दूसरों को आकर्षित करने की 5 मनोवैज्ञानिक ट्रिक

मार्च 12, 2019
क्या आप जानते हैं कि कुछ मनोवैज्ञानिक तरकीबों को अपनाकर आप ज़्यादा आकर्षक बन सकते हैं? उनके बारे में जानने के लिए पढ़ें इस लेख को!

सच्चा आकर्षण हमारे अपने मन में होता है। वह हमारी दिलचस्पी को जगाता है, हमें उत्तेजित करता है व हमारे चेहरे, आँखों और शरीर जैसे जीवन के भौतिक पहलुओं से परे जाने वाली एक जिज्ञासा का हममें संचार कर देता है। दूसरों को हम अपनी तरफ़ आकर्षित कैसे कर सकते हैं? ऐसा करने का आख़िर क्या राज़ है?

आज के इस लेख में हम “पॉवर ऑफ़ अट्रैक्शन” (आकर्षित करने की शक्ति) के बारे में बात करने जा रहे हैं। हम सभी द्वारा अपनाई जा सकने वाली कुछ रोचक रणनीतियों की मदद से आप खुद को ज़्यादा आकर्षक बना सकेंगे।

तो आइए एक नज़र डालते हैं दूसरों को आकर्षित करने वाली मनोवैज्ञानिक ट्रिक्स पर।

1. अपने आत्मविश्वास से करें दूसरों को आकर्षित

अपना आत्मविश्वास जागृत करने की मनोवैज्ञानिक तरकीबें

आत्मविश्वास से भरपूर लोग अक्सर दूसरों को लुभाने और आकर्षित करने में सफल होते हैं। लेकिन निर्भयता और आत्मविश्वास की इस भावना को हमें कभी भी अभिमान या अहंकार नहीं बनने देना चाहिए।

दरअसल एक आत्मविश्वासी व्यक्ति अपने आपको व अपनी ताकतों को बखूबी समझता है। मगर साथ ही, वह अपनी कमज़ोरियों की अनदेखी भी नहीं करता। इसके अलावा, अपनी कमज़ोरियों को पहचान लेने की क्षमता के साथ-साथ वह दिन-प्रतिदिन उनमें सुधार लाने की कोशिश भी करता है।

आत्मविश्वास कई बुनियादी व आवश्यक चीज़ों से पनपता है, जैसे कि आपका स्वाभिमान और एक सकारात्मक आत्म-धारणा। आपके आत्मविश्वास का असली जादू इन्हीं पहलुओं के संतुलन पर निर्भर करता है।

इसे भी पढ़ें : 7 सुंदर जापानी शब्द : व्यक्तिगत विकास के अद्भुत मन्त्र

2. अपना खुद का ब्रैंड बनाएं

एक-जैसे लोगों से भरी हुई इस दुनिया में आकर्षक होने का मतलब है सबसे हटकर होना। लेकिन कभी-कभी हममें से कई लोगों को यह लगने लगता है कि सबसे अलग होने की वजह से हमें अपने समाज की निंदा का सामना तो करना ही पड़ेगा, उससे अलग-थलग होने की नौबत भी हमारे सामने आ खड़ी होगी।

उदाहरण के तौर पर, किसी चील जैसी लंबी नाक वाले या मोटापे से परेशान लोगों के लिए दूसरों का ध्यान आकर्षित करने लायक आत्मविश्वास जागृत करने एक टेढ़ी खीर साबित हो सकता है। टेढ़े-मेढ़े चेहरे वाले या काफ़ी लंबे या छोटे कद वाले लोगों को भी इसी परेशानी से जूझना पड़ सकता है।

पर इन सभी बातों के मझधार में अपने आत्मविश्वास को कहीं खो न जाने दें। दुनिया को यह दिखा दें कि आप अनोखे हैं, आपके व्यक्तित्व का भी अपना एक ब्रैंड है व आप अपने आप से खुश हैं

अपनी खूबियों का फायदा उठाना सीखिए।

3. अनकही बातों की ताकत

लोगों को आकर्षित करने की मनोवैज्ञानिक तरकीबों में आपकी अनकही बातें भी आ जाती हैं

दरअसल आकर्षण की शुरुआत अपनी नज़रों को दूसरों की नज़रों से मिलाने के हुनर से होती है। आपको अपनी मुद्रा के बारे में भी विचार कर लेना चाहिए। बात जब आत्मविश्वास बनाने की आती है तो क्रॉस की गई टांगें और बाज़ुयें किसी रुकावट की तरह काम करने लगती हैं।

अपने हाव-भाव का इस्तेमाल आपको अपने मन की शांत और सहज अवस्था को दर्शाने के लिए करना चाहिए। अपने हाथों का इस्तेमाल इशारे करने के लिए, अपने होंठों का इस्तेमाल आकर्षक ढंग से मुस्कराने के लिए, अपने सिर का इस्तेमाल उसे हिलाकर अपनी दिलचस्पी ज़ाहिर करने के लिए व अपने शरीर का इस्तेमाल अपना आत्मविश्वास और नज़दीकी दिखाने के लिए करें।

