ऑयली स्किन के लिए रोज़मेरी साबुन बनाना सीखें

जनवरी 7, 2019
होममेड रोज़मेरी साबुन जोड़ों की सूजन या संक्रमित घावों के अलावा, त्वचा की देखभाल करने और समय से पहले उम्र बढ़ने से रोकने के लिए बेहतरीन है।

यदि आपको नेचुरल ब्यूटी उत्पाद पसंद हैं तो रोज़मेरी का साबुन आपके सबसे अच्छे साधनों में से एक बन सकता है। इसमें एल्केलाइन, सूजन को रोकने वाले और एंटीबैक्टीरियल गुण हैं जो तैलीय त्वचा या ऑयली स्किन के लिए आदर्श हैं।

अगर आप इसे बनाते समय उचित सुरक्षा सावधानी बरतते हैं तो इसे बनाना आसान है। स्टेप्स बहुत सरल हैं। थोड़े से धैर्य के साथ, जो सामग्री हम यहाँ शेयर करेंगे उसे इस्तेमाल करके आपके पास एक असाधारण ब्यूटी उत्पाद होगा।

यह न भूलें कि रोज़मेरी (Rosemary) जिसे गुलमेंहदी या दौनी कहते हैं, उन जड़ी बूटियों में से एक है जिसे मेडिकल इंडस्ट्री सूजन, जलन और संक्रमण कम करने के लिए इस्तेमाल करती है।

यह साबुन आपके और आपके परिवार के बाकी सदस्यों के रोजाना के जीवन में बहुत काम आयेगा। इसे बनाने का तरीका यहां दिया गया है।

क्या आप ध्यान देने के लिए तैयार हैं?

अपना रोज़मेरी साबुन खुद बनायें

साबुन बनाते समय, यह याद रखना जरूरी है कि आपको कई बेसिक सुरक्षा सावधानियां बरतने की ज़रूरत है।

आप कॉस्टिक सोडा इस्तेमाल करेंगे। इसलिए इसे अपनी त्वचा पर लगने या यहां तक ​​कि इसके वाष्प को साँस के साथ अंदर लेने से बचने के लिए दस्ताने और मास्क पहनना एक अच्छा ख़याल है।

प्रक्रिया अपने आपमें कोई खतरनाक नहीं है। लेकिन सावधान रहना हमेशा अच्छा होता है। याद रखें, इस तकनीक को पीढ़ियों से बिना किसी समस्या के उपयोग किया गया है।

आइये जानें, इस रोज़मेरी साबुन को बनाने के लिए सामान कौन से चाहिए।

इसे भी पढ़ें: कंधे का दर्द करें छूमंतर इन आसान घरेलू उपचारों से

सामग्री

  • 2 कप जैतून का तेल (Olive Oil) (473 ग्राम)
  • 1 कप सूखी रोज़मेरी (यह सुनिश्चित करना जरूरी है कि आप अपने होममेड साबुन में जो भी जड़ी-बूटी डालते हैं वह सूखी हो) (150 ग्राम)
  • 3/4 कप पानी (150 मिलीलीटर)
  • 1/4 कप कॉस्टिक सोडा (62 ग्राम)
  • 1 कप रोजमेरी टी (200 मिलीलीटर)
  • 1 बड़ा चम्मच टी ट्री एसेंशियल ऑयल (15 ग्राम)
  • 1 प्लास्टिक का कटोरा या टब

तैयारी

सबसे पहले आप चाय बनायेंगे। यह बहुत उपयोगी होगी क्योंकि इस तरह आप यह सुनिश्चित करेंगे कि आपका रोज़मेरी साबुन ऑयली स्किन को साफ करने और उसकी देखभाल करने में कारगर है।

