माउथवॉश का इस्तेमाल करने के बारे में एक गाइडलाइन

अप्रैल 1, 2020
माउथवॉश का इस्तेमाल आप हर दिन आप हर दिन रोकथाम के उपाय के रूप में कर सकते हैं, लेकिन दांतों की कुछ समस्याओं के इलाज के लिए भी इसे आप अपना सकते हैं। कई तरह के उपयोग वाले माउथवॉश की अलग-अलग किस्में मौजूद हैं।

माउथवॉशकरना दरअसल टूथ ब्रश करने का ही एक परिपूरक है, लेकिन यह कभी भी ब्रशिंग की जगह नहीं ले सकता। अगर आप फ्लॉसिंग के साथ-साथ इस ओरल हाइजीन का इस्तेमाल करें तो मुंह को स्वस्थ रहने में मदद मिलेगी।

ज़रूरत अनुसार सही माउथवॉश चुनने के लिए ओरल हेल्थ केयर प्रोफेशनल से सलाह लें। वे हर मामले में उपयुक्त  सलाह देंगे और इसका इस्तेमाल करने का सही तरीका बताएँगे।

अल्कोहल मिले या अल्कोहल फ्री माउथवॉश

माउथवॉश का चुनाव करने की बात हो तो सबसे पहले इसके अल्कोहल कंटेंट के बारे में सोचना महत्वपूर्ण है। अगर इसमें अल्कोहल है, तो आपको इसे निगलना नहीं चाहिए या इसका लगातार इस्तेमाल भी नहीं करना चाहिए। अल्कोहल वाला प्रोडक्ट मुंह के म्युकोसा पर असर डाल सकता है। हालांकि बाजार से अल्कोहल फ्री माउथवाश भी खरीद सकते हैं।

कुछ माउथवॉश में CPC, Cetylpyridinium Chloride होता है, जो सुरक्षित और असरदार है। यह ऐसा तत्व है जो कीटाणुओं को इकठ्ठा होने से रोकता है।

माउथवॉश टाइप

माउथवॉश को दो मुख्य ग्रुप में बांटा गया है: कॉस्मेटिक और थेराप्यूटिक। थेराप्यूटिक माउथवॉश को मसूड़ों की सूजन, दांतों की सेंसिटिविटी या माउथ अल्सर जैसी समस्याओं में भी इस्तेमाल किया जाता है। कॉस्मेटिक माउथवॉश में अक्सर व्हाइटनिंग प्रोडक्ट मिले होते हैं।

आम तौर पर आपको ब्रश करने के आधे घंटे बाद माउथवॉश का इस्तेमाल करना चाहिए, क्योंकि टूथपेस्ट में मौजूद तत्व इसकी प्रभावशीलता में कमी ला सकते हैं। नीचे हम सबसे ज्यादा उपयोग किए जाने वाले माउथवॉश की जानकारी अशेयर करेंगे।

हैलिटोसिस या सांसों की दुर्गंध के लिए माउथवॉश का उपयोग करना

यदि आप मुंह की बदबू (Halitosis) से पीड़ित हैं, तो सबसे ज़रूरी इसका कारण जानना है। यह समस्या आम तौर पर इसलिए होती है कि मुंह में बैक्टीरिया खाद्य पदार्थों को तोड़ते हैं। सांसों की बदबू का इलाज करने के लिए माउथवॉश में हाइड्रोजन पेरॉक्साइड, जिंक, क्लोरहेक्सिडिन या ट्राईक्लोसन जैसे तत्व होते हैं।

विशेषज्ञों ने कम से कम दिन में दो बार या हर बार ब्रश करने के बाद 30 सेकंड के लिए 15 मिलीलीटर माउथवाश  से मुंह को ढोने की सिफारिश की है। बेहतर नतीजे के लिए इसका इस्तेमाल करने के तुरंत बाद पानी से कुल्ला करने, खाने या पीने की कोशिश न करें।

इसे भी पढ़ें : डेंटल प्लाक से छुटकारा पाने के 10 नेचुरल नुस्ख़े

गम की स्थिति

ये समस्याएं तब होती हैं जब डेंटल प्लाक के बैक्टीरिया मसूड़ों में बनते हैं और सूजन और रक्तस्राव को जन्म देते हैं। वे हड्डी और यहां तक ​​कि दांतों की क्षति का कारण बन सकते हैं।

