पुरुषों में सिस्टाइटिस के लक्षण

24 सितम्बर, 2020
पुरुषों में सिस्टाइटिस या मूत्राशय शोथ के मामले में पेशाब की आदतों में बदलाव के साथ-साथ दर्द भी होता है। आप इसे कैसे पहचान सकते हैं? इसके लक्षणों के मामले में आपको क्या करना चाहिए? हम आपको इस लेख में बताएंगे!

सिस्टाइटिस या मूत्राशय शोथ ब्लैडर की सूजन से जुड़ा है। यह महिलाओं में एक आम समस्या है, पर पुरुष भी इस प्रकार के संक्रमण का शिकार हो सकते हैं। पुरुषों में सिस्टाइटिस को कैसे पहचान सकते हैं?

इसके लक्षण पुरुषों और महिलाओं में बहुत अलग नहीं होते हैं। हालांकि संक्रमण के विकास की और से सतर्क रहना महत्वपूर्ण है। सामान्य तौर पर यह संक्रमण 15 से 50 वर्ष की आयु के बीच वाले मर्दों को प्रभावित करता है। आमतौर पर यह गंभीर नहीं होता है, पर यह असुविधाजनक है और कुछ मामलों में अन्य बीमारियों का संकेत हो सकता है।

नीचे हम आपको बताएंगे कि पुरुषों में सिस्टाटिस के मामले में आपको क्या जानना चाहिए।

पुरुषों में यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन और सिस्टाइटिस

पुरुषों में मूत्र पथ के संक्रमण लोअर ब्लैडर, विशेष रूप से मूत्राशय और साथ ही ऊपरी मूत्र पथ और किडनी दोनों को प्रभावित कर सकते हैं। “सिस्टाइटिस” शब्द मूत्र पथ के ऐसे संक्रमण को बताता जिसमें मूत्राशय और लोअर ब्लैडर शामिल होते हैं।

आम तौर पर जब हम साधारण तीव्र सिस्टाइटिस की बात करते हैं, तो हम एक ऐसे संक्रमण का जिक्र करते हैं जो सिर्फ मूत्राशय को प्रभावित करता है, लेकिन किडनी और बाकी यूरिनरी ट्रैक्ट को नहीं। यह एक महत्वपूर्ण है क्योंकि यह पेशेंट मैनेजमेंट और प्रोग्नोसिस को पूरी तरह से बदल देता है।

पुरुषों में सिस्टाइटिस के लक्षण

पुरुषों में सिस्टाइटिस उतना आम नहीं है जितना कि महिलाओं में, क्योंकि पुरुषों में उरेथ्रा बहुत लंबा  होता है। इससे पैथोजेन को मूत्राशय तक पहुंचने में कठिनाई होती है। नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन में एक प्रकाशन के अनुसार यह उस एंटी बैक्टीरियल डिफेन्स की वजह से भी हो सकता है जो प्रोस्टेट लिक्विड प्रदान करता है।

ज्यादातर मामलों में यह संक्रमण जटिल नहीं होता और लक्षण उन महिलाओं के अनुभव के समान होते हैं। सामान्य तौर पर पुरुषों में सिस्टाइटिस के लक्षणों में निम्न बातें शामिल हैं:

  • पेशाब में जलन (Dysuria): यह पेशाब करते समय होने वाला दर्द है। रोगी इसे जलन या चुभने वाली सनसनी के रूप में महसूस कर सकते हैं।
  • बार बार पेशाब आना : व्यक्ति को होने वाले पेशाब की संख्या में वृद्धि।
  • पेशाब आने की भावना : दूसरे शब्दों में अचानक पेशाब करने की जरूरत या मूत्र को रोक पाने में असमर्थता।

दूसरे कम अहम लक्षण हैं:

  • सुप्राप्युबिक दर्द (suprapubic pain)
  • नोक्टुरिया (Nocturia), जो दिन की तुलना में रात में ज्यादा आने वाला पेशाब है
  • पेशाब के बाहर निकलने में कठिनाई
  • हेमटुरिया (Hematuria), मूत्र में खून आना
पुरुषों में सिस्टाइटिस के लक्षण

