प्राकृतिक साधनों से एलोपिसिया का प्रतिरोध कैसे करें

31 दिसम्बर, 2018
एलोपिसिया पुरुष और महिलायें दोनों को अलग-अलग कारणों से प्रभावित कर सकता है। इसलिए बालों के झड़ने का प्रतिरोध सबसे कारगर ढंग से करने के लिए उनके बारे में जानना ज़रूरी है।
 

सभी लोग प्रति दिन 70 से 100 बाल खो देते हैं। यह बिलकुल नॉर्मल है। असामान्य क्षति तब होती है जब कोई व्यक्ति दिन में 100 से ज्यादा बाल खोने लगता है। इस मामले में, वह व्यक्ति एलोपिसिया (alopecia) या गंजेपन (baldness) से पीड़ित है।

जिन लोगों को एलोपिसिया है वे आम तौर अपने सिर के बाल खोते हैं। लेकिन यह इन क्षेत्रों को भी प्रभावित कर सकता है:

  • भौहें (Eyebrows)
  • पलकें (Eyelashes)
  • दाढ़ी
  • अंडरआर्म्स
  • जननांग क्षेत्र

इस पोस्ट में, हम आपको एलोपिसिया के बारे में बताएंगे।  इसके कारण, लक्षण, इसे रोकने के तरीके और इसका इलाज करने के बेहतरीन नेचुरल ट्रीटमेंट की जानकारी देंगे।

एलोपिसिया के कारण (The Causes of Alopecia)

ये एलोपिसिया के कुछ कारण हैं:

  • जेनेटिक कारक
  • गलत डाइट
  • स्ट्रेस
  • हाइपोथायरॉइडिज्म जैसे एंडोक्राइन रोग
  • संक्रामक रोग
  • दवाओं की पारस्परिक क्रिया (खास तौर से कीमोथेरेपी में उपयोग की जाने वाली कुछ दवायें, एंटी थायरॉइड दवायें, थक्कारोधी, हाइपरविटामिनोसिस A और हाइपोकोलेस्ट्रोलेमिया के इलाज में उपयोग की जाने वाली दवायें)।
  • आयरन की कमी या एनिमिया

एलोपिसिया के लक्षण (The Symptoms of Alopecia)

पुरुषों में आम तौर पर हेयरलाइन और शिखा के आसपास के बाल झड़ जाते हैं। लेकिन महिलाओं में बालों के झड़ने का पैटर्न अलग है। एलोपिसिया के कुछ रूप जो ज्यादा सामान्य नहीं हैं, खुजली या स्कैल्प के दर्द का कारण बन सकते हैं।

  • यदि जागने पर आपको अपने तकिए पर कई बाल मिलते हैं तो यह इस बात का संकेत हो सकता है कि आप सामान्य से ज्यादा बाल खो रहे हैं।
  • यदि बालों को धोते वक्त हर बार बहुत से बाल गिरते हैं तो यह एलोपिपेसिया का संकेत हो सकता है। आप ब्रश या कंघी करते समय भी बहुत सारे बाल खो सकते हैं।
  • ज्यादा रूसी या सेबम बालों के झड़ने का कारण हो सकते हैं।

इसे भी पढ़ें:  रोज़मेरी के असाधारण उपयोग और फ़ायदे आपको हैरान कर देंगे

रोकथाम

एलोपिसिया के लक्षण दिखने पर सही डायग्नोसिस और शुरुआती ट्रीटमेंट कराना सबसे ज़रूरी काम है।

  • स्वस्थ रहने की आदतें (धूम्रपान बंद करना, पर्याप्त पोषण और बहुत ज्यादा धूप से बचाव) बालों के अच्छे स्वास्थ्य के अनुकूल हो सकती हैं।
  • ढेर सारा पानी पियें। शरीर के अन्य अंगों की तरह आपके बालों को चमकदार दिखने, स्वस्थ और मजबूत रहने के लिए पर्याप्त हाइड्रेटेड रहने की ज़रूरत है। इसलिए एलोपिसिया का मुकाबला करने के लिए आपको दिन में दो लीटर पानी पीने की आदत डालनी चाहिए।

