6 हर्ब और मसाले : इनसे बालों की ग्रोथ बढ़ायें

अश्वपुच्छा या हॉर्सटेल सिलिकॉन से समृद्ध होती है। यह बालों को ताकतवर और प्रतिरोधी बनाता है। यह बालों को ज्यादा लचीला भी बनाता है, टूटने से बचाव करता है और इनकी ग्रोथ को बढ़ावा देता है।
6 हर्ब और मसाले : इनसे बालों की ग्रोथ बढ़ायें

आखिरी अपडेट: 21 अप्रैल, 2020

इन हर्ब और मसालों पर बात करने से पहले हम कहना चाहेंगे कि लंबे बाल कभी स्टाइल से बाहर नहीं जाते हैं। बहुत से लोग इसे सुंदरता और लालित्य के प्रतीक के रूप में देखते हैं। इसलिए अपने बालों को खोने का ख़याल इतना स्ट्रेसफुल होता है।

हेयर डाई, हेयरड्रायर और स्ट्रेटनिंग प्रोडक्ट का इस्तेमाल करने से आमतौर पर हेयर फॉलिकल कमजोर हो जाते हैं, और वे झड़ जाते हैं। थायरॉइड की समस्या, एनीमिया, कुपोषण और मेनोपाज में उनकी स्थिति और बिगड़ सकती है।

सौभाग्य से इसे रोकने के लिए कुछ उपाय आप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए आप स्कैल्प की मालिश कर सकते हैं, जो ब्लड सर्कुलेशन को बढाता है, पोषक तत्वों को एब्जोर्ब होने मदद करता है और बालों को मजबूत रखता है।

ऐसे नेचुरल ट्रीटमेंट भी हैं जो बालों के विकास को बढ़ावा देने और जड़ों को पोषक तत्व प्रदान करने के लिए हर्ब और मसालों का इस्तेमाल करते हैं।

बालों की ग्रोथ को बढ़ाने के लिए हर्ब और मसालों का इस्तेमाल

बालों की ग्रोथ बढ़ाने के लिए हर्ब और मसालों का उपयोग करने वाले ट्रीटमेंट अपने उम्दा असर और कम लागत के लिए ज्यादा पॉपुलर हो रहे हैं।

इस आर्टिकल में हम आपको कुछ सिफारिशें देने जा रहे हैं जिसे आप मजबूत और स्वस्थ बाल पा सकें।

1. बालों की ग्रोथ को बढ़ाने वाली हर्ब : मेंहदी (Rosemary)

हर्ब मेंहदी Rosemary

बालों को बढ़ाने के लिए बेशक रोज़मेरी या मेंहदी सबसे असरदार पौधों में से एक है।

दशकों से लोगों ने इस हर्ब का उपयोग बालों को झड़ने से रोकने के लिए, उन्हें पोषक तत्व प्रदान करने और स्कैल्प को ताकतवर बनाएं के लिए किया है।

  • यह बालों के सफ़ेद होने की प्रक्रिया को भी धीमा कर देता है।
  • रोज़मेरी के पानी से बालों को रोजाना धोने से उनका काला रंग वापस लौट आता है और साथ ही वे वॉल्यूम में भी बढ़ते हैं।

इसे भी पढ़ें : 7 खाद्य : इन्हें खाकर प्राकृतिक रूप से एनीमिया से लड़ें

2. हॉर्सटेल या अश्वपुच्छा (Horsetail)

बालों की बढ़त के लिए हॉर्सटेल एक बेहतरीन जड़ी-बूटी है। न केवल यह बालों के झड़ने को रोकता है, यह सेबोरिया (seborrhea) और कुछ किस्म के डैंड्रफ का इलाज करने में भी मदद करता है।

  • विटामिन B, C, और E से भरपूर होने के कारण यह फ्री रेडिकल्स के हानिकारक असर को कम करती है।
  • यह अत्यधिक तेल स्राव को भी रोकता है और हेयर टिशू में ब्लड सर्कुलेशन को उत्तेजित करता है, उन्हें चमक और ताकत देता है।
  • कैपिलरी की सफ़ाई करने के अपने गुणों की बदौलत यह स्कैल्प को ऑक्सीजन देने में भी मदद करता है।

