12 वरदान सेहत के पाइए, रोज सुबह नाश्ते में ओट्स खाइए

28 जनवरी, 2019
ओट्स स्वादिष्ट, सेहतमंद, पौष्टिक और बहुमुखी हैं। कोलेस्ट्रॉल घटाने से लेकर पाचन को सुधारने तक 12 कारण जान लीजिये, जिनकी वजह से रोज सुबह नाश्ते में ओट्स खा सकते हैं।

पौष्टिक तत्वों से भरपूर जायकेदार स्वस्थ बहुमुखी ओट्स (जई) आपके नाश्ते में ज़रूर होना चाहिए। ताजे जूस, दही या दूध के अलावा नाश्ते में ओट्स खाना आप कभी नहीं भूलेंगे अगर हम आपको इसके फायदों की पूरी लिस्ट बता दें। क्या जानना चाहेंगे? पढ़ते रहिए, हम आपको रोज सुबह ओट्स खाने के 12 जोरदार कारण बताने जा रहे हैं!

रोज सुबह नाश्ते में ओट्स खाने के कारण

नाश्ते में ओट्स खाना आपके शरीर को कई विटामिन और भागदौड़ भरे दिन का सामना करने की ताकत देता है। साथ ही यह आपकी भूख मिटाता है।

अपनी सेहत के लिए इसके तमाम फायदे जान लेने पर आपको जबरदस्त मोटिवेशन मिलेगा। तो देर किस बात की? आइये देखते हैं!

1. ओट्स कोलेस्ट्रॉल कम करते हैं

नाश्ते में ओट्स कोलेस्ट्रॉल कम करते हैं

यह समझना मुश्किल नहीं है कि इतनी बड़ी आबादी को कोलेस्ट्रॉल की समस्या क्यों है। इस समस्या का कोई स्पष्ट लक्षण नहीं है। इसका कारण अक्सर हम जो रोज फैट खाते हैं उसकी मात्रा होती है।

ओट्स आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल घटाने में मदद कर सकते हैं। क्योंकि उनमें एक प्रकार का चमत्कारी फाइबर होता है। इसे बीटा-ग्लूकन (beta-glucan) कहते हैं।

2. ये अआपके हृदय की सेहत सुधारते हैं

ओट्स में मौजूद घुलनशील फाइबर आपमें हृदय-समस्याओं के खतरे को कम करता है। इस पोषक तत्व की औसत दैनिक मात्रा 6 से 8 ग्राम होनी चाहिए।

आधा कप ओट्स 2 ग्राम ऐसा घुलनशील फाइबर देते हैं। अगर आप सुबह ओट्स की इतनी कम मात्रा भी खायेंगे तो आपको दैनिक खुराक का एक तिहाई या चौथा हिस्सा मिल जायेगा।

क्या यह आपके लिए नाश्ते में ओट्स खाने का पर्याप्त कारण नहीं है? तो पढ़ते रहें!

इन्हें ज़रूर आजमायें : अगले दिन के नाश्ते के लिए चिया सीड्स और ओटमील

3. नाश्ते में ओट्स खाने से पेट भरा हुआ महसूस होगा

नाश्ते में ओट्स भरता है पेट

यदि आप एक पेट भराऊ नाश्ता नहीं करते हैं तो आम तौर पर सुबह चढ़ते ही फिर भूख लगने लगती है।

तो इसका हेल्दी सॉल्यूशन सुन लीजिये। आपको सुबह-सुबह ढेर सारा खाना खाने की ज़रूरत नहीं है। बस कुछ बड़े चम्मच ओट्स खा लीजिये।

इस पौष्टिक अन्न में आपकी भूख को तृप्त करने और एंग्जायटी व बोरियत से अकारण खाते रहने से रोकने की पूरी क्षमता है।

4. एंटीऑक्सिडेंट के स्रोत हैं ओट्स

शरीर में जमा होने वाले मुक्त कणों (free-radicals) के कारण कई बीमारियां होती हैं जिनमें ह्घतक कैंसर भी शामिल है।

