10 कारण जिनके लिए पिस्ता खाएं

29 जून, 2020
हालांकि वे छोटे हैं, लेकिन पिस्ता पोषक तत्वों से भरा है और आपकी सेहत के लिए आंतरिक और बाहरी दोनों तरह से अच्छा होता है।

पिस्ता छोटे नट्स होते हैं जिनमें ज्यादा पानी नहीं होता है। ये नट्स पिस्ता के पेड़ों पर उगते हैं जिनका वैज्ञानिक नाम पिस्तासिएसी (Pistaciaceae) है। पिस्ता का पेड़ सेंतार्ल और माइनर एशिया में उगता है। समय के साथ यह दूसरी जहों पर फैला।

आज, यह एक पॉपुलर नट्स है जिसे कच्चा खाया जा सकता है या दिलकश या मीठे व्यंजनों में पकाया जा सकता है। इसके अलावा, सेल्फ न्यूट्रीशन डेटा के अनुसार उनमें कई पोषक तत्व होते हैं, जैसे:

  • विटामिन (E, फोलिक एसिड और थायमिन)
  • मिनरल (कॉपर, पोटेशियम, मैग्नीशियम, कैल्शियम, और आयरन)
  • प्रोटीन
  • फाइबर
  • फैटी एसिड

पिस्ता बाहर से बैंगनी होता है और अंदर हरे रंग का और एक ऐसे खोल से ढंका होता है जो बीच में खुलता है। खोल को खोलना आसान है, हालांकि कभी-कभी यह पूरी तरह से बंद हो जाता है और इसे तोड़ना मुश्किल होता है। नीचे हम आपको दस कारण बताएंगे, कि आपको पिस्ता क्यों खाना चाहिए। यदि आपको संदेह है, तो हम एक न्यूट्रीशनिस्ट से सलाह लेने की राय देंगे।

1. डायबिटीज में फायदेमंद है पिस्ता

डायबिटीज में फायदेमंद है पिस्ता

डायबिटीज ऐसी बीमारी है जो ब्लड शुगर ज्यादा होने पर होती है, जिसे ग्लूकोज के रूप में भी जाना जाता है। पिस्ता डाइटरी फाइबर, स्वस्थ वसा और एंटीऑक्सिडेंट से समृद्ध हैं, इसलिए हाई ग्लूकोज लेवल को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है।

द रिव्यू ऑफ डायबिटिक स्टडीज में प्रकाशित एक अध्ययन का नतीजा है कि नाश्ते में पिस्ता खाने से डायबिटीज रोगियों में ग्लाइसेमिक इंडेक्स, रक्तचाप, मोटापा और सूजन को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है।

2. पिस्ता कार्डियोवैस्कुलर खतरे को कम करता है

पिस्ता में हेल्दी फैट है जो हृदय रोग की रोकथाम में योगदान कर सकता है। एक्टा बायोमेडिका पत्रिका में प्रकाशित एक इन्वेस्टीगेशन के अनुसार पिस्ता खाना कुल हाई कोलेस्ट्रॉल और खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है। यदि आप पिस्ता खाते हैं तो वे अच्छे कोलेस्ट्रॉल (HDL) के लेवल को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं।

दूसरी ओर, इसमें एमिनो एसिड एल-आर्जिनिन (L-arginine) होता है, जो शरीर में नाइट्रिक ऑक्साइड में बदल जाता है। इसकी बदौलत यह ब्लड वैसेल की सेहत को बढ़ावा देता है और आर्टरी की कठोरता को रोकता है।

3. पिस्ता वजन रोकने में आपकी मदद करता है

पिस्ता वजन रोकने में आपकी मदद करता है

जब आपका लक्ष्य वजन कम करना है तो पिस्ता एक स्वस्थ स्नैक हो सकता है। अपने डाइटरी फाइबर और प्रोटीन कंटेंट की बदौलत वे तृप्ति की भावना बढ़ाने में मदद करते हैं।

इसे अगर खोल सहित खाएं तो फायदा और ज्यादा होगा। जर्नल एपेटाइट में प्रकाशित एक अध्ययन ने निर्धारित किया है कि जो व्यक्ति शेल सहित पिस्ता खाता है, वह बिना शेल के इसे खानेवालों के मुकाबले 41% कम कैलोरी का सेवन करता हैं।

