शहद और हल्दी जिलेटिन स्क्वेयर : एक शानदार एंटी-इन्फ्लेमेटरी

जून 27, 2019
ये मजेदार हैं, ये लजीज हैं, ये जबरदस्त हेल्दी हैं! इस शानदार शहद और हल्दी जिलेटिन स्क्वेयर को एकबार आजमाकर देखें!

ये शहद और हल्दी जिलेटिन स्क्वेयर केवल स्वादिष्ट ही नहीं लगते, इनके गुण आपको जो फायदे देते हैं, वह इनके मखमली, चिकने और नाजुक स्वाद से बहुत आगे जाता है।

बेशक यह एक सनसनीखेज उपाय है। यह आपको कई रोगों का इलाज करने में मदद कर सकता है, जैसे:

  • जुकाम
  • गठिया से जुड़ा दर्द
  • पीठ दर्द

यह नेचुरल ट्रीटमेंट पर आधारित नुस्खा है

हम आपको रोजमर्रा के जीवन में अपनी बेहतर देखभाल करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। यह आप प्रकृति के कई तोहफों का उपयोग करके कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : ऑस्टियोअर्थराइटिस, ऑस्टियोपोरोसिस और अर्थराइटिस : तीनों में क्या अंतर हैं?

यह शहद और हल्दी जिलेटिन स्क्वेयर आपकी मदद कैसे कर सकता है?

शहद और हल्दी जिलेटिन स्क्वेयर

इस आर्टिकल में, हम आपके और आपके परिवार की सेहत के लिए यह नुस्खा बताएंगे।

एक ऐसी मिठाई जो आपके ह्रदय की सेहत का ख्याल रखती है

करक्यूमिन वह तत्व है जो हल्दी को उसका विशिष्ट रंग देता है। साथ ही यह कई दूसरे बेहतरीन फायदे देता है।

इसके सबसे अहम फायदों में से एक यह है कि यह हृदय रोगों को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है

इसके अलावा, यह आपके एंडोथेलियम (endothelium) के कामकाज को बढ़ाता है। यह एक टिशू है जो आपकी आर्टरीज के अंदरूनी भाग को ढके हुए होता है। करक्यूमिन एंटीऑक्सिडेंट आधारित एक बहुत शक्तिशाली एंटी इन्फ्लेमेटरी एजेंट भी है

हल्दी से आप असाधारण फ्लेवोनोइड भी हासिल कर सकते हैं। इसके लिए आपको इस नुस्ख़े में ऑर्गनिक शहद मिलाना होगा।

फ्लेवोनॉयड्स एक तरह के एंटीऑक्सीडेंट हैं। ये विभिन्न हृदय रोगों से पीड़ित होने का जोखिम घटाने में आपकी सहायता करते हैं

एक शानदार एंटी इन्फ्लेमेटरी एजेंट

आपके शरीर में रोग पैदा करने वाले एजेंट की मौजूदगी के कारण सूजन बढ़ती है। इसका मतलब बैक्टीरिया जैसी चीजें हैं जो आपके इम्यून सिस्टम का बचाव करती हैं।

सूजन दरअसल एक डिफेन्स मेकेनिज्म है। वास्तव में यह प्राकृतिक है, और फायदेमंद भी। इसलिए यह उपचार प्रक्रिया का एक हिस्सा है।

हालांकि, समस्या तब शुरू होती है जब सूजन पुरानी हो जाती है, अर्थात जब आपके जॉइंट्स में हमेशा सूजन रहती है या आपके पैर हमेशा फ्लूइड रिटेंशन के कारण से सूजे होते हैं

करक्यूमिन एक रसायन है जो आपकी कोशिकाओं में जाकर सूजन के असर को कम करता है

नेचुरल शहद सबसे अच्छे प्राकृतिक एंटीबायोटिक दवाओं में से एक है

यह आपके इम्यून सिस्टम का एक शानदार सहयोगी है। हर सुबह इनमें से कुछ जिलेटिन स्क्वेयर को खाना अहम है। यह वायरस, बैक्टीरिया और संक्रमण को रोकने में मदद करेगा।

