क्या आपको अपना प्लेटलेट काउंट बढ़ाने की जरूरत है? ये 4 नुस्खे आजमाइए

26 नवम्बर, 2018
प्लेटलेट वे कोशिकाएँ हैं जो रक्त प्रवाह में रहती हैं। ये ब्लड हैमरेज को रोकने के लिए रक्त को जमाने का काम करती हैं। कुछ रोगों में प्लेटलेट लेवेल कम हो जाते हैं। ऐसे में अपना प्लेलेट काउंट बढ़ाने के लिए आपको कुछ नेचुरल तरीके आजमाना चाहिए।

डेंगू, जिका (Zika), एनिमिया, सिरोसिस(cirrhosis ) और HIV जैसे रोग रक्त में प्लेटलेट लेवेल घटाने का कारण बनते हैं। इसलिए यदि इनमें से कोई रोग हो, तो आपको प्लेटलेट काउंट बढ़ाने पर विशेष ध्यान देना चाहिए।

प्लेटलेट काउंट का स्थायी लेवल बनाए रखिए। इससे आपका इम्यून सिस्टम ज्यादा मजबूत हो जाएगा। इसके साथ-साथ आपके लक्षणों में सुधार भी होगा।

1. प्लेटलेट काउंट बढ़ाने वाला नारियल पानी

रक्त में प्लेटलेट की संख्या बढ़ाने के लिए नारियल पानी एक अद्भुत ड्रिंक है। इसमें विटामिन A, B और C होते हैं। नारियल पानी में  कुछ मिनरल भी हैं जो आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हैं। ये मिनरल हैं कैल्शियम, पोटैशियम, मैग्नेशियम, फॉस्फेट और आयरन।

सेवन

  • एक बड़ा नारियल लेकर इसका पानी निकाल लीजिए। अगर आप चाहें, तो इसे कुछ घंटों के लिए फ्रिज में रखकर ठंडा पी सकते हैं।
  • नरियल पानी बहुत जल्द खराब हो जाता है। इसलिए इसे जितना हो सके ताजा पिएँ।

बॉटल्ड या प्रोसेस्ड नारियल पानी खरीदने से बचिए। क्योंकि इनमें कॉन्जरवेटिव होते हैं। ये इसके स्वास्थ्य फायदों को ख़त्म कर सकते हैं।

यह लेख भी पढ़िए :अंडरआर्म डीटॉक्स की मदद से ब्रैस्ट कैंसर से बचें

प्लेटलेट काउंट बढ़ाने के लिए नारियल पानी

2. अमरूद और लाल शिमला मिर्च का जूस (Guava and red bell pepper juice)

अमरूद फोलिक एसिड से भरा होता है। इसके अलावा इसमें विटामिन A और C भी ज्यादा होते हैं। रेड बेल पेप्पर या रेड चिली पेप्पर में विटामिन C ज्यादा होता है। इसके अलावा इसमें पोटैशियम, फोलिक एसिड, आयरन और दूसरे तत्वों की बड़ी मात्रा होती है। ये सभी प्लेटलेट की संख्या बढ़ाने में मदद करते हैं।

इन दोनों को मिलाइए और एक जूस बनाइए। यह जूस आपका प्लेटलेट काउंट बढ़ाने में मदद करेगा।

सामग्री

  • अमरूद (पसंद अनुसार पके हों)
  • 1 रेड बेल पेप्पर या चिली पेप्पर
  • 3 कप मिनरल वाटर (750 मिलिलीटर)

निर्देश

  • अमरूद और पेप्पर को अच्छी तरह धो लीजिए। अमरूद को चौकोर टुकड़ों में काटिए। पेप्पर से बीज निकाल लीजिए और चौकोर टुकड़ों में काट लीजिए।
  • इन सारी चीजों को ब्लेंडर में डाल दीजिए और पानी और चीनी के साथ ब्लेंड कीजिए। इसे छानकर सर्व करें।
  • यह जूस आपको हर दिन तीन गिलास पीना चाहिए।

3. मसूर, ब्लैकबेरी और दूध का पेय (Lentils, blackberry and milk beverage)

