खाली पेट अदरक का पानी पीने के 7 अद्भुत फायदे

11 मार्च, 2019
हालाँकि यह अपने एंटी इन्फ्लेमेटरी गुणों के लिए जाना जाता है, अदरक आपके पाचन की तंदरुस्ती के लिए भी बहुत अच्छा है। यह आपकी रोग प्रतिरोधी क्षमता को ताकतवर बनाता है। ज़रा आजमाकर देखिये!

अदरक की जड़ एक ऐसी प्राकृतिक सामग्री है जिसका उपयोग पारंपरिक भोजन और दवाओं में सदियों से होता रहा है।  दरअसल इसमें आवश्यक पोषक तत्वों और शक्तिशाली कम्पाउंड की भारी मात्रा होती है। कुछ संस्कृतियों में अक्सर पाककला में इसका उपयोग किया जाता रहा है, लेकिन विभिन्न नेचुरल नुस्खों में यह अनिवार्य सामग्री है। इन कारणों से अदरक का पानी बहुत ही हेल्दी नुस्खा है।

इसके अलावा, अदरक में एनाल्जेसिक (analgesic) और सूजनरोधी गुण (anti-inflammatory properties) होते हैं जो विभिन्न बीमारियों के इलाज में सहायक का काम कर सकते हैं।

वास्तव में एंटीऑक्सिडेंट की अपनी ऊँची मात्रा की बदौलत अदरक को अब कोशिकाओं की क्षति की भरपाई करने और टॉक्सिन यानी विषाक्त पदार्थों को साफ़ करने के लिए सबसे अच्छे सहयोगियों में से एक माना जाता है

अदरक के बारे में सबसे दिलचस्प बात यह है कि आप इसे अपने खाने में कई अलग-अलग तरीकों से शामिल कर सकते हैं। साथ ही, खाली पेट इसका सेवन करने से इसके गुण सबसे ज्यादा असरदार होते हैं।

इस आर्टिकल में हम आपको इसका सेवन करने के सात कारणों के बारे में बताएँगे। फिर, हम आपको हर दिन आजमाने के लिए एक आसान नुस्खा देंगे।

1. अदरक का पानी शरीर में खून का प्रवाह सुधारता है

अदरक का पानी शरीर में खून का प्रवाह सुधारता है

खाली पेट अदरक का पानी पीना एक अच्छी आदत है जो आपके ब्लड सर्कुलेशन में किसी किस्म की समस्या को सुधार सकती है।

इसके मौजूद मैग्नीशियम, जिंक और पोटेशियम सभी उन सूजन वाली प्रक्रियाओं को ठीक करने में मदद करते हैं जो अक्सर ब्लड सर्कुलेशन की समस्याएं पैदा करते हैं।

यह आपकी धमनियों में कोलेस्ट्रॉल को कम करता है, जिससे आपके ह्रदय की सेहत की सुरक्षा में मदद मिलती है।

इस लेख पर जाएँ: 9 संकेत जो आपने विषाक्त पदार्थों से भरे हैं

इसे भी आजमायें : माइग्रेन, पाचन समस्याएं और दर्द से निजात के लिए अदरक का पानी

2. यह स्वस्थ पाचन को बढ़ावा देता है

जो लोग रोज सुबह अदरक का पानी पीते हैं उन्हें अपच और कब्ज की समस्यायें बहुत कम होती हैं

क्योंकि अदरक में कम मात्रा में ही सही लेकिन फाइबर होते हैं। फाइबर शरीर से कचरे की सफ़ाई करके आँतों को स्वस्थ रहने में मदद करते हैं।

अदरक के प्राकृतिक गुण पेट के अतिरिक्त एसिड और आंतों की गैस पर रोक लगाते हैं

3. यह द्रव प्रतिधारण (fluid retention) को नियंत्रित करता है

अदरक का पानी : fluid retention

अदरक के पानी के मूत्रवर्धक (diuretic) और सूजनरोधी गुण इसे फ्लूइड रिटेंशन से लड़ने के लिए एक नेचुरल व हेल्दी विकल्प बनाते हैं।

इसे रोज पीने से यह आपके टिशू में पानी जमा होने की समस्या को खत्म कर सकता है। इससे थकान कम होती है और आपका एनर्जी लेवल बढ़ जाता है।

4. अदरक का पानी रोग प्रतिरोधक क्षमता को ताकत देता है

हर दिन अदरक के पानी का सेवन भरपूर पोषक तत्व पाने का एक आसान तरीका है जो आपके शरीर की इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाता है।

