जानिये क्यों बहते हैं मसूड़ों से खून

03 जनवरी, 2020
मसूड़ों से खून आना रोकने के लिए मुंह की अच्छी साफ़-सफाई रखना और नियमित रूप से डेंटिस्ट के पास जाना जरूरी है। इस मामले में ज्यादा जानकारी के लिए आगे पढ़ें!
 

लगभग सभी ने अपने मसूड़ों से खून आते हुए कम से कम एक बार तो जरूर देखा है भले ही उस वक्त जब आप अपने दाँत को ब्रश कर रहे थे। दरअसल हर कोई आमतौर पर यह मानता है की यह टेम्पररी मामला है या ब्रश करने के कारण हुआ है। हालाँकि, यह बहुत सामान्य बात नहीं है।

मसूड़ों से खून आना एक लक्षण है जिसकी आपको बारीकी से निगरानी करनी चाहिए, क्योंकि यह मसूड़ों की बीमारी का शुरुआती संकेत भी हो सकता है

इसलिए अगर यह कभी-कभार हो तो भी आपको इसे अनदेखा नहीं करना चाहिए। इस आर्टिकल में हम बताएंगे, मसूड़ों से खून क्यों बहता है और इसके कारण और लक्षण क्या हैं।

मसूड़ों से खून आना (Bleeding gums)

मसूड़ों से खून आना मसूड़ों की सूजन का संकेत है। यह अक्सर लालिमा लिए होता है और भले ही यह सिर्फ ब्रश करने के दौरान हो, तो भी यह मसूड़ों की बीमारी की ओर इशारा हो सकता है। उदाहरण के लिए मसूड़े की सूजन और पीरियडोंटाइटिस दोनों इसका कारण बन सकते हैं।

जिंजीवाइटिस (Gingivitis)

यह मसूड़ों की बहुत आम बीमारी है। हालाँकि यह गंभीर नहीं है, लेकिन यह पीरियडोंटाइटिस (periodontitis) की ओऱ ले जा सकता है। यह स्थिति मसूड़ों को फुला देती है, जिससे वे लाल हो जाते हैं और उनमें सूजन आ जाती है। यह विशेष रूप से दांतों की जड़ पर असर डालता है।

मसूड़े की सूजन आमतौर पर मुंह की कम स्वछता कारण विकसित होती है। इसलिए इससे बचने के लिए अच्छी हाइजीन हैबिट अपनाना जरूरी है। डेंटिस्ट आपके दांतों को दिन में दो बार ब्रश करने और रोजाना फ्लॉस करने की सलाह देते हैं। इसके अलावा आपको नियमित रूप से अपने डेंटिस्ट से मिलने की जरूरत होती है।

आप इस लेख को भी पसंद कर सकते हैं: मुँह की समस्याएं कहेंगी अलविदा, अपनाएँ यह प्राकृतिक औषधि

मसूड़ों से खून आना : पीरियडोंटाइटिस (periodontitis)

पीरियडोंटाइटिस (periodontitis)

यह एक गंभीर गम इंफेक्शन है जो दांतों को सपोर्ट करने वाली हड्डी को लगातार नष्ट कर देता है। इससे आपके दांत गिर सकते हैं। यह अपेक्षाकृत आम बीमारी है। पीरियडोंटाइटिस को गलत हाइजीन से भी जोड़ा गया है। हालांकि डॉक्टर दुसरे रिस्क फैक्टर की भी पहचान करते हैं। दरसल कई अध्ययन तंबाकू सेवन को पीरियडोंटाइटिस के ज्यादातर मामलों से जोड़ते हैं।

 

दूसरे कारण

यह जानना भी जरूरी है कि मसूड़ों से रक्तस्राव दूसरी स्थितियों के कारण भी हो सकता है। दांतों को ब्रश करना, नए टूथब्रश का इस्तेमाल करना, फूलना शुरू करना और कुछ दवाओं के असर से भी मसूड़ों से रक्तस्राव हो सकता है

मसूड़ों से खून बहने के कारण क्या हैं?

