आपकी सेहत के लिए दालचीनी के 8 अज्ञात फायदे

जिनको डायबिटीज है, उनके लिए दालचीनी बहुत कारगर हो सकती है। लेकिन अपने रोजाना के ट्रीटमेंट को किसी भी तरह से बदलने या उसमें दालचीनी को शामिल करने से पहले अपने डॉक्टर से बात ज़रूर करें।
आपकी सेहत के लिए दालचीनी के 8 अज्ञात फायदे

आखिरी अपडेट: 11 दिसम्बर, 2018

दालचीनी (Cinnamon) दुनिया के सबसे पुराने मसालों में से एक है। यह मूल रूप से श्रीलंका की है जो सिनामोमम वेरम (Cinnamomum verum) नाम के पेड़ से मिलती है। किचन और घर में दूसरी जगहों पर इसके तमाम उपयोगों के कारण यह पूरी दुनिया में बहुत पॉपुलर है।

आज हम दालचीनी के कुछ स्वास्थ्य लाभों की जानकारी आपसे शेयर करने जा रहे हैं जिन्हें जानकर आपको ताज्जुब हो सकता है।

आपकी सेहत के लिए दालचीनी के 8 लाभ

दालचीनी के स्वास्थ्य लाभ बहुत मशहूर हैं। इसके कुछ सक्रिय यौगिकों (सिनामाल्डेहाइड, सिनामाइल एसीटेट और सिनामिक अल्कोहल) की मेहरबानी से इसकी घाव भरने की ताकत कई बीमारियों को कम करने में मदद कर सकती है।

इसमें जोरदार एंटी इंफ्लेमेटरी, एंटीमाइक्रोबियल, एंटीबैक्टीरियल और थक्कारोधी गुण हैं जिन्हें कई बीमारियों के इलाज के लिए वैकल्पिक चिकित्सा में इस्तेमाल किया जा सकता है।

यह पॉलीफेनॉल, एंटीऑक्सीडेंट, डाइटरी फाइबर और मैंगनीज, कैल्शियम, आयरन जैसे खनिजों का एक बेहतरीन स्रोत है। आइये इसके आठ सबसे अहम स्वास्थ्य लाभों के बारे में विस्तार से जानें।

1. टाइप 2 डायबिटीज का इलाज करें

टाइप 2 डायबिटीज के इलाज के लिए दालचीनी के लाभ जाने माने हैं। जब आप इसे खाली पेट और हर भोजन के बाद भी खाते हैं तो यह आपके रक्त प्रवाह में ग्लूकोज लेवल को कम करने में मदद करता है।

यह इसमें मौजूद सिनामटैनिन बी 1 की बदौलत होता है जो इंसुलिन रिसेप्टर्स को उत्तेजित करती है और उन्हें निष्क्रिय करने वाले एक एंजाइम को रोकती है। इससे आपकी कोशिकाओं के लिए ग्लूकोज को इस्तेमाल करना आसान हो जाता है।

2. पाचन को सुधारें (Improve digestion)

दालचीनी में मौजूद कुछ यौगिक, आयरन, डाइटरी फाइबर और कैल्शियम सहित आपके पाचन तंत्र के सामान्य कार्य को सुधारते हैं।

बाइल साल्ट इन यौगिकों के साथ चिपक जाते हैं और आपके शरीर से हटा दिए जाते हैं। यदि उनको आपके पाचन तंत्र से ठीक तरह से नहीं निकाला जाता है तो वे आपके कोलन के लिए नुकसानदेह हो सकते हैं।

इसके अलावा, दालचीनी का उपयोग दस्त से निपटने के लिए किया जाता है क्योंकि यह आंतों की ऐंठन को नियंत्रित करता है। इसे इरिटेबल बाउल सिंड्रोम के इलाज के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

3. मतली और उल्टी रोकें (Stop nausea and vomiting)

दालचीनी मतली और उल्टी के इलाज के लिए बहुत बढ़िया है। क्योंकि यह नेचुरल है, गर्भवती महिलाएं गर्भावस्था की पहली तिमाही में परेशान करने वाली सुबह की बीमारी या मॉर्निंग सिकनेस का मुकाबला करने के लिए इसे ले सकती हैं।

4. इंफ्लुएंजा और श्वसन की परेशानियां (Influenza and respiratory conditions)

यह मसाला जुकाम, फ्लू और अन्य श्वसन की परेशानियों के ट्रीटमेंट में उपयोगी होने के लिए जाना जाता है।

चाय में कुछ छोटे चम्मच दालचीनी डालने और उसके साथ ताजी अदरक जोड़ने से आपको अपने टेम्परेचर या बुखार को कम करने और खांसी को रोकने में मदद मिल सकती है।

इसके अलावा, इसकी लाजवाब खुशबु फ्लू से प्रभावित लोगों के मूड को सुधार सकती है।

दालचीनी के सूजन को रोकने वाले और एंटीबैक्टीरियल गुण सामान्य जुकाम को कम करने में इसके कारगर होने की गारंटी देते हैं।

