इन प्राकृतिक नुस्खों से करें यूरिनरी इन्फेक्शन का इलाज

फ़रवरी 21, 2019
ये ट्रीटमेंट न केवल यूरिनरी इन्फेक्शन का इलाज कर उससे आराम दिलाने में कारगर साबित होते हैं, बल्कि कुछ उपाय तो ऐसे भी हैं जो इसे पूरी तरह रोकने में मदद कर सकते हैं। इस आर्टिकल में और जानें!

यूरिनरी इन्फेक्शन यानी मूत्र संक्रमण किसी भी व्यक्ति के लिए एक बहुत ही असहज कर देने वाली समस्या है।

आपमें से जो लोग अक्सर इससे परेशान रहते हैं, हम उन्हें इस परेशानी से निजात दिलाने के लिए नेचुरल उपायों की पूरी श्रंखला से अवगत कराना चाहते हैं। ये उपाय आपको इस तरह के संक्रमण को ठीक करने में मदद करेंगे।

लेकिन फ़िर भी, आपको एक बात का ख़ास ध्यान रखना होगा। आप यूरिनरी इन्फेक्शन से जुड़े इन उपायों को केवल मध्यम स्तर के संक्रमण को ठीक करने में उपयोगी पाएंगे। अगर स्थिति ज़्यादा गंभीर हो तो किसी विशेषज्ञ की सलाह ज़रूर लें।

सामान्यतः यूरिनरी ट्रैक्ट से जुड़े ज़्यादातर संक्रमण महिलाओं में पाए जाते हैं क्योंकि उनका युरेथ्रा यानी मूत्रमार्ग छोटा होता है।

यूरिनरी इन्फेक्शन के लक्षण इस प्रकार हैं:

  • पेशाब करते समय जलन होना।
  • बार-बार पेशाब करने की ज़रूरत महसूस होना।
  • पेशाब का हल्के रंग का होना।
  • मूत्राशय/ब्लैडर के खाली होने पर भी भरा हुआ महसूस होना।

चलिए, इस संक्रमण से जुड़े कुछ प्राकृतिक उपचारों के बारे में जानते हैं।

1. खाने का सोडा (Sodium Bicarbonate)

यूरिनरी इन्फेक्शन का इलाज : खाने का सोडा (Sodium Bicarbonate)

एक संभावित मूत्र संक्रमण से राहत पाने में सोडियम बाइकार्बोनेट बेहद मददगार साबित हो सकता है।

जब आप इस इन्फेक्शन के शुरूआती लक्षणों का अनुभव करती हैं, तो दो गिलास पानी पीने के बाद बेझिझक ये उपाय अपनाएं।

सामग्री

  • 3/4 गिलास पानी  (130 मिलीलीटर)
  • 1/4 चम्मच सोडियम बाइकार्बोनेट (1 ग्राम)

इसका सेवन कैसे करें?

  • जैसाकि हमने अभी बताया, पहले आपको सामान्य तापमान पर दो गिलास पानी पीना है।
  • इसके तुरंत बाद, यहाँ बताई गई पानी की मात्रा में सोडियम बाइकार्बोनेट मिलाकर उसे पी लेना है।

इसे भी पढ़ें : 7 कारण जो आपको खूब मूली खाने पर मजबूर कर देंगे

2. जैतून का पत्ता और हल्दी (Olive leaf and turmeric)

अगर आप जैतून के पत्तों के अर्क, ओलियोरोपेंन (oleuropein) को हल्दी के साथ मिलाकर उसका सेवन करते हैं, तो यह प्राकृतिक नुस्खा यूरिनरी इन्फेक्शन से राहत पाने में बहुत प्रभावी सिद्ध होगा।

सामग्री

  • 180 मिलीग्राम ओलियोरोपेंन
  • 1 चम्मच हल्दी पाउडर (5 ग्राम)

2 से 12 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए सामग्री

  • 40 मिलीग्राम ओलियोरोपेंन
  • 1/2 छोटा चम्मच हल्दी पाउडर (2 ग्राम)

इसका सेवन कैसे करें?

