फोलिक एसिड और फोलेट के बीच अंतर

16 अप्रैल, 2020
फोलिक एसिड और फोलेट का स्रोत अलग-अलग है। फोलेट प्राकृतिक रूप से खाद्य पदार्थों में पाये जाते हैं, वहीं फोलिक एसिड कृत्रिम है और सप्लीमेंट के रूप में इस्तेमाल किया जाता है।

फोलिक एसिड और फोलेट भले ही एक ही जैसे नाम लगें, उनमें फर्क है। सबसे बड़ा अंतर इस तथ्य में है कि फोलेट विटामिन B9 का नेचुरल रूप है, जबकि फोलिक एसिड उसका कृत्रिम संस्करण है

ज्यादातर हरी पत्तेदार सब्जियों में आप फोलेट पा सकते हैं। फोलिक एसिड कृत्रिम है और इसका उपयोग कुछ पोषक तत्वों की खुराक में किया जाता है, और कुछ खाद्य पदार्थों को समृद्ध करने के लिए भी।

विटामिन B9 क्या है?

फोलिक एसिड और फोलेट को विटामिन B9 भी कहा जा सकता है। यह पानी में घुलनशील विटामिन है। दूसरे शब्दों में, यह पानी में घुल जाता है। “फोलिक एसिड” का नाम लैटिन शब्द फोलियम से आया है, जिसका अर्थ है पत्ती। फोलिक एसिड या विटामिन B9 के मुख्य फ़ूड सोर्स हैं:

  • हरी पत्तेदार सब्जियां – जैसे कि पालक, शलजम, गोभी और सलाद पत्ता
  • कुछ फल जैसे कि खट्टे फल, तरबूज या केला
  • फलियां
  • मांस – मुख्य रूप से लिवर और गुर्दे
  • साबुत अनाज
  • दूध और अंडे
  • कुछ नट्स

विटामिन B9 गर्भावस्था के शुरुआती चरणों के दौरान ज़रूरी है और सप्लीमेंट के रूप में ली जाती है। क्योंकि यह जन्मजात दोषों के संभावित खतरोंको रोकने और कम करने में मददगार है। स्पैनिश सोसाइटी ऑफ ऑब्सटेट्रिक्स एंड गायनोकोलॉजी (SEGO) समेत दुनिया के तमाम देश गर्भावस्था के पहले, उस दौरान और बाद में फोलेट या विटामिन B9 की पर्याप्त मात्रा में लेने की अहमियत को लेकर जागरूकता अभियान चलाते हैं।

जेनेटिक सूचनाओं के वाहक न्यूक्लिक एसिड (DNA और RNA) के गठन के लिए विटामिन B9 ज़रूरी है। विटामिन B12 के साथ मिलकर यह रेड ब्लड सेल्स के निर्माण में भूमिका निभाता है और नर्वस सिस्टम के विकास में शामिल होता है।

फोलिक एसिड और फोलेट

आपको यह भी पढ़ना चाहिए: विटामिन B12 के बारे में जानिये सबकुछ

फोलिक एसिड और फोलेट के बीच अंतर

आपका शरीर फोलेट को अवशोषित करने के लिए बना है। यह स्वाभाविक रूप से छोटी आंत की म्यूकोसा के जरिये करता है। पाचन तंत्र फोलेट के सभी रूपों को 5-MTHF में बदलने में सक्षम है, जो कि खून में बहने वाला मॉलिक्यूल है।

दूसरी ओर, फोलिक एसिड एक सिंथेटिक मॉलिक्यूल है और फोलेट के विपरीत यह पाचन तंत्र द्वारा नहीं बदलता है। लिवर में इसके मेटाबोलिज्म की ज़रूरत होती है, जिससे कई एंजाइम और मेटाबोलिक रिएक्शन होते हैं।

इस प्रक्रिया से अत्यधिक फोलिक एसिड बन सकता है, जो ख़तरा बन सकता है। फोलिक एसिड का ऊँचा लेवल कई स्वास्थ्य समस्याओं से जुड़ा है।

शरीर तुरंत फोलेट का मेटाबोलिज्म करता है, निगलने के कुछ मिनट के भीतर ही, लेकिन फोलिक एसिड के मेटाबोलिज्म में घंटों और यहां तक ​​कि दिन लग सकते हैं। थोड़े समय के लिए फोलिक एसिड ज्यादा हो तो कोई खतरा नहीं होता। लंबे समय तक इसके मात्रा ज्यादा रहने से असर नेगेटिव होता है।

फोलिक एसिड ज्यादा रहने से दो नतीजे हो सकते हैं:

  • यह B12 की कमी का कारण बन सकता है। फोलिक एसिड का हाई लेवल B12 टेस्ट को पॉजिटिव बना सकते हैं।
  • कैंसर का खतरा बढ़ता है। दुनिया भर के विभिन्न अध्ययनों में फोलिक एसिड के हाई लेवल और कोलोन कैंसर के ज्यादा जोखिम के बीच संबंध देखा गया है।

आपको विटामिन बी 9 की ज़रूरत क्यों है

स्वस्थ रहने के लिए आपके शरीर को अलग-अलग मात्रा में फोलेट की ज़रूरत हो सकती है। यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप गर्भवती हैं या नहीं, आपकी उम्र क्या है, आपके शरीर का वजन क्या है। अपने डॉक्टर से सलाह लेनाठीक है जिससे वे आपके विशेष मामले का मूल्यांकन कर सकें और ज़रूरी सिफारिशें कर सकें।

निम्नलिखित कार्यों के ठीकठाक रहने के लिए फोलिक एसिड और फोलेट ज़रूरी हैं:

  • प्रोटीन को तोड़ना और पोषक तत्वों को अवशोषित करना
  • सफेद और रेड ब्लड सेल्स का निर्माण
  • जेनेटिक सूचनाओं के वहन के लिए डीएनए के निर्माण में सहायता करना
  • गर्भवती महिलाओं में जन्मजात समस्याओं के जोखिम को रोकना
  • कार्डियोवैस्कुलर सिस्टम के सही कामकाज में योगदान
  • रोग प्रतिरोधी क्षमता के समुचित कार्य में योगदान
  • थकान कम करने में मदद करना।

अधिक जानने के लिए पढ़ें: विटामिन E से भरपूर खाद्य

निष्कर्ष

पर्याप्त विटामिन B9 के लेवल को बनाए रखने के लिए सभी स्रोत अच्छे हैं, पर आपके लिए इस विटामिन को लेने का सबसे अच्छा तरीका हरी पत्तेदार सब्जियां है

ख़ास स्थितियों में लोगों को फोलिक एसिड की डोज की ज़रूरत होती है। डॉक्टरों को पता होगा कि इसे कब देना है, खासकर यदि आप गर्भवती हैं।

  • Iskandar BJ., Nelson A., Resnick D., Skene JH., et al., Folic acid supplementation enhances repair of the adult central nervous system. Ann Neurol, 2004. 56 (2): 221-7.
  • Koren G., Moser SS., Does high dose gestational folic acid increase the risk for autism? The birth order hypothesis. Med Hypotheses, 2019.
  • Franco A., Solis Herruzo JA., Colorectal cancer: influence of diet and lifestlye. Revista Española de Enfermedades Digestivas, 2015.