4. हीना (Henna)

  • इस पौधे की पत्तियों को सुखाने और पीसने से आपको एक अद्भुत नेचुरल हेयर डाई मिलेगी। आप कमर्शियल डाई की तुलना में कम आक्रामक रूप से जीवंत लाल रंग पाने के लिए इसका उपयोग कर सकते हैं।
  • इसमें एंटी फंगल लाभ भी हैं, जो लगातार रूसी और सेबोर्रहिया से निपटने के लिए अच्छा है।
  • हीना बालों से चिपक जाती है और इसे घना बनाने में मदद करती है।
  • यह बालों को प्राकृतिक रूप से सीधा करने का एक शानदार तरीका है।

5. करी

कई रेसिपी में करी एक बहुत लोकप्रिय मसाला है।

  • आप कमर्शियल प्रोडक्ट के ज्यादा इस्तेमाल और धूप में ओवरएक्सपोजर से होने वाले नुकसान की मरम्मत करने के लिए करी पत्ते का उपयोग कर सकते हैं।
  • इसके आवश्यक और प्रोटीन युक्त तेल हेयर टिशू को पोषक तत्व और जीवन देते हैं।
  • करी में बीटा-कैरोटीन प्रचुर होता है। यह ऐसा पोषक तत्व है जो बालों के झड़ने को कम करता है और विकास को उत्तेजित करता है।
  • बालों के असमय सफ़ेद होने का मुकाबला करना के लिए भी यह बहुत असरदार है। यह हर फाइबर को नेचुरल पिगमेंट, विटामिन, और कॉपर, आयरन और जिंक जैसे मिनरल से कोटिंग करके मेलानिन उत्पादन को बढ़ावा देता है।

अधिक पढ़ें: पारंपरिक हल्दी-बादाम मिल्क: यह अद्भुत सूजनरोधी ड्रिंक क्यों है हज़ारों सालों से उपयोगी?

6. दालचीनी

यह स्वादिष्ट, सुगंधित मसाला सिर्फ आपके भोजन को स्वादिष्ट बनाने से कुछ ज्यादा काम कर सकता है। यह आपके बालों को मजबूत भी कर सकता है।

  • दालचीनी के एंटीसेप्टिक गुण स्कैल्प के रोगों को रोकते हैं।
  • यह उन बैक्टीरिया और दूसरे माइक्रोब्स को समाप्त करती है जो बालों के झड़ने का कारण होते हैं।
  • यह ब्राउन टोन से बालों को चमकाने के लिए अच्छी है।
  • यह हेयर फोलिकल में ब्लड सर्कुलेशन को उत्तेजित करता है, जिससे हाइड्रेट, चमकदार, घने बाल पैदा होते हैं।

प्रकृति में हमारे शरीर के नेचुरल ट्रीटमेंट के लिए अंतहीन चीजें हैं। बालों की बढ़त के लिए इन जड़ी-बूटियों और मसालों का उपयोग करना उनके कई उपयोगों और लाभों में से एक है।

जब आप मछली, दही, और दलिया जैसे खाद्य पदार्थों को अपनी डाइट नियमित हिस्सा बनाते हैं, तो वे आपके बालों को स्वस्थ रखने के लिए ज़रूरी प्रोटीन बैलेंस देते हैं।

बहुत से केमिकल प्रोडक्ट का उपयोग करने से बचें, क्योंकि ये सिर्फ आपके बालों की जड़ों को कमजोर करते हैं। अपने बालों को वह प्यार और केयर दें जिसके वे हकदार हैं!

