क्या आप जानते हैं, सेब खाकर आप अपनी सेहत को देते हैं ये अद्भुत वरदान

03 फ़रवरी, 2019
सेब आपका पेट भरता है, भूख को नयमित करता है और पाचन में सुधार लाता है। लेकिन ये महज इसके कुछ फायदे हैं। सेब खाकर आप अपनी सेहत को जो अनगिनत वरदान देते हैं, उन्हें जानने के लिए इसे पढ़ें।

सेब दुनिया में सबसे व्यापक स्तर पर खाए जाने वालों फलों में से एक है। लोग केवल इसलिए सब नहीं खाते कि यह साल भर हर मौसम में उपलब्ध रहता है, बल्कि वे जानते हैं कि यह तरह-तरह के पोषक तत्वों से भरपूर होता है।

सेब खाने से आपको एंटीऑक्सिडेंट और प्रचुर मात्रा में प्राकृतिक फाइबर प्राप्त होते हैं। ये दोनों तत्व पाचन क्रिया को दुरुस्त रखते हुए शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में सहयोग देते हैं।

सबसे अधिक ध्यान देनेवाली बात यह है कि सेब का सेवन वास्तव में आपके शरीर के अतिरिक्त वजन को कम करने में मदद करता है, क्योंकि गरिष्ठ होने के कारण यह बार-बार की भूख को कम करता है। अब भी बहुत से लोग हैं, जो नहीं जानते कि सेब कितना गुणकारी फल है। हम आपको विस्तार से इसके बारे में बताना चाहेंगे।

क्या आप और अधिक जानना चाहते हैं?

1. सेब कार्डियोवैस्कुलर स्वास्थ्य में सुधार लाता है

सेब कार्डियोवैस्कुलर स्वास्थ्य में सुधार लाता है

सेब का मात्र एक बार का सेवन पर्याप्त मात्रा में फाइटोकेमिकल्स (पादप रसायन) प्रदान करता है। यह प्राकृतिक तत्व है जिसमें एंटीऑक्सिडेंट प्रभाव होने के कारण आपके शरीर में होने वाली टूट-फूट और बाहरी धूलकणों से रक्षा करता है

यह आपकी कोशिकाओं को स्वस्थ रखता है, हृदय रोग और कैंसर के खतरे को कम कर देता है।

इसमें घुलनशील फाइबर भी पाया जाता है, जो आपके रक्त में हानिकारक कोलेस्ट्रॉल (LDL) के स्तर को घटाता है। यह आपकी धमनियों में पट्टिका को बनने से रोकता है।

इस लेख को भी देखें : स्वस्थ लिवर के लिये नाश्ते के समय अपनायें 7 लाजवाब उपाय

2. इसमें मूत्रवर्धक प्रभाव है

इस फल में उच्च मात्रा में पोटैशियम होता है। पोटैशियम एक आवश्यक खनिज है, जिसका आपके शरीर पर मूत्रवर्द्धक प्रभाव (diuretic effect) पड़ता है।

इसका मतलब यह है कि जब आप सेब खाने की आदत डाल लेते हैं, आप शरीर को अंदर जमे तरल पदार्थ और मवाद को बाहर निकाल देने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।

सूजन की बीमारी या उच्च रक्तचाप के शिकार लोगों को सेब खाने की सलाह दी जाती है।

3. सेब आपके दांतों को स्वस्थ रखने में सहायक है

सेब आपके दांतों को स्वस्थ रखने में सहायक है

इस फल का नियमित सेवन आपके दांतो की सुरक्षा के लिए बहुत उपकारी सिद्ध होता है।

इस फल को चबा कर खाने से जो लार उत्पन्न होता है, वह बैक्टीरिया को पनपने से रोकता है जिससे दांत पीले नहीं पड़ते। सेब दांतों के स्वास्थ्य का बेहतर विकल्प है। जब आपके हाथ में टूथब्रश न हो तो सेब को चबाकर खाना भी मंजन करने के समान ही है।

4. यह अल्ज़ाइमर रोग के खतरे को कम करता है

सेब में एंटीऑक्सिडेंट की उच्च मात्रा होने के कारण यह याददाश्त से संबंधित अल्ज़ाइमर (भूलने की बीमारी) जैसे किसी भी रोग के खतरे को कम कर देता है

इसके अलावा, इसमें आपकी कोशिका को नुकसान करने वाले मुक्त कणों को रोकने की क्षमता होने के कारण असामयिक दिमागी विपन्नता से रक्षा करता है।

