समुद्री शैवाल कैसे खाएं, इसका न्यूट्रिशनल वैल्यू क्या है

जुलाई 26, 2019
समुद्री शैवाल में कई विटामिन और मिनरल की भरपूर मात्रा होती है। इसलिए इसका सेवन एनीमिया और पोषण की कमी के इलाज में फायदेमंद हो सकता है।

निश्चित रूप से आपने ऐसी रेसिपी के बारे में पढ़ा है जिनमें सीवीड या समुद्री शैवाल (Seaweed) शामिल होते हैं। लेकिन आप शायद असमंजस में हों कि समुद्री सिवार का सेवन कैसे किया जाए और आप इसे कहां से खरीद सकते हैं।

यहाँ हम समुद्री शैवाल और इसके न्यूट्रिशनल वैल्यू के बारे में बात करेंगे जो गैस्ट्रोनॉमी में तेजी से लोकप्रिय हो रहा है।

खाने योग्य समुद्री शैवाल की किस्में

आजकल समुद्री शैवाल दुनिया भर की कई रेसिपी में पाए जा सकते हैं।

समुद्री शैवाल खाने से पहले आपको जो पहली चीज मालूम होनी चाहिए वह यह है कि इसे तीन मुख्य ग्रुप में बांटा जा सकता है: भूरा शैवाल ( brown algae), लाल शैवाल (red algae) और नीला-हरा शैवाल (blue-green algae)

भूरा शैवाल ( brown algae)

  • नोरी (Nori ) में लॉवर (laver), स्लोक (sloke), ओवा मरीना (ova marina) और स्लेक (slake) शामिल हैं। वे प्रोटीन और विटामिन A से भरपूर होते हैं और फ्राइड फ़ूड में डाले जा सकते हैं।
  • निशिमे कोम्बू (Nishime Kombu) में कारवीड (carweed), टैंगल (tangle), और रैक (wrack) शामिल हैं। वे पोटैशियम और आयोडीन देते हैं और खाद्य पदार्थों को मीठा बनाते हैं।
  • इतो वेकम (Ito wakame): आप इसे पकी हुई सब्जियों में डाल सकते हैं। यह कैल्शियम, विटामिन B और C और पोटैशियम से समृद्ध होता है।
  • हिज़िकी (Hiziki) गाजर या बीट जैसी जड़ वाली सब्जियों के साथ अच्तछा लगता है। इसमें पोटैशियम, कैल्शियम और आयरन बहुत होता है।
  • एरामे (Arame) नरम और हल्का होता है। यह आयोडीन और कैल्शियम से भरपूर है।
  • अलेरिया (Alaria) में डबरब्लॉक (dabberlocks), मरलींस (murlins) और विंग्ड केल्प (winged kelp) शामिल हैं। यह मिनरल और विटामिन से भरपूर है और इसका उपयोग सूप तैयार करने के लिए किया जाता है।

लाल सिवार (red algae)

  • डुलसे (Dulse) पके हुए अनाज के साथ ठीक लगता है और लोहा, फास्फोरस और पोटैशियम प्रदान करता है।
  • अगार (Agar) में शेरो कैंटेन (shiro kanten) शामिल है। यह जेली की तरह बहुत ही पौष्टिक पदार्थ है जिसमें बहुत अधिक फाइबर होता है।
  • कैरेजेन मॉस (Carrageen moss) को आयरिश मॉस भी कहा जाता है। इसमें प्रचुर कार्बोहाइड्रेट होता है, साथ ही कैल्शियम और पोटैशियम भी होते हैं।

नीला-हरा शैवाल (blue-green algae)

  • स्पिरुलिना (Spirulina) एमिनो एसिड और प्रोटीन से समृद्ध है और टैबलेट या पाउडर की शक्ल में बेचा जाता है। इसे अनाज, दही, जूस या दूध में मिलाया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें : 7 डेली सप्लीमेंट शानदार सेहत के लिए

समुद्री शैवाल को पकाने की टिप्स

सेवन करने से पहले समुद्री शैवाल को भिगोने की सलाह दी जाती है। सभी समुद्री शैवाल, चाहे वह जिस भी ग्रुप के हों, उन्हें कम से कम 20 मिनट तक भिगोना चाहिए। इससे यह अपने आकार और आयतन का सात गुना तक बढ़ जाता है।

अगर यह बहुत ज्यादा नमकीन या रेतीला है, तो इसे ठंडे पानी से धो लें।

नीले-हरे शैवाल को भिगोए जाने के बाद इसके ग्रोथ की दिशा में इसे स्ट्रिप में काटा जा सकता है। लाल शैवाल को काटकर या साबुत पकाया जा सकता है। अगर को पकाये जाने से पहले या बाद में काटा जा सकता है।

