घर पर ज्यादा ऑर्गनाइज़ होने के लिए 7 टिप्स

12 फ़रवरी, 2021
भले ही आप अपनी गडमड्ड और बेतरतीबी में ही कम्फ़र्टेबल महसूस करें, लेकिन ज्यादा ऑर्गनाइज़ होना आपको मनोवैज्ञानिक स्तर पर फायदा पहुंचाता है। क्योंकि यह आपको अफरातफरी से बचाएगा, शांत मिजाज बनायेगा, स्थिरता देगा, बेहतर सोच और सूझ-बूझ भी।

यह महज चीजों के यहां-वहां बिखरे होने का मसला नहीं है, डिसऑर्डर का गहरा असर होता है। यह एक “लाइफस्टाइल” है जो कई बार भ्रम और स्ट्रेस पैदा कर सकती है। ऑर्गनाइज़ होना भी एक आदत है।

इस वजह से इस आर्टिकल में हम आपको घर पर ज्यादा ऑर्गनाइज़ होने में मदद करने के लिए कुछ सुझाव देना चाहते हैं। इन सुझावों को आप दूसरी जगहों पर भी लागू कर सकते हैं, मसलन वर्क प्लेस या दूसरी जगहों पर।

डिसऑर्डर नेचुरल नहीं एक सीखा हुआ व्यवहार है

कुछ लोगों के लिए अव्यवस्थित होना थोड़ा फायदा देता है। उन्हें साफ-सफाई में कुछ घंटे नहीं खर्च नहीं करने पड़ते। इसके अलावा, इस बेतरतीबी में उन्हें चीजें जल्दी मिल सकती हैं।

पर अच्छी तरह से रखे गए घर, बेहतर फैमिली लाइफ और अच्छे माहौल केर लिए बेहतर होता है कि चीजें वहाँ रहें जहां उन्हें होना चाहिए।

बेहतर सोचने के लिए आपके दिमाग को व्यवस्थित होने की जरूरत होती है। इस वजह से अगर आपका ऑफिस या डेस्क कागज, फ़ोल्डर और किताबों से भरा हो तो परेशान होना स्वाभाविक होगा। इससे आप उस तरह से फोकस नहीं कर पायेंगे जितना आपको करना चाहिए।

घर पर ज्यादा ऑर्गनाइज़ होने के लिए इन सुझावों के कई फायदे हैं। बेशक यह एक आदत है जिसे आपको बदल देने की जरूरत है, जिसमें  आपको वक्त और मेहनत देना होगा। हालाँकि आप निश्चित रूप से इसके फायदे देखेंगे।

घर लौटने पर सबकुछ वहाँ पाना जहां उन्हें होना चाहिए बेशक एक सुखद अहसास होता है। लोग जब आपसे मिलने आते हैं तो आपको अपनी आधी चीजों को किसी दराज में छिपाने की फ़िक्र नहीं होगी!

ऑर्गनाइज़ होने या करने में वक्त लगता है। इससे कोई इनकार नहीं कर सकता।

हालाँकि, एक बार इसमें सफल होने पर आप किसी भी वातावरण में ज्यादा ऑर्गनाइज़ हो पायेंगे। इसमें स्ट्रेस से छुटकारा पाना और तनाव कम महसूस होना भी शामिल है।

इसे भी पढ़ें : 10 टिप्स घर साफ़-सुथरा रखने के

ज्यादा ऑर्गनाइज़ होने के लिए सुझाव

अगले वीकेंड पर अपने घर को ऑर्गनाइज़ करने के लिए कुछ घंटों का वक्त लें और चीजें वहाँ रखें जहां उन्हें होना चाहिए। बेशक आपको यह आदत बनाए रखने की जरूरत है। हालाँकि, जब आप देखते हैं कि सब कुछ बहुत अच्छा और सुखद लग रहा है, तो आप कभी भी अव्यवस्थित होने से बचने की कोशिश करेंगे।

1. सिर्फ एक जगह से शुरुआत करें

ज्यादा ऑर्गनाइज़ होने के लिए सुझाव

यदि आप चाहते हैं कि आप पर्फेक्ट रहें, तो आप एक ही साथ सभी कमरों को ऑर्गनाइज़ नहीं कर सकते।

एक ख़ास स्थान से शुरू करें, जैसे लिविंग रूम से। आपको उस रूम से शुरू करना चाहिए जिसमें आप सबसे पहले घुसते हैं। (यह आपके घर की बनावट पर निर्भर करता है और वह जगह किचेन भी हो सकती है।)

  • उन चीजों को सही जगह पर रखें जो अपनी जगह पर नहीं हैं।
  • दूसरी जगहों से चीजों को वहाँ ले जाएँ जहाँ वे होंगी। अगले रूम में जाने पर आप उन पर ध्यान दे पाएंगी।

