ड्राई आई सिंड्रोम: इसका इलाज नेचुरल तरीके से कैसे करें

22 जुलाई, 2018
ड्राई आई सिंड्रोम से जुड़ी समस्याओं से बचने के लिए, इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस का इस्तेमाल करने के बाद अपनी आंखों को आराम देना, लगातार पलकें झपकाते रहना और आँखों की एक्सरसाइज करना जरूरी है।

ड्राई आई सिंड्रोम, जिसे केराटो-कन्जंगक्टवाइटिस (keratoconjunctivitis) भी कहा जाता है, एक ऐसी बीमारी है जो आँसुओं के लिए पर्याप्त लुब्रिकेंट बना पाने में आँखों की असमर्थता के कारण होती हैं।

इससे आँखों के नाजुक टिश्यू में सूजन आ जाती है और खुजली, आँखों का लाल होना और सेंसिटिविटी जैसी तकलीफें होती हैं।

अगर इसका ठीक तरह से इलाज न किया जाये, तो इससे कॉर्निया और कान्जंगक्टाइव में भी समस्याएं हो सकती हैं।

ज्यादा उम्र के लोगों में यह समस्या आम बात है, लेकिन कम उम्र के लोगों को भी गंदे वातावरण में रहने, चोट लगने के कारण यह समस्या हो सकती है।

अच्छी बात ये है कि नेचुरल तरीके से इसकी रोकथाम की जा सकती है। उदाहरण के लिए, कुछ चीजें बिना जलन या दर्द के प्रभावित हिस्सों को नम बनाये रख सकती हैं।

नीचे, हम आपको इस समस्या के कारणों के बारे में विस्तार से बताएँगे। यह भी बताएँगे कि इससे छुटकारा कैसे पायें।

आँखों में सूखेपन के कारण क्या हैं (causes of dry eye syndrome)

आँखों में सूखापन की कोई कोई सटीक वजह नहीं है, हालांकि, कई मामलों में हार्मोन से जुडी समस्यायें भी इसकी एक वजह निकली हैं।

आम-तौर पर, आँखों में सूखापन के निम्न कारण हो सकते हैं:

  • उम्र बढ़ने के साथ आंसुओं के बनने में कमी
  • एस्ट्रोजेन लेवल में कमी
  • कांटेक्ट लेंस का इस्तेमाल
  • आँखों की सर्जरी
  • ज्यादा देर धूप में रहना
  • सर्दी लगने के लिए दवाओं का सेवन
  • एयर-कंडिशन्ड वातावरण में रहना
  • सिगरेट का धुंआ
  • पार्किन्सनऔर डायबिटीज जैसी पुरानी बीमारियां

इसे भी पढ़ें: 6 आश्चर्य में डाल देने वाले तरीके आइलाइनर लगाने के

ड्राई आई सिंड्रोम की पहचान कैसे होती है?

ड्राई आई सिंड्रोम: पहचान

ड्राई आई सिंड्रोम के लक्षण हर रोगी में अलग-अलग होते हैं, जो अपने होने के कारणों पर निर्भर करते हैं।

इसके सबसे आम लक्षण जो दिखाई देते हैं, वो हैं:

  • आँखों का सूखापन (Eye dryness)
  • आंखों में किरकिरी
  • पलकें झपकाने में दिक्कत
  • आंखों की लाली
  • आँखों में खुजलाहट (Itchy  eye)
  • प्रकाश के लिए ज्यादा संवेदनशील
  • आँखों में धुंधलापन
  • सिरदर्द

ड्राई आई सिंड्रोम के लिए नेचुरल ट्रीटमेंट

इस बीमारी का मुकाबला करने के लिए, आमतौर पर कृत्रिम आंसुओं के इस्तेमाल का सुझाव दिया जाता है, जो कि फायदेमंद हो भी सकता है या नहीं भी।

बीमारी की गंभीरता के अनुसार इनका इस्तेमाल दिन में 2 या 4 बार किया जाता है।

हालांकि, दूसरे कई नेचुरल ट्रीटमेंट हैं जो आँखों में सूखापन के इलाज के लिए इस्तेमाल किये जा सकते हैं।

कैमोमाइल से सेंकना (Chamomile Compresses)