यह रोजमर्रा की जिंदगी को कैसे प्रभावित करता है

 
एलोपिसिया का प्रतिरोध

यह बीमारी एक गहन कॉस्मेटिक और व्यक्तिगत समस्या बन सकती है।

इसमें कोई शक नहीं है कि यह दुनिया भर की सबसे आम कॉस्मेटिक समस्याओं में से एक है। यह भावनात्मक रूप से भी कई लोगों को प्रभावित करती है। यह आत्मविश्वास में कमी या कामकाज के प्रभावित होने का कारण बन सकता है।

एलोपिसिया के नेचुरल ट्रीटमेंट

गाजर का रस और नारियल का दूध (Carrot juice and coconut milk)

गाजर में विटामिन बी 6, बी 12 और एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो बालों को मजबूत बनाने और उन्हें स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। नारियल के दूध में विटामिन, ट्रेस एलिमेंट, एमिनो एसिड और खनिज होते हैं।

ये आपके बालों को ज्यादा स्वस्थ और ज्यादा मजबूत रखने में मदद करेगा।

सामग्री

  • 2 गाजर
  • 1 कप नारियल का दूध (250 मिलीलीटर)

क्या करें

  • दोनों अवयवों को ब्लेंडर में डालें और उन्हें लगभग 3 या 4 मिनट तक ब्लेंड करें जब तक एक समरूप मिश्रण न बन जाए।
  • मिश्रण को छाने बिना अपने बालों में लगाएं। 30 मिनट के लिए यूंही रहने दें और फिर ठंडे पानी से धोएं।

इसे भी पढ़ें: कम समय में लम्बे और मजबूत बाल पाना चाहती हैं? ये नेचुरल उपाय अपनायें

एप्पल साइडर विनेगर (Apple cider vinegar)

एलोपिसिया : Apple cider vinegar

फालतू सेबम (sebum) के कारण बालों को झड़ने से रोकने के लिए सिरका एक शानदार नेचुरल उपाय है। यह इसके सर्कुलेशन को प्रोत्साहित करने में भी मदद करेगा।

 

सामग्री

  • 1 कप एप्पल साइडर विनेगर (250 मिलीलीटर)

क्या करें

  • एप्पल साइडर विनेगर को अपने बालों में लगाएं और अपने स्कैल्प की हल्के से मालिश करें।
  • 45 मिनट के बाद अपने बालों को गुनगुने पानी से धोएं।

बालों को झड़ने से रोकने के लिए सिफारिशें और टिप्स

इस समस्या को रोकने या कम करने में आपकी मदद के लिए यहां कुछ सिफारिशें दी गई हैं।

  • स्ट्रेस पर लगाम लगाएं: योग, हंसने की थेरेपी, ताई ची और व्यायाम जैसी गतिविधियां एंडॉर्फिन (endorphin) के उत्पादन में मदद करती हैं और तनाव कम करती हैं।
  • अगर आप डिप्रेशन, एंग्जायटी या एनीमिया जैसी किसी स्वास्थ्य समस्या से पीड़ित हैं तो उसका इलाज करायें।
  • आयरन, एंटीऑक्सिडेंट, फैटी एसिड और विटामिन A, B, C, और E से समृद्ध स्वस्थ, संतुलित डाइट खाएं। यह आपके बालों को मजबूत बनायेगा, हेयर फोलिकल को ऊर्जा से भरपूर करेगा।
  • नरम ब्रश का इस्तेमाल करें और कसी हुई हेयरस्टाइल से बचें। बालों को बांधने की चोजों का इस्तेमाल करने से बचें।
  • धूम्रपान से बचें: यह आदत फोलिकल को तेजी से कमजोर कर देती है।