  • पानी को उबालें और जब वह उबलने लगे तो उसमें एक बड़ा चम्मच सूखी रोज़मेरी डालें। इसे कुछ मिनट के लिए पकने दें, फिर रोज़मेरी को हटा दें और तरल को बचाकर रखें।
  • दूसरी स्टेप थोड़ी ज्यादा नाजुक है लेकिन उतनी ही आसान है। अब आप प्लास्टिक के कंटेनर में कॉस्टिक सोडा डालेंगे। ग्लव्स और मास्क पहनना याद रखें क्योंकि जैसा कि आप जानते हैं, यह उत्पाद तेज है।
  • याद रखें कि आपको कॉस्टिक सोडा के साथ हमेशा एक खुली जगह (एक बालकनी, छत, या बगीचे …) में काम करना चाहिए ताकि आप साँस के साथ उसके फ्यूम को अंदर न लें।
  • इसके बाद आपने जो रोज़मेरी की चाय बनायी है उसमें कॉस्टिक सोडा डालें। इसे बहुत धीरे-धीरे करें ताकि वह छिटके नहीं। ध्यान रखें कि इन दोनों चीजों को एक साथ मिलाने पर वाष्प भी बनेगा।
  • मिश्रण को कम से कम 15 मिनट तक ठंडा होने दें। मिश्रण ठंडा होना चाहिए ताकि थोड़ा-थोड़ा करके आप और अवयव डाल सकें।
  • अब आप इसमें दो कप जैतून का तेल डालने के लिए तैयार हैं। इसे गुनगुना होना चाहिए। सुरक्षा सावधानियों को बरतते हुए इसे धीरे-धीरे डालें।
  • इसे फिर से ठंडा हो जाने दें। फिर टी ट्री एसेंशियल ऑयल डालें।

याद रखें, मिश्रण को ठंडा होने देना हमेशा अच्छा होता है ताकि सभी एसेंशियल ऑयल अपने तमाम गुणों को बनाए रख सकें।

इसे भी पढ़ें: 4 नाईट क्रीम घर पर बनाएं, पायें स्वस्थ शानदार त्वचा

प्रक्रिया को तेज करें

  • प्रक्रिया को तेज करने और एक समरूप मिश्रण पाने के लिए इसे लो स्पीड पर एक मिक्सर में फेंटेंगे। इसे कटोरे के बीच में रखें और इसके अलावा कुछ न करें। इसे धीरे से और सावधानी से ब्लेंड करने दें।
  • जब देखें कि तमाम सामग्री मेयोनेज़ जैसी गाढ़ी हो रही है, तो बाकी सूखी रोज़मेरी (एक एक्सफोलिएट करने वाला असर पैदा करने के लिए) डालें।
  • अंत में, आपको बस इस मिश्रण को साबुन बनाने के सांचे या मोल्ड में डालने की ज़रूरत है। एक ट्रिक: पहले से मोल्ड में रोज़मेरी की कुछ टहनियां डाल दें ताकि साबुन को निकालना आसान हो जाये।

किसी भी बुलबुले को बनने से रोकने के लिए मोल्ड को भरने के बाद थोड़ा टैप करें ताकि हवा बाहर निकल जाये।

अगली स्टेप? धैर्य रखें। इसे इस्तेमाल करने से पहले छह सप्ताह तक यूंही रहने दें। जब साबुन तैयार हो जाये तो आप इसे अपने रोजाना की ब्यूटी रूटीन में इस्तेमाल कर सकती हैं।

यह रोज़मेरी साबुन संक्रमित घावों, सूजे हुए जोड़ों, या त्वचा की असमय उम्र बढ़ने से बचने के लिए भी बहुत अच्छा है।

एक पहलू जिसे आपको अनदेखा नहीं करना चाहिए: इस साबुन को कभी भी अपने प्राइवेट पार्ट को धोने के लिए न इस्तेमाल करें।

  • Erkan, N., Ayranci, G., & Ayranci, E. (2008). Antioxidant activities of rosemary (Rosmarinus Officinalis L.) extract, blackseed (Nigella sativa L.) essential oil, carnosic acid, rosmarinic acid and sesamol. Food Chemistry. https://doi.org/10.1016/j.foodchem.2008.01.058
  • Arranz, E., Jaime, L., García-Risco, M. R., Fornari, T., Reglero, G., & Santoyo, S. (2015). Anti-inflammatory activity of rosemary extracts obtained by supercritical carbon dioxide enriched in carnosic acid and carnosol. International Journal of Food Science and Technology50(3), 674–681. https://doi.org/10.1111/ijfs.12656
  • Rosemary, WebMD. https://www.webmd.com/vitamins/ai/ingredientmono-154/rosemary