यह आपके पीठ दर्द को कम करता है

शहद और हल्दी जिलेटिन स्क्वेयर : पीठ दर्द

हर किसी को कभी न कभी पीठ में दर्द होता है।

कुछ दिन आराम करने के अलावा सीधे क्लासिक सूजनरोधी दवा का सेवन फायदेमंद होता है। उदाहरण के लिए, इनमें आइबुप्रोफेन शामिल है

हालांकि, हल्दी और शहद दोनों में दर्द घटाने वाले अच्छे सहायक के रूप में काम करने की क्षमता होती है

करक्यूमिन एक पॉलीफेनोल है जिसका उपयोग प्राकृतिक चिकित्सा में किया जाता है। यह ऑस्टियोआर्थराइटिस वाले लोगों के लिए जीवन की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

शहद और हल्दी वाले जिलेटिन स्क्वेयर खाने से पीठ दर्द में लगातार कमी लाई जा सकती है

यह एक बहुत अच्छा काम्प्लीमेंट है और बेशक यह इसलिए भी अच्छा है कि यह आपको बहुत सारी दवाएं लेने से रोकता है। नतीजतन, यह आपके लिवर में ढेर सारे रसायन जाने से बचाव करता है

साथ ही, बच्चे इन स्क्वेयर को पसंद करते हैं। अगर आपके पास एक साँचा है और आप इसे हाथ से बनायें, तो वे निश्चित रूप से इस नेचुरल नुस्ख़े को खाने का मजा लेंगे

इसे भी पढ़ें : जोड़ों का दर्द कम करने के लिए 3 जिलेटिन उपचार

जिलेटिन स्क्वेयर कैसे बनायें

शहद और हल्दी जिलेटिन स्क्वेयर : कैसे बनायें

सामग्री

  • 1 कप संतरे का रस
  • 2 चम्मच हल्दी
  • 1/2 कप बहुत गर्म पानी
  • 2 बड़े चम्मच शहद
  • 1/4 कप नेचुरल जिलेटिन

दिशा-निर्देश

  • दो चम्मच हल्दी के साथ संतरे का रस मिलाएं।
  • फिर, मध्यम आंच पर एक बर्तन में इस मिश्रण को डालें। आधा कप पानी और शहद डालें। उन्हें एक लकड़ी के चम्मच के साथ मिलाएं। मिश्रण को गर्म होने दें।
  • फिर, कुछ प्राकृतिक जिलेटिन डालें। आँच थोड़ी कम करें।
  • थोड़ा-थोड़ा करके आप इसे मोटा होते देखेंगे। अब मिश्रण को विभिन्न सिलिकॉन मोल्ड में डालने का वक्त है।
  • फिर इन साँचों को फ्रिज में रखें (फ्रीजर में नहीं)।

आपको बस अपनी स्वादिष्ट शहद और हल्दी स्क्वेयर के लिए एक घंटे इंतजार करना होगा।

कृपया याद रखें, आपको एक हफ़्ते के भीतर इन जिलेटिन स्क्वेयर को खा लेना चाहिए

यदि आपको लगे कि आप एक हफ़्ते के भीतर उन्हें नहीं खा पाएंगें, तो उन्हें बिना किसी समस्या के फ्रीज कर सकते हैं। जमने पर वे अपने गुणों को बरकरार रखेंगे।

  • Akram, M., Ahmed, A., Usmanghani, K., Hannan, A., Mohiuddin, E., & Asif, M. (2010). CURCUMA LONGA AND CURCUMIN: A REVIEW ARTICLE. Romanian Journal of Biology.
  • Bogdanov, S., Jurendic, T., Sieber, R., & Gallmann, P. (2008). Honey for nutrition and health: a review. Journal of the American College of Nutrition.
  • Lambert, J. E., Parnell, J. A., Han, J., Sturzenegger, T., Paul, H. A., Vogel, H. J., & Reimer, R. A. (2014). Evaluation of yellow pea fibre supplementation on weight loss and the gut microbiota: A randomized controlled trial. BMC Gastroenterology. https://doi.org/10.1186/1471-230X-14-69