7 कारण जिनकी वजह से आपको थकान महसूस हो रही है

02 अगस्त, 2018
क्या आपको मालूम है, अपनी सुस्त जीवनशैली और देर से जागने की वजह से आप इतनी थकान महसूस करते हैं? जितने घंटों तक सोना ज़रूरी है उतनी देर सोने और पर्याप्त एक्सरसाइज करने से आपकी ऊर्जा में जबरदस्त बढ़ोतरी हो सकती है।

कभी-कभार थकान महसूस करना सामान्य बात है। दरअसल यह लोगों में बहुत आम है। समस्या कभी-कभी थकने की नहीं, बल्कि लगातार ऐसा महसूस करते रहने की है। ऐसा हो तो आप समझ सकते हैं, निश्चित रूप से कोई गड़बड़ी है। आपको यह जान लेना चाहिए कि आप थका हुआ क्यों महसूस कर रहे हैं। इस तरह जीवन की बेहतर गुणवत्ता को बनाये रखने के लिए कोई हल निकाला जाना चाहिए।

7 कारण जिनकी वजह से आपको थकान महसूस हो रही है

1. देर से जागना

आप इस गलतफहमी में रह सकते हैं कि देर से जागने का मतलब है, आप अधिक आराम कर रहे हैं। वास्तव में यह गलत है। वास्तव में जल्दी उठने से लोगों को पूरे दिन ज्यादा आराम, शांति और सुकून महसूस होता है।

200 9 में, लीपजिग विश्वविद्यालय (जर्मनी) में आयोजित एक अध्ययन से पता चला है कि सबसे ऊर्जावान या सक्रिय लोग जल्दी उठते हैं।

इसी तरह ‘व्यक्तित्व और व्यक्तिगत मतभेद’ नाम से प्रकाशित स्टडी में रूसी एकेडमी ऑफ साइंस की मॉलिक्यूलर बायोलॉजी और बायोफिजिक्स अनुसंधान संस्थान ने खुलासा किया है कि अपने बायोलॉजिकल क्लॉक की डायनेमिक्स के अनुसार लोग तीन प्रकार के होते हैं।

अध्ययन में इस बात पर जोर दिया गया है, आप पता लगायें कि दिन के दौरान आपके सबसे ज्यादा ऊर्जा वाले घंटे कौन से हैं। अपनी आदतों को इस सबसे सक्रिय समय का फायदा उअथाने के लिए निर्देशित करें”। इसे अपने “क्रोनोटाइप (chronotype)” को पहचानना कहते हैं।

प्रासंगिक पोस्ट:  7 ऊर्जा खपाऊ आदतें जिन्हें इसी वक्त छोड़ देना चाहिए

2. अपर्याप्त पोषण

कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन की अत्यधिक कमी से गंभीर थकान हो सकती है। हालांकि कार्बोहाइड्रेट स्वादिष्ट खाद्य पदार्थ होते हैं जो जल्दी ऊर्जा प्रदान करते हैं। शरीर उन्हें चीनी के रूप में विघटित कर देता है। इस तरह आपमें  रक्त शर्करा का स्तर बढ़ जाता है।

इसके बाद, पैंक्रियाज  को रक्त शर्करा के लेवल को कम करने के लिए उच्च स्तर के इंसुलिन का स्राव करना चाहिए। इसलिए, जब आपमें रक्त शर्करा का स्तर इन उतार-चढ़ावों से गुजर रहा होता है, आपके शरीर को समस्थिति तक पहुंचना चाहिए और बहुत सारी ऊर्जा का उपयोग करना चाहिए। इसलिए अगर आपकी  मिठाई और कार्बोहाइड्रेट खाने की पुरानी आदत है तो आप नियमित आधार पर थका हुआ महसूस करेंगे।

3. सुस्त जीवनशैली की गति

कुछ भी नहीं करने से बहुत थकान होती है। यह सही है, बिलकुल सुस्त जीवनशैली होना कोई सुखद अनुभव नहीं, बल्कि लगातार थकाऊ है। इसलिए यदि आपकी नौकरी ऐसी है जिसमें सिर्फ बैठकर काम करना होता है या आप नजदीक के स्टोर तक जाने के लिए भी गाड़ी पर जाते हैं, तो आपका अक्सर थका हुआ महसूस करना कोई अस्वाभाविक नहीं है।

