उन महिलाओं के लिए पांच बातें जो सबकुछ दूसरों के लिए करती हैं

17 मार्च, 2019
कई औरतें और पुरुष हैं जो सबकुछ करना चाहते हैं और सबकुछ को नियंत्रण में रखना चाहते हैं। नतीजतन वे खुद को परेशान करने वाली बात पर ध्यान नहीं देते हैं।
 

ये पांच बातें बताने से पहले हम ध्यान दिला दें कि ऐसी महिलाएं हैं जो अपना तमाम जीवन दूसरों के लिए समर्पित कर देती हैं। जिन बच्चों का वे पालन-पोषण करती हैं, उन रिश्तेदारों के लिए जो उन पर निर्भर हैं, अपने रिश्ते के लिए और कभी-कभी दूसरी बहुत सी चीजों के लिए।

हम सभी किसी न किसी ऐसे इंसान को जानते हैं। ऐसे पुरुष भी हैं जो अपने सोशल सर्किल में मौजूद प्रत्येक सदस्य को इन निस्वार्थ, समर्पित खूबियों को दिखाते हैं।

हालाँकि जैसा कि आप पहले से ही जानते हैं, महिलाओं में इस तरह का व्यक्तित्व ज्यादा आम है।

लाखों महिलाएं हैं जो बहुत कुछ करती हैं और बहुत हासिल करती हैं। ये लोग अपना ध्यान न रखते हुए अपना सबकुछ दूसरों को देते हैं।

हालाँकि, कई लोगों को यह एहसास नहीं होता है कि यह उनके असर को कैसे प्रभावित कर सकता है।

लेकिन हर चीज की एक सीमा होती है। अभी या बाद में यह एक भावनात्मक और मनोवैज्ञानिक बोझ बन जाएगा। आपका मन कहता है, “आगे बढ़ते रहो”, जबकि आपका शरीर अपनी सीमा तक पहुँच जाता है और आखिरकार बीमार पड़ जाता है। आपका शरीर इसका खामियाजा भुगतता है।

अगर आप ऐसी हैं, अगर आप खुद को बोझ तले दबा हुआ पा रही हैं और लगातार मूड में बदलाव महसूस कर रही हैं, तो अपने आपको थोड़ा रेस्ट दीजिये।

अपने जीवन की स्पीड को कम कर दें और इन पांच प्रश्नों पर गौर कीजिये। ये पांच बातें आपकी बहुत मदद करेंगी।

1. शांति और खामोशी का आनंद लिए आपको कितना अरसा हो गया है?

महिलाओं के लिए पांच बातें

आपके मस्तिष्क के लिए खामोशी अच्छी है। यह आपके विचारों को भी शांति देती है।

मौन और एकांत का “स्नान” रोज करें। इससे आपको जंप स्टार्ट करने में मदद मिलेगी। इसके अलावा, यह आपको खुद से जुड़ने में भी मदद करती है।

कुछ महिलाओं को अपने दिन का ज्यादातर वक्त दूसरों की देखभाल करने में बिताना पड़ता है। इसका मतलब है, आश्रित रिश्तेदारों की देखभाल, बच्चों की देखभाल, माता-पिता की देखभाल आदि। कुल मिलाकर ये औरतें उन अंतरंग, शांतिपूर्ण और शांत क्षणों का लाभ नहीं उठा पाती हैं, जिनकी हम सबको तनाव के क्षणों में ज़रूरत होती है।

 

दूसरे शब्दों में, ऐसे कई लोग हैं जो हाई एक्टिविटी लेवल और जॉब प्रेशर के आदी होते हैं। वे खामोशी और एकांत को कुछ अजीब और अनावश्यक के रूप में देखते हैं।

इस स्थिति में आपके लिए लगभग एक घंटे की खामोशी ज़रूरी है। इससे तुरंत लाभ मिलते हैं।

इसे भी पढ़ें : महज 3 मिनट में खुद को दोबारा प्यार करने के लिए 3 वाक्य

2. क्या आप सार्थक बातचीत करती हैं?

