5 हर्बल ट्रीटमेंट : इनसे फैटी लिवर का मुकाबला करें

12 जुलाई, 2020
क्या आपमें फैटी लिवर की डायग्नोसिस हुई है? क्या आप इस बीमारी से पीड़ित होने से डरते हैं? इन नुस्खों में से किसी एक को चुनें। इसे नियमित रूप से पीने से लिवर की सेहत में सुधार होता है।
 

फैटी लिवर एक ऐसी स्थिति है जिसे मेडिकल भाषा में हेपाटिक स्टैटोसिस (hepatic steatosis) के नाम से जाना जाता है। यह ऐसी बीमारी है जो आपके जीवन की गुणवत्ता को कम कर सकती है। हालांकि ऐसे तरीके हैं जिनसे आप फैटी लिवर से लड़ सकते हैं।

यह स्थिति तब होती है जब इस अंग की कोशिकाओं में फैटी एसिड और ट्राइग्लिसराइड्स इकठ्ठा हो जाता है। यह लिवर के लिए अपने एक्स्क्रेटरी तत्वों से पीछा छुडाने और मेटाबोलिक कामकाज को करना मुश्किल बनाता है।

शराब पीने वालों में लिवर की बीमारियां आम हैं। हालांकि, यह गलत खानपान और मोटापे से भी जुड़ा हो सकता है।

जबकि कई इलाज हैं जो आपको फैटी लिवर से लड़ने में मदद कर सकते हैं, लेकिन ज्यादातर रोगियों को आमतौर पर इसके साथ कठिनाइयाँ होती हैं।

यह शरीर में एंटी इन्फ्लेमेटरी रिएक्शन को ट्रिगर कर सकता है और कुछ खाद्य पदार्थों के पाचन को और अधिक कठिन बना सकता है।

अच्छी खबर यह है कि, अच्छी आदतें अपनाने और मेडिकल गाइडलाइन पालन करने के अलावा, नेचुरल ट्रीटमेंट हैं जो इसके साथ मदद कर सकते हैं।

हम इस अवसर पर 5 हर्बल ट्रीटमेंट की जानकारी शेयर करने जा रहे हैं जो आपको फैटी लिवर से लड़ने में मदद कर सकते हैं।

उन्हें आज ही आजमायें!

1. आर्टिचोक वाटर के साथ फैटी लिवर से लड़ें

आर्टिचोक वाटर के साथ फैटी लिवर से लड़ें

इस प्राकृतिक आर्टिचोक ड्रिंक में डिटॉक्सीफाइंग और पाचक गुण होते हैं जो स्टैटोसिस के इलाज में मदद कर सकते हैं।

डाइटरी फाइबर और एंटीऑक्सिडेंट तत्वों से समृद्ध यह आपके लिवर को अच्छी स्थिति में रखने का एक सुरक्षित और प्राकृतिक तरीका है।

सामग्री

  • 1 आर्टिचोक
  • 3 कप पानी (750 मिली)

तैयारी

  • आर्टिचोक को टुकड़ों में काट लें और उन्हें पानी के बर्तन में डाल दें।
  • बर्तन को आंच पर रखें और इसे 5 से 8 मिनट तक उबलने दें।
  • इसके बाद यह तरल हो जाता है, इसे बैठने दें और फिर इसे छान लें।

इसका सेवन कैसे करें

  • खाली पेट पिएं और फिर हर बड़े भोजन से पहले एक और गिलास पिएं।

2. सिंहपर्णी की चाय (Dandelion tea)

 

डंडेलियन चाय (Dandelion Tea) एंटीऑक्सिडेंट और एंटी इन्फ्लेमेटरी गुणों वाला हर्बल नुस्खा है। ये गुण टिशू में लिपिड इकट्ठा होने को कम करने और लिवर को शुद्ध (detoxify) करने में मदद कर सकते हैं।

इसके तत्व मेटाबोलिज्म में सुधार करते हैं, फैट और विषाक्त पदार्थों को डिकंपोज़ करने में बढ़ावा देते हैं।

इसे भी पढ़ें : कब्ज़ के लिए आम : फायदे और कुछ रेसिपी

सामग्री

  • 1 बड़ा चमचा सिंहपर्णी (10 ग्राम)
  • 1 कप पानी (250 मिली)

तैयारी

  • उबलते पानी के कप में सिंहपर्णी डालें।
  • इसे ढक दें और फिर 10 से 15 मिनट के लिए छोड़ दें।

