8 घरेलू नुस्ख़े जो दूर करेंगे मसूड़ों की सूजन

02 फ़रवरी, 2019
मुंह के संक्रमण, साफ़-सफ़ाई की गलत आदतें और दांतों के कुछ इलाज से आपके मसूड़ों में सूजन हो सकती है। मसूड़ों की सूजन से राहत दिलाने वाले 8 घरेलू नुस्खों के बारे में जानें इस लेख में!
 

मसूड़ों की सूजन से निपटने के आठ घरेलू नुस्खों को इस लेख में हम आपके साथ साझा करना चाहेंगे।

मुंह के संक्रमण, साफ़-सफ़ाई की खराब आदतें और मुंह के कुछ उपचार की वजह से होने वाली मसूड़ों की सूजन (swollen gums) एक आम समस्या है।

आमतौर पर इसमें आपके मसूड़े स्पर्श के प्रति अतिसंवेदनशील हो जाते हैं। आपके मुंह से दुर्गंध आती है। दांतों से खून आने लगता है व मसूड़ों के रंग में स्पष्ट बदलाव आ जाता है।

इस अवस्था से जूझते लोग खाना निगलते व ब्रश करते वक़्त असहज महसूस करते हैं।

हालांकि मसूड़ों की सूजन अपने आप ही गायब हो जाती है। उसकी वजह से होने वाली जटिलताओं से बचने के लिए उनका कोई इलाज करवा लेने में ही आपकी भलाई होती है।

खुशकिस्मती से मसूड़ों की सूजन से निपटने के ऐसे कई घरेलू उपाय हैं, जो उनकी सूजन व उनसे होने वाले दर्द, दोनों ही को कम करने में काफ़ी मददगार होते हैं:

1. मसूड़ों की सूजन के लिए लौंग का तेल (Clove oil)

मसूड़ों की सूजन से राहत दिलाने वाला लौंग का तेल

लौंग के तेल में मौजूद सक्रिय कंपाउंड्स बेहद कारगर एनाल्जेसिक और सूजनरोधी दवा के तौर पर काम करते हैं। मसूड़ों की सूजन के खिलाफ़ लौंग के तेल की यही खूबी उसकी सबसे बड़ी ताकत है।

उसके एंटीबैक्टीरियल तत्व संक्रमण फैलाने वाले कीटाणुओं को कम कर आपको सांस की दुर्गंध से भी राहत दिलाते हैं।

इस्तेमाल की विधि:

  • रुई के एक टुकड़े को थोड़े से लौंग के तेल में भिगोकर उसे अपने सूजे हुए मसूड़ों पर 2-3 मिनट तक रगड़ें
  • ऐसा दिन में दो बार करें
  • उसे रुई पर लगाकर अपने मसूड़ों पर रगड़ने की जगह गर्म पानी में उसकी पांच बूँदें डालकर उसका इस्तेमाल किसी माउथवॉश के तौर पर भी कर सकते हैं

इसे भी आजमायें : मसूड़ों की सूजन से छुटकारा पाने के 7 प्राकृतिक उपाय

2. मसूड़ों की सूजन के लिए प्याज

प्याज के सेप्टिक और एंटीमाइक्रोबियल कंपाउंड्स मसूड़ों की सूजन पैदा करने वाली मुंह की समस्याओं से निपटने में कारगर होते हैं।

 

इनमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट के साथ मिलकर उनके सल्फर कंपाउंड आपको दर्द से राहत दिलाते हैं व आपकी ओरल कैविटी में कीटाणुओं की बढ़ी हुई मात्रा के लक्षणों को कम कर देते हैं।

इस्तेमाल की विधि:

  • कच्चे प्याज का एक टुकड़ा काट कर अपने दर्द से राहत पाने के लिए कुछ मिनटों तक उसे चबाएं
  • प्याज का थोड़ा रस निकालकर रुई के एक टुकड़े की मदद से आप उसे अपने मसूड़ों पर भी लगा सकते हैं।
  • मसूड़ों की सूजन को कम करने के लिए उसका प्रयोग बार-बार करें।

3. वेनिला एक्सट्रेक्ट (Vanilla Extract)

वेनिला एक्सट्रेक्ट व मसूड़ों की सूजन

वेनिला एक्सट्रेक्ट की सूजनरोधी व आरामदेह खूबियाँ दांतों के दर्द व मसूड़ों की सूजन को कम करने में मददगार होती हैं। उसे लगाने से आपके मुंह में बैक्टीरिया के विकास पर अंकुश भी लगता है और आपकी साँसों की दुर्गंध भी कम हो जाती है।

इस्तेमाल की विधि:

  • रुई की किसी पट्टी को वेनिला एक्सट्रेक्ट में भिगोकर उसे सीधे अपने मसूड़ों पर लगा लें
  • सूजन से फ़ौरन राहत पाने के लिए दिन में चार बार ऐसा करें।