यह आपकी रुचि हो सकती है ...
8 खाद्य पदार्थ जो 30 दिन में लीवर को देंगे नया जीवन, घटाएंगे वज़न
स्वास्थ्य की ओर
इसमें पढ़ें स्वास्थ्य की ओर
8 खाद्य पदार्थ जो 30 दिन में लीवर को देंगे नया जीवन, घटाएंगे वज़न

यह सुनने में अजीब लग सकता है, लेकिन लीवर ही हमारे शरीर का वह अंग है जो वज़न कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।



  • Blume-Peytavi, U., Tosti, A., Whiting, D. A., & Trüeb, R. M. (2008). Hair growth and disorders. Hair, Hair Growth and Hair Disorders. https://doi.org/10.1007/978-3-540-46911-7
  • Gülçin, I., Küfrevioǧlu, Ö. I., Oktay, M., & Büyükokuroǧlu, M. E. (2004). Antioxidant, antimicrobial, antiulcer and analgesic activities of nettle (Urtica dioica L.). Journal of Ethnopharmacology. https://doi.org/10.1016/j.jep.2003.09.028
  • Borrás-Linares, I., Stojanović, Z., Quirantes-Piné, R., Arráez-Román, D., Švarc-Gajić, J., Fernández-Gutiérrez, A., & Segura-Carretero, A. (2014). Rosmarinus officinalis leaves as a natural source of bioactive compounds. International Journal of Molecular Sciences. https://doi.org/10.3390/ijms151120585
  • Vara-Delgado A, Sosa-González R, Alayón-Recio C, Ayala-Sotolongo N, Moreno-Capote G, Alayón-Recio V. Uso de la manzanilla en el tratamiento de las enfermedades periodontales. Archivo Médico Camagüey. 2019; 23 (3). Disponible en:http://revistaamc.sld.cu/index.php/amc/article/view/5901
  • Wu Y, Li S, Zu X, Du J, Wang  F, Ginkgo biloba extract improves coronary artery circulation in patients with coronary artery disease: contribution of plasma nitric oxide and endothelin-1. Phytother. Res. 2008; 22: 734-739. https://doi.org/10.1002/ptr.2335
  • Ait Haj Said, A., Sbai El Otmani, I., Derfoufi, S. & Benmoussa, A. (2016). Mise en valeur du potentiel nutritionnel et thérapeutique de l’ortie dioïque (Urtica dioïca L.). Hegel, 3, 280-292. https://doi.org/10.3917/heg.063.0280
  • Kusstianti, N., Wilujeng, B., Megasari, D. (2017). The Effects of Cinnamon and Clove Powder Compositions on Hair Coloring. 1st International Conference on Social, Applied Science and Technology in Home Economics (ICONHOMECS 2017). Atlantis Press, 171. 174. https://doi.org/10.2991/iconhomecs-17.2018.41.
  • Carranza Quispe, L., Pretel Sevillano, O. (2015). Efecto antioxidante del extracto hidroalcohólico de tilia platyphyllos scopoli “tilo de hoja ancha” en isquemia-reperfusión cerebral experimental en ratas. Odontología, 17(1), 151-158.
  • Ortiz-García LI, Gómez-Gil AL, Ayala-Ortíz AM. (2021). Dermatitis por contacto alérgica secundaria a tinte de cabello después de la sensibilización a tatuaje de henna. Dermatol Rev Mex, 65(3), 401-405.
  • Ávila-Sosa, R. Navarro-Cruz, A., Vera-López O. (2011). Romero (Rosmarinus officinalis L.): una revisión de sus usos no culinarios. Ciencia y Mar, XV (43): 23-36
  • Berdonces i Serra, J. (1985). La cola de caballo en fitoterapia. Natura Medicatrix, 10,  25- 28.

इस प्रकाशन की सामग्री केवल सूचनात्मक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी भी समय चिकित्सा पेशेवरों द्वारा किए गए निदान, उपचार या सिफारिशों को सुविधाजनक या प्रतिस्थापित नहीं कर सकता है। यदि आपको कोई संदेह है तो अपने विश्वसनीय चिकित्सक से परामर्श करें और कोई भी प्रक्रिया शुरू करने से पहले उनकी स्वीकृति लें।