5. दिल की बीमारी से बचाती है (Protect from heart disease)

दालचीनी के सूजन रोकने वाले गुण हृदय रोग के खिलाफ बेहद कारगर हैं।

यह आपके दिल और धमनियों की रक्षा करने के लिए भी एक अच्छा विकल्प है क्योंकि यह खराब कोलेस्ट्रॉल के लेवल, जो समय के साथ कार्डियोवैस्कुलर बीमारी और अन्य स्थितियों का कारण बन सकता है, से लड़ने में मददगार है।

इसके अलावा, सूजन को रोकने की यही खूबियां सूजे हुए आतंरिक टिशू को ठीक करने में मदद करती हैं और दिल के दौरे के खतरे को कम करती हैं।

6. मस्तिष्क के कार्य को प्रोत्साहित करती है (Stimulate brain function)

विज्ञान ने दिखाया है, दालचीनी बड़ी उम्र के लोगों में मस्तिष्क के कार्य को प्रोत्साहित करने, ध्यान, पहचान, याददाश्त और विजुअल मोशन की प्रक्रियाओं को सुधारने में मदद करती है।

दालचीनी की गंध आपके संज्ञानात्मक कार्य और याददाश्त को बढ़ाती है। जब आप विचलित होते हैं या एकाग्रता की कमी महसूस करते हैं, उस समय के लिए यह बहुत बढ़िया है। इसकी मनोहर और आरामदायक सुगंध को सूंघने के अलावा आप थोड़ी सी दालचीनी अपनी कॉफी में भी डाल सकते हैं।

7. जोरदार थक्कारोधी (A potent anti-coagulant)

दालचीनी प्लेटलेट को एक दूसरे के साथ सामान्य से ज्यादा नहीं  चिपकने देती है। इसलिए जब महिलाओं को पीरियड होते हैं तब उन्हें ये लेने की सलाह दी जाती है। यह मासिक धर्म के दर्द को थोड़ा कम कर सकती है और इस समय के दौरान आराम दे सकती है।

8. एक जबरदस्त मल्टीविटामिन (A powerful multivitamin)

दालचीनी के घटकों में विटामिन बी 1, विटामिन सी, आयरन, पोटैशियम, फॉस्फोरस, और कैल्शियम शामिल हैं।

हालांकि आपको इस मसाले की केवल थोड़ी मात्रा खाने की ज़रूरत है, यह आपके शरीर को विटामिन और खनिजों की बेहतरीन आपूर्ति देता है जो आपके शरीर के ठीक से काम करने के लिए ज़रूरी हैं।

इन लाभों के लिए आपको कितनी दालचीनी खाने की ज़रूरत है?

इसे रोजाना 1 से 6 ग्राम के बीच खाने की सिफारिश की जाती है। यह मात्रा आपके वजन, आयु और स्वास्थ्य की स्थिति के आधार पर भिन्न हो सकती है।

इसके सभी लाभों का पूरा फायदा उठाने के लिए इसे दो और चार ग्राम (आधा या पूरा छोटा चम्मच) के बीच खाने की सलाह दी जाती है।

लेकिन खुद अपना इलाज करना अच्छा आईडिया नहीं है। हमारी राय है कि दालचीनी का ट्रीटमेंट शुरू करने से पहले आप अपने डॉक्टर से सलाह लें।

यह आपकी रुचि हो सकती है ...
दालचीनी को घर पर कैसे उगाएं
स्वास्थ्य की ओरइसमें पढ़ें स्वास्थ्य की ओर
दालचीनी को घर पर कैसे उगाएं

ज़्यादातर लोग दालचीनी के फायदों से वाकिफ़ नहीं हैं। आमतौर पर मिठाई आदि पकवानों में उसका इस्तेमाल महक लाने के लिए किया जाता है। अधिक जानकारी के लिए आग...



  • Rao, P. V., & Gan, S. H. (2014). Cinnamon: A multifaceted medicinal plant. Evidence-Based Complementary and Alternative Medicine. https://doi.org/10.1155/2014/642942
  • Leach, M. J., & Kumar, S. (2012). Cinnamon for diabetes mellitus. Cochrane Database of Systematic Reviews. https://doi.org/10.1002/14651858.CD007170.pub2
  • Ribeiro-Santos, R., Andrade, M., Madella, D., Martinazzo, A. P., de Aquino Garcia Moura, L., de Melo, N. R., & Sanches-Silva, A. (2017). Revisiting an ancient spice with medicinal purposes: Cinnamon. Trends in Food Science and Technology. https://doi.org/10.1016/j.tifs.2017.02.011
  • Mirunalini, S., & Krishnaveni, M. (2011). Coumarin: A plant derived Polyphenol with wide Biomedical Applications. International Journal of PharmTech Research.