4. आइस क्यूब्स

अपने मसूड़ों पर आइस क्यूब्स मलने से उनमें सूजन होने पर दर्द पैदा करने वाली नर्व के छोर सुन्न हो जाते हैं

इस नुस्खे से आपके मसूड़ों में रक्तसंचार तेज़ हो जाता है व उनकी सूजन जल्द ही गायब हो जाती है

इस्तेमाल की विधि:

  • किसी पतले-से कपड़े में कई आइस क्यूब्स डालकर दर्द वाली जगह के करीब, उसे अपने गाल से लगा लें।
  • गाल की तीन मिनट तक मालिश करें व इस उपाय का रोज़ाना दो बार इस्तेमाल करें

5. नींबू

नींबू का मसूड़ों की सूजन से बैर
 

नींबू का ताज़ा रस मसूड़ों की सूजन और दर्द से राहत पाने का एक कारगर और किफायती उपाय होता है।

उसके एंटीबायोटिक कंपाउंड संक्रमण को कम कर सांस की दुर्गंध पैदा करने वाले बैक्टीरिया से हमारे मुंह की रक्षा करते हैं।

इस्तेमाल की विधि

  • गुनगुने पानी में नींबू का थोड़ा-सा ताज़ा रस डालकर उसका इस्तेमाल किसी माउथवॉश के तौर पर करें।
  • उसका उपयोग रोज़ाना 3 बार करें।

इसे भी आजमायें : तिब्बती भिक्षुओं के सफेद दांतों का राज़ 

6. ब्लूबेरी जूस (Blueberry Juice)

प्राकृतिक ब्लूबेरी के जूस में मौजूद शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट और सक्रिय सूजनरोधी तत्व हमारे मुंह की सेहत में सुधार ले आते हैं।

उसके पोषक तत्व हमारी थूक के पीएच को नियंत्रित कर हमारे मुंह में फंगस और बैक्टीरिया को पनपने से रोकते हैं।

इस्तेमाल की विधि:

  • दिन में दो बार ब्लूबेरी जूस का आधा गिलास पिएं।

7. सेब

मसूड़ों की सूजन से लड़ने के लिए सेब का सेवन

पानी और एंटीऑक्सीडेंट तत्वों से युक्त सेब एक ऐसा फल होता है, जो हमारे मुंह में जाकर खाने के बचे-खुचे टुकड़ों और बैक्टीरिया को हमारे मुंह से हटा देता है

उसकी खूबियाँ मसूड़ों की सूजन से राहत दिलाने और सांस की दुर्गंध को बेअसर करने के लिए उपयोगी होती हैं।

इस्तेमाल की विधि

  • सेब के एक टुकड़े को खाने के बाद चबाएं।
  • अगर आप जिंजीवाइटिस (सांस की दुर्गंध) से परेशान हैं तो इस नुस्खे का इस्तेमाल दिन में 4 से 5 बार तक करें।

8. हाइड्रोजन पेरॉक्साइड

हाइड्रोजन पेरॉक्साइड से बना माउथवॉश जिंजीवाइटिस और हमारे मसूड़ों की सेहत पर असर डालने वाले अन्य संक्रमणों पर लगाम लगाने में मददगार साबित हो सकता है।

इस तरल के शक्तिशाली एंटीमाइक्रोबियल गुण इन्फेक्शन्स से लड़ने में आपकी मदद करते हैं।

सामग्री:

  • दो चम्मच हाइड्रोजन पेरोक्साइड (20 मिलीलीटर)
  • आधा कप पानी

इस्तेमाल की विधि:

  • हाइड्रोजन पेरोक्साइड के दो चम्मच आधे कप गर्म पानी में डालकर उसे अच्छे से मिलाएं। फिर अपने दांत ब्रश करने के बाद दो मिनट तक उससे कुल्ला करें
 
  • इस प्रक्रिया को दिन में 2-3 बार दोहराएं।

उपर्युक्त नुस्खों में से किसी एक का इस्तेमाल कर अपने मुंह की सेहत पर असर डालने वाली मसूड़ों की सूजन से फ़ौरन राहत पाएं

दो दिन बाद भी अगर आपकी हालत में सुधार नहीं आता तो उसके कारण का पता लगाने के लिए अपने डेंटिस्ट को दिखाएं।

  • Diomedi Alexis, Chacón Eiiana, Delpiano Luis, Hervé Beatrice, Jemenao M. Irene, Medel Myriam et al . Antisépticos y desinfectantes: apuntando al uso racional. Recomendaciones del Comité Consultivo de Infecciones Asociadas a la Atención de Salud, Sociedad Chilena de Infectología. Rev. chil. infectol.  [Internet]. 2017  Abr [citado  2018  Oct  07] ;  34( 2 ): 156-174. Disponible en: https://scielo.conicyt.cl/scielo.php?script=sci_arttext&;pid=S0716-10182017000200010&lng=es.  http://dx.doi.org/10.4067/S0716-10182017000200010.