चोट के इलाज के 6 कुदरती उपाय

क्या आप जानते हैं, अर्निका क्रीम चोट का इलाज करने का एक शानदार कुदरती उपाय है? सूजन और दर्द को कम करने के अलावा अपनी दर्द निवारक क्षमता की बदौलत अर्निका क्रीम चोट के भरने में मदद करेगी।
चोट के इलाज के 6 कुदरती उपाय

आखिरी अपडेट: 02 मार्च, 2019

चोट भद्दी दिख सकती है, और इससे भी महत्वपूर्ण बात ‌यह‌ है कि यह‌ मन को खिन्न करती है। अगर‌ आप‌ उनमें से एक हैं जिन्हें ‌सामान्य-सी किसी चीज से खरोंच पहुँची है,‌ तो उसके इलाज के कुछ प्राकृतिक उपायों को जानें।

चोट तब उभरती हैं जब छोटी रक्तवाहिनियां फट जाती हैं।

दर्द, सूजन के साथ-साथ त्वचा की रंगत मलिन पड़ जाने जैसे लक्षण दिख सकते हैं।

वह स्थान ‌बदरंग हो जाता है और छूते ही दर्द‌ की अनुभूति होने लगती है। इसके बाद ही आमतौर पर वह स्थान नीला पड़ जाता। फिर, सामान्य स्थिति में आने से पहले इसका रंग कुछ देर के लिए पीलापन लिए हुए हरा दिखने लगता है।

A leg with a bruise.

यह जख्म  आमतौर पर धक्का लगने, गिर‌ जाने या खेलते समय लगते हैं।

यह इस पर निर्भर करता है कि चोट कितनी गहरी है। वह केवल त्वचा के आसपास तक ही सीमित है, न कि मांसपेशी या फिर हड्डी तक पहुंच ‌चुकी है। अंतिम स्थिति सबसे दर्दनाक हो सकती है और घाव को भरने में लंबा समय लेती है।

जैसा कि हमने बताया, घाव ‌को तेजी से  भरने के कुछ प्राकृतिक तरीके हैं। आइए उन पर एक नजर डालते हैं!

1. चोट के उपचार के लिए बर्फ एक‌ उत्तम उपाय है

चोटों के उपचार ‌के लिए सबसे जल्द और सबसे सस्ता समाधान बर्फ ‌है। चोट लगने पर सबसे पहले इसे आजमाना चाहिए। यह‌ रक्तवाहिकाओं के संपर्क में आकर जलन को कम करती है।

यह दर्द को कम करती है और चोटों ‌को उभरने से रोकती है

त्वचा की हानि को रोकने के लिए बर्फ को एक कपड़े में लपेटकर इसका उपयोग करना चाहिए।

2. एलोवेरा

चोटों के उपचार : एलोवेरा जूस

एलोवेरा, आपकी त्वचा के लिए सबसे बेहतर और विभिन्न तरह से इस्तेमाल करने वाला विकल्प है।

चोट पर जमे हुए एलोवेरा का लेप कर दें या थोड़ा जेल चोटिल जगह पर रख दें।

पूरी तरह सोख लिए जाने तक धीरे-धीरे मालिश करें। बेहतरीन परिणाम के लिए दिन भर में कम से कम तीन बार इसे दुहराएं।

3. अर्निका

चोटों के इलाज के लिए अर्निका सबसे असरदार उपचारों में से एक हैज्वलन को कम करने ‌एवं दर्द में राहत देने के कारण यह एक उत्तम दर्द-निवारक है।

सबसे उचित तरीका यह है कि अर्निका मरहम की एक‌ पतली सी परत चोटिल स्थान पर दिन भर में कई बार लगायें।

4. पार्सले (Parsley)

चोट को ठीक करने में पार्सले भी एक फायदेमंद औषधि है। दर्द निवारक और ज्वलनरोधी होने के कारण यह घाव को तेजी से भरने का काम करता है।

ताजी पार्सले के पिसे हुए लेप को चोट वाली जगह पर पांच मिनट के लिए लगा लें। बेहतर परिणाम के लिए यह क्रम दिन में चार बार दुहराएं।

5. लहसुन

लहसुन अद्भुत एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर है।

इसका लाभ लेने के लिए चोट पर लहसुन के ताजे रस की थोड़ी सी बूंद लगाएं। यह आपके टिशू को नया जीवन प्रदान करता है

इनके अतिरिक्त, यह रक्त‌ संचार को प्रोत्साहित ‌कर, दर्द को कम करने में सहायक होता है। खासकर अगर कच्ची खाई जाए।

6. एप्पल साइडर विनेगर

सेब के रस‌ का सिरका ‌चोट वाली जगह पर रक्त संचार को दुरुस्त करने के लिए दूसरा विलक्षण विकल्प है।

एक महीन कपड़े को सेब के रस के सिरके में भिगो कर चोट वाली जगह पर रखें और धीरे -धीरे कुछ मिनटों तक मालिश करें।

सुखद परिणाम पाने के लिए यह क्रिया दिन भर में तीन बार दुहराएं।

यह आपकी रुचि हो सकती है ...
3 शानदार ब्यूटी रिचुअल एप्पल साइडर विनेगर के साथ
स्वास्थ्य की ओरइसमें पढ़ें स्वास्थ्य की ओर
3 शानदार ब्यूटी रिचुअल एप्पल साइडर विनेगर के साथ

एप्पल साइडर विनेगर आपकी त्वचा और बालों के लिए फायदेमंद है। यह मुंहासे या सूखे बालों की समस्याओं का इलाज करने के लिए एक सुरक्षित और सस्ता उपाय है।