मुंह में कई किस्म के बैक्टीरिया की कॉलोनी होती है, जो लगातार एक चिपचिपा “बायोफिल्म” बनाते हैं और यह दांतों पर जमा होता है। यह बायोफिल्म बलगम और खाद्य के अवशेषों के कारण भी बनती है।

इस बायोफिल्म को आप सही ब्रशिंग और फ्लॉसिंग के जरिये ख़त्म कर सकते हैं। अगर आप इसे ठीक से न करें तो यह सख्त हो जाता है और आखिर प्लाक बनाता है जो आपके दांतों के चारों ओर इकठ्ठा होते हैं। इसके कारण मसूड़े में सूजन होती है और खून आने लगता है।

मसूड़ों से खून आने से कैसे रोके

हर दिन अपने दांतों को ब्रश करने से बैक्टीरिया प्लाक के गठन को रोकने में मदद मिलती है जो टार्टर और दूसरी ओरल समस्याओं का कारण बनती है।

मसूड़ों से खून आने से कैसे रोके

पहली चीज जो आपको करनी चाहिए वह है अपने दाँत की जांच के लिए डेंटिस्ट के पास जाना। इसके अलावा आपका डेंटिस्ट किसी भी टार्टर की सफाई के लिए निश्चित रूप से दांतों को साफ करेगा और आपके लिए सर्वोत्तम ट्रीटमेंट की सिफारिश करेगा।

मसूड़ों से खून आने के आपके कारण के बावजूद इस स्थिति से बचने या इसका असर कम करने के लिए कुछ आसान स्टेप हैं। अगर आप मसूड़े की किसी समस्या से पीड़ित नहीं हैं, तो आपको नीचे बतायी गयी टिप्स का पालन रोजाना करना चाहिए:

  • हर दिन अपने दांतों को ब्रश करें। इसे दिन में दो से तीन बार करने की कोशिश करें। आदर्श रूप से आपको सावधानी सेब्रश करना चाहिए, कम से कम दो मिनट के लिए। अपने टूथब्रश से मुंह में उन क्षेत्रों पर ज्यादा फोकस करें जहां पहुंचना मुश्किल होता है।
  • कुछ एक्सपर्ट इलेक्ट्रिक टूथब्रश का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं। यह बेहतर होता है अगर आपके टूथब्रश में सॉफ्ट, गोल ब्रिसल्स हैं। गम लाइन को ब्रश करते वक्त ज्यादा सावधानी बरतें।
 
  • हर दिन फ्लॉस करें। यह आपके दांतों के बीच प्लाक बनने से रोकेगा। इसी तरह आपको माउथवॉश का इस्तेमाल भी करना चाहिए।
  • जैसा कि हमने ऊपर बताया है, अपने डेंटिस्ट के पास रेगुलर जाएँ। आदर्श रूप से आपको हर छह महीने में ऐसा करना चाहिए।
  • स्मोकिंग छोड़ें और शराब से बचें

आपको अपनई डाइट पर पूरा ध्यान देना चाहिए। बहुत सारे फल और सब्जियां खानी चाहिए, क्योंकि इनमें मौजूद तमाम विटामिन आपके मसूड़ों को मिलते हैं और आपके दांतों को स्वस्थ रखते हैं। चीनी से भरे खाद्य पदार्थों से परहेज करें। वे आपके दांतों को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

निष्कर्ष

मसूड़ों से खून आना मसूड़ों की बीमारी का संकेत हो सकता है। अगर आप इस स्थिति से पीड़ित हैं, तो आपको अपने डेंटिस्ट के पास जल्द से जल्द जाना चाहिए। इसके अलावा इसे रोकने के लिए मुंह की सही साफ़-सफाई बनाए रखने की कोशिश करें।

 
  • Tratamientos, Sí. (n.d.). Enfermedad de las encías o enfermedad periodontal – Causas, sÍntomas y tratamiento. Retrieved from https://www.nidcr.nih.gov/sites/default/files/2018-01/enfermedad-encias-enfermedad-periodontal_3.pdf
  • Causas y soluciones del sangrado de encías | Blog Dentix. (n.d.). Retrieved July 29, 2019, from https://www.dentix.com/es-es/blog/causas-y-soluciones-del-sangrado-de-encias
  • Sangrado de encías | parodontax. (n.d.). Retrieved July 29, 2019, from https://www.parodontax.es/sobre-enfermedad-gingival/sintomas/sangrado-encias/
  • ¿Por qué me sangran las encías? (n.d.). Retrieved July 29, 2019, from https://cuidateplus.marca.com/bienestar/2018/11/22/-sangran-encias-168209.html