पुरुषों में सिस्टाइटिसके लक्षण महिलाओं की तरह होते हैं। वे पेशाब करते समय जलन महसूस कर सकते हैं, तुरंत पेशाब करने की जरूरत महसूस होती है और बार-बार पेशाब आता है।

संभावित जातिलताएं

पुरुषों में जब बार-बार सिस्टाइटिस के लक्षण दिखें या लक्षण जब पेल्विस या पेरिनियल क्षेत्र के दर्द और बुखार के साथ दिखाई दे तो प्रोस्टेटाइटिस की संभावना पर विचार करना सबसे अच्छा है। इसलिए डॉक्टर को इसका मूल्यांकन यूरोलोजिस्स्ट के पास भेजकर करना चाहिए।

साथ ही बुखार, ठंड लगना, थकान और बगलों या कोस्टोवर्टिब्रल एंगल में संवेदनशीलता की मौजूदगी आम एक्यूट सिस्टाइटिस के साथ मेल नहीं खाते। इन समस्याओं के मामले में रोगी दरअसल पाइलोनेफ्राइटिस (pyelonephritis) से पीड़ित हो सकते हैं।

सही एंटी माइक्रोबियल ट्रीटमेंट के लिए और जटिलताओं से बचने के लिए इसका सही निदान जरूरी है। डॉक्टर यह निर्धारित करेगा कि लक्षण सिस्टाइटिस के हैं या किसी दूसरी समस्या के हैं।

तुम भी पढ़ना चाहते हो सकता है: यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन क्यों होते हैं

डायग्नोस्टिक टेस्ट

पुरुषों में सिस्टिटिस का निदान करने के लिए, एक डॉक्टर लक्षणों से संबंधित प्रश्नों की एक विस्तृत सूची के साथ शुरू करेगा। ऐसा करने से, वह निर्धारित करेगा कि पूरक अध्ययन आवश्यक है, जिसमें निम्नलिखित शामिल हो सकते हैं:

  • यूरिन एनालिसिस : प्युरिया (pyuria) का पता लगाने के लिए डॉक्टर माइक्रोस्कोप या रिएक्टिव स्ट्रिप का इस्तेमाल करते हैं।
  • यूरिन कल्चर ; डॉक्टर एंटीबायोटिक ससेप्तिबिलिटी डेटा का उपयोग करके यूरिन कल्चर करा सकते हैं। कल्चर के नतीजे का इंतज़ार करते हुए अनुभवजन्य एंटीबायोटिक थेरेपी का चयन करने के लिए एक ग्राम स्टेन उपयोगी हो सकता है। फिर डॉक्टर बैक्टीरिरिया की उपस्थिति का निरीक्षण करेंगे। सामान्य नियम के रूप में पुरुषों में सिस्टाइटिस के एक संदिग्ध मामले में डॉक्टर हमेशा इस टेस्ट को करेंगे। वे यूरिन कलचर के लिए सैम्पल लिये बिना एंटीबायोटिक थेरेपी कभी नहीं लिखेंगे।
  • दूसरी स्टडी : एक्यूट प्रोस्टाइटिस का संदेह होने पर डॉक्टर डिजिटल रेक्टल एग्जाम करेंगे। एक संवेदनशील और एडिमेटस (edematous) प्रोस्टेट इस वैकल्पिक डायग्नोसिस की पुष्टि करेगा।

सिस्टाइटिस वाले पुरुषों में विशेष रूप से एक ही बैक्टीरिया के स्ट्रेन के कारण होने वाले मूत्र पथ के संक्रमण के साथ डॉक्टर क्रोनिक प्रोस्टेटाइटिस की डायग्नोसिस पर विचार करेंगे।

सिस्टाइटिस डायग्नोसिस को कन्फर्म करने और अन्य संभावित कारणों को खारिज करने के लिए डॉक्टर कॉम्प्लीमेंटरी टेस्ट जैसे कि यूरिन एनालिसिस का सुझाव देगा