कुकिंग टिप्स

  • वकमे (Wakame), नोरी (nori), क्लोरेला (chlorella), केल्प (kelp), स्पिरुलिना और डुलसे (dulse) को कच्चा खाया जा सकता है
  • कोम्बु सीवीड को कम से कम 45 मिनट तक भिगोने के बाद आधे घंटे तक पकाने की ज़रूरत होती है। इससे मिलने वाले शोरबे का  उपयोग सूप या सॉस बनाने या सब्जियों को पकाने के लिए किया जा सकता है
  • हिज़िकी सीवीड सर्दियों के दौरान सबसे अच्छा रहता है और इसमें बहुत तीव्र स्वाद होता है। आप इस सिवार का उपयोग सूप, स्टू और पुडिंग बनाने के लिए कर सकते हैं। आपको इसे 30 मिनट के लिए भिगोना होगा और फिर इसे इतने ही वक्त तक पकाना होगा।
  • वेकम (wakame) का उपयोग आप दर्जनों व्यंजनों को बनाने के लिए कर सकते हैं, यह मिजो सूप (miso soup) का बेहतरीन इन्ग्रेडिएंट है। आपको 15 मिनट तक वेकम को भिगोना होगा और इसे 10 मिनट पकाना है। इसे सलाद में कच्चा भी खा सकते हैं।
  • नोरी को भिगोने की ज़रूरत नहीं है। आप इसे एक फ्राइंग पैन पर टोस्ट कर सकते हैं जब तक कि यह सुनहरा या हरा न हो जाए। फिर इसे कैंची से टुकड़ों में काट लें और हाथ से पीस लें (जब वे गर्म हों)। आप सूप या अनाज में नोरी को डाल सकते हैं।
  • कैंटन समुद्री शैवाल (Kanten seaweed) का उपयोग मुख्य रूप से ठंडे सॉस, क्रीम, पुडिंग, सलाद या सूप और स्टू को मोटा करने के लिए किया जाता है

इस लेख को भी पढ़ें : 5 शानदार ब्रेकफ़ास्ट टेकनीक हाइपोथायरॉइडिज्म के लिये

आपको समुद्री शैवाल का सेवन क्यों करना चाहिए

1. खाने योग्य सिवार बहुत पौष्टिक होती है

  • यह डायबिटीज रोगियों के लिए अच्छा है। इसमें काम्प्लेक्स शुगर होता है, इसलिए यह ब्लड शुगर लेवल नहीं बढ़ाता।
  • सीवीड शाकाहारियों के लिए बहुत अच्छा है क्योंकि इसमें प्रचुर प्रोटीन होता है। स्पिरुलिना में अंडे, मछली और मांस से ज्यादा प्रोटीन होता है।
  • खाने योग्य समुद्री शैवाल शरीर की रोजाना की ज़रूरत का आयरन देता है। यह स्पिरुलिना के मामले में बिलकुल सच है, जिसमें अनाज और पालक के मुकाबले छह गुना आयरन है। यह एनीमिया या सामान्य कमजोरी के लिए बहुत अच्छा है।
  • खाने योग्य सिवार हाई ब्लड प्रेशर से लड़ने में मदद कर सकते हैं। यह कार्डियोवैस्कुलर सिस्टम को नियंत्रित करता है और उच्च रक्तचाप से लड़ने में मदद करता है।

2. यह आपके शरीर को स्वस्थ रखता है

  • समुद्री शैवाल आंखों की रोशनी में सुधार लाता है क्योंकि इसमें भारी मात्रा में विटामिन A होता है। इसलिए नोरी और स्पिरुलिना खाने की सिफारिश की जाती है।
  • यह खांसी को शांत कर सकता है। खाने योग्य सिवार जुकाम के इलाज के लिए भी बहुत अच्छा है। पारंपरिक चिकित्सा में इसे शहद और नींबू जूस में मिलाकर रेस्पिरेटरी सिस्टम सिरप के रूप में उपयोग किया जाता है।
  • खाने योग्य सिवार ब्यूटी और दीर्घायु विटामिन के नाम से जाने जाने वाले विटामिन A के कारण त्वचा और बालों को स्वस्थ रखता है। कुछ समुद्री सिवार में जिंक भी होता है, जो मुंहासों के इलाज में असरदार है। कुछ दूसरे सिवार बालों को चमकदार बनाते हैं।
  • यह आपकी हड्डियों और दांतों के लिए अच्छा है। एरामे सीवीड में दूध के मुकाबले 15 गुना ज्यादा कैल्शियम होता है। साथ ही स्पिरुलिना और वेकैम ऑस्टियोपोरोसिस की रोकथाम के लिए या टूटी हुई हड्डी को ठीक करने में एरामे सीवीड खाने की सिफारिश की जाती है।

3. यह आपके पाचन तंत्र के लिए बहुत अच्छा है

  • फाइबर से भरपूर होने के कारण अगर फलियों के साथ सेवन किया जाए तो समुद्री शैवाल पाचन और आंतों के संक्रमण को ठीक करता है। जब आप तले हुए खाद्य पदार्थों के साथ समुद्री सिवार का सेवन करते हैं तो भी ऐसा होता है क्योंकि यह पाचन में सुधार करता है।
  • यह आंतों को साफ करता है। समुद्री शैवाल अपने एलेजिक एसिड (alginic acid) के कारण इस अंग को शुद्ध करता है। यह लार्ज इंटेसटाइन की दीवार में जमा विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है। यह कोलाइटिस के लिए एक नेचुरल इलाज के रूप में भी प्रयोग किया जाता है।
  • समुद्री शैवाल कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करता है क्योंकि इसमें 5% अनसैचुरेटेड फैट होता है जो कोलेस्ट्रॉल कम करता है। इसके अलावा, इसमें सैचुरेटेड फैट नहीं होता है।

इस आर्टिकल में हमारे बताए गए इन फायदों की वजह से आपको निश्चित रूप से समुद्री शैवाल का सेवन और ज्यादा करना चाहिए। आप इसे अपने पारंपरिक डिश में शामिल कर सकते हैं या नए अनोखे डिश बना सकते हैं।