इसके विपरीत, कम दबाव वाले शारीरिक और एरोबिक एक्सरसाइज- आउटडोर एक्टिविटी सहित – खुशी के हार्मोन उत्पादन में सुधार करते हैं। बदले में आपकी नींद और समग्र स्वास्थ्य की गुणवत्ता में सुधार आता है। हो सकता है कि शुरू में आपको थकान महसूस हो लेकिन व्यायाम थकान को कम करता है और बहुत प्रतिरोध प्रदान करता है।

4. धूप से कम संपर्क

शरीर को सूरज की रोशनी की आवश्यकता होती है। इस कारण सुबह जल्दी और दोपहर में देर से धूप में सेंकने से शरीर को विटामिन D के उचित स्तर का उत्पादन करने में मदद मिलती है। साथ ही, सूरज की रोशनी शरीर को स्वस्थ रहने में मदद करती है। सूरज की रोशनी में नहाने से आपको बेहतर बेहतर गुणवत्ता वाली नींद आसानी से मिल जाती है।

5. चैन से न सोना

पर्याप्त घंटों के लिए चैन से न सोना थकान के मुख्य कारणों में से एक है। एक वयस्क के लिए रात को 7 या 8 घंटे निर्बाध नींद लेना सबसे अच्छा है। यह मस्तिष्क और अन्य अंगों को अपनी मरम्मत के सभी चरणों और कार्यों को पूरा करने देता है।

ज़रूर पढ़ें:  चिया सीड्स के 10 ज़बरदस्त फ़ायदे

6. मिनरल और विटामिन की कमी

आपके शरीर को अच्छी तरह से काम करने के लिए सूक्ष्म पोषक तत्व, खनिज और विटामिन जैसे महत्वपूर्ण पदार्थों की जरूरत होती है। इन पोषक तत्वों की कमी से थकान, क्लांति, चक्कर आना और यहां तक ​​कि अन्य गंभीर रोगजनक स्थितियां भी आती हैं।

संतुलित भोजन लेने से, रोजाना फल और सब्ज़ियों की कम से कम 5 सर्विंग्स खाने से, आपको कई आवश्यक पोषक तत्व मिलते हैं। इसी तरह, नट्स खाना, मैग्नीशियम क्लोराइड जैसे खनिजों वाले नट्स खाना भी बहुत उपयोगी है।

7. तनावपूर्ण परिस्थितियां

कठोर अनियंत्रित स्थितियां जिनका कोई समाधान नहीं है से निपटते समय आप निराश हो सकते हैं । यदि आप किसी ऐसी समस्या में फंसे हुए हैं जो बार-बार होती है, एक स्थिति जो आपको थका देती है या आप परिवार के किसी बीमार सदस्य की देखभाल कर रहे हैं तो आप हताश हो सकते हैं।

इन स्थितियों में आपको थोड़ा आराम करना चाहिए। जो  बातें आपके नियंत्रण से परे हैं उनके बारे में सोचना बंद कर देना चाहिए। इससे आपको भावनात्मक तनाव कम करने में मदद मिलेगी। इसके अलावा, कार्यस्थल में बहुत तनावपूर्ण भरी परिस्थितियां चिरकालिक थकान में योगदान दे सकती हैं। इसलिए अपने लिए कुछ अच्छा करने का प्रयास करें और थोड़े समय के अंतराल पर आराम किया करें।

  • Biblioteca Nacional de Medicina de Estados Unidos. https://medlineplus.gov/spanish/ency/article/003088.htm
  • VV.AA. (2004). El impacto de la actividad física y el deporte sobre la salud, la cognición, la socialización y el rendimiento académico: una revisión teórica. http://www.scielo.org.co/scielo.php?script=sci_arttext&pid=s0123-885×2004000200008
  • Asociación Argentina de Medicina del Sueño. http://www.amsue.org/recomendaciones/
  • Saklofske, Donald.Personality and Individual Differences. https://www.journals.elsevier.com/personality-and-individual-differences/
  • Randler, Christoph. (2009).Proactive People Are Morning People. https://onlinelibrary.wiley.com/doi/abs/10.1111/j.1559-1816.2009.00549.x