5 चेयर एक्सरसाइज : एब्डोमिनल फैट घटाने के लिए घर पर करें

अक्टूबर 17, 2019
अपने एब्डोमिनल फैट यानी पेट की चर्बी को कम करने और बेहतर नतीजे पाने के लिए इन एक्सरसाइज को रेगुलर करें। इसके अलावा उन्हें बैलेंस और हेल्दी डाइट के साथ करें।

अगर आपका मकसद एब्डोमिनल फैट और इंच को कम करना है तो एक रेगुलर एक्सरसाइज रूटीन आपकी डाइट का पूरक बन सकती है।

इससे हमारे शरीर के मेटाबोलिज्म में सुधार हो सकता है। यह स्लिम फिगर के लिए मांसपेशियों को टोन करने, उन्हें मजबूत करने में भी मदद करती है।

समस्या यह है कि हर किसी के पास जिम जाने लायक पर्याप्त समय नहीं है। उनकी एक्सरसाइज भी सीमित होती है क्योंकि उन्हें नहीं लगता कि उनके पास एक्सरसाइज करने के लिए इक्विपमेंट नहीं हैं।

इस मामले में आपका एक्सपर्ट होना ज़रूरी नहीं है। दरअसल घर छोड़े बिना अपना वजन कम करने और पेट को फ्लैट करने के कई तरीके हैं।

इस आर्टिकल में हम 5 दिलचस्प एक्सरसाइज की जानकारी शेयर करेंगे जिन्हें आप एक चेयर के साथ कर सकते हैं और जो एब्डोमिनल फैट घटाकर आपको मनचाही टमी हासिल करने में मदद कर सकती हैं।

1. घुटने से छाती तक

फैट जलाने और टोंड बॉडी पाने के लिए फिजिकल एक्सरसाइज की ज़रूरत होती है। हर दिन ऐसा करने से आपके पेट की मांसपेशियों को मजबूत करने में मदद मिल सकती है और पाचन में भी सुधार हो सकता है।

इस एक्सरसाइज को कैसे करें

  • अपनी पीठ सीधी करके बैठ जाएँ।
  • बिना सपोर्ट के एक स्टूल पर झुक जाएं।
  • पैरों को एक साथ रखें और अपने हाथों को अपने कूल्हों की बगल में रखें।
  • फिर अपने घुटनों को छाती तक उठायें बिना उन्हें छुयें।
  • पैरों को ऊपर उठाने और शुरुआती मुद्रा में वापस लाने में एब्स को अपना काम करने दें।
  • एक बार में 4 बार करें और फिर 15 से 20 रेपिटेशन करें।

यह भी पढ़े: इन व्यायामों से चोटिल घुटनों को मजबूत बनाएं

2. घुटनों को एक एंगल पर उठाएं

ऊपर की स्थिति की तरह यह व्यायाम पेट और कमर की मांसपेशियों की वर्क आउट कराती है। यह मूवमेंट लॉ हैंडल को खत्म करने में मदद करती है।

इस एक्सरसाइज को कैसे करें

  • सीधी पीठ करके एक कुर्सी के किनारे बैठें। अपने हाथों को हिप्स की बगल में रखें।
  • सिर्फ ग्लुट्स के सहारे एक बगल झुक जाएँ।
  • पैरों को एक साथ रखें और साथ ही अपने घुटनों को ऊपर उठाएं।
  • जहाँ तक आप कर सकते हैं, उन्हें अपने सीने तक लाएँ और फिर शुरुआती स्थिति में वापस लौटाएँ।
  • 15 रेपिटेशन करें और फिर दूसरी सेड एक्सरसाइज को दोहराएं।
  • इनकी 4 सेट करें।

3. घुटनों को भीतर की ओर उठाना


यह मूवमेंट लोअर एब्डोमेन की मसल्स का वर्क आउट करने की सहूलियत देती है। कुछ समय बाद यह वेस्ट साइज़ को कम कर सकती है। इस मामले में एक घुटने को विपरीत कोहनी को छूनी चाहिए। साथ ही एब्डोमेन के साइड वाले हिस्से को थोड़ा मोड़ें।

इस एक्सरसाइज को कैसे करें

  • पीठ सीधी करके कुर्सी पर पूरी तरह से झुके बिना बैठें। अपना हाथ सिर की साइड पर रखें।
  • घुटनों को छाती की ओर उठाएं और साथ ही छाती को छूने के लिए विपरीत कोहनी को हिलाएं।
  • शुरुआती मुद्रा में वापस लौटें और इसके 15 रेपिटेशन करें।
  • साइड बदलें और 4 सेट पूरे करें।

इसे भी पढ़ें : 5 आसान टेकनीक एब्स ट्रेनिंग के लिए

4. एब्डोमिनल फैट घटाने के लिए साइड बेंड्स

यह एक्सरसाइज न सिर्फ पेट की चर्बी से लड़ने और वेस्ट साइज़ घटाने में मदद करती है, बल्कि साथ ही यह ग्लूट्स को भी मजबूत करती है।

इस एक्सरसाइज को कैसे करें

  • एक कुर्सी के पीछे खड़े हों ताकि आप अपनी एक हाथ को कुर्सी की पुश्त से टिका सकें।
  • दूसरे हाथ को सिर से ऊपर उठायें और अपने पैर की नोक पर खुद को खडा करें।
  • उथे हुए आर्म को धीरे-धीरे नीचे करें और साथ ही पैर को ऊपर उठाएं जिससे आपकी एड़ी हाथ को छुए।
  • शुरुआती स्थिति में लौटें और 10 से 15 रेपिटेशन करें।
  • साइड बदलें और 4 सेट पूरे करें।

यहाँ और पढ़ें: अपने पेट को पतला करने के लिए 10 व्यायाम

5. चेयर लिफ्ट से घटाएं एब्डोमिनल फैट

इस रूटीन की फिजिकल डिमांड को बढ़ाने के लिए आप कुर्सी पर टिकाकर अपना एब्डोमेन कम कर सकते हैं।

यह व्यायाम कैलोरी को जलाने और मांसपेशियों को टोंड करने में मदद कर सकती है।

इस एक्सरसाइज को कैसे करें

  • एक कुर्सी पर बैठें और बाहों को सीट पर रखें।
  • फिर शरीर को ऊपर उठाएं जिससे हिप्स और पैर ऊपर उठ जाएँ।
  • ऐसा करते समय अपने पेट की मांसपेशियों को फ्लेक्स करें जिससे घुटने ऊपर और अंदर आयें।
  • 15 से 20 सेकंड तक इस स्थिति में रहें और फिर आराम करें।
  • शुरुआती स्थिति में वापस जाएं और इसके 4 सेट करें।

अपनी एक्सरसाइज में रेगुलर रहें! अब जब आप जानते हैं, एक मामूली कुर्सी के साथ घर पर एब्डोमिनल एक्सरसाइज कैसे करें, इसे डेली रूटीन के रूप में अपनाएं और अच्छे नतीजे पाने के लिए पूरी कोशिश करें। हालाँकि इस बात का ध्यान रखें कि आपको इन एक्सरसाइज को अच्छी डाइट के साथ किया जाना चाहिए।