6 लक्षण जो बताते हैं, आप मौखिक दुर्व्यवहार के शिकार हैं

अगस्त 7, 2018
मौखिक दुर्व्यवहार के साथ आक्रामक भाषा या उच्च स्वर का होना जरूरी नहीं है। कोई हमें डराने के लिए सूक्ष्म तरीकों का उपयोग कर सकता है या हमें नीचा महसूस करा सकता है।

कहते हैं, ‘मधुर वचन है औषधि, कटु वचन है तीर। श्रवण द्वार होई संचरै, सालै सकल शरीर।’ जब हम “दुर्व्यवहार” शब्द सुनते हैं तो हमें अनायास ही शारीरिक आक्रामकता का ख्याल आता है। लेकिन मौखिक दुर्व्यवहार (Verbal Abuse) भी होता है जो नुकसान का कोई प्रत्यक्ष संकेत नहीं छोड़ता है पर शारीरिक हमले जितना ही नुकसानदेह है।

इसके संकेत दिखाई नहीं देते हैं। यह समझना मुश्किल होता है कि कोई इसका शिकार है या नहीं। यही कारण है, आपको निम्नलिखित लक्षणों के बारे में सतर्क रहना चाहिए।

1. आपको डर लगता है, कोई आपके ऊपर न चिल्लाये तो भी

हम गलती से सोच सकते हैं कि मौखिक दुर्व्यवहार चिल्लाने का पर्याय है, लेकिन हमेशा ऐसा नहीं होता है। हकीकत में मौखिक या मनोवैज्ञानिक दुर्व्यवहार करने वाला व्यक्ति ऐसा हेर-फेर करता है कि उसका शिकार अपने ऊपर संदेह करने लगता है।

यहाँ तक कि शोषण करने वाला व्यक्ति दया और प्यार भरे स्वर का उपयोग कर सकता है। इसलिए आपको याद रखना चाहिए, किसी का व्यवहार आक्रामक नहीं है, इसका मतलब यह नहीं है कि वह दुर्व्यवहार नहीं कर रहा है। खतरे भी मौजूद हो सकते हैं, चाहें वे स्पष्ट या छिपे हुए हों।

क्या आपको इस बात की चिंता होती है कि अगर आप कुछ नहीं करेंगे तो दूसरा व्यक्ति कैसा व्यवहार करेगा? क्या आप हर समय अपनी टिप्पणियों से डरते हैं? क्या आप हर शब्द और कार्य का ख्याल रखते हैं ताकि उन्हें परेशानी न हो?

2. वे आपकी तुलना करते हैं, या हर बात के लिए आपको दोषी ठहराते हैं

हम सभी अपने व्यक्तित्व का सम्मान करना चाहते हैं और हम जैसे हैं वैसा अपने को स्वीकार करते हैं। लेकिन मौखिक दुर्व्यवहार हमारी तुलना करके और दोषी ठहरा कर अक्सर हमारे आत्मविश्वास को कम करता है।

किसी को भी यह अच्छा नहीं लगता है कि उसे तिरस्कार, उपहास या क्रूरता भरे स्वर में बताया जाये कि दूसरा व्यक्ति ज्यादा समझदार और सुंदर है या चीजों को बेहतर बनाता है। रोज इस तरह की बातें सुनने से हमारे आत्म-सम्मान को ठेस पहुंचती है।

  • आप जैसे ही इस समस्या को देखें, उस स्थिति को छोड़ दें जिसमें आपको इस तरह जीना पड़ता है।
  • याद रखें, किसी को भी किसी भी परिस्थिति में आपको नीचा दिखाने का अधिकार नहीं है।
  • तुलना करने से दोषी होने की भावना उत्पन्न होती है, और दुर्व्यवहार करने वालों के लिए यह सामान्य बात है। वे आपको बिलकुल छोटी बातों के लिए भी दोषी महसूस करायेंगे।

इसे भी पढ़ें:  भावनात्मक शोषण के 5 परिणाम जिनकी ओर आपको ध्यान देना चाहिये

3. आप हर समय डरते हैं

आप देख सकते हैं, आपके साथ मौखिक दुर्व्यवहार किया जा रहा है। जब आप उस व्यक्ति के करीब होते हैं तो आपको डर लगता है।

यह संकेत बहुत सूक्ष्म हो सकता है, जो मजाक और अपमानजनक टिप्पणियों से लेकर आपके आत्म-सम्मान को नुकसान पहुंचाने वाली अनुचित भाषा तक किसी भी रूप में हो सकता है।

यह कहने की ज़रूरत नहीं, कि इस तरह का डर अधिक चिंताजनक स्तर तक पहुंच सकता है। आप कुछ ऐसा करने के लिए मजबूर हो सकते हैं जो आप नहीं चाहते हैं या जिसे आप अपमानजनक मानते हैं।

