अत्यधिक मोटापे के खिलाफ़ नींबू की मदद से यूं लड़ें

20 सितम्बर, 2018
अपनी ख़ास खूबियों की बदौलत दूसरी प्राकृतिक सामग्रियों के साथ मिलकर नींबू आपके अत्यधिक वज़न को कम करने के साथ-साथ बेहतर सेहत के लिए शरीर को कई पोषक तत्व भी प्रदान करता है। आप अपने बढ़ते मोटापे के खिलाफ़ नींबू की मदद से कामयाबी के साथ लड़ सकते हैं।

शरीर का वज़न बढ़कर जब फैट के रूप में शरीर के अलग-अलग हिस्सों में जमा हो जाता है, तो इस अवस्था को मोटापा कहा जाता है।अत्यधिक बढ़ चुके मोटापे के खिलाफ़ नींबू की मदद से भी लड़ा जा सकता है।

ज्यादा कैलोरी का सेवन कर लेने से शरीर को इसे ऊर्जा में तब्दील करने में कठिनाई आती है।

निष्क्रिय लाइफस्टाइल, और फैटी, प्रोसेस्ड फ़ूड जैसे आहार के आदी लोगों में यह आम समस्या होती है।

हालांकि मोटापा अपने आप में कोई बीमारी तो नहीं है, लेकिन इसे हेल्थ के लिए एक जोखिम माना जाता है। यह आपको मधुमेह, डिस्प्लिडेमिया, दिल के दौरे आदि रोगों के प्रति ज्यादा संवेदनशील बना देता है

खुशकिस्मती से, नियमित एक्सरसाइज करने, बैलेंस डाइट का सेवन करने और मेटाबोलिज्म में सुधार लाने वाली स्वस्थ आदतें अपनाकर इस अवस्था को ठीक किया जा सकता है।

आज हम आपको नींबू के फायदों के बारे में बताना चाहेंगे। अत्यधिक वज़न का मुकाबला करने के अलावा अनेकों स्वास्थ्य-संबंधी समस्याओं से निजात पाने में इस सिट्रस फल का इस्तेमाल प्राचीन काल से ही किया जाता रहा है।

आइये ज़रा देखें, नींबू इतना कारगर क्यों होता है और उसकी विशेषताओं का फायदा उठाने की विधि क्या है।

अत्यधिक मोटापे के खिलाफ़ नींबू के लाभ

नींबू के वज़न कम करने वाले गुण

शरीर को डिटॉक्स करने में सबसे ज़्यादा इस्तेमाल किए जाने वाले खाद्य पदार्थों में नींबू आम है। इसमें मौजूद एक्टिव कम्पाउंड खून समेत मलत्याग करने वाले अंगों से विषाक्त तत्वों को हटाने में मदद करते हैं।

मेटाबोलिक कार्यों में सुधार लाने व वज़न घटाने में बाधा उत्पन्न करने वाली पाचन तंत्र की समस्याओं से निजात दिलाने वाले अपने गुणों के कारण कई सदियों से नींबू का इस्तेमाल वज़न कम करने वाले किसी प्राकृतिक नुस्खे के रूप में किया जा रहा है।

इसे भी आजमायें: दालचीनी और नींबू: एक सनसनीखेज उपचार, आज़मा कर देखें

नींबू में फाइबर की उच्च मात्रा होती है, जो आँतों की हरकतों में सुधार लाकर कब्ज़, सूजन और गैस जैसी समस्याओं से हमारी रक्षा करती है।

अपने खट्टेपन के बावजूद नींबू उन बेहतरीन प्राकृतिक क्षारीयकों (एल्कलायज़रों) में से एक है, जिन्हें हम अपने आहार में शामिल कर सकते हैं।

नींबू के पोषक तत्व हमारे शरीर के पीएच को संतुलित कर अत्यधिक एसिडिटी के साथ-साथ हानिकारक बैक्टीरिया व सूजन-संबंधी परेशानियों को भी कम कर देते हैं।

नींबू कमाल का मूत्रवर्धक भी है। यह हमारे शरीर से मल को हटाता है, तरल पदार्थों की मात्रा को नियंत्रित करता है, व किडनी और मूत्राशय के काम में सहायक साबित होता है।

नींबू की मदद से अपना वज़न घटाएं

हमारे शरीर में समस्याएं उत्पन्न करने वाली वसा, प्रोटीन और अन्य तत्वों के पाचन में मददगार एंज़ाइम को सिट्रिक एसिड से मज़बूती मिलती है।

यहाँ हम इस बात पर भी आपका ध्यान आकर्षित करना चाहेंगे कि यह विटामिन C के सबसे अच्छे स्रोतों में से एक है। इस तरह यह हमारे इम्यून सिस्टम का अच्छा दोस्त और संक्रमण के खिलाफ बड़ा दुश्मन भी है।

इसके शक्तिशाली नेचुरल एंटीऑक्सीडेंट कोलेस्ट्रॉल को धमनियों में जमने से रोकने के साथ-साथ फ्री रेडिकल्स से होने वाले नुकसान से भी बचाते हैं।

नींबू में ये पोषक तत्व भी होते हैं:

  • विटामिन (A, कॉम्प्लेक्स B, और E)
  • मिनरल (कैल्शियम, पोटैशियम, मैग्नीशियम, आयरन)
  • कार्बोहाइड्रेट

इसे भी आजमायें: जानिए, अदरक का इस्तेमाल करके का पेट की चर्बी कैसे घटायें

अत्यधिक मोटापे के खिलाफ़ नींबू कैसे मदद करता है

वज़न कम करने में नींबू का पूरा फायदा उठाने के लिए कई रेसिपी हैं। इसे कई पकवानों में डालने के अलावा इसके इस्तेमाल से आप कई पेय पदार्थों को एक खट्टा-सा स्वाद भी दे सकते हैं।

पर आज हम आपको वज़न कम करने वाली अन्य चीज़ों के साथ नींबू के इस्तेमाल के 3 ख़ास तरीकों के बारे में बताएँगे।

1. नींबू और अदरक वाली चाय

नींबू वाली चाय से अपना वज़न कम करें

हालांकि आप गर्म नींबू पानी भी पी सकते हैं,  थोड़ी-सी अदरक के रूप में उसमें कुछ और पोषक तत्व डाल देना एक अच्छा विकल्प होता है।

न सिर्फ़ अदरक हमारे पाचन तंत्र के लिए अच्छी होती है, बल्कि यह मेटाबोलिज्म को तेज़ करने में भी कारगर साबित होती है

सामग्री

  • एक आर्गेनिक नींबू का रस
  • एक चम्मच अदरक (5 ग्राम)
  • एक गिलास पानी (200 मिलीलीटर)
  • एक चम्मच शहद (इच्छानुसार) (25 ग्राम)

बनाने और सेवन की विधि

  • पानी को गर्म कर उसमें नींबू का ताज़ा रस व थोड़ी अदरक डाल दें।
  • कुछ मिनट तक मिश्रण को घोलकर उसमें मिठास लाने के लिए थोड़ा शहद डाल दें। इसे खाली पेट पिएं।
  • इसे रोज़ाना या फिर हफ्ते में कम से कम तीन बार पिएं।

2. नींबू के साथ एप्पल साइडर विनेगर

नींबू के रस को एप्पल साइडर विनेगर के साथ मिला देने से हमारा खून एल्कलायज़ होकर विषाक्त तत्वों से छुटकारा पा लेता है।

इन दोनों ही चीज़ों से खाने-पीने की इच्छा में कमी आती है व इनकी मूत्रवर्धक खूबियाँ शरीर में तरल पदार्थों की मात्रा और उनसे होने वाली सूजन को काबू में रखती हैं।

सामग्री

  • एक आर्गेनिक नींबू का रस
  • एक चम्मच एप्पल साइडर विनेगर (10 मिलीलीटर)
  • एक गिलास पानी (200 मिलीलीटर)

बनाने और सेवन की विधि

  • एप्पल साइडर विनेगर को गर्म पानी में मिलाकर उसे पतला कर लें। फिर उसमें नींबू का रस डाल दें।
  • दो हफ़्ते तक रोज़ाना सुबह के नाश्ते से पहले उसका सेवन करें।
  • एक हफ्ते का विराम लेकर इसी दिनचर्या को जारी रखें।

3. नींबू और ऑलिव ऑयल

नींबू और जैतून के तेल से अपना वज़न कम करें

ऑलिव ऑयल के शुद्ध तेल को रोज़ाना नींबू के साथ लेने से आपका पेट ज़्यादा देर तक भरा-भरा रहता है। ऐसा करने से कोलेस्ट्रॉल का स्तर भी नियंत्रण में रहता है और आंतें भी सक्रिय रहती हैं।

अपनी एंटीऑक्सीडेंट और सफाईवाली खूबियों की बदौलत पेट की चरबी कम करने के यह सबसे जाने-माने तरीकों में से एक है

सामग्री

  • एक चम्मच नींबू का रस (5 मिलीलीटर)
  • एक चम्मच जैतून का तेल (16 ग्राम)

बनाने और सेवन की विधि

  • नींबू के ताज़े रस को एक चम्मच जैतून के तेल में मिलाकर उसे सुबह के नाश्ते से पहले पिएं।
  • कुछ भी खाने से पहले 30 मिनट तक इंतज़ार करें।
  • इस प्रक्रिया को रोज़ाना दोहराएं।

नींबू जैसी खट्टी चीज़ों में वज़न घटाने वाले गुण होते हैं। इसलिए हमें लगता है, इन नुस्खों को आज़माकर आपको उनकी खूबियों का फायदा उठाना चाहिए।

  • Fang X., Azain M., Crowe White K., Mumaw J., et al., Effect of acute ingestión of Green tea extract and lemon juice on oxidative stress and lipid profile in pigs fed a high fat diet. Antioxidants, 2019.
  • Maharlouei N., Tabrizi R., Lankarani KB., Rezaianzadeh A., et al., The effect of ginger intake on weight loss and metabolic profiles among overweight and obese subjects: a systematic review and meta analysis of randomized controlled trials. Crit Rev Food Sci Nutr, 2019. 59: 1753-1766.