5. सेब आपको संतुलित वजन प्रदान करता है

सेब आपको संतुलित वजन प्रदान करता है

जो लोग इस फल को अपने डाइट में शामिल करते हैं उन्हें अपना वजन संतुलित रखने में सुविधा होती है।

हालांकि यह केवल चमत्कारिक ‘फैट बर्निंग’ खाद्य ही नहीं है, पोषण विशेषज्ञ सेब को वजन घटाने में मददगार फल के रूप में देखते हैं।

इसके नियमित सेवन से अतिरिक्त भूख कम होती है जिसके परिणामस्वरूप प्रतिदिन कैलोरी ग्रहण की मात्रा को नियंत्रित किया जा सकता है।

इसके अलावा, सेब आपके मलाशय में उपयोगी बैक्टीरिया का पोषण कर शीघ्र चयापचय को बढ़ाता है।

6. सेब लिवर से विषाक्त पदार्थों को दूर करता है

लिवर की समस्याएं अपुष्टिकर खान-पान की आदतों और पर्यावरण प्रदूषण से जुड़ी हुई हैं।

यद्यपि हमारा अंग स्वयं अपनी गंदगी साफ (detoxing) कर लेने में सक्षम है। मगर जब यह विषाक्त पदार्थों से भर जाता है, तो इसे अपना काम करने में कठिनाई होती है।

सौभाग्य से, एक गिलास सेब का रस आपके लिवर के विष त्याग की क्रिया पर दबाव डालता है ताकि वह अपना काम आसानी से कर सके।

7. यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करता है

सेब रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करता है

सेब में मौजूद विटामिन और आवश्यक खनिज आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता के सर्वोत्तम साथी हैं।

अर्थात प्रतिदिन सेब का सेवन कई बीमारियों के खतरे को कम कर सकता है। जैसे —

  • सांस की बीमारी
  • संक्रमण
  • वायरस का फैलाव, बैक्टीरिया और फंगस से संबंधित अन्य गड़बड़ियां।

8. यह त्वचा को स्वस्थ और जवां रखता है

सभी प्रकार के सेब में एंटीऑक्सिडेंट, विटामिन और खनिज होने के कारण ये आपकी त्वचा में निखार लाते हैं।

दोनों ही प्रकार से इसका प्रयोग चाहे मास्क के रूप में या खाने के, कोशिकीय ऑक्सीकरण नुकसान को कम करने में सहायक है। यह नुकसान ही असामयिक उम्र बढ़ने का कारक है।

खनिज रक्त के ऑक्सीकरण को सुधारता है, जो कि सफाई और कायाकल्प प्रक्रिया की कुंजी है।

हम पढ़ने की सिफारिश करेंगे : इस होममेड एंटी एजिंग क्रीम से झुर्रियों का मुकाबला करें

9. सेब का सेवन पाचन क्रिया को दुरुस्त करता है

सेब का सेवन पाचन क्रिया को दुरुस्त करता है

सेब और सेब के छिलके में पेक्टिन (pectin) नाम का एक फाइबर होता है, जो पाचन क्रिया को प्रोत्साहित करता है।

यह आंतों के म्यूकस को पुष्टि देता है और पेट के पीएच असंतुलन को नियंत्रित करने में मददगार है। अन्ततः यह विभिन्न प्रकार के रोगों के पनपने के खतरे को दूर करता है।

इसके अलावा, यह कई प्रकार के कैंसर के खतरे और पुरानी कब्जियत की समस्यायों को भी कम कर सकता है।

आपने अभी-अभी सीखा कि इस फल के नियमित सेवन शुरू कर देने के कई कारण है।

इसे अपने आहार का हिस्सा बनाएं और सुखद परिणाम स्वयं देखें!

  • Chen Y., Xu C., Huang R., Song J., et al., Butyrate from pectin fermentation inhibits intestinal cholesterol absortion and attenuates ahterosclerosis in apolipoprotein E deficient mice. J Nutr Biochem, 2018. 56: 175-182.
  • Tonnies E., Trushina E., Oxidative stress, synaptic dysfunction and alzheimer’s disease. J Alzheimers Dis, 2017. 57 (4): 1105-1121.
  • Bianchi F., Larsen N., Tieghi TM., Adorno MA., et al., Modulation of gut microbiota from obese individuals by in vitro fermentation of citrus pectin in combination with bifidobacterium longum BB 46. Appl Microbiol Biotechnol, 2018. 102 (20): 8827-8840.