इसे भी आजमायें : 40 की उम्र से ऊपर वाले लोगों के लिए आदर्श एक्सरसाइज

4. इनमें फाइबर होता है

कर 28 ग्राम पिस्ता में तीन ग्राम तक फाइबर होता है। इस कारण नियमित रूप से इनका सेवन आपके पाचन और आंत के स्वस्थ बैक्टीरिया की एक्टिविटी ठीक करने में मदद कर सकता है।

विशेष रूप से यह एक प्रीबायोटिक भोजन है। इस तरह यह आंतों के माइक्रोबायोटा को पुष्ट करता है। ब्रिटिश जर्नल ऑफ न्यूट्रिशन में प्रकाशित एक अध्ययन में कहा गया है कि पिस्ता खाने से आंत में ब्यूटायरेट-उत्पादक बैक्टीरिया की मात्रा बढ़ जाती है, यहां तक ​​कि बादाम से भी ज्यादा।

5. वे आपकी आँखों के लिए अच्छे हैं


इसके ल्यूटिन, ज़ेक्सैंथिन, विटामिन E और विटामिन B2 के कारण पिस्ता आँखों के रोग का जोखिम कम करता है। अमेरिकन ऑप्टोमेट्रिक एसोसिएशन में प्रकाशित जानकारी के अनुसार ये पदार्थ उम्र बढ़ने से जुड़े मैकुलर दिजेनेरेशन और मोतियाबिंद जैसे आंखों की स्थिति के विकास को कम करते हैं।

6. वे हड्डियों को मजबूत करते हैं

रॉडेंट में किए गए अध्ययन ने शोधकर्ताओं को बोन डेंसिटी पर पिस्ता के फायदेमंद प्रभावों का निरीक्षण करने की सहूलियत दी है। FASEB जर्नल में प्रकाशन ने बताया कि इस भोजन में कैल्शियम, प्रोटीन, फैटी एसिड और विभिन्न फेनोलिक एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो हड्डी के मेंटिनेंस और विकास के लिए जिम्मेदार होते हैं।

फिर भी इसके सबूत अभी भी सीमित है। इस मामले में और अधिक रिसर्च की ज़रूरत है। इसके बावजूद हड्डी की सेहत के लिए पिस्ता को आहार के हिस्से के रूप में शामिल किया जा सकता है।

7. पिस्ता दांतों की मजबूती लाता है

पिस्ता दांतों की मजबूती लाता है

कैल्शियम से समृद्ध होने के कारण पिस्ता दांतों की सेहत को भी लाभ पहुंचा सकते हैं। हालाँकि वे दांत के रोगों का इलाज नहीं कर सकते, लेकिन वे उन्हें मजबूत बना सकते हैं और उनके रंग-रूप में सुधार कर सकते हैं।

8. हेयर केयर

यह फैटी एसिड, प्रोटीन और एंटीऑक्सिडेंट से समृद्ध है। इसलिए बालों की देखभाल के लिए एक अच्छा सप्लीमेंट है। न्यूट्रिशन टुडे में एक प्रकाशन के अनुसार उनमें किसी भी दूसरे नट्स की तुलना में ज्यादा एमिनो एसिड होते हैं।

प्रोटीन और एमिनो एसिड आपके बालों को मजबूत और लचीला बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण हैं। इस नट्स की पर्याप्त मात्रा खाने से बालों के झड़ने और कमजोरी पर काबू पाने के पक्ष में है।

9. जवाँ रूप

अपनी त्वचा को अच्छा रखने का एक तरीका है कि आप पिस्ता खाएं। इसमें विटामिन E और एंटीऑक्सिडेंट्स होते हैं, जो आपकी त्वचा को यूवी किरणों और बुढ़ापे की प्रक्रिया से बचाते हैं।

इस तरह आपकी केयर और क्लीनिंग रूटीन के अलावा यह न भूलें कि पिस्ता खाने से आपकी त्वचा स्वस्थ और हाइड्रेटेड हो सकती है।

क्या आपकी और अधिक जानने की इच्छा है? 40 की उम्र तक अपनी त्वचा को जवां बनाए रखने के लिए टिप्स

10. मस्तिष्क स्वास्थ्य को बढ़ावा देना

FASEB जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन में नट्स के सेवन और ब्रेन हेल्थ के बीच एक पॉजिटिव संबंध पाया गया। विशेष रूप से ये गुण इस तथ्य से आते हैं कि वे फ्लेवोनोइड से समृद्ध हैं, जो ब्रेन हेल्थ को प्रोत्साहित करने के लिए न्यूरोजेनेसिस, बेहतर रक्त प्रवाह और एंजियोजेनेसिस को बढ़ावा देते हैं।

अहम!

