7 संकेत कि आप खुद को पर्याप्त प्यार नहीं करते

08 जनवरी, 2019
यदि आप खुद से प्यार नहीं करते तो यह उम्मीद नहीं कि दूसरे लोग आपकी कद्र करेंगे। अपने आसपास के लोगों को बदलने के लिए आप असल में जो हैं, उसकी कद्र करना शुरू करें।

जीवन बहुत छोटा है। इस बात की फ़िक्र करना कि दूसरे लोग आपके बारे में क्या सोच रहे होंगे, वक्त बर्बाद करना है। इसकी जगह आपको खुद को प्यार करना चाहिए।

यदि आप हमेशा दूसरों का अनुमोदन चाहते हैं तो आप एक बेपेंदे के लोटे जैसे व्यक्ति बन जाएंगे जो अब यह नहीं जानता कि वह कौन हैं या वह क्या चाहता है।

जब आपकी अपनी खुशी आपके आस-पास के लोगों पर निर्भर करने लगे तो ब्रेक लेने और अपने जीवन और जिस तरह से आप उसे जी रहे हैं के बारे में सोचने का समय है।

कुछ बदलने की जरूरत है।

यदि आप स्वयं को स्वीकार नहीं करते हैं, तो आप खुद से प्यार नहीं करते हैं

आप जैसे हैं, यदि वैसे ही स्वयं को स्वीकार नहीं कर पा रहे हैं, यदि आप दूसरे व्यक्ति बन गए हैं, तो हमें आपको यह बताना पड़ेगा कि आप खुद को ठीक से प्यार नहीं करते। आप जो भी हैं, उसे आपने दूसरों के हाथों में सौंपने की गलती की है। अब आप खो गए हैं।

आज हम कुछ संकेत की जानकारी शेयर करना चाहते हैं जो बताते हैं, आप अपने आपको पर्याप्त प्यार नहीं करते हैं। इससे आप अपने बूते खड़े हो सकेंगे और इस हालत को जारी रहने से रोक सकेंगे।

क्या आपको लगता है, आप उनमें से किसी के जैसे हैं? शायद एक से ज्यादा?

इसे भी पढ़ें: खुद को दिलचस्प लोगों से घेरे रखें, दिलचस्पी लेने वालों से नहीं

1. आप वास्तव में जो हैं, वह होने के लिए आज़ाद नहीं हैं

जैसा कि दूसरे लोग चाहते हैं, वैसा बनने में आप घिस जाते हैं। यह आपको आसान लग सकता है लेकिन सच्चाई यह है कि ऐसा व्यक्ति बनने की कोशिश करना जो वास्तव में आप नहीं हैं, से आप वास्तव में जो हैं वह रहना ज्यादा आसान होगा।

यदि अभी आप सोच रहे हैं कि क्या आप असल में जो हैं, अपनी सभी खामियों और गुणों के साथ, वह होने के लिए पूरी तरह से स्वतंत्र महसूस करते हैं तो आपको अपने व्यवहार को देखने की जरूरत है।

क्या आप अपना ज्यादा समय दूसरों से घिरे हुए रहकर बिताते हैं? क्या आप हर कीमत पर अकेले रहने से बचते हैं?

यदि ऐसा है, तो हो सकता है कि आप इस बात को अस्वीकार कर रहे हैं कि आप वास्तव में कौन हैं और इसके बारे में सोचने से बचने के लिए भीड़ का उपयोग कर रहे हैं।

दरअसल, हो सकता है कि आप जिन लोगों के साथ इतना समय बिताते हैं उनको आपने यह ताकत दे दी है कि वे आपको बदल सकें – और जब वे आस-पास नहीं होते हैं तो आपको बुरा लगता है।

अब इन सब चीजों से दूर होने और यह पता लगाने का समय है कि आप वास्तव में कौन हैं।

2. आप जो सोचते हैं उसे कहने में डरते हैं

क्या आपको कभी बातचीत करते समय संकोच हुआ है या यदि आपकी राय बाकियों से अलग है तो उसे व्यक्त करने में डर लगा है?

यदि ऐसा है, तो आप दूसरे लोगों जैसे अपने को मोल्ड कर रहे हो सकते हैं, भले ही इसका मतलब अपनी मान्यताओं को अस्वीकार करना और व्यक्त न करना हो।

यदि आप कभी बात नहीं करते हैं तो लोग आपको नहीं सुनेंगे।  वे आपको अनदेखा करेंगे और आपकी बात को गंभीरता से नहीं ले पाएंगे। भिन्न होने या अलग तरीके से सोचने से न डरें। आप में आत्म सम्मान की कमी हो सकती है जिसका आपको ख्याल रखना शुरू करना चाहिए।

आपके विचार उतने ही उचित है जितने किसी और के हैं। यहां तक ​​कि यदि आपको लगता है कि वे केवल बकवास हो सकते हैं, वे नहीं हैं! उन्हें बाहर लायें, जोर से बोलें और लोगों को अपनी उपस्थिति महसूस करायें। आपकी राय आप जितना सोचते हैं उससे ज्यादा मायने रखती है।

3. आप अपने बारे में आलोचनात्मक हैं

आप अपने बारे में इतने आलोचनात्मक हैं कि अनजाने में अपने विकास से दूर रहते हैं और अटक जाते हैं। किसी तरह से आप खुद को उन चीजों को न करने के लिए दंडित करते हैं जो आपको करनी चाहियें। आप यह नहीं समझते हैं कि गलतियां करने से आपको सीखने और आगे बढ़ने में मदद मिलती है।

अपनी आलोचना करना बंद करें – अब तक जो कुछ भी आपने हासिल किया है उसकी सराहना करें, चाहे कितना भी छोटा हो, और खुशी मनाएं भले ही आपको लगे कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है। यदि आप ऐसा करते हैं तो यह सबूत होगा कि आपने खुद से प्यार करना शुरू कर दिया है।

4. आपको अपनी देखभाल करे हुए बहुत लंबा समय हो गया है

हर किसी को अपनी त्वचा में सहज महसूस करने की जरूरत है। यदि आप नहीं हैं तो आप कुछ गलत कर रहे हैं। इसलिए अगर आपने अपनी देखभाल करना बंद कर दिया है, अच्छी तरह कपड़े पहनना, सेहतमंद तरीके से भोजन करना, और यह सब आपको बदतर महसूस करा रहा है, इसे बदलें!

