संतुष्ट जोड़ों की 6 आदतें

फ़रवरी 11, 2019
संतुष्ट जोड़े अपने रिश्ते के विभिन्न चरणों को स्वीकार करना जानते हैं। वे इस बात को समझते हैं, कि जहाँ वे एक ही स्पेस को शेयर करते हैं, वहीं प्रत्येक व्यक्ति को अपने निजी स्पेस की ज़रूरत होती है।

स्नेह और प्यार भरे साथ के लिए काफी मेहनत करनी पड़ती है। संतुष्ट जोड़े सिर्फ एक साथ मज़ा नहीं करते हैं। किसी भी रिश्ते के लिए कुछ आदतों की ज़रूरत होती है जिनका दोनों भागीदारों पर सकारात्मक असर होता है।

इसका मतलब है, जब तक ये आदतें नेचुरल नहीं बन जाती हैं तब तक आपको रोजाना कोशिश करते रहना चाहिए। इसके पीछे एक रासायनिक कारण है। जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती है, मस्तिष्क में डोपामाइन का स्तर संतुलित रखना मुश्किल होने लगता है।

इसका अर्थ यह भी है कि आप हमेशा अपने रिश्ते से खुश नहीं रहेंगे। लेकिन अच्छी खबर यह है कि कुछ ऐसी आदतें हैं जिन्हें आप अपने भीतर विकसित कर सकते हैं ताकि आपका प्यार और रिश्ता सदा बरकरार रहे।

1. संतुष्ट जोड़े अपनी दोस्ती मजबूत बनाते हैं

संतुष्ट जोड़े दो प्रेमियों से बने होते हैं जो एक दूसरे के सबसे प्रिय दोस्त भी होते हैं। यह ज़रूरी है, क्योंकि हो सकता है आप हमेशा अपने पार्टनर के साथ सबकुछ शेयर करने में सहज महसूस न करें।

अगर आप एक दोस्ताना रिश्ता बनाना शुरू करते हैं जिसमें आप पूरे आत्मविश्वास के साथ, स्वतंत्र रूप से बातचीत कर सकें, क्योंकि दूसरा व्यक्ति आपका सबसे करीबी दोस्त है, तो एक गहरा बंधन बनता है।

रोमांस और यौन संबंध जो आप दोनों शेयर करते हैं, वह समय के साथ कमजोर और नीरस हो सकता है। लेकिन दोस्ती का जुनून रोमांस और यौन बंधन से कहीं ज्यादा मजबूती से लम्बसे समय तक रिश्ते को जोड़ सकता है।

एक कपल के रूप में साथ बने रहने की कामयाबी का यह एक अहम राज़ है। इसके अलावा, जब आप किसी ऐसे व्यक्ति के साथ बाहर जाते हैं जो आपका सबसे अच्छा दोस्त भी है तो आप बेशक ज्यादा आराम से एन्जॉय कर पाते हैं।

इसे भी पढ़ें : सर्वश्रेष्ठ रणनीतिः लड़ाई-झगड़ा होने पर चुप रहें, बाद में शांति से अपनी बात कहें

2. एक-दूसरे की विशिष्टताओं की सराहना करते हैं

जो जोड़े अपने रिश्ते से संतुष्ट हैं उनकी एक और स्वस्थ आदत यह है कि वे एक-दूसरे की विशिष्टताओं की सराहना करते हैं। यदि आपके निकट कोई ऐसा व्यक्ति है जो आपको आपकी तमाम निजी खूबियों के लिए प्यार करता है तो आपके पास इकट्ठे मज़ा करने के ज्यादा मौके होंगे।

इसके बारे में कुछ इस तरह सोचें, यदि आपका पार्टनर आपकी अजीब आदतों को स्वीकार या सहन नहीं करता है तो आप भविष्य में एक साथ नहीं दिखेंगे। आपको एक-दूसरे के अनोखेपन का आनंद लेने की ज़रूरत है क्योंकि वह आपके जीवन का हिस्सा है और सबसे बड़ी बात आपकी खासियत है।

ये विशेषताएं हर दिन को मजेदार और अद्वितीय बनाने वाले उपहार हैं।

इस मामले में जागरूक और ईमानदार होना सच में बहुत ज़रूरी है। अगर दूसरे व्यक्ति की कोई ऐसी बात है जो आपको बिलकुल पसंद नहीं है और आपको लगता है कि अब आपसे बर्दाश्त नहीं होगा तो यह दोबारा सोचने का एक अच्छा समय है कि क्या वह एक ऐसा व्यक्ति है जिसके साथ आप रहना चाहते हैं।