  • बड़ों और बच्चों दोनों को ही ओलियोरोपेंन की ख़ुराक को दिन में तीन बार, 7 दिनों तक लगातार लेते रहना है।
  • यहाँ बताई गई हल्दी की ख़ुराक को केवल दिन में एक बार ही लेना चाहिए।

3. लाल खट्टी बेरी का रस(Cranberry juice)

यूरिनरी इन्फेक्शन का इलाज : लाल खट्टी बेरी का रस(Cranberry juice)

क्रैनबेरी जूस एक और ऐसा विकल्प है जिसका उपयोग यूरिनरी इन्फेक्शन को समाप्त करने के लिए किया जा सकता है।

यह साबित हो चुका है कि क्रैनबेरी जूस पीने से बैक्टीरिया मूत्र मार्ग यानी यूरिनरी ट्रैक्ट की दीवारों से चिपके रहते हैं। इसके चलते पेशाब के समय इन्हें शरीर से आसानी से बाहर निकाल कर खत्म किया जा सकता है।

4. नारियल पानी और नारियल का तेल (Coconut water and coconut oil)

संभावित यूरिनरी इन्फेक्शन से लड़ने में नारियल पानी और नारियल का तेल, दोनों सहायक होते हैं।

  • नारियल का तेल एक शक्तिशाली एंटीबैक्टीरियल एजेंट है जो ई कोली बैक्टीरिया (E. coli bacteria) को मार सकता है। यह उस वक्त भी काम करता है, जब बैक्टीरिया दवाओं के लिए एक प्रतिरोधी बन चुका हो।
  • दूसरी तरफ, नारियल का पानी किडनी से अशुद्धियों को दूर करने का एक असरदार माध्यम है।

इसको कैसे इस्तेमाल में लाएं?

  • यूरिनरी इन्फेक्शन को खत्म करने के लिए इस उपाय को उपयोग में लाने का सबसे अच्छा तरीक यह है कि आप दिन में एक बार वर्जिन कोकोनट ऑयल का सेवन करें।
  • नारियल के तेल को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए आपको सुबह खाली पेट और रात में सोने से पहले एक कप नारियल पानी पीना चाहिए।

5. शतावरी (Asparagus)

यूरिनरी इन्फेक्शन का इलाज : शतावरी (Asparagus)

शतावरी एक शक्तिशाली मूत्रवर्धक औषधि है। यह इतनी कारगर है कि अक्सर इसे यूरिनरी ट्रैक्ट के एक प्युरफायर के रूप में देखा जाता है, क्योंकि यह यूरिनरी ट्रैक्ट के इन्फेक्शन को खत्म करने में मदद कर सकती है।

हालांकि, यह ध्यान में रखना ज़रूरी है कि इसके सेवन के बाद आपकी पेशाब की गंध में बदलाव आ सकता है।

6. सेब का सिरका (Apple cider vinegar)

इस परेशानी के उपचार के लिए सेब के सिरके को इस्तेमाल में लाना भी एक शानदार समाधान है।

सामग्री

  • 2 कप पानी  (500 मिलीलीटर)
  • 2 चम्मच सेब का सिरका  (20 मिलीलीटर)

इसका सेवन कैसे करें?

  • आधा लीटर पानी में दो बड़े चम्मच सिरका मिलाएँ।
  • स्पष्ट सुधार पाने के लिए इस मिश्रण को हर रोज़ दिन में एक बार पियें।

7. तरबूज़ (Watermelon)

यूरिनरी इन्फेक्शन का इलाज : तरबूज़ (Watermelon)

तरबूज़ बहु उपयोगी फल है। यह यूरिनरी ट्रैक्ट में मौजूद बीमारियों को कम करने का अच्छा विकल्प है, क्योंकि यह हमारी किडनी की शुद्धिकरण में मदद करता है। 

सिस्टाइटिस (cystitis) से जूझ रहे लोगों को यूरिनरी इन्फेक्शन से बचाव करने के लिए अन्य उपायों के अलावा तरबूज़ को भी इस्तेमाल में लाना चाहिए। 

8. सेलरी जूस (Celery juice)

सेलरी से तैयार की गई स्मूदी (या पेस्ट) यूरिनरी इन्फेक्शन से लड़ने में आपकी मदद कर सकती है।

सामग्री

  • 3 लीटर पानी
  • पत्तियों सहित सेलरी के 2 डंठल
  • अनानास के 2 मोटे स्लाइस
  • 1 कप कैमोमाइल चाय (250 मिलीलीटर)

इसे कैसे इस्तेमाल करें

  • दी गई सामग्री को ब्लेंडर में पीस कर सही मिश्रण तैयार कर लें।
  • इसे रोज़ दिन में एक बार पियें।
  • Jepson, R. G., Williams, G., & Craig, J. C. (2013). Cranberries for preventing urinary tract infections. Sao Paulo Medical Journal. https://doi.org/10.1590/1516-3180.20131315T1
  • Flores-Mireles, A. L., Walker, J. N., Caparon, M., & Hultgren, S. J. (2015). Urinary tract infections: Epidemiology, mechanisms of infection and treatment options. Nature Reviews Microbiology. https://doi.org/10.1038/nrmicro3432
  • Head, K. A. (2008). Natural approaches to prevention and treatment of infections of the lower urinary tract. Alternative Medicine Review.