आपको खुद से प्यार करना है, अपने लिए स्वस्थ रहें, अपने लिए अच्छी तरह से कपड़े पहनकर तैयार हों – किसी और के लिए नहीं। यदि आप नहीं करते हैं तो कोई और नहीं करेगा। इसलिए दूसरों के हाथों में इन जिम्मेदारियों को छोड़ना एक गंभीर गलती है।

जब आप खुद से प्यार करना शुरू करते हैं तो आप अपनी देखभाल करना शुरू करते हैं।

इसे भी पढ़ें: अपने तरीके से खुश रहें, न कि जैसा दूसरे लोग आपसे कहें

5. आप अपने को खुद मोटीवेट नहीं कर पाते हैं

जब योजना या सपने को पूरा करने की बात आती है तो प्रेरणा या मोटिवेशन के बिना आपकी सफलता का दर एकदम कम हो जाता है। यदि आप अपनी स्किल पर भरोसा नहीं करते हैं और रोज खुद को पॉजिटिव मोटिवेशन का शॉट नहीं देते हैं तो आप जो चाहते हैं वह आपको कभी भी नहीं मिलेगा।

आप एक या दो बार असफल हो जाएंगे और आपके आस-पास ऐसे लोग होंगे जो आपको सपोर्ट नहीं करेंगे लेकिन तब भी आपको अपने आप में विश्वास रखना होगा और जो कुछ भी आप पाना चाहते हैं उसे हासिल करने की कोशिश करनी होगी।

दूसरों को अपने को रोकने न दें। अपने सपनों की कदर करें।

6. आप अपने से सम्बंधित किसी भी चीज पर भरोसा नहीं करते हैं

विश्वास उतनी ही अहमियत रखता है जितना कि मोटिवेशन जिसके बारे में हमने पहले बात की थी। आत्मविश्वास के बिना, आप किसी भी काम में सफल नहीं होंगे। क्या आप कभी यह सोचने के लिए रुके हैं कि आप कौन सा काम करने के काबिल हैं? क्या आपने जो कुछ भी हासिल किया है, चाहे वह कितना भी छोटा हो, उसकी कदर की है?

यदि आप खुद से प्यार करते हैं तो आपको अपने आप पर भरोसा होगा और आप किसी को भी इसे कम नहीं करने देंगे। आप जो कुछ भी चाहते हैं उसे प्राप्त कर सकेंगे। आप अपनी गलतियों की सराहना करेंगे जो आपको सीखने की अनुमति देती हैं। अब यह इतना कठिन नहीं लगता है, है ना?

7. आप ईमानदारी से अपने आप को दूसरों को नहीं देते हैं

जीवन के विभिन्न हालातों के कारण आप अपने को दूसरों के प्रति खोलने और आप वास्तव में कौन हैं यह दिखाने में डर सकते हैं।

पूरी जागरूकता के साथ आपने अपनी रक्षा करने के लिए एक कवच बनाया है जो आपको कमजोर भी करता है। अगर आप अपने को दूसरों को नहीं देते हैं, अगर आप खुद को नहीं खोलते हैं, अगर आप प्यार नहीं करते हैं, तो आप कभी नहीं जानेंगे की सच में प्यार किये जाने का क्या मतलब है। आपको कभी भी किसी दूसरे व्यक्ति पर पूरी तरह से भरोसा कर पाने की भावना का अनुभव नहीं होगा।

यह आपको दुःख देगा और आपकी इस धारणा को मजबूत करेगा कि आप प्यार किये जाने लायक नहीं हैं।

लेकिन इस पॉइंट पर आपको बिलकुल अच्छी तरह से पता होना चाहिए कि आप किसी भी अन्य व्यक्ति के बराबर प्यार पाने के काबिल हैं।

दरअसल, एकमात्र प्यार जो अभी मायने रखता है वह वो . प्यार है जो आप अपने लिए महसूस करते हैं।

कभी-कभी आपके लिए अपने पर भरोसा करना मुश्किल हो सकता है, और शायद आप सोचते हैं कि आप प्यार पाने के लायक नहीं हैं और यही कारण है कि आप चोट पहुंचा रहे हैं।   यदि ऐसा होता है, तो पहचानें कि आप गलत हैं और आपको समाधान ढूंढने की जरुरत है।

यह आपका जीवन है जो यहां पर दांव पर है – आपकी अनुभूतियां, आपकी भावनायें और आपके सपने। अपने जीवन की कदर करना शुरू करें और आप उस व्यक्ति को सम्मान देना शुरू कर देंगे जो आप वास्तव में हैं। यह एक आसान रास्ता नहीं है लेकिन इस पर चलने की कोशिश करने लायक है।

अगर आप खुद से प्यार नहीं करते हैं तो सब कुछ बदलने का समय है।