उंगलियों के नाखूनों की रेखाओं से कैसे छुटकारा पायें

हालांकि वे आम तौर पर नाखून की क्षति या पोषक तत्त्वों की कमी के फलस्वरूप दिखाई देते हैं, नाखून के निशान गंभीर समस्याओं की ओर भी इंगित कर सकते हैं।
उंगलियों के नाखूनों की रेखाओं से कैसे छुटकारा पायें

आखिरी अपडेट: 03 दिसंबर, 2021

सभी महिलाएं मजबूत, खूबसूरत नाखून रखना चाहती हैं जो आसानी से नहीं टूटते हैं। लेकिन समस्या यह है कि अक्सर हमारे नाखूनों पर निशान दिखाई देते हैं, जैसे उंगलियों के नाखूनों की रेखाओं का बनना। वे न केवल हमारे नाखूनों की सुंदरता को भंग करती हैं बल्कि हमारे शारीरिक असंतुलन की ओर भी संकेत करती हैं।

इस आलेख में, अपने नाखूनों पर दिखाई देने वाली रेखाओं का अर्थ समझें और नेचुरल तरीके से उनसे छुटकारा पाने का तरीका जानें।

नाखूनों की आड़ी रेखाएं

सफेद, कुछ हद तक मोटी आड़ी रेखाएं जो आपके नाखूनों पर दिखाई देती हैं, के कई अलग-अलग कारण हो सकते हैं। नाखून की रेखाओं के सबसे आम निम्नलिखित कारण हैं –

तेज़ बुखार के साथ गंभीर बीमारी

उदाहरण के लिए, व्यक्ति को निमोनिया या स्कार्लेट बुखार जैसी गंभीर बीमारी का सामना करना पड़ा है।

इस मामले में, एक समय में कुछ नाखूनों पर सफेद रेखाएं दिखाई देंगी, क्योंकि शरीर ने नाखून के विकास के बजाय बीमारी से लड़ने को प्राथमिकता दी है।

ऐसे में किसी इलाज की आवश्यकता नहीं है क्योंकि बीमारी ठीक होने पर सफेद रेखाएं गायब हो जाएंगी।

  • नाखून प्रति सप्ताह लगभग 1 मिलीमीटर बढ़ते हैं इसलिए उन्हें देखकर उस तारीख की गणना करना संभव है जब किसी के शरीर में दर्दनाक तनाव हुआ था।

मधुमेह में नाखूनों की रेखाओं का रूप

यदि मधुमेह आपके परिवार की आनुवंशिक बीमारी है और आप इस बीमारी के अन्य लक्षणों से पीड़ित हैं, तो आपके नाखूनों की रेखाएं इलाज न किए गए मधुमेह का परिणाम हो सकती हैं।

ऐसे में आपको संबंधित परीक्षण और निदान प्राप्त करने के लिए अपने डॉक्टर से मिलना चाहिए, यह आपका पहला कदम होना चाहिए।

टाइप 2 मधुमेह के कई मामलों का स्टेविया और दालचीनी जैसे पूरक पदार्थों के उपयोग के साथ नेचुरल तरीके से इलाज किया गया है।

इसे भी पढ़ें;

नाखूनों की फफूंद की नेचुरल ट्रीटमेंट हल्दी से

सोरायसिस

यह एक त्वचा विकार है जिसके कारण स्केलिंग और सूजन होती है। यह शरीर के विभिन्न हिस्सों को प्रभावित करता है, नाखूनों को भी, जिनमें इसकी वजह से आड़ी रेखाएं दिखाई दे सकती हैं।

सोरायसिस से पीड़ित लोगों को काफी तकलीफ हो सकती है क्योंकि उन्हें बेहद खुजली और दर्द सहना पड़ता है।

हालांकि सिद्धांत के तौर पर सोरायसिस का कोई इलाज नहीं है, बहुत लोगों ने देखा है कि एक संतुलित और सेहतमंद आहार खाने से उनकी स्थिति में अनुकूल परिवर्तन होते हैं।

हम आपको अपने आहार में ताजे, प्राकृतिक खाद्य पदार्थों को सम्मिलित करने और परिष्कृत चीनी और हानिकारक वसा वाले खाद्य पदार्थों के सेवन को कम करने की सलाह देते हैं।

रक्त संचार की गड़बड़ी

यदि आप खराब परिसंचरण से पीड़ित हैं और वेरीकोस वेंस और पैर के दबाव या भारीपन जैसे अन्य लक्षण भी मौजूद हैं तो  संभव है कि यह आपके नाखूनों की रेखाओं का कारण हो।

बेहतर परिसंचरण प्राप्त करने के लिए हमें एक सक्रिय जीवन जीना चाहिए और एक ताजा , पूरा आहार खाना चाहिए।