इसे भी पढ़ें : आपकी आँखों का रंग आपके बारे में बहुत कुछ बताता है

4. बातचीत के माध्यम से तालमेल बनाना

कोई इंसान, जो अपने बर्ताव से यह ज़ाहिर कर दे कि वह आपके नज़दीक आ सकता है, आपकी बात सुन सकता है व आपके साथ एक भावनात्मक और विवेकपूर्ण तालमेल बना सकता है, उस इंसान का धीरे-धीरे आकर्षक हो जाना लाज़मी है

दूसरी तरफ, ऐसे भी लोग होते हैं, जो दिखावा करने की अपनी आदत के चलते हमेशा अपनी ही तारीफों के पुल बांधते रहते हैं। अपनी तथाकथीत खूबियों, क्षमताओं और कमाल के गुणों का वे बखान करते नहीं थकते। लेकिन दरअसल वे लोगों को असहज महसूस करवाकर खुद से दूर धकेल देते हैं।

इसीलिए आपको दूसरों के साथ एक करीबी संबंध स्थापित करना आना चाहिए। बहुत से लोग कोई भी दिखावा किए बगैर ऐसा कर पाते हैं। अपने साथ बैठे व्यक्ति के साथ में उन्हें सचमुच दिलचस्पी होती है और वे विनम्रता का दामन कभी नहीं छोड़ते। उनकी यही बात उन्हें इतना आकर्षक बना देती है।

5. कुछ हटकर बनना

अपने व्यक्तित्व को आकर्षक बनाने वाली मनोवैज्ञानिक ट्रिक्स

जैसाकि हमने कहा, अगर आप ज़बरदस्ती किसी ग्रुप में शामिल होने व दूसरों जैसा बनने की कोशिश करेंगे तो किसी का ज़रा-सा भी ध्यान आकर्षित किए बगैर ही आप आम लोगों के समुंदर में कहीं खो जाएंगे।

क्या लोगों को आप अपनी तरफ़ आकर्षित करना चाहते हैं? क्या कुछ अलग बनकर एक जैसे लोगों से भरे किसी कमरे में सभी का ध्यान आप अपनी ओर खींचना चाहते हैं? अगर ऐसा ही है  तो आपको अपने व्यक्तित्व के सबसे ख़ास पहलू को उजागर करना आना चाहिए। आपकी गैरमौजूदगी में आपके व्यक्तित्व का वही पहलू लोगों को याद रहेगा या उन्हें आपकी याद दिलाएगा।

आप “पिन-अप” स्टाइल और ओरिजिनल हेयरस्टाइल वाले किसी इंसान जैसे हो सकते हैं, या फ़िर आप क्लासिक जूते पहन सकते हैं। आप एक आकर्षक मूंछ रख सकते हैं,  बो और टाई पहन सकते हैं, या फ़िर हमेशा कैसुअल कपड़े पहनकर घूम सकते हैं।

आपका अनूठापन आपके रूप-रंग और जीवन-शैली के अनुकूल होना चाहिए। कोई ऐसा इंसान बनने की आपको कभी कोशिश नहीं करनी चाहिए, जो आप दरअसल हैं ही नहीं, या फ़िर जो आपको अपनी वास्तविक पहचान से दूर ले जाता हो।

खूबसूरती तो वर्क इन प्रोग्रेस होती है

कुल मिलाकर इन चीज़ों का अभ्यास किया भी जा सकता है और किया जाना भी चाहिए। खुद को जान-समझ लेने से ही हम खुद में सुधार लाने की स्थिति में आ पाते हैं।

ऐसा करके हम अपनी ताकतों को भी जान पाते हैं। दूसरों का ध्यान आकर्षित करने वाले उस जादुई जलवे को पाने की तरकीब भी हमारी समझ में आ जाती है। अंत में, यह न भूलें कि किसी को आकर्षित कर लेने के बाद आपको उस आकर्षण को बरक़रार भी रखना होता है

अगर आपका आत्मविश्वास अडिग है तो निश्चित रूप से अपने दोस्तों, प्रेमी और साथियों के साथ आप टिकाऊ और लाभदायक संबंध बना पाने में कामयाब रहेंगे

  • Ferreras, E. (2007). La autoestima. Anales de Mecánica y Electricidad.
  • Atienza, F. L., Moreno, Y., Balaguer, I., & Rosenberg, M. (2004). Escala de autoestima de
  • Rosenberg. Apuntes de Psicologia. https://doi.org/http://dx.doi.org/10.1016/j.biochi.2007.09.002
  • Branden, N. (1989). Cómo mejorar su autoestima. Círculo de Lectores. https://doi.org/10.1186/cc1474
  • Berntsson, E. (2004). Los seis pilares de la Autoestima. Atención Primaria. https://doi.org/10.1157/13068212