इन 6 स्थितियों में यौन संबंध बनाने से परहेज़ करें

यौन संबंध दोनों ही साथियों के लिए संतोषजनक और फायदेमंद होने चाहिए। ऐसा न होने पर उसमें कूद पड़ने से पहले एक बार अच्छी तरह सोच लेना चाहिए।
इन 6 स्थितियों में यौन संबंध बनाने से परहेज़ करें

आखिरी अपडेट: 25 जून, 2019

तनाव को दूर करने के अलावा यौन सम्बन्ध कैलोरी जलाने और अपने साथी के करीब जाकर मज़ा लेने का हमें मौका देता है।

वैज्ञानिक इस बात की पुष्टि भी कर चुके हैं कि यौन संबंध मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है।

लेकिन ऐसे भी कई मौके होते हैं, जब आप चाहकर भी यौन संबंध नहीं बना पाते। ऐसी स्थितियों में खुद पर काबू रखकर आपको न कहना आना चाहिए।

ज़िन्दगी में कभी-कभी ऐसे मौके भी आते हैं, जब हमारी सेहत को फायदा पहुंचाने की जगह यौन सम्बन्ध उसे नुकसान पहुंच सकता है। इन स्थितियों में यौन संबंध हरगिज़ न बनाएं:

1. दर्द होने पर

यौन संबंध के दौरान दर्द होना कोई आम बात नहीं है

यौन संबंध के दौरान उठते दर्द को डिस्पैर्यूनिया  (dyspareunia) नाम से जाना जाता है।

इसकी जड़ें बैक्टीरियल संक्रमण, वल्वा पर लगे घाव और एंडोमेट्रोसिस आदि जैसी समस्याओं में हो सकती हैं।

इसके पीछे मानसिक आघात (ट्रॉमा), असुरक्षा, कामेच्छा की कमी और दोनों साथियों के रिश्ते या कामुकता से संबंधित किसी मनोवैज्ञानिक समस्या का भी हाथ हो सकता है

पुरुषों को भी शारीरिक संबंध के दौरान दर्द हो सकता है, मगर ऐसा बहुत ही कम मामलों में देखने में आता है।

इसके प्रमुख कारण होते हैं संक्रमण व गुप्तांग में लगी चोटें, जिनके लिए यौन रोग भी ज़िम्मेदार हो सकते हैं।

हालात या कारण कुछ भी हो, आपको एक विशेषज्ञ से चेक-अप ज़रूर करवा लेना चाहिए।

अपने साथी को खुश करने के लिए उससे सम्बन्ध बनाने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह लेना न भूलें। आपकी समस्या की जड़ तक पहुंचकर वह आपको उचित राय दे देगा।

2. पीरियड के दौरान यौन संबंध

इस विषय में बहुत से लोगों के मन में कई तरह के सवाल होते हैं। लेकिन उन सवालों का एक सीधा-सा जवाब है, अगर दोनों साथी स्वस्थ हैं तो इसमें किसी तरह की कोई परेशानी नहीं है, खासकर ऐसे संबंधों में जिनमें उन दोनों के शारीरिक संबंध बस एक-दूसरे के ही साथ होते हैं।

कुछ लोग खून देखकर थोड़ा असहज ज़रूर महसूस करने लगते हैं, लेकिन इस बारे में अपने साथी से बात कर आप अपनी परेशानी उससे साफ़-साफ़ कह सकते हैं।

अगर आप एक स्टेबल रिलेशनशिप में नहीं हैं तो आपको उचित प्रोटेक्शन के बिना शारीरिक संबंध हरगिज़ नहीं बनाने चाहिए क्योंकि ऐसा करने से आप खून के माध्यम से फैलने वाले संक्रमण की चपेट में आसानी से आ सकते हैं

3. अगर मूत्रमार्ग में संक्रमण है

यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन से परेशान लोगों को यौन संबंध बनाने से परहेज़ करना चाहिए

मूत्रमार्ग के संक्रमण से परेशान महिलाओं के लिए शारीरिक संबंध बना पाना मुश्किल होता है। अगर वे अपने साथी के साथ इसकी कोशिश करती हैं तो भी उस संबंध का मज़ा नहीं ले पाती।

योनि की मूत्रमार्ग से नज़दीकी के कारण (उन दोनों के बीच बस एक मांसपेशी ही तो होती है), यौन संबंध बनाने से मूत्रमार्ग में काफ़ी जलन हो सकती है

मुख्य रूप से ऐसा तभी होता है, जब शारीरिक संबंध बहुत उग्र या तेज़ होते हैं। इससे मूत्रमार्ग में घाव उत्पन्न हो सकता है।

यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन के इलाज के दौरान यौन संबंध स्थापित करना ठीक नहीं होता (तीन दिन तक चलने वाला यह इलाज पलक झपकते ही ख़त्म भी हो जाता है)।

4. कम इम्युनिटी वाले लोगों के बीच यौन संबंध

कमज़ोर प्रतिरक्षी तंत्र (इम्यून सिस्टम) या कम इम्युनिटी वाले लोगों को किसी भी प्रकार के यौन संबंध बना लेने से यौन संक्रमणों व रोगों का शिकार हो जाने का ज़्यादा खतरा होता है।

