किडनी के दर्द से राहत दिलाने वाले 6 ड्रिंक

मई 18, 2020
किडनी के दर्द का इलाज करने के लिए, आपको अपने डॉक्टर के निर्देशों का पालन करना चाहिए। साथ ही शरीर में पानी की पर्याप्त मात्रा बनाए रखना महत्वपूर्ण है। यह मूत्र विसर्जन (diuresis) को बढ़ावा देने में मदद करता है, जो शरीर में जमा अतिरिक्त तरल सेनिजात पाने के लिए ज़रूरी है।

इलेक्ट्रोलाइट्स को संतुलित करने से लेकर ब्लड प्रेशर ठीक रखने तक, शरीर में अंदरूनी साफ-सफ़ाई से जुड़े विविभिन्न तरह के डिटॉक्स  एक्शन को नियंत्रित करने वाला अहम अंग किडनी ही है। यूरिनरी ट्रैक्ट के संक्रमण जैसे कई कारणों से आपको किडनी के दर्द की शिकायत हो सकती है।

अन्य संभावित कारणों में शामिल हैं:

  • चोट।
  • किडनी स्टोन।
  • गुर्दे की नसों में खून के थक्के।
  • अनियमित प्रोस्टेट वृद्धि।
  • मूत्र का सीमित फ्लो।

वजह जो भी हो, आप पाएंगे कि किडनी का दर्द बेहद असुविधाजनक है और यह प्रतिबंधक भी हो सकता है। जितनी जल्दी आप अपने डॉक्टर से इसका टेस्ट और डायग्नोसिस कराएं, उतना ही बेहतर है।

याद रखें, यदि दर्द बना रहे और समय के साथ हालत बिगड़ जाए तो यह एक अंदरूनी समस्या का लक्षण हो सकता है जिसके इलाज की ज़रूरत होगी।

सिर्फ कोई डॉक्टर ही हर मामले के लिए इलाज का सबसे अच्छा कारण तय कर सकता है, जो इसके भीतरी कारण पर निर्भर करता है। हर मामले में इलाज के लिए किसी एक ही तरीके का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है।

किडनी के दर्द से राहत दिलाने में मददगार ड्रिंक

पॉपुलर अवधारणा के अनुसार, किडनी के दर्द से राहत पाने के लिए इन उपायों का उपयोग किया जा सकता है।

1. पानी


हर दिन पर्याप्त पानी पीना आपके शरीर के सही ढंग से काम करने के लिए आवश्यक है। हालाँकि ज्यादातर लोग इसकी आवश्यक मात्रा से बहुत कम पानी पीते हैं।

यदि आप किडनी की समस्याओं से पीड़ित हैं, तो पर्याप्त पानी पीना और भी महत्वपूर्ण हो जाता है, न सिर्फ शरीर को हाइड्रेटेड रखने के लिए, बल्कि किसी भी अपशिष्ट को मूत्र के रास्ते बाहर निकालने में मदद करने के लिए भी जो तमाम समस्यायें पैदा कर सकती हैं।

  • टिप्स : अगर आप जानना चाहते हैं कि आपके शरीर में हाइड्रेशन लेवल सही है या नहीं तो अपने मूत्र पर एक नज़र डालें। अगर या साफ़ और लगभग गंधहीन है, तो इसका मतलब है कि आप अच्छी तरह से हाइड्रेटेड हैं।
  • अगर आप इतना पानी नहीं पी पा रहे हैं, तो इसके बजाय दूसरे  नेचुरल ड्रिंक भी पी सकते हैं, जैसे कि फलों का रस या वेजिटेबल स्मूदी। हालांकि, पानी हमेशा सबसे अच्छा विकल्प होता है।
  • हम ऐसे ड्रिंक से बचने की सलाह देंगे जिनमें कैफीन या दूसरे उत्तेजक पदार्थ होते हैं, क्योंकि वे असुविधा को बढ़ा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें ; जानिये किडनी क्यों तकलीफ देती है?

