5 ब्रीदिंग टेकनीक जो घटाएंगी आपका हाई ब्लडप्रेशर

15 दिसम्बर, 2019
अगर आप इलाज करा रहे हैं तो ये ब्रीदिंग टेकनीक ब्लड प्रेशर घटाने के आपके इलाज की बहुत अच्छी सहयोगी हो सकती है। पर इन्हें कभी भी आपके मूल इलाज का विकल्प नहीं होना चाहिए।

क्या कुछ ब्रीदिंग टेकनीक के जरिये आप अपना हाई ब्लडप्रेशर कम करना चाहेंगे? जी हाँ यह सम्भव हो सकता है। लेकिन ध्यान रहे, यहां बतायी गयी टेकनीक को डॉक्टर के बताये हुए मुख्य इलाज के सहयोगी के रूप में ही आजमाने की सलाह देंगे, उसके अल्टरनेटिव यानी विकल्प के रूप में नहीं।

हाई ब्लडप्रेशर दुनिया में सबसे आम साइलेंट डिज़ीज में से एक है। यह फिर से ध्यान दिलाने योग्य है कि हम हमेशा इस हेल्थ इंडिकेटर के महत्व को नहीं देखते हैं। उदाहरण के लिए, आपके सिस्टोलिक और डायस्टोलिक लेवल के बीच अच्छा बैलेंस कई बार आपको अच्छे कार्डियोवैस्कुलर हेल्थ का आनंद उठाने की क्षमता की गारंटी देता है।

दूसरी ओर, हर किसी को मालूम होना चाहिए कि चेकअप कराने पर क्या होता है। जब आपका डॉक्टर हाइपरटेंशन  की डायग्नोसिस करता है, तो उनके लिए सबसे आम है उन दवाओं का सहारा लेना जो रक्तचाप को कम करने और उसे रेगुलेट करने के लिए बनाई गई हैं।

पर यह भी कम महत्वपूर्ण नहीं है कि आप अपनी डाइट पर नजर डालें। खाने में खाए जाने वाले सोडियम की मात्रा को कम करना चाहिए और जब भी संभव हो सुस्त लाइफस्टाइल के खतरे से बचना चाहिए।

पर क्या हो अगर हम आपको बतायें कि हाई ब्लडप्रेशर को कम करने के लिए आपके पास एक थेरेपी मौजूद है?

हम बहुत रेकमेंड की जानेवाली ब्रीदिंग टेकनीक की बात कर रहे हैं। गहरी और विशेष रूप से धीमी श्वास के माध्यम से ये आपके हार्ट रेट को कम करती हैं। हमें यह कहना चाहिए कि इसके लिए कुछ प्रैक्टिस की जरूरत है। यह न भूलें कि ये ब्रीदिंग टेकनीक आपके डॉक्टर के बताए हुए ट्रीटमेंट और लाइफस्टाइल बदलावों की “कम्प्लीमेंटरी स्ट्रेटजी” है, उसका अलटरनेटिव नहीं।

इस पोस्ट में हम बताएंगे, इन पाँच ब्रीदिंग टेकनीक को कैसे करना है। वे आसान हैं और आप उनसे ट्यून्ड होकर अपने मन और शरीर के बीच एक अच्छा तालमेल पाएंगे।

5 ब्रीदिंग टेकनीक जो घटाएंगी आपका हाई ब्लडप्रेशर

1. एक शब्द पर ध्यान लगायें और साँस लें …

हाई ब्लडप्रेशर को कम करने के लिए एक आसान टेकनीक किसी शब्द पर मन को एकाग्रचित करना है। उस पर अपना ध्यान केंद्रित करके आप अपने मानसिक शोर को “बंद” कर देते हैं। इसमें अनिश्चित विचार शामिल हैं जो आमतौर पर तनाव या चिंता का कारण बनते हैं।

जब हम अंदरूनी शांति पा लेते हैं, तो हम ब्रीदिंग टेकनीक के साथ शुरू करते हैं। अब हम समझाएँगे, इसे कैसे करना है।

  • पीठ सीधी करके एक आरामदायक जगह पर बैठें।
  • कोई शब्द चुनें (हवा, सद्भाव, संतुलन, शांति, शांति, तरलता…)।
  • शब्द को धीरे-धीरे तब तक दोहराएं जब तक कि जेहन में इसकी कोई तस्वीर न दिखाई दे।
  • अब गहरी सांस लें।
  • 4 सेकंड के लिए हवा को अंदर ही रखें। फिर कुछ सेकंड तक जोर से साँस छोड़ें।

2. ब्रीदिंग टेकनीक जो शरीर को “शांत” करती हैं

निम्नलिखित सुझाव थोड़ा दिलचस्प हो सकता है। लेकिन यह आपकी हृदय गति को कम करने में बहुत उपयोगी और असरदार है। यह आपके दिमाग को शांत करता है और रक्तचाप को रेगुलेट करता है।

इस तकनीक को आमतौर पर योग अभ्यास में किया जाता है। इसका नाम “शीतली” है। यह संस्कृत का शब्द है। इसका अर्थ है शरीर को शीतल करने वाला।

