पेट फूलने की समस्या को रोकने के लिए यह ओटमील टी आजमाएं

नवम्बर 30, 2018
आपको अपने आदर्श वजन को बनाए रखने में मदद करने के अलावा, सूजन से लेकर आंतों के धीमे पारगमन तक, विभिन्न पाचन समस्याओं का मुकाबला करने के लिए ओट्स बहुत कारगर हो सकते हैं।

पेट फूलने की परेशानी का मुकाबला करने में मदद करने के लिए चाय की तरह कई नेचुरल समाधान हैं। आज हम आपके स्वास्थ्य के लिए एक सुपरफूड पेश करना चाहते हैं। वह है ओटमील, जो वजन घटाने में भी आपकी मदद करता है।

आप शायद अनुमान लगा सकते हैं, पेट का फूलना आम तौर पर फ्लूईड रिटेंशन या भारी और धीमे पाचन की समस्या के कारण होता है।

इसका ओट्स के साथ मुकाबला करने से ज्यादा अच्छा कोई और तरीका नहीं है।

ओटमील टी आपके पाचन के लिए अच्छा है

ओटमील आपके पाचन में सुधार करने के लिए एक आदर्श फूड है, क्योंकि यह एक अनाज है जिसे शरीर धीरे-धीरे अवशोषित करता है।

यह विटामिन, एमिनो एसिड, कार्बोहाइड्रेट और मिनरल से समृद्ध है और इसमें ढेर सारा फाइबर है इसलिए यह आपकी आंतों की मूवमेंट में सुधार करता है।

यह इन चीजों में योगदान दे सकता है:

  • भोजन का बेहतर पाचन
  • ज्यादा यूरिन बनाना
  • उच्च मेटाबोलिज्म
  • सूजन को कम करना

तनाव को कम करने के लिए

यदि आप तनाव और एंग्जायटी का मुकाबला करना चाहते हैं तो ओटमील की बहुत ज्यादा सिफारिश की जाती है, खासकर यदि आप बहुत व्यस्त जीवन जीते हैं और आपके दिन का एक मिनट भी खाली नहीं होता।

इसे आजमाएं और खुद फर्क देखें।

इसे भी पढ़ें: 9 खाद्य जो लड़ते हैं थकान और सिरदर्द से

आंतों के मूवमेंट के लिए अच्छा है

ओटमील गैस्ट्रिक झिल्ली को नरम करने का कार्य करता है और आंतों के पारगमन को बढ़ाने में सक्षम है।

ऐसा इसलिए है क्योंकि इसमें घुलनशील और अघुलनशील फाइबर दोनों होते हैं, जो इसे एक नेचुरल मूत्रवर्धक बनाते हैं।

इस तरह, यह शरीर में फ्लुईड रिटेंशन से निपटने के लिए परफेक्ट है।

गर्भवती महिलाओं के लिए

गर्भवती महिलाओं को भी नियमित रूप से ओटमील का सेवन करना चाहिए।

गर्भावस्था के दौरान, ओट्स गर्भ के विकास को बढ़ावा दे सकते हैं। स्तनपान के दौरान, ओटमील स्तन के दूध के उत्पादन को बढ़ावा देने के साथ विटामिन और खनिज भी देता है।

यह शरीर की आर्टियो स्क्लेरोसिस, हार्ट अटैक और हाई ब्लड प्रेशर से रक्षा करने के लिए यह आदर्श फूड है। यह इसकी लिनोलेइक एसिड और फाइबर की सामग्री के लिए धन्यवाद है, जो कोलेस्ट्रॉल को आंत में जाने से रोकती है।

कैंसर की रोकथाम के लिए

ओटमील का उपयोग कैंसर को रोकने के लिए भी किया जाता है क्योंकि इसमें लिग्नान और फाइटोएस्ट्रोजन होते हैं।

ये दो पदार्थ स्तन कैंसर जैसे हार्मोन से संबंधित कैंसर को कम करने में मदद करते हैं, इसलिए इस विषय में इसकी बहुत ज्यादा सिफारिश की जाती है।

ओट्स का पोषण संबंधी मूल्य

ओट्स एक ऐसा फूड है जो विटामिन और खनिजों में समृद्ध है, जिनमें ये शामिल हैं:

  • विटामिन बी 1, बी 2, और ई
  • मैग्नीशियम, जिंक, कैल्शियम, और आयरन जैसे खनिज
  • इसमें बहुत सारे कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, और आठ ज़रूरी एमिनो एसिड में से छह होती हैं।

जैसे कि यह काफी नहीं था, ओट्स बीटा-ग्लुकन में समृद्ध होते हैं। यह घटक आंत में कोलेस्ट्रॉल और पित्त को अवशोषित करने में मदद करता है, जिससे आपके शरीर को स्वाभाविक रूप से उन्हें हटाने की सहूलियत मिलती है।

  • उदाहरण के लिए, एक कप ओट्स (50 ग्राम) आपको 33 ग्राम धीमे अवशोषित होने वाले कार्बोहाइड्रेट देते हैं जो पचाने में आसान होते हैं और आपको तृप्त और भरा हुआ महसूस कराते हैं।

इसे भी आजमायें: 8 सुपरफूड जो पेट का फैट गलाने में आपकी मदद करेंगे

आपकी ओटमील की चाय के लिए सामग्री

  • 3 कप पानी (600 मिलीलीटर)
  • 2 कप ओट फ्लेक्स (100 ग्राम, ऑर्गनिक ओट्स लेना बेहतर है)
  • 1 बड़ा चम्मच शहद (25 ग्राम)
  • 1 दालचीनी की डंडी

बर्तन

  • सॉस पैन
  • लकड़ी का चम्मच
  • छलनी
  • 1 लीटर की कांच की बोतल

तैयारी

  • पानी को उबालें, जब वह उबलने लगे तो उसमें ओट्स, शहद, और दालचीनी की डंडी डालें।
  • इन सब चीजों को बिना ढके लगभग 30 मिनट के लिए धीरे-धीरे पकने दें। सही समय पर आंच से हटाएं और कभी-कभी लकड़ी के चम्मच के साथ हिलाएं ताकि यह चिपक न सके।
  • इतनी देर बाद, पैन को ढकें और इसे एक घंटे तक यूंही रहने दें।
  • इसके बाद, सामग्री को छानकर हटाएं और तरल को बचाकर रखें।
  • जब यह कमरे के तापमान तक पहुंच जाता है तो आप इसे एक कांच की बोतल में डाल सकते हैं।

सिफारिशें

  • भरा हुआ महसूस करने के लिए प्रत्येक भोजन से पहले इस चाय का एक कप पीना सबसे अच्छा है।
  • यह आपके पाचन में सुधार करेगा और यह सुनिश्चित करेगा कि आपका भोजन ठीक से अवशोषित हो और पेट का फूलना या गैस की समस्या न हो। यह फूले हुए पेट का प्राथमिक कारण है।
  • इस ओटमील की चाय को सप्ताह में तीन बार पिएं और देखें कि यह आपको कैसा महसूस कराती है।
  • यदि आपको लगता है कि यह काफी नहीं है तो आप इसे सप्ताह में चार बार ले सकते हैं।

इसमें कोई शक नहीं है कि आपको जल्दी फर्क दिखाई देगा और आप आपके पाचन के लिए ओट्स जो लाभ दे सकते हैं उनका आनंद लेंगे।