यह अच्छी आदत आपके डिफेन्स सिस्टम को तंदरुस्त रखेगी और सूक्ष्मजीवों और बैक्टीरिया का मुकाबला करने वाले एंटीबॉडी के उत्पादन को उत्तेजित करेगी

इसे खाली पेट पीने से इन्हें भी रोका जा सकता है:

  • मूत्र मार्ग में संक्रमण (Urinary tract infections)
  • खांसी और जुकाम
  • फ़्लू
  • योनि का संक्रमण
  • ऑटोइम्यून रोग

इसे भी आजमायें : जानिए, अदरक का इस्तेमाल करके का पेट की चर्बी कैसे घटायें

5. यह जोड़ों के दर्द से राहत दिलाता है

अदरक का प्रयोग सैकड़ों वर्षों से मांसपेशियों और जोड़ों के दर्द के लिए नेचुरल ट्रीटमेंट के रूप में किया जाता रहा है।

अदरक के मुख्य तत्वों में जिंजरोल होता है। इसका एंटी-इंफ्लेमेटरी और एनाल्जेसिक असर होता है जो दर्द से राहत देता है

6. यह ऐंठन को रोकने में मदद करता है

जो लोग मांसपेशियों में ऐंठन (cramping) से पीड़ित हैं, उन्हें अदरक के पानी के रूप में एक प्राकृतिक और सुरक्षित नुस्खा मिलेगा।

दरअसल इसमें बड़ी मात्रा में मिनरल होते हैं जो आपके शरीर में इलेक्ट्रोलाइट को संतुलित रखने में मदद करते हैं और इससे जुड़ी किसी गड़बड़ी को रोकते हैं।

क्या आपकी और अधिक जानने की इच्छा है?
देखें: मांसपेशियों में ऐंठन को कैसे रोकें

7. यह असमय बूढ़ें होने से रोकता है

अदरक का पानी : यह असमय बूढ़ें होने से रोकता है

एंटीऑक्सिडेंट, विटामिन और खनिजों की अपनी उच्च मात्रा की बदौलत अदरक का पानी आपके टिशू पर फ्री रेडिकल्स के नेगेटिव असर का मुकाबला करने के लिए बिलकुल सही ड्रिंक है।

ये पदार्थ किसी किस्म की सेलुलर क्षति को रोकते हैं और कैंसर, अल्जाइमर और अर्थराइटिस जैसी पुरानी बीमारियों को रोकते हैं

अदरक आपके शरीर को डिटॉक्स करने में मदद करता है। इसलिए यह आपकी त्वचा को स्वास्थ्य लाभ पहुंचाती है।

घर पर अदरक का पानी कैसे बनायें?

अदरक का पानी तैयार करना बहुत ही आसान है और इसके लिए किसी भी ऐसी सामग्री की ज़रूरत नहीं है जो महंगी हो या जिसे हासिल करना मुश्किल हो।

इन फायदों को उठाने के लिए आपको दिन में कुछ मिनट खर्च करने होंगे।

सामग्री

  • ग्रेटेड अदरक की जड़ : 1 बड़ा चम्मच (10 ग्राम)
  • 3 कप पानी (750 मिलीलीटर)
  • आधे नींबू का रस
  • ऑर्गनिक शहद : 1 बड़ा चम्मच (25 ग्राम)

तैयारी

  • सबसे पहले अदरक को तब तक पीसें जब तक कि आपको इसकी बड़े चम्मच भर की मात्रा न मिल जाए। फिर इसे तीन कप पानी के साथ एक बर्तन में डालें।
  • अब इसे एक उबलने दें और फिर मध्यम आँच पर 15 मिनट गर्म करने के बाद नींबू का रस डालें।
  • फिर आँच से उतारें और बड़े चम्मच से इसमें शहद मिलाकर परोसें।
  • इसका एक कप खाली पेट पियें और अगर ज़रूरत हो तो दिन में तीन बार इसे लें।

अब आप अदरक के कई फायदों को जान चुके हैं। यह आपके शरीर के लिए कितनी अच्छी है, यह जान लेने के बाद अगर आप स्वस्थ भी हैं तो इसका सेवन करें।

  • Cañigueral, S. (2016). Jengibre. OFFARM.
  • Acuña, O., & Torres, A. (2010). Aprovechamiento de las propiedades funcionales del jengibre (zingiber officinale) en la elaborací on de condimento en polvo, infusí on filtrante y aromatizante para quema directa. Revista Politècnica.
  • Siedentopp, U. (2008). El jengibre, una planta medicinal eficaz como medicamento, especia o infusión. Revista Internacional de Acupuntura. https://doi.org/10.1016/S1887-8369(08)72011-8