों को नम बनाए रखने के लिए उसकी मिट्टी एकदम सही होनी चाहिए। लेकिन ज़्यादा पानी डाल देने से उसकी जड़ें सड़ भी सकती हैं।

इन आसान से स्टेप्स की मदद से बगैर ज़्यादा मेहनत किए आप अपने घर में दालचीनी का पौधा लगा सकते हैं। गर्मियों में उसकी खूबसूरत पत्तियां आपके दोस्तों की बोलती बंद कर देंगी, फिर उसके पौष्टिक गुणों के तो क्या ही कहने!

भले ही आप पीली दालचीनी उगाएं या सफ़ेद, वह आपके घर की खूबसूरती में चार चाँद लगा देगी। अपनी मीठी सुगंध से आपके घर को महकाकर वह उसे एक कमाल के रंग में रंग देगी।

सबसे मज़े की बात तो यह है कि इन सारी बातों को आप अपनी जेब ढीली किए बगैर ही अमल में ला सकते हैं। जैसाकि आप पहले से ही जानते हैं, अपने घर में उगाई खाने की चीज़ों से अच्छा दोस्त हमारी सेहत का और कोई नहीं होता

इसीलिए हम आशा करते हैं कि इस मसाले को अपने घर में उगाकर अपने शरीर में सफाई और अपनी आत्मा में मिठास लाने वाले इसके सभी गुणों का भरपूर फायदा आप अवश्य उठाएंगे।