एलो वेरा से होने वाले टॉप पांच स्वास्थ्य लाभ

जुलाई 1, 2019
एलो वेरा के पौधे में मौजूद जेल विटामिनों और मिनरलों से युक्त होता है। उसका भरपूर फायदा उठाने के लिए आप उसे अपनी त्वचा पर भी लगा सकते हैं और उसे पी भी सकते हैं!

क्या आप जानते हैं कि आपकी सेहत के लिए एलो वेरा कितना फायदेमंद होता है?

एलो वेरा नाम का पौधा प्राचीन काल से ही अपनी दिलचस्प खूबियों के लिए जाना जाता रहा है। वर्तमान में उससे निकलने वाले जेल का इस्तेमाल कई कामों के लिए किया जाता है।

एलो वेरा के पौधे की कमाल की खूबियों के पीछे सबसे बड़ा हाथ होता है विटामिन, मिनरल, एमिनो एसिड, एंजाइम और उसके बाकी सक्रिय तत्वों की भारी मात्रा का।

उसके सबसे बड़े फायदों के बारे में जानने के लिए पढ़ें हमारे इस लेख को!

एलो वेरा के पांच सबसे बड़े फायदे

एलो वेरा से होने वाले पांच स्वास्थ्य लाभ ये होते हैं:

1. आपकी दांतों की सेहत के लिए वह अच्छा होता है

एलो वेरा आपकी दांतों की सेहत के लिए अच्छा होता है

एलो वेरा आपके मुंह को स्वस्थ बनाए रखने में मददगार साबित हो सकता है। एलो वेरा की कई खूबियों में से प्लाक के जमाव को हटाने व मसूड़ों से निकलते खून और उनकी सूजन को कम करने वाले उसके गुण भी शामिल होते हैं। इसके अलावा, जिंजीवाइटिस और पीरियडोंटाइटिस जैसी समस्याओं से राहत दिलाने के लिए भी वह बहुत काम का होता है।

यह पौधा मुंह के छालों को तेज़ी से ठीक कर उनकी वजह से होने वाले दर्द से आपको राहत भी दिला सकता है। हानिकारक बैक्टीरिया का खात्मा करने की एलो वेरा की क्षमता ही हमारे मुंह की सेहत का ख्याल रखने की उसकी प्रभाविकता का राज़ होती है।

इसे भी पढ़ें : मधुमेह के लक्षणों से राहत पाने के लिए एलो वेरा का इस्तेमाल कैसे करें

2. वज़न कम करने में एलो वेरा मददगार साबित हो सकता है

एलो वेरा आपकी पाचन-क्रिया और डीटॉक्सिफिकेशन में सुधार ले आता है। नतीजतन वह आपके वज़न को कम करने में फायदेमंद हो सकता है। इस पौधे के इस्तेमाल से आप अपने शरीर में मौजूद टॉक्सिक पदार्थों की मात्रा में कमी ला सकते हैं। ऐसा करना आपकी पाचन-क्रिया के लिए अच्छा होता है। बदले में, इससे आपके शरीर को ज़्यादा ऊर्जा भी मिलती है।

इस पौधे का भरपूर लाभ उठाने के लिए हमारा सुझाव है आप उसका संतुलित इस्तेमाल करें व सिर्फ़ ज़रूरत पड़ने पर ही उसका सहारा लें। साथ ही, यहाँ आपको यह भी समझ लेना चाहिए कि एलो वेरा के रस का स्वाद काफ़ी कड़वा होता है। अगर आप उसे ऐसे ही नहीं पी सकते तो कुछ और चीज़ों के साथ उसे मिलाकर उसकी सेहतमंद स्मूदी बना लेने में कोई हर्ज़ नहीं है।

3. आपके बालों और खोपड़ी के लिए वह एक प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र होता है

एलो वेरा आपके बालों और स्कैल्प के लिए फायदेमंद होता है

यह पौधा डैंड्रफ़ और खोपड़ी के सूखेपन की वजह से होने वाली खुजली और जलन का एक शानदार घरेलू इलाज होता है। अपनी एंटीबैक्टीरियल और एंटी-फंगल खूबियों की बदौलत एलो वेरा, खोपड़ी के तकलीफदेह ज़ख्म पैदा करने वाले डैंड्रफ़, सोरायसिस और डर्माटाईटिस का उपचार कर सकता है।