2. हर्बल अर्क (Herbal infusions)


अपने डॉक्टर से सलाह मशविरा कर लेने और किडनी के दर्द का कारण निर्धारित कर लेने के बाद आप अपने डॉक्टर से किसी भी हर्बल अर्क के बारे में पूछ सकते हैं जोप आपके लिए ठीक हो। इसे चुनने के लिए कई विकल्प हैं, लेकिन ये सभी हर मामले में फायदेमंद नहीं होंगे। उन्हें आज़माने से पहले अपने डॉक्टर से बात करना सबसे अच्छा रहेगा।

3. किडनी के दर्द से राहत दिलाती है सेलरी का जूस

खीरे की तरह सेलरी का जूस पानी से भरा ड्रिंक  है, और स्मूदी बनाने के लिए बहुत अच्छा है। ऐसी स्मूदी पीने से आप सिर्फ हाइड्रेट नहीं रहेंगे, यह पेशाब की मात्रा भी बढ़ाएगा और वाटर रिटेंशन से निपटने के लिए उपयोगी हो सकता है।

4. अनार का रस (Pomegranate juice)


अक्सर दावा किया जाता है कि एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर ड्रिंक गुर्दे की समस्याओं और संक्रमण के इलाज में असरदार हो सकते हैं, पर ब्लूबेरी या अनार का जूस पीने से ऐसे फायदे हो सकते हैं, इसके पक्ष में कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है। हालांकि, बैलेंस डाइट के सप्लीमेंट के रूप में इनकी सिफारिश ज़रूर की जाती है, और यह हाइड्रेटेड रहने का एक वैकल्पिक तरीका भी है।

इसे भी पढ़ें : किडनी की समस्याओं के 8 अहम लक्षण

5. तरबूज

स्पेनिश न्यूट्रीशन फाउंडेशन द्वारा प्रकाशित जानकारी के अनुसार सबसे अधिक पानी की मात्रा वाले फलों में तरबूज एक है और इसमें पोटैशियम और विटामिन A भी होता है।

6. अनानास जूस (Pineapple juice)

अनानास पानी से समृद्ध एक और फल है, और यह पेशाब बढाता है, पानी के जमाव से निपटने और बदले में किडनी के दर्द को कम करने में मदद कर सकता है।

तरबूज और अनार की तरह, अनानास का रस अच्छा हाइड्रेशन बनाए रखने और पेशाब को उत्तेजित करने में मदद कर सकता है। हालांकि, इन सभी फलों का सेवन एक स्वस्थ जीवन शैली के हिस्से के रूप में किया जाना चाहिए, और कभी भी एक चिकित्सा स्थिति के लिए एक उपाय या “इलाज” के रूप में नहीं किया जाना चाहिए।

महत्वपूर्ण नोट :

यदि आप बार-बार गुर्दे के दर्द से पीड़ित हैं, तो आपको अपने डॉक्टर के साथ अपॉइंटमेंट बुक करना होगा। इस बीच, स्व-दवा और प्राकृतिक उपचार का सहारा लेने से बचें, क्योंकि वे वास्तव में उल्टा हो सकते हैं। तब तक प्रतीक्षा करें जब तक आप अपने डॉक्टर को नहीं देख लेते हैं, जो आपके मामले के लिए उपचार के सबसे उपयुक्त पाठ्यक्रम पर निर्णय लेने में सक्षम होंगे।

  • Bajwa, Z. H., Gupta, S., Warfield, C. A., & Steinman, T. I. (2001). Pain management in polycystic kidney disease. Kidney International. https://doi.org/10.1046/j.1523-1755.2001.00985.x
  • Moraru, D., Bleoanca, I., & Segal, R. (2007). Probiotic vegetable juices. The Annals of the University Dunarea …
  • Perkins, Penelope & Collins, Julie & Clevidence, Beverly & Wu, Guoyao. (2007). Watermelons and Health. Acta Horticulturae. 731. 10.17660/ActaHortic.2007.731.17.
  • Yapo, B. M. (2009). Lemon juice improves the extractability and quality characteristics of pectin from yellow passion fruit by-product as compared with commercial citric acid extractant. Bioresource Technology. https://doi.org/10.1016/j.biortech.2009.01.039