ब्रेस्ट पेन के 7 संभावित कारण

नवम्बर 8, 2019
जरूरी नहीं की यह ब्रेस्ट कैंसर या किसी दूसरी खतरनाक स्थिति से जुड़ा हो, पर ब्रेस्ट पेन महसूस करते ही आपको अपने डॉक्टर से मिलना चाहिए। यहाँ इस बारे में और जानें!

ज्यादातर महिलाएं जीवन में किसी समय एक या दोनों ब्रेस्ट में दर्द या कोमलता का अनुभव करती हैं। वैसे तो यह एक आम लक्षण है, पर यह कभी-कभी चिंता का कारण भी बन सकता है। क्योंकि बहुत से लोग ब्रेस्ट पेन को ब्रेस्ट कैंसर या सूजन वाली बीमारियों से जोड़ते हैं।

दरसल यह लक्षण कई फैक्टर से जुड़ा हो सकता है। हालाँकि एक बार में ही आपको इन बीमारियों की संभावना को खारिज नहीं कर देना चाहिए, लेकिन यह लगभग ज्यादातर मामलों में हार्मोन के बदलाव का नतीजा होता है।

बहुत से लोग इसके कारणों से अनजान रहते हैं। इसलिए आज के लेख में हमने ब्रेस्ट पेन के सात संभावित कारणों को कवर करने का निर्णय लिया है। आइये जानिये, वे क्या हैं!

1. हार्मोन से जुड़े ब्रेस्ट पेन के कारण

हार्मोन लेवल का रेगुलर उतार-चढ़ाव ब्रेस्ट में कोमलता और दर्द का मुख्य कारण है। युवा महिलाों में जब मेंस्ट्रुअल साइकल शुरू होता है, तो अक्सर पीरियड से पहले के दिनों में दर्द का अनुभव  होता है।

  • यह उन लोगों में भी आम है जो प्रीमेन्स्ट्रुअल सिंड्रोम और अनियमित पीरियड से पीड़ित हैं।
  • कुछ मामलों में दर्द मेंस्ट्रुअल साइकल के बीच में हो सकता है, और ओव्यूलेशन के समय हो सकता है।
  • बर्थ कंट्रोल पिल्स और हार्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी इस सिम्पटम का अतिरिक्त कारण हो सकती हैं।

2. ब्रेस्ट सिस्ट के कारण हो सकता है ब्रेस्ट पेन

ब्रेस्ट सिस्ट तरल पदार्थ से भरे सैक होते हैं जो ब्रेस्ट टिशू में बनते हैं। ऐसा तब होता है जब स्तन ग्रंथियां आकार में बढ़ जाती हैं, चाहे हार्मोन बदलाव के कारण या सूजन की समस्या से।

हालांकि ये दिखाई पद सकते हैं या दर्दनाक भी हो सकते हैं और यहां तक ​​कि इन्हें ब्रेस्ट कैंसर समझने का भ्रम हो सकता है, पर वे छोटी समस्या हैं , जिनका इलाज आसानी से किया जा सकता है।

हालाँकि इससे पहले कि वे बेहद असहज या दिखाई पड़ने लगें, अपने डॉक्टर से मिलना अहम होता है।

3. स्तन एब्सेस (Breast abscesses)

स्तन एब्सेस से हो सकता है ब्रेस्ट पेन

कुछ मामलों में स्तनों में भारीपन या दर्द की भावना एक संक्रामक स्थिति के कारण हो सकती है जिसे ब्रेस्ट एब्सेस (फ़ोड़ा) कहा जाता है।

ब्रेस्ट टिशू में मवाद बनने के कारण ब्रेस्ट एब्सेस बनते हैं, छोटे लम्प बनते हैं और उन्हें छूने पर दर्द हो सकता है।

इसका प्राइमरी कारण बैक्टीरिया है जो स्तन में निप्पल के माध्यम से या उन क्रैक के रास्ते प्रवेश करते हैं जो ब्रेस्टफीडिंग के दौरान बन सकते हैं।