याद रखें, प्यार बदलाव की उम्मीद किये बगैर, बिना शर्त के स्वीकार करना है।

3. इकट्ठे मिलकर योजनाएं बनाते हैं

अपने रिश्ते से संतुष्ट जोड़े साथ-साथ समय बिताने की अहमियत जानते हैं और जान-बूझकर ऐसा करते हैं। कभी-कभी ऐसा करना जागने और एक साधारण दिन को व्यवस्थित करने जितना आसान हो सकता है।

हालांकि एक एडवेंचर या वाइल्ड नाईट आउट की एक भव्य योजना के बारे में सोचने में कोई बुराई नहीं है। ध्यान रखें, इसके लिए इंतज़ाम करना और दूसरे व्यक्ति की इच्छाओं पर विचार करना ज़रूरी है ताकि आप दोनों मस्ती कर सकें।

आपका जीवन बहुत व्यस्त हो सकता है लेकिन आपको हमेशा अपने रिश्ते और अपने पार्टनर पर ध्यान केंद्रित करने के लिए समय निकालना चाहिए। योजनाएं जितनी चाहें उतनी सरल या जटिल हो सकती हैं, पर उन्हें हमेशा आप दोनों के लिए मजेदार होना चाहिए।

इसे भी पढ़ें : दूरियाँ अपनों को गले लगाने से रोक सकती हैं, पर भावनाओं को नहीं

4. वे जानते हैं, लड़ाई में कब पीछे हट जाना चाहिए

इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है कि आप दोनों एक साथ कितनी मस्ती कर रहे हैं, हमेशा कोई ऐसा समय आयेगा जब आपके बीच मतभेद होंगे। आपका इन तनावों से बचने का लक्ष्य नहीं होना चाहिए, क्योंकि यह असंभव है। लेकिन यह सीखने का लक्ष्य ज़रूर होना चाहिए कि कब पीछे हट जाना चाहिए।

संतुष्ट जोड़े जानते हैं, एक समस्या को हल करना घमंडी बनकर माफी मांगने से इंकार करने से ज्यादा ज़रूरी है। अच्छे जोड़े लड़ने, क्षमा मांगने और उससे होने वाले किसी भी नुकसान को ठीक करने के काबिल होते हैं।

लड़ने में मज़ा नहीं है लेकिन यह दुनिया का अंत भी नहीं है। अपने झगड़ों को वहां रहने दें जहां उन्हें होना चाहिए: अतीत में।

5. दूसरों के साथ एन्जॉय करते हैं

यह बात ठीक है कि आपको एक-दूसरे के साथ दुनिया में सबसे ज्यादा मज़ा आता है। लेकिन आपको कभी-कभी ब्रेक की ज़रूरत होती है। यह कोई बुरी बात नहीं है। बल्कि एक सक्रिय सामाजिक जीवन होने से आपके पास शेयर करने के लिए ज्यादा चीजें और बातें होती हैं।

यह उम्मीद करना कि आपका पार्टनर सिर्फ आपके साथ अपने खुशी के पल बिताये उचित या व्यावहारिक नहीं है। आप दोनों को अपने परिवार और दोस्तों का आनंद लेने के लिए समय चाहिए।

यह भी ज़रूरी है कि आप अन्य लोगों के साथ समय बिताएं। दोस्तों के साथ बाहर घूमने और डिनर के लिए जाना अच्छा विकल्प है।

यदि आप एक सुस्त पार्टी में जाते हैं तो आप देखेंगे कि कैसे एक-दूसरे के साथ बेहतर समय बिताते हैं। यह आप दोनों के लिए मजेदार और आरामदायक हो सकता है।

इसे भी पढ़ें : सच्चा प्यार उम्र, झुर्रियों और समय से परे होता है

6. वे स्नेही होते हैं

यह संतुष्ट जोड़ों की अहम आदत है। चूमना, हाथ पकड़ना या यौन सम्बंध के माध्यम से अपने प्यार को जताना, सरल बातें हैं जो बहुत मायने रखती हैं।

इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कितने समय से साथ हैं: आप एक-दूसरे के प्रति स्नेह व्यक्त करना नहीं बंद कर सकते हैं। ये छोटे-छोटे व्यवहार आपको याद दिलाते हैं कि आप दूसरे व्यक्ति के लिए कितनी अहमियत रखते हैं। ये आपको बहुत सारी खुशी और सपने संजोने का अवसर देंगे।

संतुष्ट जोड़े दो लोगों से बने होते हैं जो एक-दूसरे के साथ खुश रहते हैं। वे जानते हैं, कैसे समय बिताना है, और अकेले या दूसरों के साथ एन्जॉय करना है। वे तृप्त होते हैं और अपनी ज़रूरतों को शेयर करने के लिए स्वतंत्र होते हैं।