ओट्स में पाए जाने वाले कई तत्व इन फ्री रेडिकल्स को बेअसर कर सकते हैं और ऐसी बीमारियों का जोखिम घटा सकते हैं।

ओट्स में मौजूद पोषक तत्व सूजन को कम करने, नाइट्रिक ऑक्साइड के उत्पादन को बढ़ाने और कोशिका विभाजन (खास तौर से कोलन में) को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं।

5. ओट्स ढेर सारी एनर्जी के स्रोत हैं

यदि आपको सुबह-सुबह काम शुरू करने या दिन भर के सभी काम पूरा करने में मुश्किल होती है, आप थक जाते हैं तो आपको कुछ ओट्स खा लेना चाहिए।

उनमें सरल कार्बोहाइड्रेट होते हैं जो ग्लूकोज में बदलकर बहुत एनर्जी देते हैं। इसलिए भी ओट्स नाश्ते के लिए एक बढ़िया ऑप्शन हैं।

इन्हें खाने के बाद आप ज्यादा एनर्जेटिक, एक्टिव, चौकस और दिन का सामना करने के लिए ज्यादा तैयार महसूस करेंगे।

इसे भी आजमायें : हाई ट्राइग्लिसराइड पर लगाम लगाने वाले 8 खाद्य पदार्थ

6. ब्लड प्रेशर कम करते हैं ओट्स

ओट्स हृदय और रक्त के लिए फायदेमंद होने के अलावा धमनियों की सेहत के लिए भी गुणकारी हैं।

इस अनाज में मौजूद शानदार किस्म के फाइबर हाई ब्लड प्रेशर वाले लोगों के लिए परफेक्ट हैं, खासकर यदि वे इन्हें सुबह खाते हैं।

7. डायबिटीज पर कंट्रोल

नाश्ते में ओट्स डायबिटीज कंट्रोल करते हैं

ओट्स ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करते हैं और साथ ही अन्य खाद्य पदार्थों को ज्यादा धीरे पचाने की सहूलियत देते हैं।

वे डायबिटीज के मरीजों के लिए भी अच्छे हैं क्योंकि वे इंसुलिन प्रतिरोध को कम करते हैं।

8. ओट्स से होता है श्वसन प्रणाली में सुधार

यह सर्दियों में गर्मागरम ओट्स खाने का एक अच्छा बहाना है:

  • यह अनाज ग्रसनीशोथ (pharyngitis), ब्रोंकाइटिस (bronchitis), सर्दी-जुकाम (catarrh) और लैरिंजाइटिस (laryngitis) की शिकायत कम करता है और इनमें सुधार लाता है।
  • धूम्रपान करने वालों (या जो पहले धूम्रपान करते थे) को भी ओट्स खाने की सलाह दी जाती है क्योंकि यह अनाज फेफड़ों को साफ करता है।

9. ओट्स इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाते हैं

यदि आपके शरीर की प्रतिरक्षा कमजोर है तो कोई भी सूक्ष्मजीव, बैक्टीरिया या वायरस इस पर हमला कर सकता है। आप किसी बीमारी का शिकार बन सकते हैं।

ओट्स में आपकी प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को बढ़ावा देने और संक्रमणों के खिलाफ लड़ाई में साथी बनने की क्षमता है।

इसलिए यदि आप बीमार महसूस करते हैं तो इस कमाल के अनाज को कटोरा भर खाने में संकोच न करें। आप ज्यादा जल्दी और कुशलता से स्वस्थ हो जायेंगे।

10. नाश्ते में ओट्स कब्ज का इलाज

यह स्पष्ट है कि इस किस्म के फाइबर से भरपूर खाद्य पदार्थ से आँतों की सेहत ठीक रहती है। यदि आपको शौच में परेशानी होती है तो हम आपको रोज सुबह 3 बड़े चम्मच ओट्स और ताज़ा निचोड़ा हुआ ऑरेंज जूस लेने की सलाह देते हैं।

आपका बाउल मूवमेंट ज्यादा आसान हो जाएगा। आप कम भारीपन, फूला हुआ और चिड़चिड़ा महसूस करेंगे।