इसका इलाज कराना जरूरी होता है क्योंकि संक्रमण को कंट्रोल करने के लिए आमतौर पर एंटीबायोटिक दवाओं की जरूरत पड़ती है।

इसे भी पढ़ें : दो स्पैनिश अस्पताल‌ एक नई स्पैनिश कैंसर की दवा ‌का परीक्षण कर रहे हैं

4. स्तन कैंसर

ब्रेस्ट टिशू में सूजन और दर्द स्तन कैंसर से भी जुड़ा हो सकता है, खासकर जब यह लक्षण बार-बार उभरे।

भले ही कैंसर एक संभावित कारण है, पर यह दुर्लभ ही है कि इस मामल में सिर्फ ब्रेस्ट पेन ही इसका संकेत दे। कैंसर के

कारण होने वाला ब्रेस्ट पेन इसके विकसित होने वाले समय में बहुत धीरे-धीरे उभरता है।

अगर स्तन कैंसर के कारण दर्द का अनुभव हो, तो बहुत संभावना है कि मरीज ने पहले से ही इस बीमारी से जुड़े दूसरे लक्षणों को भी देख लिया है।

5. गर्भावस्था: ब्रेस्ट पेन की संभावित कारण

गर्भावस्था: ब्रेस्ट पेन की संभावित कारण

गर्भावस्था से जुड़े हार्मोन में बदलाव ब्रेस्ट पेन के प्रमुख संभावित कारणों में से एक है। दरअसल ज्यादातर महिलाओं के लिए यह गर्भावस्था के शुरुआती लक्षणों में से एक है।

  • पहली गर्भावस्था या उससे कम उम्र में महिलायें ज्यादा सेंसेटिव होती हैं।
  • गर्भावस्था के पहले त्रैमासिक के दौरान ब्रेस्ट आम तौर पर आकार में बढ़ जाते हैं और दर्द के अलावा छोटी नीली नसें भी दिख सकती हैं जो इस अंग में ब्लड फ्लो में बढ़ोतरी का संकेत देती हैं।

इसे भी पढ़ें : अपनी अंडरआर्म्स को डिटॉक्स करें, ब्रेस्ट कैंसर रोकें

6. ब्रेस्टफीडिंग (Breastfeeding)

एक माँ के लिए अपने बच्चे के साथ बंधने का एक विशेष अवसर ब्रेस्ट फीडिंग है, जब दर्द और कोमलता महसूस होनाअनिवार्य है।

कोई महिला ब्रेस्टफीडिंग कराये या भले ही न कराये, ज्यादा दूध बनना और हार्मोन की एक्टिविटी असहज दर्द का कारण बन सकती है।

इसके अलावा जब स्तन सूख जाते हैं या उनमें क्रीक हों, तो बैक्टीरियल या यीस्ट इंफेक्शन की संभावना होती है।

अगर दर्द नियमित है और समय के साथ इसमें सुधार न हो, तो संक्रमण की संभावना के बारे में अपने डॉक्टर से बात करने पर विचार करना अहम है।

7. मैस्टाइटिस (Mastitis)

मैस्टाइटिस एक इन्फ्लेमेटरी कंडीशन है जो दूध नलिकाओं में अवरोध के कारण स्तनपान के दौरान पैदा होती है।

यह स्थिति वायरस, बैक्टीरिया या ब्रेस्ट टिशू पर फंगस के हमले से पैदा हो सकती है, एयर एक इन्फ्लेमेटरी प्रतिक्रिया शुरू कर सकती है।

दर्द के साथ ऐसे लक्षण भी दिख सकते हैं:

  • लाली
  • सूजन
  • बुखार
  • थकान
  • सामान्य बेचैनी

क्या आपको पहले से ही ब्रेस्ट पेन के संभावित कारणों के बारे में पता था? जैसा कि आप देख सकती हैं, यह शरीर का एक नाजुक अंग है जो कई कारकों से प्रभावित हो सकता है।

अगर आपको कोई ऐसी समस्या है तो डॉक्टर से अपने लक्षणों पर बात करें।