हम यह बताएंगे, इसे कैसे करना है।

  • अपनी रीढ़ सीधी करके बैठें।
  • कंधों और बाजुओं को रिलैक्स करें।
  • धीमे और रिलैक्स तरीके से श्वास लें।
  • फिर अपनी जीभ को बाहर निकालें और जीभ की नोक से हवा में “यू” बनाने की कोशिश करें।
  • इसका अभ्यास करते हुए पांच सेकंड के लिए सांस लें (आपको बेहद ध्यान केंद्रित करना चाहिए)।
  • अब अपना मुंह धीरे से बंद करें। आप एक दिलचस्प आंतरिक शीतलता देखेंगे।

इसे भी पढ़ें : 5 चमत्कारिक ब्रीदिंग टेकनीक से अनिद्रा को अलविदा कहें

3. पांच मिनट में अपने हाई ब्लडप्रेशर को कम करें

यह ब्रीदिंग में सामंजस्य लाने का एक आसान और असरदार विकल्प है। यह आपको अच्छा मानसिक नियंत्रण पाने में भी मदद करता है।

इस प्रक्रिया पर ध्यान दें:

  • पीठ सीधी किये आरामदायक जगह पर बैठें।
  • फिर अपने सिर को थोड़ा पीछे झुकाएं।
  • आँखें बंद करें और हाथों को अपने घुटनों पर रख कर रिलैक्स करें।
  • अब श्वास लें और धीरे-धीरे पांच बार सांस छोड़ें। आपको इसे यथासंभव धीरे-धीरे करना चाहिए।
  • आपकी श्वास ध्वनि सुनी जानी चाहिए। ऐसा करने के लिए अपने होंठों को ऐसा आकार दें जैसे “ओ” कहने की कोशिश कर रहे हैं।

4. एब्डोमिनल ब्रीदिंग टेकनीक

पेट या डायाफ्राम से साँस लेना बहुत प्रसिद्ध है और बेशक इसका सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए अगर आपको हाई ब्लडप्रेशर कम करने के लिए इन पांच ब्रीदिंग टेकनीक में से किसी एक को चुनना हो तो यह सबसे उपयोगी होगा।

यहां बताया गया है, आप इसे कैसे करेंगे

  • एक हाथ अपनी छाती पर और दूसरा अपने पेट पर रखें।
  • अब अपनी नाक से गहरी सांस लें। आपको अपने डायाफ्राम को चौड़ा महसूस करना चाहिए – छाती को नहीं।
  • कुछ सेकंड के लिए इस हवा को अंदर रखें, फिर गहरी सांस छोड़ें।
  • इसे 10 मिनट के लिए दोहराएं। आप देखेंगे, यह आपके दिमाग को कैसे साफ करता है और दिल को संतुलित करता है।

इसे आजमाएँ: 5 हर्बल ट्रीटमेन्ट जो घटाते हैं ब्लडप्रेशर

5. बारी-बारी से नाक से सांस लेना

हमने आपको पहले भी हमारी साइट पर इस तकनीक के बारे में बताया है। तनाव कम करने और यहां तक ​​कि बेहतर नींद के लिए यह बहुत उपयोगी है।

वास्तव में हम सिफारिश करेंगे कि ऐसा तब करें जब आप बिस्तर पर हों। सोने से 30 मिनट पहले आपको यह करना चाहिए। यह आपको हीलिंग स्लीप देगा और आप अधिक संतुलित ब्लड प्रेशर देखेंगे।

ये ऐसे स्टेप हैं जिनका आपको पालन करना होगा।

  • अपनी पीठ सीधी करके एक आरामदायक स्थिति में बैठें।
  • कुछ मिनट आराम करें।
  • फिर अपने दाहिने नथुने को बंद करने के लिए अपने दाहिने अंगूठे का उपयोग करें।
  • अपने बाएं नथुने से गहराई से साँस लें।
  • अधिक से अधिक सांस भर लेने पर जबकि आप और ज्यादा हवा नहीं ले सकते हैं, तो अपनी बाईं अनामिका से अपनी बाईं नासिका को बंद करें।
  • अब अपने दाहिने नथुने से सांस लें।
  • फिर इस साइड से भी यही काम करें। दूसरे शब्दों में, जब आप अपने दाहिने नथुने से सांस ले सकते हैं। फिर, इसे बंद करें और अपने बाएं नथुने के माध्यम से हवा को बाहर निकालें।

क्या आप अपने हाई ब्लडप्रेशर को कम करने के लिए इन शानदार ब्रीदिंग टेकनीक में से एक को आजमाने के लिए तैयार हैं? आपका दिल और दिमाग आपको धन्यवाद देगा।

मुख्य छवि © wikiHow.com के सौजन्य से

 

  • Encinas, F. J. L., de la Puente Muñoz, M. L., & López, M. C. (2001). Técnicas de control de la activación: relajación respiración. In Manual de técnicas de modificación y terapia de conducta (pp. 367-395).
  • Strosahl, K. D., & Robinson, P. J. (2015). Vive tu momento. Amat, editorial.
  • Hervás, G., Cebolla, A., & Soler, J. (2016). Intervenciones psicológicas basadas en mindfulness y sus beneficios: estado actual de la cuestión. Clínica y salud27(3), 115-124.