गम ट्रीटमेंट के लिए डेंटिस्ट आमतौर पर अल्कोहल विहीन सॉफ्ट माउथवॉश की सिफारिश करते हैं। इन माउथवॉश की सामग्री में पोविडोन-आयोडीन, फेनोल या एसेंशियल ऑयल शामिल होते हैं। साल्ट वाले माउथवॉश भी इन मामलों के लिए ठीक होते हैं।

पीरियोडोंटाइटिस का इलाज करने के लिए डेंटिस्ट क्लोरहेक्सिडिन की सिफारिश करते हैं, जो एक तरह का एंटीसेप्टिक है और बैक्टीरिया की प्लेक के खिलाफ असरदार है। माउथवॉश को मसूड़े की सूजन का इलाज करने में इस्तेमाल किया जा सकता है।

दांतों की क्षय : माउथवॉश
दांतों की क्षय रोकने के लिए माउथवॉश

कैविटी मुंह की सबसे आम समस्याओं में से एक है। हालांकि सही ओरल हाइजीन और फ्लोराइड ट्रीटमेंट से उनसे बचा जा सकता है। फ्लोरिडेशन दांत की सतह को बरकरार रखने में मदद करता है और इसे छेड़ से भरने से रोकता है। बैक्टीरिया को घुसने से भी रोकता है।

दांतों की इनामेल को मजबूत करने में मददगार फ्लोराइड युक्त वाश कैविटी के ट्रीटमेंट में सहायक होते हैं।

ज़ेरोस्टोमिया (Xerostomia) मुंह का सूखापन

यदि आपके मुंह में कम लार आता है, और आपको ड्राई माउथ है, तो आप बैक्टीरियल इन्फेक्शन की ग्रोथ के ज्यादा जोखिम पर हैं, क्योंकि इस मामले में लार अपने सुरक्षात्मक कामकाज को पूरा नहीं कर पाती है। इस कारण एक्सपर्ट एक उपयुक्त माउथवॉश का उपयोग करने की सलाह देते हैं, जो आपके मुंह को तरोताज़ा करने के अलावा, एक प्रीवेन्टिव नुस्ख़े का काम करता है। इस तरह के प्रोडक्ट मिनरल, विटामिन E और फ्लोराइड से समृद्ध होते हैं।

अधिक जानने के लिए पढ़ें: 7 प्राकृतिक नुस्खे: मुंह के छालों के उपचार के लिये

ऑर्थोडॉन्टिक्स

यदि आप ब्रेसिज़ लगाते हैं, तो आपको माउथवॉश की ज़रूरत है क्योंकि इन मामलों में ब्रश करना पर्याप्त नहीं है। माउथवॉश का उपयोग करके, आप उन हिस्सों तक पहुँचते हैं, जहाँ ब्रश नहीं पहुँचते और मुंह की पूरी केयर निश्चित करते हैं।

दिन में कम से कम दो बार या हर बार ब्रश करने के बाद 30 सेकंड के लिए 15 मिलीलीटर माउथवाश से कुल्ला करें।

निष्कर्ष

माउथवॉश का उपयोग करने से उन स्थानों से फ़ूड स्क्रैप को हटाना संभव होता है जो ब्रश नहीं कर सकते। इसलिए अपनी सांस को तरोताज़ा करने के अलावा यह सही ओरल हेल्थ को बनाए रखने में मदद करता है। कुल मिलाकर हर तरह के मेडिकल माउथवॉश के स्पष्ट संकेत हैं। कोई डेंटिस्ट आपको सही माउथवाश चुनने में मदद कर सकता है।

  • Hábitos de higiene bucal y su influencia sobre la frecuencia de caries dental. (2008). Acta Pediátrica de México.

  • Díaz Soriano, A. M., Pérez Vargas, L. F., Castro Rodríguez, A. F., Montesinos Mateos, A., Montoros Chávez, E., Morales Sauri, W., … Paredes Pérez, H. (2014). Efecto de los colutorios orales con fluoruro de sodio al 0.05% y agua con sal al 5% sobre la placa bacteriana y el ph salival. Odontología Sanmarquina. https://doi.org/10.15381/os.v8i1.2994

  • Gonçalves, É. M., Vasconcelos, Â. M., Maia, C. R. N. P., Freitas, R. A., Carlos, M. X., & Lima, D. L. F. (2009). Investigação dos ingredientes ativos presentes nos consultórios e dentifrícios encontrados no mercado brasileiro. Revista Periodontia.