  • हम लाल खाद्य पदार्थों (टमाटर, लाल फल, लाल मिर्च आदि) के सेवन में वृद्धि की राय देते हैं।
  • आप वैकल्पिक तापमान (ठंडा-गर्म) पर भी स्नान कर सकते हैं और आवश्यक तेलों (दौनी, साइप्रस, हैमामेलिस) के साथ मालिश कर सकते हैं।

ज़िंक की कमी

ज़िंक की कमी की वजह से निशान या आड़ी रेखाएं दिखाई दे सकती हैं। ये एक चेतावनी का संकेत और ज़िंक का सेवन बढ़ाने के लिए अनुस्मारक के रूप में कार्य करती हैं।

ज़िंक को एक पूरक के रूप में लिया जा सकता है या इसका निम्नलिखित खाद्य पदार्थों में सेवन किया जा सकता है:

  • कोको पाउडर
  • तरबूज के सूखे बीज
  • मांस
  • कस्तूरा
  • मूंगफली
  • तिल
  • कद्दू (और इसके बीज)
  • मक्खन

नाखूनों की सीधी रेखाएं

सीधी रेखाओं के कारण आड़ी रेखाओं के कारणों से अलग हैं।

उम्र बढ़ना

उंगलियों के नाखूनों की सीधी रेखाओं की उपस्थिति के लिए सबसे आम स्पष्टीकरण अपरिहार्य उम्र बढ़ने की प्रक्रिया है।

फिर भी, एंटीऑक्सीडेंट में समृद्ध आहार का उपभोग करके हम आंतरिक और बाहरी दोनों स्तर पर मुक्त कणों के कारण होने वाले क्षय में देरी कर सकते हैं।

ये कुछ खाद्य पदार्थ हैं जिनमें एंटीऑक्सीडेंट का उच्चतम स्तर होता है:

  • कोको
  • लहसुन और प्याज
  • एवोकैडो
  • अंगूर
  • टमाटर
  • नींबू
  • ब्रोकोली
  • हल्दी
  • हरी चाय
  • नट्स
  • सेब
  • काली मिर्च

विटामिन B की कमी

कुछ मामलों में, नाखून की रेखाओं की उपस्थिति विटामिन बी की कमी से संबंधित हो सकती है या दूसरे शब्दों में, हानिकारक एनीमिया।

यह इस पोषक तत्व को ठीक से अवशोषित न करने या सख्त शाकाहारी भोजन के पालन के कारण हो सकता है।

निम्नलिखित खाद्य पदार्थ विटामिन बी 12 के अच्छे स्रोत हैं –

  • अंडे
  • मांस
  • कस्तूरा
  • डेरी के उत्पाद
  • स्पिरुलिना
  • शराब बनाने वाली सुराभांड या ब्रूअर्स यीस्ट

मैग्नीशियम की कमी

मैग्नीशियम की कमी भी नाखून की रेखाओं का कारण बन सकती है। दुर्भाग्य से, खराब मिटटी, जिसमें पोषक तत्वों की तेजी से कमी आई है, की वजह से भोजन में इस खनिज की कमी बढ़ रही है।

इसलिए मैग्नीशियम की खुराक लेने की अत्यधिक अनुशंसा की जाती है। क्लोराइड (कब्ज का मुकाबला करने के लिए उत्कृष्ट) और साइट्रेट (गैस्ट्रिक अम्लता से पीड़ित लोगों के लिए अधिक उपयुक्त) सबसे आम पूरक हैं जिनको आप आजमा सकते हैं।



  • Tully AS, Trayes KP, Studdiford JS. Evaluation of nail abnormalities. Am Fam Physician. 2012 Apr 15;85(8):779-87.
  • Lipner SR, Scher RK. Evaluation of nail lines: Color and shape hold clues. Cleve Clin J Med. 2016 May;83(5):385-91.
  • Song IC, Lee HJ. Transverse Lines of the Nails. Am J Med. 2017 Jun;130(6):e259-e260.
  • Ryu H, Lee HJ. Beau’s lines of the fingernails. Am J Med Sci. 2015 Apr;349(4):363.
  • Ramachandran V, Sapra A. Muehrcke Lines Of The Fingernails. 2022 Jun 12. In: StatPearls [Internet]. Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2022 Jan–.

इस प्रकाशन की सामग्री केवल सूचनात्मक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी भी समय चिकित्सा पेशेवरों द्वारा किए गए निदान, उपचार या सिफारिशों को सुविधाजनक या प्रतिस्थापित नहीं कर सकता है। यदि आपको कोई संदेह है तो अपने विश्वसनीय चिकित्सक से परामर्श करें और कोई भी प्रक्रिया शुरू करने से पहले उनकी स्वीकृति लें।