इसका सेवन कैसे करें

  • एक बार खाली पेट चाय पियें। बाद में 2 से 3 बार और पिएं।

2 हफ़्ते तक इसी तरीके से पियें।

3. मिल्क थीस्ल चाय (Milk thistle tea)


मिल्क थीस्ल सबसे लोकप्रिय हर्ब में से एक है जो लीवर की देखभाल करने में शानदार है।

इसमें सिलीमैरिन (Silymarin) नाम का पदार्थ होता है जो लिवर सेल्स में फैट जमा होने से बचाने में मदद करता है।

सामग्री

  • 1 कप पानी (250 मिली)
  • 1 चम्मच मिल्क थीस्ल (5 ग्राम)

तैयारी

  • एक कप पानी उबाल लें और फिर उसमें दूध डालें।
  • मिश्रण को ढक दें और फिर 10 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • छानें और सर्व करें।

इसका सेवन कैसे करें

  • 2 या 3 सप्ताह तक चाय को दिन में एक बार पियें।

इसे भी पढ़ें : फैटी लीवर की चेतावनी देने वाले 6 संकेत

4. बोल्डो चाय (Boldo tea)

प्राकृतिक बोल्डो चाय लिवर की सेहत में मदद करने के लिए सबसे असरदार प्राकृतिक जड़ी-बूटियों में से एक है।

यह विलक्षण पौधा गॉल ब्लैडर के कामकाज को बढ़ाता है और फैट को तोड़ने में मदद करता है। यह उन्हें लिवर सेल्स में जमा होने से रोकता है।

सामग्री

  • 1 कप पानी (250 मिली)
  • 1 बड़ा चम्मच बोल्डो पत्ते (10 ग्राम)

तैयारी

  • एक कप पानी को उबाल लें और फिर बोल्डो डालें।
  • इसे 3 मिनट तक आंच पर रखें और फिर हटा लें।
  • इसे 10 मिनट के लिए छोड़ दें, छानें और फिर परोसें।

इसे कैसे पीना है

  • 3 सप्ताह के लिए दिन में 2 कप बोल्डो चाय पीएं।
 

5. फैटी लिवर से लड़ने वाली नागदौन चाय (Wormwood tea)

वर्मवुड में कड़वे पदार्थ होते हैं, जैसे कि एब्सिन्थ (absinthe) और एनाबेसिनथिसिस (anabsynthesis), जो लिवर के कार्यों और स्टैटोसिस (steatosis) से लड़ने में मदद करते हैं।

ये तत्व फैट के पाचन में सुधार करते हैं और दूसरी बातों के अलावा अपच से राहत देते हैं, पेट के संक्रमण को शांत करने में मदद कर सकते हैं। यह आपको फैटयुक्त लिवर से लड़ने में मदद कर सकता है।

सामग्री

  • 1 चम्मच वर्मवुड (5 ग्राम)
  • 1 कप पानी (250 मिली)

तैयारी

  • वर्मवुड को उबलते पानी के कप में डालें और इसे 10 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • फिर तरल को छानकर पियें।

इसका सेवन कैसे करें

  • दिन में 2 से 3 सप्ताह तक एक कप वर्मवुड टी पिएं।

नोट: निर्देशित मात्रा से ज्यादा पीने से बचें क्योंकि इस पौधे में थुजोन (thujone) नाम का पदार्थ होता है। यह पदार्थ ज्यादा मात्रा में पाचन तंत्र में जलन और नर्वस तंत्र में बदलाव ला सकता है।

क्या आपमें फैटी लिवर की डायग्नोसिस हुई है? क्या आप इस बीमारी से पीड़ित होने से डरते हैं? इन नुस्खों में से किसी एक को चुनें। इसे नियमित रूप से पीने से लिवर की सेहत में सुधार होता है।

याद रखें, उनके प्रभाव पर दूसरे डाइटरी हैबिट का असर होता है। फैटी लीवर से लड़ना चाहते हैं तो फैट और प्रोसेस किये हुए खाद्यों से बचें।

 

Chang, W. C., Jia, H., Aw, W., Saito, K., Hasegawa, S., & Kato, H. (2014). Beneficial effects of soluble dietary Jerusalem artichoke (Helianthus tuberosus) in the prevention of the onset of type 2 diabetes and non-alcoholic fatty liver disease in high-fructose diet-fed rats. British Journal of Nutrition. http://doi.org/10.1017/S0007114514001421