एक नेचुरल आईलीड फर्मिंग क्रीम कैसे बनायें

25 अक्टूबर, 2020
अगर आपको लगता है, आपकी पलकें झूल रही हैं या आप इस क्षेत्र में त्वचा की दृढ़ता खो रही हैं, तो यह नेचुरल आईलीड फर्मिंग क्रीम बनायें और इसे अपनी ब्यूटी रूटीन में शरीक करें।

आपकी पलकें चेहरे के दूसरे भागों के मुकाबले बहुत ज्यादा संवेदनशील होती हैं। धूप और जहरीले तत्वों के सीधे संपर्क में आने के कारण जल्दी झूलने के अलावा उम्र बढ़ने के शुरुआती लक्षणों को वे पहले दिखाते हैं। यहाँ हम बताएंगे, एक नेचुरल होममेड आईलीड फर्मिंग क्रीम कैसे बनायें।

हालांकि आईलीड का झूलना जेनेटिक कारणों से भी हो सकता है, यह अक्सर देखभाल की कमी के कारण पोषण की कमी की ओर इशारा करता है।

कुछ सर्जिकल प्रोसीजर इस समस्या को ठीक कर सकती हैं, पर कम आक्रामक विकल्प भी हैं जिनका उपयोग घर पर किया जा सकता है, खासकर कम चरम मामलों में।

इनमें एक होममेड ऑल-नेचुरल क्रीम है जो अपने तत्वों की बदौलत त्वचा की लोच और दृढ़ता में सुधार करता है।

सभी फायदों का पता लगाएं और यह कि कुछ सरल स्टेप से इस घरेलू ट्रीटमेंट को कैसे तैयार करें।

अधिक पढ़ें: 4 आसान फेस मास्क चेहरे की झुर्रियां मिटाने के लिए

ऑल-नैचुरल होममेड आईलीड फर्मिंग क्रीम

ऑल-नैचुरल होममेड आईलीड फर्मिंग क्रीम

इस होममेड आईलीड फर्मिंग क्रीम में मौजूद तत्व आपकी पलकों को महत्वपूर्ण पोषक तत्व देते हैं जिनकी उन्हें फर्म और टोंड बने रहने के लिए जरूरत होती है।

नियमित रूप से इसे लगाने से कोलेजन और इलास्टिन के उत्पादन को बढ़ाता है और ये दोनों पदार्थ त्वचा के चिकनेपन को बनाए रखते हैं, इसे दोषमुक्त बनाते हैं।

इसके एंटी इनफ्लेमेटरी गुण उस सूजन और थकान को कम करते हैं जो आमतौर पर चेहरे के इस क्षेत्र को प्रभावित करते हैं।

इसमें कई हेल्दी तत्व भी शामिल हैं:

  • इसमें एंटीऑक्सिडेंट की प्रचुर मात्रा है, जिससे यह फ्री रेडिकल्स के नेगेटिव असर को कम करता है। यह लचीलेपन में क्षति और असमय होने वाली झुर्रियों को रोकता है।
  • इसमें विटामिन C और E होते हैं, जो ब्लड सर्कुलेशन को प्रोत्साहित करने और सेल रिजेनेरेशन को बढ़ावा देने के लिए दोनों जरूरी हैं।
  • साथ ही इसमें एसेंशियल फैटी एसिड भी होते हैं, जो आपकी त्वचा की प्राकृतिक नमी को सूखने से रोकने में मदद करते हैं।
  • इसके एसेंशियल न्यूट्रीएंट सूरज की यूवी किरणों के असर के खिलाफ एक प्रोटेक्टिव बैरियर पैदा करते हैं और नाजुक त्वचा को कमजोर पड़ने से रोकते हैं।

ऐसे बनायें यह नेचुरल क्रीम


इस होममेड क्रीम को तैयार करने के लिए आपको फ्रेश और 100% ऑर्गेनिक सामग्री खरीदनी चाहिए।

आर्गेनिक सामग्रियों में पोषक तत्व ज्यादा होते हैं और कीटनाशक या दूसरे नुकसानदेह केमिकल शरीर में नहीं जाते।

यह क्रीम एलोवेरा जेल के साथ बनाई जाती है, जो कि विटामिन, मिनरल और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर है, जो त्वचा के रिजेनेरेशन और टोनिंग को बढाता है।

इसमें ओट्स और नेचुरल योगर्ट हैं जो एक्सफ़ोलीएटिंग और सॉफ्टनिंग एजेंट के रूप में काम करते हैं और इस अंग में पाए जाने वाले डेड सेल्स और दोषों को खत्म करते हैं।

पानी की ऊँची मात्रा के कारण खीरे को भी इसमें डाला जाता है, खासकर अगर त्वचा में शिथिलता आ रही हो।

सामग्री

  • 4 बड़े चम्मच एलोवेरा जेल (60 ग्राम)
  • 2 बड़े चम्मच ओट फ्लेक्स (20 ग्राम)
  • 4 बड़े चम्मच सादी दही (72 ग्राम)
  • क्यूकंबर के 5 स्लाइस

निर्देश

  • चाकू से एलोवेरा की पत्ती को काटें और उसमें मौजूद जेल को सावधानी से निकालें। इसमें से कम से कम चार बड़े चम्मच निकालना निश्चित करें।
  • एलोवेरा जेल. ओट्स, नेचुरल दही और खीरे को साथ मिलाएं और एक ब्लेंडर में डालें।
  • सामग्री को तब तक फेंटें जब तक क्रीम चिकनी न हो जाए और उसमें गांठ न बचे।

इसे भी पढ़ें : प्राकृतिक रूप से झुर्रियों से छुटकारा पाने के लिए यह अद्भुत नुस्खा आजमायें

कैसे लगाएं

  • पलकों और आसपास के क्षेत्र से मेकअप हटा लें। क्रीम लगाने से पहले अपनी त्वचा को पानी और साबुन से धोएं।
  • पलक पर इसे थोड़ी मात्रा में रगड़ें। इसे अपनी आंख में न डालने की सावधानी बरतें।
  • अच्छी तरह से कवर करें। इसे अपनी आंखों के आसपास के क्षेत्र में भी लगा सकते हैं।
  • 30 मिनट के लिए लगा रहने दें और ठंडे पानी से धो लें।
  • रेफ्रिजरेटर में क्रीम को स्टोर करें और रात को इसे दोहराएं।

तो क्या आप इसे आजमाने के लिए तैयार हैं?

यदि आपको लगता है कि आपकी पलकें झूल रही हैं या आप इस क्षेत्र में दृढ़ता खो रही हैं, तो इस प्राकृतिक क्रीम को तैयार करें और इसे अपनी ब्यूटी रूटीन में शामिल करें।

सभी इलाजों के साथ यह ध्यान रखें कि आप इसके असर को तुरंत नहीं देखेंगी। हालांकि पहली बार लगाने के बाद आपकी त्वचा नरम और अधिक टोंड महसूस करेगी, लेकिन नियमित रूप से उपचार को लगाना जरूरी है।

इसके पूरे फायदे को देखने के लिए हफ्ते में कम से कम तीन बार इस्तेमाल करें।