8 बेजोड़ एक्सरसाइज जो वेरीकोस वेंस का इलाज करती हैं

10 जुलाई, 2018
वेरीकोस वेंस से बचने का सबसे अच्छा तरीका व्यायाम है। साथ ही साथ नियमित रूप से स्वस्थ और संतुलित आहार लेना, खाने में अत्यधिक नमक और फैट का सेवन न करना, इस समस्या को दूर करने की दिशा में बुनियादी ज़रूरतें हैं।
वेरीकोस वेंस (Varicose veins) उस स्थिति को कहा जाता है जब नसें फूल फैल जाती हैं। इससे शरीर में खून संचार कठिन हो जाता है। सूजी हुई नसों  के कई करण हो सकते हैं। यह समस्या उन औरतों में बहुत आम है जो दिन भर डेस्क पर बैठ कर काम करती हैं। हालांकि, यह परेशानी पुरुषों को भी होती है। सौभाग्य से कुछ निर्दिष्ट एक्सरसाइज इस समस्या को हल कर सकती हैं।
हाइपरटेंशन के बाद सबसे आम होने वाला सर्कुलेशन से जुड़ा रोग होने के बावजूद, यह समस्या लंबे समय तक खड़े या बैठे रहने के कारण होती है।
जो महिलाएँ दिन भर हाई हील पहनती हैं या टांगों को एक के ऊपर एक क्रॉस करके बैठी रहती हैं, वे आमतौर पर इससे पीड़ित हो जाती हैं।
ज्यादा महत्त्वपूर्ण बात तो यह है कि अगर वेरीकोस वेंस का इलाज नहीं किया जाए, तो ये गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर सकती हैं। उदाहरण के लिए थ्रोम्बोसिस और अल्सर
अगर आप की भी नसें फूल गई हैं और आप इस समस्या से निजात पाना चाहते हैं, तो हमारी बतायी हुई इन एक्सरसाइज को अपनाएँ। वेरीकोस वेंस से आपको जरूर छुटकारा मिलेगा।

वेरीकोस वेंस को ठीक करने के लिए 8 व्यायाम

फूली हुई नसों को ठीक करने लिए और इस समस्या को रोकने के लिए सबसे ज़्यादा असरदार एक्सरसाइज होती है।
इस तरह की प्रक्रियाओं से जहाँ पैरों की मांसपेशियों को मजबूती मिलती है, वहीं नसें भी स्वस्थ रहतीं हैं। कुछ साधारण अभ्यास आप रोज़ कर सकते हैं और इनके लिए किसी खास उपकरण की आवश्यकता भी नहीं है।
अगर आपकी नसें सूजी हुई हैं और साफ-साफ दिखाई देती हैं, तो बेहतर है कि आप डॉक्टर से जांच करवाएं और इनके बारे में जानकारी लें।
इनके लक्षण देखकर दवा दी जाएगी, और साथ में एक विशेष दिनचर्या बतायी जायेगी जिससे आपको राहत मिलेगी।
कई बार लोगों को अपनी सूजी नसों में ऐंठन और मरोड़ महसूस होती है जो कि रक्त संचार की जटिलताओं के कारण होती हैं।
ये व्यायाम करने से आपके नसों में दर्द काम हो जाएगा और पैर आकर्षक भी दिखेंगे।
इसे भी जानें:

1. वेरीकोस वेंस के लिए पेडलिंग

वेरीकोस वेंस के लिए पेडलिंग

यह बहुत ही सामान्य एक्सरसाइज है जो वेरीकोस वेंस को ठीक करने में उपयोगी है।
  • इसमें ऐसा करना है जैसे आप हवा में साइकिल चला रहे हों।
  • यह बिस्तर या फिर एक योगा मैट पर लेटकरभी कर सकते हैं।
  • 30 बार एक्सरसाइज को दोहराएँ, और जितनी बार चाहें अभ्यास करते रहे। ध्यान रहे, बीच-बीच में आराम भी होना चाहिए।

2. साइकिल चलाना

हम साइकिल चलाने की ख़ास सिफारिश करेंगे। यह पूरे शरीर के लिए एक बहुत ही अच्छी एक्सरसाइज है, खास तौर पर आप के पैरों के लिए।
  • रोजाना जब पार्क जाएँ या शॉपिंग जाएँ, तो साइकिल चलाकर ही जाएँ। इसे एक आदत बना लें।
  • एक घंटा साइकिल चलाना अछा रहेगा।
  • अगर आपको पार्क जाना पसंद न हो तो एक स्टेशनरी साइकिल ले लें और घर में ही चलाएँ।