कम इम्युनिटी के प्रमुख कारण हैं:

  • कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स का इस्तेमाल
  • गर्भावस्था
  • एचआईवी

अविश्वसनीय साथियों के साथ शारीरिक संबंध बनाने से बचना चाहिए। बुखार और डेंगू जैसी कम गंभीर बीमारियों में भी सेक्स के दौरान आपको ख़ास ध्यान रखना चाहिए क्योंकि उसमें लगने वाला शारीरिक बल आपकी स्वास्थ्यलाभ प्रक्रिया में अड़चन डाल सकता है

ख़राब स्वास्थ्य की वजह से अगर आप यौन संबंध नहीं बनाना चाहते तो इसके लिए कोई भी आपको मजबूर नहीं कर सकता।

5. जोखिमपूर्ण गर्भावस्था के दौरान

गर्भावस्था के दौरान यौन संबंध न बनाएं

कई विवाहित जोड़ों के लिए यह किसी वर्जित विषय से कम नहीं है। विशेषतः तीसरी तिमाही के दौरान पेट के बाहर निकल आने पर कुछ लोगों को पेट में पल रहे अपने बच्चे को नुकसान पहुंचाने या फ़िर एमनियोटिक थैली के टूट जाने की चिंता सताने लगती है।

आपको यह समझ लेना चाहिए कि महज पेनिट्रेशन से बच्चे को कोई नुकसान नहीं पहुँच सकता

हॉर्मोन में आए बदलाव दरअसल कामेच्छा में बढ़ोतरी ला सकते हैं, जिससे पति-पत्नी के रिश्ते में और भी मज़बूती आ जाती है। बस इतना याद रखें कि ऐसी कई यौन मुद्राएं हैं, जिन्हें इस अवस्था में आजमाया जा सकता है।

लेकिन जोखिमपूर्ण गर्भावस्था के दौरान यौन संबंध नहीं बनाना चाहिए। पेट पर अधिक भार डालने वाली मुद्राओं से भी परहेज़ करना चाहिए।

6. उपयुक्त व्यतिगत साफ़-सफाई के बगैर

यौन संबंध के बाद की व्यक्तिगत स्वच्छता के बारे में तो काफ़ी कुछ कहा-सुना जाता है, लेकिन ऐसे संबंध बनाने से पहले शारीरिक साफ़-सफाई पर ज़्यादातर लोगों का ध्यान ही नहीं जाता। कभी-कभी अचानक ही बन जाने वाले शारीरिक संबंध शरीर में बहुत ही खतरनाक वायरस पहुंचाने का माध्यम बन सकते हैं।

अपने शरीर की सफाई का ख्याल न रखने वाले लोगों के तन से संक्रमण का कारण बनने वाले पसीने, तरल और मल आदि जैसे पदार्थ बहुतायत में निकलते हैं।

ऐसे भी कई सूक्ष्मजीव होते हैं, जो एक व्यक्ति के शरीर में तो सामान्य रूप से रह लेते हैं पर किसी दूसरे इंसान के लिए नुकसानदायक साबित होते हैं। इसलिए ऐसे लोगों से यौन संबंध रखने पर लेने के देने पड़ सकते हैं। कंडोम का इस्तेमाल कर इस खतरे को कम किया जा सकता है।

सेक्स के तुरंत बाद अपने शरीर की सफाई करने की कोई ज़रूरत नहीं होती। बस अपने शरीर की बुनियादी साफ़-सफाई वाली ज़रूरतों का ध्यान रखें।

उपर्युक्त हालातों में यौन संबंध न बनाएं

कुछ हालातों में आपको यौन संबंध नहीं बनाने चाहिए

कुछ स्थितियों में हम इस सोच में डूब जाते हैं कि किसी मुश्किल में पड़े बगैर हम शारीरिक संबंध बना भी सकते हैं या नहीं। अगर आप भी किसी ऐसी ही उलझन में हैं तो हम आपको थोड़ा रुकने की सलाह ही देंगे।

अपने डॉक्टर और खासकर अपने साथी पर भरोसा रखें।

This might interest you...
योनि के फंगल संक्रमण से राहत पाने की 6 तरकीबें
स्वास्थ्य की ओर
इसमें पढ़ें स्वास्थ्य की ओर
योनि के फंगल संक्रमण से राहत पाने की 6 तरकीबें

योनि के फंगल संक्रमण का खात्मा करने के लिए उसे शुष्क और साफ़-सुथरा रखना जितना ज़रूरी होता है, उतना ही ज़रूरी होता है उसकी प्राकृतिक नमी को बरक़रार रखना...



  • Lamas, M. (2000). Diferencias de sexo, género y diferencia sexual. Historia. https://doi.org/ISSN 0185-1659
  • Stolcke, V. (2009). A propósito del Sexo. Política y Sociedad.
  • Real Academia Española. (2017). Sexo. https://doi.org/http://0-dx.doi.org.lib.exeter.ac.uk/10.1076/opep.5.1.7.1493
  • Barajas, S. (2011). Manual de seguridad e higiene. Colima Late Para Todos, Gobierno Del Estado. https://doi.org/10.1016/j.trc.2011.08.012
  • Ramos, C. (2009). Revista cubana de higiene y epidemiología. Revista Cubana de Higiene y Epidemiología.