5 नेचुरल तरीके वेरीकोस वेंस का मुकाबला करने के लिए

सितम्बर 23, 2018
इन ट्रीटमेन्ट को नियमित और सिलसिलेवार रूप से करने के अलावा यह भी जरूरी है कि आप एक्सरसाइज करें, संतुलित आहार का सेवन करें और बहुत सारा पानी पियें ताकि आप अपने शरीर से जहरीले पदार्थों को बाहर कर सकें और वेरीकोस वेंस का मुकाबला कर सकें।

क्रॉनिक वीनस इनसफ़िसियेंसी जिसे वेरीकोस वेंस के रूप में भी जाना जाता है, एक ऐसी स्थिति है जो सुपरफिसियल वेम्स की कमजोर दीवारों और वाल्व में रक्त की असामान्य मात्रा के जमा होने पर होती है।

इसकी वजह से नसें फैल जाती हैं जिससे रक्त को आपके निचले शरीर से हृदय तक लौटने में मुश्किल होती है।

यह एक ब्लड सर्कुलेशन की समस्या है। देखने में बदसूरत होने के अलावा यह कुछ खतरनाक स्वास्थ्य समस्याओं से भी जुड़ी हो सकती है।

सौभाग्य से, इससे पहले कि यह समस्या कुछ और गंभीर हो जाये वेरीकोस वेंस का नियमित रूप से ट्रीटमेंट करके उनका मुकाबला करने के लिए बहुत सारे नेचुरल तरीके हैं।

आज की पोस्ट में हम आपके साथ पांच सबसे अच्छे समाधान शेयर करना चाहते हैं जिनको आप इसी समय इस्तेमाल कर सकते हैं।

क्या आप इन्हें आजमाने के लिए तैयार हैं?

1. वेरीकोस वेंस का मुकाबला करने के लिए घर में बनी सिरके और गाजर की क्रीम

सेब का सिरका और गाजर को मिलाकर एक सूजन को रोकने वाली क्रीम बनती है जो वेरीकोस वेंस से लड़ने में मदद करेगी और आपके सर्कुलेशन को प्रोत्साहित करेगी।

सामग्री

  • 1 मध्यम नाप की गाजर
  • 1/4 कप सेब का सिरका (62 मिलीलीटर)
  • 5 बड़े चम्मच पानी (50 मिलीलीटर)

इसे भी पढ़ें: एलोवेरा से वेरीकोस वेंस का इलाज करें

इसे कैसे बनायें?

  • गाजर को टुकड़ों में काटें और सेब के सिरके और पानी के साथ ब्लेंड करें।
  • जब एक गाढ़ा पेस्ट बन जाये तो उसे फ्रिज में दो घंटे के लिए रखें।
  • उसके बाद, इसे प्रभावित क्षेत्रों पर लगायें और 40 मिनट तक छोड़ दें।
  • बेहतरीन नतीजा पाने के लिए इसे रोज लगायें।

2. चिकनी मिट्टी और प्याज का ट्रीटमेंट

यह लोकल ट्रीटमेंट फैली हुई नसों के आकार को कम करके और रक्त प्रवाह को बहाल करके वेरीकोस वेंस से निपटेगा। इसे इस्तेमाल करने से पैरों में जो भारीपन महसूस होता है वह भी कम हो जायेगा और इस स्थिति से जुड़े हुए दर्द से राहत मिलेगी।

सामग्री

  • 2 बड़े चम्मच औषधीय उपयोग वाली चिकनी मिट्टी (20 ग्राम)
  • 1 प्याज का रस
  • 1/2 नींबू का रस

इसे कैसे बनायें?

  • कच्चे प्याज का रस निकालें और उसे चिकनी मिट्टी के साथ मिलाकर एक पेस्ट बनायें।
  • इसे वेरीकोस वेंस पर मलें और पूरी रात छोड़ दें।
  • अगले दिन अपनी त्वचा को नींबू के रस से नम करें और हल्के से ऊपर-नीचे करके मालिश करें।
  • धोएं और इस ट्रीटमेंट को सप्ताह में तीन बार दोहराएं।

3. लहसुन का मलहम

लहसुन में मौजूद सल्फर यौगिक सूजन को रोकने वाले जोरदार एजेंट हैं जो वेरीकोस वेंस से लड़ने में मदद करते हैं।

लहसुन पैरों में सर्कुलेशन को भी सुधारता है और आपकी नसों को सख्त होने से रोकने के लिए जहरीले पदार्थों को हटाने की प्रक्रिया को प्रोत्साहित करता है।

सामग्री

  • 4 कच्चे लहसुन की कलियाँ
  • 1/4 कप रब्बिंग ऐलकोहल (62 मिलीलीटर)
  • 1/4 कप जैतून का तेल (Olive Oil) (83 ग्राम)

इसे कैसे बनायें?