3. पैरों को अलग करना

वेरीकोस वेंस के लिए पैर अलगाव

यह व्यायाम कुर्सी पर बैठकर, चटाई पर लेटकर य सीधे बिस्तर पर लेटकर कर सकते हैं।
  • सब से पहले अपने पैर हवा में उठाएँ और उन्हें फैलायें, फिर उन्हें वापस लाएँ और अपने पैरो की उंगलियों को मिलाएँ।
  • इस प्रक्रिया को 20 बार दोहराएँ।
  • शुरुआत में थोड़ी दिक्कत होगी, क्योंकि इसमें थोड़े बल की ज़रूरत है। रोजाना करने पर पैरो में ताकत आ जाएगी और फिर करने में आसानी होगी।

यह भी जानें:

6 फिजिकल एक्सरसाइज जो दूर कर देंगी शरीर का तनाव

4. पैर घुमाना

  • योगा मैट, चटाई या बिस्तर पर सीधे लेटकर एक टांग को उठाएँ।
  • अपने फैले हुए पैरों को घड़ी के कांटों के अनुसार घूमना शुरू करें।
  • 20 बार घुमाएँ। दूसरे पैर को विपरीत दिशा में घुमाएँ।

5. एड़ी–पैर के अंगूठों को लचकाना

  • बेहतर होगा कि आप यह एक्सरसाइज बैठकर करें।
  • एड़ी पर खड़े होकर पैर के अंगूठों को उठाएँ।
  • अब अपने अंगूठों पर खड़े होकर एड़ी को हवा में उठाएँ।
  • यह प्रक्रिया 20-30 बार दोहराते रहें।

इसे भी जानें:

साईएटिक नर्व के दर्द को ठीक करने की आसान एक्सरसाइज

6. अंगूठे को लचकाना

वेरीकोस वेंस के लिए एक्सरसाइज

  • बिस्तर पर सीधे लेट जाएँ और पैर सीधे फैलाएँ।
  • पैर के अंगूठों को आगे-पीछे लचकाए। हर पैर के साथ यह एक्सरसाइज 20 बार करें।
  • यह अभ्यास नसों को सुधारने में बहुत लाभदायक है। साथ ही में पिंडली की मांसपेशियों को सुडौल बनाता है।

7. पैरों को जोड़ना

इसे आप बैठे या लेटकर कर सकते हैं, जो भी आप को ज़्यादा आरामदेह लगे।
  • पैर के पंजों को साथ मिलाएँ और फिर दूर फैलायें। इस एक्सरसाइज को 20 बार दोहराएँ।

8. टिप टोज

वेरीकोस वेंस के लिए टिपटोज़

पंजे की नोक पर चलना एक बहुत ही अच्छी एक्सरसाइज है जिससे पैर की मांसपेशियाँ खिंच जाती हैं। यह ऐंठन को भी रोकती है, क्योंकि इसमें पैरो पर प्रेशर पड़ता है।
  • आप एक ही जगह खड़े रह सकते हैं या पंजों की नोक पर चल सकते हैं।
  • इसे जितना चाहें करें, हाँ समय-समय पर विश्राम ज़रूर करें।
  • van Rij, A. M., De Alwis, C. S., Jiang, P., Christie, R. A., Hill, G. B., Dutton, S. J., & Thomson, I. A. (2008). Obesity and impaired venous function. European journal of vascular and endovascular surgery : the official journal of the European Society for Vascular Surgery, 35(6), 739–744. https://doi.org/10.1016/j.ejvs.2008.01.006
  • Jennifer L. Beebe-Dimmer, John R. Pfeifer, Jennifer S. Engle, David Schottenfeld. 2005. The Epidemiology of Chronic Venous Insufficiency and Varicose Veins. Annals of Epidemiology.
    https://doi.org/10.1016/j.annepidem.2004.05.015.
    (http://www.sciencedirect.com/science/article/pii/S1047279704000894)
  • Venas varicosas. Mayo Clinic. https://www.mayoclinic.org/es-es/diseases-conditions/varicose-veins/diagnosis-treatment/drc-20350649
  • Brian D. Johnston. 2018. Beneficios del ejercicio. Manual Merck. https://www.merckmanuals.com/es-us/hogar/fundamentos/ejercicio-y-forma-f%C3%ADsica/beneficios-del-ejercicio
  • Venas varicosas. MedlinePlus. https://medlineplus.gov/spanish/ency/article/001109.htm