ड्राई आई सिंड्रोम: कैमोमाइल से सेंकना

कैमोमाइल से भीगी हुई गद्दी एक बेहतरीन उपचार है जो ड्राई आई सिंड्रोम के कारण पैदा हुई सूजन, लाली और खुजली को कम करती है।

जरूरी चीजें

  • 2 चम्मच कैमोमाइल (20 ग्राम)
  • 1 कप पानी (250 मिलीलीटर)

बनाने की विधि

  • एक कप उबलते पानी में कैमोमाइल डालें और इसे 15 मिनट तक रख दें।

इस्तेमाल करने का तरीका

  • जब पानी गर्म हो, रुई के फाहों या साफ कपड़े की मदद से इसे आंखों पर रख दें।
  • 10 मिनट ऐसे ही छोड़ दें ताकि यह अपना काम कर सके और अगर जरूरी लगे तो इसे दिन में 2 बार दोहराएं।

ब्लैक टी से सेंकना (Compresses with black tea)

ब्लैक टी में कई एंटीऑक्सीडेंट और सूजन-रोधी तत्व होते हैं जो उस समय आंखों के बाहरी क्षेत्रों की देख-भाल करते हैं जब आँखें जरूरत के अनुसार लुब्रिकेंट पैदा नहीं कर पाती हैं।

जरूरी चीजें

  • 1 कप पानी (250 मिलीलीटर)
  • 2 चम्मच काली चाय (20 ग्राम)

बनाने की विधि

  • एक कप पानी उबालें और जब यह उबलने लगे, तो इसमें एक चम्मच ब्लैक टी मिला लें।
  • इसे 20 मिनट के लिए ढक कर रख दें।

इस्तेमाल करने का तरीका

  • जब पेय गर्म हो तो, कपास के कुछ टुकड़े इसमें भिगोकर आंखों पर लगा लें।
  • इसे 10 मिनट तक अपना काम करने दें और जरूरत पड़े तो हर दिन इसे दोहराएं।
  • आप चाहें तो इसे ठंडा करने के लिए फ्रिज में भी रख सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: 4 घरेलू नुस्ख़े से करें घट्टों का इलाज

खीरे के टुकड़े (Cucumber slices)

कैमोमाइल से सेंकना: खीरे के टुकड़े

खीरे के स्लाइस का इस्तेमाल करना क्लासिक ट्रीटमेंट है जिसे आँखों में सूखेपन के लिए नेचुरल ट्रीटमेंट के रूप में इस्तेमाल किया जाता है।

जरूरी चीजें

  • खीरे के 4 टुकड़े  (गोलाकार कटे हुए बारीक टुकड़े)

बनाने की विधि

  • खीरे के टुकड़ों को 2 घंटे तक फ्रीजर में ठंडा होने के लिये रख दें।

इस्तेमाल करने का तरीका

  • जब खीरे के टुकड़े ज्यादा ठंडे हो जाएँ, तो उन्हें निकालकर कम से कम 10 मिनट के लिए अपनी आंखों पर रख लें।
  • हमारी सलाह है, 4 पतली-पतली स्लाइस काट कर रखें, क्योंकि एक बार इस्तेमाल करने पर उनकी ठंडक कम हो जाती है। उस समय पहले दो दुकड़ों को बदलकर नए टुकड़े इस्तेमाल कर सकते हैं।

इनके अलावा…

  • याद रखें, नेचुरल ट्रीटमेंट के अलावा, ये जरूरी है कि आप अपनी आँखों को आराम दें, खासकर इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के सामने ज्यादा समय तक बैठे रहने के बाद।
  • डिहाइड्रेशन की वजह से आँखों में सूखेपन से बचने के लिए ज्यादा से ज्यादा पानी पियें।
  • बार-बार झपकी लेते रहें और आँखों की एक्सरसाइज करते रहें।
  • एंटीऑक्सिडेंट्स और ओमेगा 3 फैटी एसिड वाली चीजें खाएं।

क्या आपको आँखों में सूखापन और जलन महसूस होती है? यदि ये लक्षण बार-बार दिखाई देते हैं, तो सही स्थिति को समझने के लिए तुरंत आँखों के स्पेशलिस्ट से मिलें।