सार्थक बातचीत वह होती है, जो हम उन लोगों से करते हैं जो हमें सुनने और समझने में सक्षम हों। इन लोगों में ऐसे दोस्त और परिवार शामिल हैं जो आपके साथ भावनात्मक और दिमागी रूप से जुड़े हों।

साथ ही, इस तरह की बातचीत में आप अपनी चिंताओं से पीछा छुड़ा पाते हैं। ऐसी बातचीत आपको अपने दैनिक जीवन की कुछ बातों में गहराई से गोता लगाने का अवसर देती है जिससे आपको एक नया दृष्टिकोण मिल सकें।

हमारी तेज-तर्रार, हाई प्रेशर वाली दुनिया में सार्थक वार्तालाप अपना महत्व खो रहा है।

किसी विशेष विषय पर या यों ही महज बात करने के लिए आमने-सामने की बातचीत को प्रोत्साहित करें। अर्थपूर्ण समय बिताने का खूब अवसर लें जहाँ आप अपनी भावनाओं को सही ढंग से व्यक्त कर सकें और दूसरों से जुड़ सकें।

3. आप हर चीज नहीं कर सकतीं

महिलाओं के लिए पांच बातें :

नहीं, दिन में 30 घंटे नहीं होते, और न ही आप 90% मामलों में सभी को सबकुछ नहीं दे सकती हैं। “मैं सब कुछ कर सकती हूँ” और “मुझे वह सब कुछ करना चाहिए जो वे मुझसे उम्मीद करते हैं”, ऐसा सोचना आपको लम्बी अवधि में कहीं नहीं ले जाएगा।

हालाँकि, आपको शायद यह कहना बहुत मुश्किल लगता है कि “मैं नहीं कर सकती।” इसके बावजूद आपके लिए यह ज़रूरी है कि निम्न वाक्यांशों को अपने व्यवहार में अपनाएँ:

  • आज मैं बहुत थकी हुई हूं। मैं आपकी मदद नहीं कर सकती।
  • नहीं, मुझे लगता है, कुछ दिनों तक मैं आपकी मदद करने में असमर्थ हूं। मुझे अपने लिए कुछ वक्त चाहिए।
 
  • नहीं, मैंने तय किया है कि मैं वह नहीं कर सकती जो करने के लिए आप मुझसे कह रहे हैं। यह मेरे लिए बहुत ज्यादा है।
  • मुझे अच्छा महसूस नहीं हो रहा है और मुझे अपना ज्यादा ध्यान रखना होगा।

इसे भी पढ़ें : खुशी अपने भीतर से आती है: यह किसी की मोहताज नहीं

4. खुद पर गर्व करें और हर दिन अपने को पर्याप्त महत्व दें

जो लोग दूसरों के लिए सबकुछ करने के आदी होते हैं उन्हें अक्सर सही महत्व नहीं मिलता। इस तरह की महिला के आस-पास के लोग यह मान लेते हैं कि वह हमेशा उनके साथ रहेगी। वह बस उनकी मदद करने, सपोर्ट करने, उन्हें मजबूत बनाने और उनकी हर चीज का ध्यान रखने के लिए है।

हालाँकि, यदि दूसरे लोग आपके द्वारा की जाने वाली हर अच्छी बात को नोटिस नहीं कर पाते हैं, तो उन्हें ऐसा करना सीखना चाहिए।

अपने आपको अहमियत देने या खुद से प्यार करने में कुछ भी गलत नहीं है। अपने द्वारा की जाने वाली हर अच्छी चीज़ पर गर्व महसूस करना और रोज अपने को सपोर्ट करना ठीक है।

5. अपने आपको देना सीखें

महिलाओं के लिए पांच बातें : अपने आपको कुछ दें

यदि कोई ऐसी चीज है जिसे आप “टी” के लिए जानते हैं, तो यह दूसरों का ख्याल रखना है। वे आपके समय, भावनाओं, देखभाल, ध्यान और ऊर्जा पर शासन करते हैं।

क्या हो अगर आप अपने आपको थोड़ा ज्यादा देना शुरू करती हैं?

  • अपने आपको थोड़ा वक्त दें।
  • अपने लिए कुछ अच्छा खरीदें।
  • हर दिन कुछ ऐसा करें जो आपको पसंद हो।
  • ट्रेवल करें।
  • अपने बॉडी इमेज का ख्याल रखें।
  • ऐसे दोस्त बनाएं जो आपको हंसाएं।

इन विचारों के बारे में सोचने का इंतज़ार न करें। अपने जीवन में बदलाव लाएं।

मुख्य छवि © wikiHow.com के सौजन्य से