पिस्ता सिर से पैर तक आपके शरीर की देखभाल करने में मदद करता है, यही कारण है कि आपको उन्हें अपने आहार में शामिल करना चाहिए। हालांकि आपको यह निश्चित करना होगा कि उन्हें ज्यादा न खाएं, क्योंकि इससे आपकी सेहत पर असर हो सकता है।

बेशक आपको यह भी सुनिश्चित करना होगा कि आपको उनसे एलर्जी नहीं है क्योंकि एलर्जी के लक्षणभी सामने आ सकते हैं, जैसे:

  • चकत्ते
  • सूजन
  • हीव्स
  • श्वांस – प्रणाली की समस्यायें

अंत में यह नट्स स्वस्थ शरीर के लिए विटामिन और मिनरल का एक बड़ा स्रोत है, जब तक कि आप इसे संयमित मात्रा में पिस्ता खाते हैं।

  • Parham, M., Heidari, S., Khorramirad, A., Hozoori, M., Hosseinzadeh, F., Bakhtyari, L., & Vafaeimanesh, J. (2014). Effects of pistachio nut supplementation on blood glucose in patients with type 2 diabetes: a randomized crossover trial. The Review of Diabetic Studies : RDS11(2), 190–196. https://doi.org/10.1900/RDS.2014.11.190
  • Kasliwal, R. R., Bansal, M., Mehrotra, R., Yeptho, K. P., & Trehan, N. (2015). Effect of pistachio nut consumption on endothelial function and arterial stiffness. Nutrition31(5), 678–685. https://doi.org/10.1016/j.nut.2014.10.019
  • Bulló, M., Juanola-Falgarona, M., Hernández-Alonso, P., & Salas-Salvadó, J. (2015). Nutrition attributes and health effects of pistachio nuts. British Journal of Nutrition113(S2), S79–S93. https://doi.org/10.1017/S0007114514003250
  • Honselman, C. S., Painter, J. E., Kennedy-Hagan, K. J., Halvorson, A., Rhodes, K., Brooks, T. L., & Skwir, K. (2011). In-shell pistachio nuts reduce caloric intake compared to shelled nuts. Appetite57(2), 414–417. https://doi.org/10.1016/j.appet.2011.02.022
  • Ukhanova, M., Wang, X., Baer, D. J., Novotny, J. A., Fredborg, M., & Mai, V. (2014). Effects of almond and pistachio consumption on gut microbiota composition in a randomised cross-over human feeding study. British Journal of Nutrition111(12), 2146–2152. https://doi.org/10.1017/S0007114514000385
  • Wickman, BE, Rochester, E., Hauffe, L., Kern, M., Hong, MY, Liu, C. y Hooshmand, S. (2018). Efecto de pistachos y nueces mixtas sobre la densidad ósea y la expresión de genes osteogénicos en ratas macho jóvenes. FASEB Journal .
  • Mandalari, G., Bisignano, C., Filocamo, A., Chessa, S., Sarò, M., Torre, G., … Dugo, P. (2013). Bioaccessibility of pistachio polyphenols, xanthophylls, and tocopherols during simulated human digestion. Nutrition29(1), 338–344. https://doi.org/10.1016/j.nut.2012.08.004
  • Lee Berk, Everett Lohman, Gurinder Bains, Kristin Bruhjell, Jessica Bradburn, Nikita Vijayan, Sayali More, Krisha Patel, Sayali Dhuri, Siddarth Mourya, Gyuhyun Park, Ankita Gujaran and Shruti Nikam. Nuts and Brain Health: Nuts Increase EEG Power Spectral Density (μV&[sup2]) for Delta Frequency (1–3Hz) and Gamma Frequency (31–40 Hz) Associated with Deep Meditation, Empathy, Healing, as well as Neural Synchronization, Enhanced Cogn. FASEB, 2017