ज्यादा गंभीर इन्फेक्शन के लिए रिस्क फैक्टर

कुछ विशेष विशेषताओं वाले लोगों में ज्यादा जटिल एक्यूट UTI की संभावना बढ़ सकती है। इसलिए निम्नलिखित विशेषताओं वाले रोगियों का इलाज करते समय डॉक्टरों को विशेष ध्यान देना चाहिए:

  • यूरिनरी ट्रैक्ट की गड़बड़ियां : Nefrolitiasis, stenosis, stents, or urinary derivations
  • इम्यून सिस्टम की गड़बड़ी वाले रोगी : Neutropenia or an advanced HIV infection
  • खराब मैनेजमेंट वाला डायबिटीज मेलिटस

इसे भी देखें: यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन के लिए 7 प्राकृतिक नुस्ख़े

मूत्र संबंधी लक्षणों के मामले में क्या करना है

जैसा कि हमने बताया 50 वर्ष से कम आयु के पुरुषों में जो स्वस्थ है और दूसरी समस्याएं नहीं हैं सिस्टाइटिस का विकास बहुत कम संभव है।

मूत्र के लक्षणों को देखते हुए व्यक्ति को जल्द से जल्द एक डॉक्टर से मिलना चाहिए। यह डायग्नोसिस में कोई देरी होने की संभावना ख़त कर देगा और डॉक्टरों को इलाज का सही कोर्स चुनने में मदद करेगा। डॉक्टर को यूरिन कल्चर के नतीजों  के साथ-साथ संक्रमण के विकास को नियंत्रित करना चाहिए।

कुछ अवसरों पर, डॉक्टरों को पूर्ण मूत्र पथ के साथ-साथ प्रोस्टेट का मूल्यांकन करने की जरूरत हो सकती है। द्वीतीय समस्या के मामले में परीक्षा के लिए नेफ्रोलॉजिस्ट या यूरोलॉजिस्ट के पास जाना होगा।

अंत में एक स्वस्थ जीवन शैली अपनाना और बहुत सारा पानी पीने के महत्व का उल्लेख करने योग्य है। ये फैक्टर इस प्रकार के संक्रमण को रोकने में मदद करेंगे।

  • Zanella MC, Schoofs F, Huttner B, Huttner A. Infections urinaires basses non associées aux sondes urinaires chez l’homme. Urétrite, cystite et prostatite [Lower urinary tract infections in men. Urethritis, cystitis and prostatitis]. Rev Med Suisse. 2017;13(558):808‐814.
  • Hooton Thomas, Acute simple cystitis in men, retrieved on 10 June 2020, Evidence-based Clinical Decision Support- UpToDate. https://www.uptodate.com/contents/acute-simple-cystitis-in-men?search=cistitis%20men&source=search_result&selectedTitle=1~150&usage_type=default&display_rank=1
  • Kasper y col., Principios de medicina interna de Harrison, edición número 19, Editorial McGrawHill.
  • Li R, Leslie SW. Cystitis. [Updated 2020 May 29]. In: StatPearls [Internet]. Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2020 Jan-. Available from: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK482435/
  • Roberts, R. G., & Hartlaub, P. P. (1999, September 1). Evaluation of dysuria in men. American Family Physician.
  • Lee G, Romih R, Zupančič D. Cystitis: from urothelial cell biology to clinical applications. Biomed Res Int. 2014;2014:473536. doi:10.1155/2014/473536
  • Lipsky BA. Prostatitis and urinary tract infection in men: what’s new; what’s true?. Am J Med. 1999;106(3):327‐334. doi:10.1016/s0002-9343(99)00017-0
  • Price TK, Dune T, Hilt EE, et al. The Clinical Urine Culture: Enhanced Techniques Improve Detection of Clinically Relevant Microorganisms. J Clin Microbiol. 2016;54(5):1216‐1222. doi:10.1128/JCM.00044-16