ओट्स कोलन को साफ करने और उसमें जमा होने वाले तमाम वेस्ट्स को हटाने में भी एक आदर्श भोजन है।

11. ओट्स महिलाओं में कैंसर को रोकते हैं

जब महिलाएं मेनोपाज से गुजरती हैं तो उनका स्वास्थ्य गंभीर रूप से प्रभावित हो सकता है। इस अवस्था में ओट्स जैसे साबुत अनाजों के कई फायदे होते हैं, जैसे कि इनका  स्तन कैंसर के विकास को रोकने में सक्षम होना।

ये वजन सही रखने में मदद करते हैं और मेनोपाज के दौरान क्रॉनिक थकान को रोकते हैं।

नाश्ते में ओट्स कैंसर रोधी

12. उनमें ग्लूटेन नहीं है

ओट्स की एक सबसे अच्छी खूबी यह है कि वे ग्लूटेन फ्री (gluten free) होते हैं। यदि उन्हें अन्य अनाजों के साथ एक फैक्टरी में पीसा गया है तो वे दूषित हो सकते हैं। लेकिन जिन लोगों को ग्लूटेन इनटॉलेरेंस (gluten intolerance) है, उनके लिए शुद्ध ओट्स बिलकुल ठीक और सुरक्षित हैं।

गेहूं, जौ या राई के बजाय यह विकल्प इस स्थिति वाले लोगों के लिए ज्यादा उपयुक्त है क्योंकि यह छोटी आंत की म्यूकोसा में बदलाव नहीं लाता।

क्या हम आपको पर्याप्त कारण नहीं बता पाये हैं? अगर हाँ, तो किस बात का इंतजार कर रहे हैं? रोज नाश्ते में ओट्स खाएं! आप अपने शरीर को सेहत के ये वरदान देंगे।

  • Gómez Carus y col. (2017). Informe: datos actuales sobre las propiedades nutricionales de la avena. Fundación española de la nutrición (FEN). [En línea] Disponible en: https://www.fen.org.es/storage/app/media/PUBLICACIONES%202017/INFORME%20AVENA_FEN_v2_2017.pdf.
  • Aránzazu Aparicio y Ortega Anta (2015). Efectos del consumo del beta-glucano de la avena sobre el colesterol sanguíneo: una revisión. Revista española de nutrición humana y dietética. [En línea] Disponible en: http://scielo.isciii.es/pdf/renhyd/v20n2/revision1.pdf.
  • Rasane, P., Jha, A., Sabikhi, L., Kumar, A., & Unnikrishnan, V. S. (2015). Nutritional advantages of oats and opportunities for its processing as value added foods – a review. Journal of food science and technology52(2), 662–675. https://doi.org/10.1007/s13197-013-1072-1
  • Rebello CJ, Johnson WD, Martin CK, Han H, Chu YF, Bordenave N, van Klinken BJ, O’Shea M, Greenway FL. Instant Oatmeal Increases Satiety and Reduces Energy Intake Compared to a Ready-to-Eat Oat-Based Breakfast Cereal: A Randomized Crossover Trial. J Am Coll Nutr. 2016;35(1):41-9. doi: 10.1080/07315724.2015.1032442. Epub 2015 Aug 14. PMID: 26273900; PMCID: PMC4674378.
  • Harvard TH Chan School of Public Health. Nutrition Source. Recuperado el 23 de septiembre de 2020. https://www.hsph.harvard.edu/nutritionsource/food-features/oats/
  • Mayo Clinic. Cholesterol: Top foods to improve your numbers. (2018). Recuperado el 23 de septiembre de 2020. https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/high-blood-cholesterol/in-depth/cholesterol/art-20045192
  • Bao L, Cai X, Xu M, Li Y. Effect of oat intake on glycaemic control and insulin sensitivity: a meta-analysis of randomised controlled trials. Br J Nutr. 2014 Aug 14;112(3):457-66. doi: 10.1017/S0007114514000889. Epub 2014 Apr 30. PMID: 24787712.