4. आपको लगता है, वे हमेशा आप पर आरोप लगाते हैं या आपसे पूछताछ करते हैं

हिंसक व्यक्ति की सुरक्षा और आत्मविश्वास की कमी से उत्पन्न प्रत्यक्ष हमले मौखिक दुर्व्यवहार का एक और संकेत हैं। आम तौर पर, यह विश्वास की कमी कम आत्म-सम्मान से जुड़ी होती है, जिसकी वजह से वे आपके हर कार्य और चाल-चलन पर सवाल उठाते हैं।

  • यह संभव है, प्रश्न करने और आरोप लगाने का काम धीरे-धीरे हो, इसलिए आपको यह पता लगाने के लिए सतर्क रहना चाहिए कि कब ऐसी स्थिति उत्पन्न हो रही है।
  • एक आम गलती है कि लोग अपने डर को शांत करने के लिए स्पष्टीकरण देना शुरू करते हैं। समस्या यह है कि समय के साथ स्थिति और खराब हो जाती है।

इसे भी पढ़ें: भावनात्मक शोषण के 5 रूप जिन्हें हम समय रहते नहीं पहचान पाते

5. आपके मूड में नेगेटिव परिवर्तन होते हैं

मनुष्यों के रूप में, हमारे चारों ओर जो कुछ भी होता है उसका प्रभाव हमारे ऊपर पड़ता है। इसलिए यदि हम ध्यान दें तो किसी प्रकार के मौखिक दुर्व्यवहार का शिकार होने पर उसके फलस्वरूप होने वाले कई अनुक्रमों को हम पहचान सकते हैं।

  • जब आप अन्य लोगों के नजदीक हों तो अपनी मनोदशा से अवगत रहें – क्या आप उन लोगों को अलग कर सकते हैं जो आपको खुश महसूस कराते हैं? और जो आपको थका देते हैं?

यदि आप यह पहचान लेते हैं कि कोई ऐसा व्यक्ति है जो निरंतर केवल एक असुविधा की भावना पैदा करता है, चाहे वह उदासी या बेचैनी, आपको समझ जाना चाहिए कि अब उससे दूर रहने का समय है।

  • कभी-कभी यह पहचानना मुश्किल होता है कि किसी के पास आपको प्रभावित करने की क्षमता है, लेकिन इस बात को स्वीकार करना और उनसे अलग रहना बेहतर है।
  • इस बात पर ध्यान देना बहुत महत्वपूर्ण है कि आप अपनी उम्मीदों से परे क्या महसूस कर रहे हैं क्योंकि आम तौर पर उनका दुर्व्यवहार बहुत सूक्ष्म होता है।

यदि यह आपका साथी है या जिसे आप पसंद करते हैं, तो आपको निष्पक्ष रूप से सोचने की कोशिश करनी चाहिए ताकि आप पता कर सकें कि हानि का क्या कारण है। इस आधार पर आप तय करें कि आप अपनी स्थिति का समाधान करने के लिए क्या कदम उठाएंगे।

6. आप किसी अन्य व्यक्ति के साथ दुर्व्यवहार कर रहे हैं

मनुष्य दूसरों के व्यवहार को देखकर सीखते हैं। दुर्व्यवहार के मामले में, दुर्भाग्य से, पीड़ितों में से कई पीड़ित करने वाले बन जाते हैं।

उदाहरण के लिए, एक बच्चा जो एक ऐसे माहौल में बड़ा हुआ है जहां उसके माता-पिता अपनी भावनाओं को नियंत्रित नहीं करते थे एक मौखिक रूप से आक्रामक वयस्क बनेगा क्योंकि उसने यह नहीं सीखा है कि अपनी भावनाओं को कैसे नियंत्रित किया जाता है।

बेशक इन चक्रों को ठीक करने और तोड़ने के तरीके हैं। इस मामले में हम आपको यह सलाह देंगे कि आप किसी विशेषज्ञ से मुलाकात करें, आप जिस दुर्व्यवहार का सामना करते हैं, वह उससे निपटने में मदद करेगा और स्वस्थ संबंध स्थापित करने के लिए आपको दिशानिर्देश देगा।

मौखिक दुर्व्यवहार के खिलाफ अधिनियम

यह पहचानना और स्वीकार करना कि आप मौखिक दुर्व्यवहार के शिकार हैं कोई आसान काम नहीं है। बस इतना याद रखें कि आपका कल्याण इस पर निर्भर करता है कि आप जिस स्थिति में रहते हैं उसको कितना ध्यान देते हैं।

यह सोचने से पहले कि आपके आसपास के लोगों की क्या प्रतिक्रिया होगी या किसी अन्य कारक के बारे में विचार करने के पूर्व, याद रखें कि आपको सबसे पहले अपने बारे में सोचना चाहिए।

  • Evans P. Abuso verbal. La Violencia Negada.  Ediciones B Argentina S.A. (2000)