2. ऑर्गनाइज़ होने के लिए हर चीज को एक ख़ास जगह दें

बस अपने बर्तनों और कूकिंग के लिए किचेन, किताबें और मैगज़ीन के लिए लाइब्रेरी, कपड़े और जूते को अलमारी में रखें, सब कुछ के लिए एक विशिष्ट स्थान तय करें। इसमें अच्छी बात यह है कि बाद में उन्हें ढूंढना आसान होगा।

यदि आपको कोट की जरूरत है, तो इसे दरवाजे के पास रखें, सोफे पर नहीं। यह आपका बहुत वक्त बचाएगा, जब आप जल्दी में होंगे।

3. ऑर्गनाइज़ प्लान अपनाएँ

आप हर कमरे के लिए क्लीनिंग प्लान भी बना सकते हैं। उदाहरण के लिए सभी गंदे कपड़ों को एक हैंपर में डालें और उन्हें वॉशिंग मशीन में रखें। अपने सभी कचरे को एक बैग में डालें, बेड को सहेजें, अलमारी में साफ कपड़े डालें, और फर्नीचर को वहां रखें जहां उन्हें होना चाहिए।

हर कमरे के लिए एक प्लान बनाने से सफाई करना बहुत आसान होगा। ज्यादा व्यवस्थित होने के लिए यह न भूलें कि आपको एक स्ट्रेटजी चाहिए। इस तरह आपको पूरा वीकेंड क्लीनिंग पर खर्च नहीं करना पड़ता।

4. गैर-जरूरी चीजों को फेंक दें

शायद आपके पास ऐसी बहुत सी चीजें हैं जिनका आप इस्तेमाल नहीं करते हैं। वे पुराने कपडे या कुछ भी हो सकते हैं।

उन्हें फेंकने का यह अच्छा वक्त है। आप उन्हें रिपेयर भी करवा सकते हैं या उन्हें किसी संगठन को डोनेट कर सकते हैं।

चीजों को जमा होते देना डिसऑर्डर के लिए ट्रिगर है। इससे जिन चीजों का निर्दिष्ट स्थान नहीं है वे आखिरकार फर्श पर, चेयर पर या एक कोने में जमा होने लगती हैं।

इसे भी पढ़ें : शॉर्ट टर्म मेमोरी बढ़ाने के कुछ कारगार नुस्ख़े

5. जो चीजें मुश्किल से गंदी होती हैं उन्हें साफ़ करें

ऑर्गनाइज़ घर के सिद्धांतों में से एक है, “आप जिसका इस्तेमाल करते हैं, उस चीज को वापस रखें। जो आपको गंदा लगे उसे धो लें। जिसे  आप अव्यवस्थित कर रहे हैं, उसे ऑर्गनाइज़ करें।” फैमिली के हर मेंबर को ऐसा करने की जरूरत है।

घर साफ हो और सभी चीजें कायदे से रखी हों तो उन्हें वैसे ही बनाए रखना सबसे मुश्किल काम हो सकता है। हालाँकि यह आपकी आदतों को बदलने के सवाल से जुडा है। आपको ऑर्गनाइज़ होने के लाभों को भी समझना होगा।

6. बॉक्स या फ़ाइल कैबिनेट का उपयोग करें

कई बार आपके पास ऐसी चीजें होती हैं जिन्हें आप फेंकना या डोनेट करना नहीं चाहते हैं क्योंकि वे भावनाओं से जुड़ी होती हैं। क्योंकि वे जरूरी भी हो सकती हैं, भले ही आप अक्सर उनका इस्तेमाल न करते हों।

दूसरी चीजों (जैसे डिवाइस) के लिए बक्सों को सजाना या उन बॉक्स को दूसरे प्रयोजन से इस्तेमाल करना अच्छा आईडिया है। इस तरह आप अपने आप को अव्यवस्थाओं से घिरे रहने से बचाते हैं।

उन्हें लेबल करना न भूलें जिससे आप जान सकें कि बक्से में क्या है। आप उन्हें अपने गैरेज में या कुछ अलमारियों पर भी रख सकते हैं।

7. ऑर्गनाइज़ होने के लिए कुछ फर्नीचर खरीदें

ऑर्गनाइज़ होने के लिए कुछ फर्नीचर खरीदें

हो सकता है कि आपकी तमाम गड़बड़ी की समस्या चीजों को रखने के लिए पर्याप्त जगह न होना हो।

इसका मतलब यह नहीं है कि आपको अपने घर को फर्नीचर से भर देना चाहिए, या यह भी नहीं कि फर्नीचर आपके लिए उन चीजों को खरीदने का बहाना होना चाहिए जिनकी आपको जरूरत नहीं है।

हालाँकि सब कुछ को एक अलमारी में बंद करना भी समस्या को हल कर सकता है।