एलो वेरा में मौजूद विटामिनों और मिनरलों की वजह से उसे सिर पर लगाने से आपके बाल बढ़ने लगते हैं व आपके फॉलिकल्स को पोषक तत्व मिलने लगते हैं। उसके प्राकृतिक एंजाइम्स से आपको ये लाभ होते हैं:

  • आपकी खोपड़ी की सतह पर मौजूद मृत कोशिकाओं को वे हटा देते हैं।
  • आपके बालों के फॉलिकल्स के आसपास मौजूद टिशूज़ की दुबारा बढ़ने में वे मदद करते हैं।

“अच्छी सेहत को खरीदा तो नहीं जा सकता, लेकिन वह एक बेशकीमती बचत खाता ज़रूर साबित हो सकती है”।

– एन्न विल्सन शेफ –

इसे भी पढ़ें : सेहतमंद एलो वेरा जेली कैसे बनाएं

4. एलो वेरा सूजन को कम कर सकता है

इस बात से हम सभी वाकिफ़ हैं कि एलो वेरा में ऐसी कई सूजनरोधी खूबियाँ होती हैं, जो इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम और यहाँ तक कि जोड़ों की सूजन से भी आपको राहत दिला सकती हैं।

इन अवस्थाओं की वजह से होने वाले दर्द को कम कर यह पौधा आपके स्वास्थ्य-लाभ में मददगार होता है। इसीलिए दर्द से राहत दिलाने वाली क्रीमें बनाने वाली कंपनियाँ अपने फार्मूलों में एलो वेरा को शामिल करने लगी हैं।

5. आपकी त्वचा के लिए वह काफ़ी फायदेमंद होता है

आपकी त्वचा के लिए अपनी खूबियों की वजह से एलो वेरा कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स में पाया जाना वाला एक जाना-माना पदार्थ होता है। साथ ही, 99% से ज़्यादा पानी की अपनी मात्रा की बदौलत अपनी त्वचा को मॉइस्चराइज़ कर उसमें एक नयी जान फूंकने का यह एक लाजवाब तरीका होता है।

कॉलाजन और इलास्टिन को बहाल कर एलो वेरा आपके डर्मिस के लचीलेपन में सुधार ला सकता है। वह आपकी त्वचा को मुलायम बना कर उसमें ठंडक लाने का काम करता है। और तो और, ऑक्सीजन के आपकी कोशिकाओं के अंदर जाने का रास्ता साफ़ कर वह जवान दिखने में आपकी मदद करता है।

इसके अलावा, तेल की अत्यधिक मात्रा को सोखने और आपकी त्वचा के छिद्रों को खोलकर कील-मुहांसों को होने से वह रोकता है। दरअसल एलो वेरा का इस्तेमाल कील-मुहांसों से राहत दिलाने वाली कई प्रोडक्ट्स में किया जाता है।

  • हमारा सुझाव है कि एलो वेरा जेल को आप आराम से सीधा अपने पिम्पल्स के ऊपर लगा लें ताकि वह आपकी त्वचा के अंदर तक जा सके।
  • उनके गायब हो जाने तक इस प्रक्रिया को आप दिन में कई बार दोहरा सकते हैं।

जैसाकि आप देख सकते हैं, कई उपचारात्मक गुणों से युक्त यह पौधा हमारी सेहत के लिए कई प्रकार से फायदेमंद साबित होता है। हाँ, इसका इस्तेमाल करते वक़्त आपको अपने सब्र के बाँध को टूटने नहीं देना चाहिए क्योंकि इसके नतीजे फ़ौरन आपके सामने नहीं आएंगे।

1. Vogler BK, Ernst E. Aloe vera: A systematic review of its clinical effectiveness. Br J Gen Pract. 1999;
2. Hamman JH. Composition and applications of Aloe vera leaf gel. Molecules. 2008.
3. Rodriguez-Fragoso L, Reyes-Esparza J, Burchiel SW, Herrera-Ruiz D, Torres E. Risks and benefits of commonly used herbal medicines in Mexico. Toxicol Appl Pharmacol. 2008;
4. Manigandan T, Elumalai M, Cholan P, Kaur R, Mangaiyarkarasi S. Benefits of Aloe vera in dentistry. J Pharm Bioallied Sci. 2015;
5. Christaki E V., Florou-Paneri PC. Aloe vera: A plant for many uses. Journal of Food, Agriculture and Environment. 2010.