  • चार लहसुन की कलियों को रब्बिंग ऐलकोहल के साथ मिलाकर प्यूरी बनायें और एक ग्लास जार में स्टोर करें।
  • जैतून का तेल डालें और इस मिश्रण को 10 दिनों तक यूंही रहने दें।
  • इसके बाद, प्रभावित क्षेत्रों पर जितना जरूरत हो उतना मिश्रण लगाकर मालिश करें।
  • इसे धोने से पहले 40 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • इसे रोज शाम को इस्तेमाल करें।

इसे भी आजमायें: वेरीकोस वेंस का इलाज करने का लाजवाब तरीका: एलोवेरा, गाजर और एप्पल साइडर विनेगर

4. रोज़मेरी और एल्डरफ्लावर का कॉम्प्रेस

रोजमेरी, एल्डरफ्लावर और शहद से बने हुए सेक या कॉम्प्रेस  को लगाने से दर्द को कम करने और सर्कुलेशन को सुधारने में मदद मिलती है।

इसे निरंतर इस्तेमाल करने से वेरीकोस और स्पाइडर नसें काफी हद तक कम हो सकती हैं जिससे पैरों के रूप में सुधार हो सकता है।

सामग्री

  • 2 बड़े चम्मच रोजमेरी (20 ग्राम)
  • 2 बड़े चम्मच एल्डरफ्लावर (20 ग्राम)
  • 4 बड़े चम्मच शहद (100 ग्राम)
  • 1 कप पानी (250 मिलीलीटर)

इसे कैसे बनायें?

  • पानी को गर्म करें जब वह उबलने लगे तो उसमें दौनी, एल्डरफ्लावर और शहद डालें।
  • कुछ मिनटों के लिए धीमी आंच पर पकने दें फिर आंच पर से हटायें।
  • इस मिश्रण को आरामदायक तापमान तक ठंडा हो जाने दें और प्रभावित क्षेत्रों को सेकने के लिए एक कॉम्प्रेस के रूप में लगायें।
  • 20 मिनट के बाद कॉम्प्रेस को हटायें और अपने पैरों को आराम करने दें करें।
  • सप्ताह में दो या तीन बार इस ट्रीटमेंट को इस्तेमाल करें।

5. कॉफी और कोको मक्खन की क्रीम

आपकी सुबह की कॉफी की बची हुई तलछट वेरीकोस वेंस और आपकी सर्कुलेशन की दूसरी समस्याओं से लड़ने के लिए एक शानदार चीज है।

त्वचा पर कॉफी की तलछट को लगाने से त्वचा की मृत कोशिकाओं को हटाने, त्वचा को नरम करने, और वेरीकोस वेंस से लड़ने में मदद मिलती है।

सामग्री

  • 5 बड़े चम्मच इस्तेमाल करी हुई कॉफी की तलछट (50 ग्राम)
  • 5 बड़े चम्मच कोको मक्खन (75 ग्राम)

आप इसे कैसे बनायें?

  • गर्म पानी में कोको मक्खन को नरम करें और उसमें कॉफी की तलछट मिलायें।
  • हल्के से ऊपर की ओर मलते हुए इस क्रीम को प्रभावित क्षेत्रों पर लगायें।
  • ठंडे पानी से अतिरिक्त मात्रा को हटायें और हर रात इस प्रक्रिया को दोहराएं।

याद रखें!

इन वेरीकोस वेंस के उपचारों को नियमित रूप से इस्तेमाल करने के अलावा आपको अन्य स्वस्थ आदतों को बनाए रखने की जरुरत है जो आपके सर्कुलेशन में सुधार लायेंगी।

बहुत सारा पानी पीना, संतुलित आहार लेना, और व्यायाम करना इस स्थिति से निपटने की तीन कुंजियां हैं।

इसके अलावा, सेहतमंद वजन बनाए रखना और अपने शरीर के निचले हिस्सों पर बहुत ज्यादा दबाव डालने से बचना जरुरी है।

  • Shingler S, Robertson L, Boghossian S, Stewart M., “Compression stockings for the initial treatment of varicose veins in patients without venous ulceration”, Cochrane Database of Systematic Reviews 2013, Issue 12.
  • Heinrich U et al. “Long-term ingestion of high flavanol cocoa provides photoprotection against UV-induced erythema and improves skin condition in women”, J Nutr. 2006 Jun;136(6):1565-9.
  • Peng CH et al. “Supercritical fluid extracts of rosemary leaves exhibit potent anti-inflammation and anti-tumor effects”, Biosci Biotechnol Biochem. 2007 Sep;71(9):2223-32. Epub 2007 Sep 7.
  • Marjan Mahdavi-Roshan et al. “Effects of garlic on brachial endothelial function and capacity of plasma to mediate cholesterol efflux in patients with coronary artery disease”, Anatol J Cardiol. 2017 Aug; 18(2): 116–121.