ब्लैकबेरी, मसूर और दूध अद्भुत गुणों से भरपूर हैं जो आपका प्लेटलेट काउंट बढ़ाते हैं। लेंटिल्स में आयरन, फोलिक एसिड और तरह-तरह के विटामिन मौजूद हैं। साथ ही, ब्लैकबेरीज में आयरन, विटामिन C और K भरे हैं। ये आपका प्लेटलेट काउंट बढ़ने के लिए बहुत बढ़िया हैं। अंत में, दूध मैं कैल्शियम और फॉस्फेट की भरमार है।

सामग्री

  • 3 कप पानी (750 मिलिलीटर)
  • 1 कप लेंटिल्स (200 ग्राम)
  • ब्लैकबेरीज (जितनी आपकी इच्छा हो डाल दें)
  • 3 बड़े चम्मच दूध (45 मिलिलीटर)

निर्देश

  • किसी पात्र में पानी गरम कीजिए। जब पानी उबलने लगे, मसूर को डालिए और इनके नरम होने तक उबालिए। फिर उन्हें ठंडा कीजिए।
  • ब्लैकबेरीज को धो लीजिए और लेंटिल्स के साथ ब्लेंडर में डालिए। पानी और तीन बड़े चम्मच दूध मिलाइए। इन सबको एक साथ ब्लेंड कीजिए।
  • अपना प्लेटलेट काउंट बढ़ाने के लिए दिन में इसका 3 गिलास पीजिए।

यह लेख भी पढ़िए :सपाट पेट पाने के लिए 4 शानदार एप्पल स्मूदी

4. प्लेटलेट काउंट बढ़ाता है पपीता के पत्ते का अर्क

पपीता के पत्ते में शक्तिशाली निरोगकारी क्षमता है। आप इनका इस्तेमाल करते हुए एक अर्क बना सकते हैं। यह अर्क आपका इम्यून सिस्टम मजबूत करेगा और प्लेटलेट काउंट बढ़ाने में आपकी मदद करेगा।

सामग्री

  • पपीता के पत्ते (जितनी आपकी इच्छा हो)
  • 1 कप पानी (250 मिलिलीटर)
  • शहद या चीनी (पसंद के अनुसार)

निर्देश

  • पपीता के पत्तों को धो लीजिए। इन्हें पानी भरे किसी पात्र में डाल कर मिडियम आँच पर उबालिए।
  • इन्हें पानी में तब तक तर होने दीजिए जब तक पानी आधा रह जाए। तब यदि आप चाहें, तो शहद या चीनी मिला दीजिए।
  • इसे ठंडा होने दीजिए। दिन में 2 या तीन बार यह अर्क पीजिये।
  • इस अर्क को तैयार करने का दूसरा तरीका भी है। पपीता के पत्तों को धोकर इन्हें खरल और मूसल (pestle and mortar) से पीस दीजिए। इस  पेस्ट में से थोड़ा सा लेकर पानी में मिलाइए। इसे छननी में छान कर अर्क पीजिए।
प्लेटलेट काउंट बढ़ाने के लिए पपीता

शरीर में रक्त प्लेटलेट्स के कई काम होते हैं। घावों से रक्त के बहाव को रोकने में ये मदद करते हैं। प्लेटलेट्स क्षतिग्रस्त ब्लड वेसेल्स की मरम्मत करते हैं। ये रक्त की तरलता बढ़ाते हैं और संक्रामक एजेंट की पहचान करते हैं।

यदि आपका ब्लड प्लेट्लेट लेवेल सामान्य से कम हो जाता है तो समय बिल्कुल न गंवाएँ। तुरंत अपना डाइट बदलें और इन 4 नुस्खों को आजमाएँ। कुछ ही दिनों में प्लेटलेट काउंट बढ़ जाएगा और आप ज्यादा मजबूती महसूस करेंगे। हर हफ्ते अपना डाक्टरी चेकअप कराना और बार-बार ब्लड टेस्ट कराना याद रखें। आपका प्लेटलेट काउंट फिर से सामान्य हो जाएगा।

  • Gaisán, C. Montes, et al. “Anemias hemolíticas adquiridas.” Medicine-Programa de Formación Médica Continuada acreditado 11.20 (2012): 1212-1219.
  • Gutiérrez-Romero, Alonso, Ylse Gutiérrez-Grobe, and Raúl Carrillo-Esper. “Volumen plaquetario medio: el tamaño sí importa.” Medicina interna de México 29.3 (2013): 307-310.
  • Ruiz Gil, Wilson. “Diagnóstico y tratamiento de la púrpura trombocitopénica inmunológica.” Revista Medica Herediana 26.4 (2015): 246-255.