जॉगिंग और रनिंग में क्या अंतर है?

दौड़ने का सेहत के लिए कई फायदे हैं। लेकिन क्या रनिंग और जॉगिंग एक ही बातें हैं? आइए एक नज़र डालते हैं कि इनकी क्या खासियत है और वे कैसे अलग हैं।
जॉगिंग और रनिंग में क्या अंतर है?

आखिरी अपडेट: 26 जनवरी, 2021

रनिंग एक फिजिकल एक्टिविटी है जो सेहत से जुडी अनगिनत फायदे देती है, जब तक कि यह ठीक तरीके से और अच्छी सेहत की स्थिति में की जाती है। इसके अलावा यह इ समय का एक ख़ास ट्रेंड भी है।

लेकिन क्या हर कोई जो दौड़ता है, वह रनर है? और जॉगिंग की एक्सरसाइज के बारे में क्या? क्या रनिंग और जॉगिंग एक ही चीजें हैं?

सच्चाई यह है कि जॉगिंग और रनिंग एक नहीं है। हालाँकि इस बारे में कोई संदेह नहीं है कि दोनों एक्टिविटी समान हैं! बेशक आखिरकार रनिंग रनिंग है। लेकिन इन दोनों विषयों में फर्क है जो बहुत मायने रखता है, खासकर टेकनीक की दृष्टि से, विशेष रूप से शौकिया एथलीटों के लिए।

यह जानना बुनियादी तौर पर जरूरी है कि हम सही जानकारी पाने के लिए क्या कर रहे हैं। यह साफ़ करने के लिए हम यह देखने जा रहे हैं कि जॉगिंग क्या है, रनिंग क्या है, और रनिंग और जॉगिंग के बीच क्या अंतर हैं।

जॉगिंग क्या है?

शाब्दिक रूप से जॉगिंग का अर्थ है ‘दुलकी चाल’ या धीरे-धीरे दौड़ना। अर्थात धीमी या रुकी हुई गति से चलना है। इसलिए यह हाई इम्पैक्ट एक्सरसाइज है। हालाँकि यह जॉइंट पर दबाव डालता है, खासकर घुटनों पर, पर यह दूसरे स्पोर्ट्स के मुकाबले कम होता है।

बिना किसी शारीरिक नुकसान के उस एरोबिक रेजिस्टेंस ट्रेनिंग और फिजिकल एप्टीट्युड की क्षमता को बढ़ाने में जॉगिंग एक्सरसाइज बहुत मददगार है  जो बहुत इंटेंस एक्सरसाइज से मिलता है। यह रिकवरी के लिए एकदम सही है।

उन लोगों के लिए जॉगिंग की बहुत सिफारिश की जाती है, जो मीडियम इंटेंसिटी वाले एरोबिक एक्सरसाइज करना चाहते हैं और इंटेंस एक्सरसाइज नहीं करना चाहते हैं।

जॉगिंग के फायदे

जॉगिंग किसी भी उम्र में कई तरह के सेहत से जुड़े फायदे देती है, जब तक कि आपकी सेहत इसकी इजाजत दे।

इस बिंदु पर यह याद रखना जरूरी है कि किसी भी हाई इम्पैक्ट फिजिकल एक्टिविटी को करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लेना ज़रूरी है वरना जोखिम उठाना पड़ सकता है। इस मामले में निचले अंगों में चोट या कार्डियोवैस्कुलर बीमारियां हो सकती हैं।

कई साइंटिफिक स्टडी के अनुसार जॉगिंग के मुख्य लाभ निम्नलिखित हैं

  • मोटापा और एक्स्ट्रा वेट को रोकता है
  • शरीर में बेहतर ऑक्सीजन अवशोषण, अच्छे कोलेस्ट्रॉल या एचडीएल की मात्रा में बढ़ोतरी, ट्राइग्लिसराइड्स में कमी और रक्तचाप को कम करने के जरिये हृदय की कार्यक्षमता और कार्डियोवैस्कुलर हेल्थ में सुधार
  • इंसुलिन सेंसिटिविटी को बढ़ाता है
  • प्लेटलेट कंसंट्रेशन को कम करता है और फाइब्रिनोलिटिक एक्टिविटी को बढ़ाता है, जो रोग संबंधी थक्के को रोकता है
  • सिस्टेमिक सूजन के मार्करों को घटाता है
  • साइकोलॉजिकल फंशन में सुधार

जॉगिंग का जोड़ों पर कम प्रभाव पड़ता है, हालांकि चोट की संभावना पर विचार करना अभी भी महत्वपूर्ण है।

आपको इसमें भी रुचि होगी: मस्तिष्क को उत्तेजित करने वाला एक शक्तिशाली पेय

रनिंग क्या है?

जब हम रनिंग की बात करते हैं, तो हमारा मतलब है ठोस तकनीकों का पालन करते हुए विशिष्ट उद्देश्यों के साथ प्लान के अनुसार ट्रेनिंग में भाग लेना। दूसरे शब्दों में एक्सरसाइज में भाग लेना।

रनिंग में हाई इपैक्ट इंटेंस एरोबिक एक्सरसाइज शामिल है जिसमें आप लगभग 10 मिनट प्रति मील तक की स्पीड से दौड़ते हैं। इसका मतलब है, एक मील दौड़ने में अधिकतम 10 मिनट लगते हैं।

और पढ़ें: 5 आसान आदतें न्यूरोजेनेसिस को पुनर्जीवित करने के लिए

रनिंग के फायदे

दौड़ने से होने वाले फायदे इसकी इंटेंसिटी से जुड़े हुए हैं। इसे ध्यान में रखते हुए विभिन्न अध्ययनों में पाया गया है कि यह फिजिकल एक्टिविटी है

  • कार्डियोरेस्पिरेटरी टॉलरेंस को बढ़ाते हुए हड्डी, जॉइंट और हृदय की सेहत में मदद करता है।
  • मांसपेशियों को मजबूती और शरीर (कोर) के बीच वाले हिस्से में फाइबर टोन को बढ़ाना।
  • वजन बनाए रखने में मदद करता है और वजन घटाने को बढ़ावा देता है।
  • स्रेट्सरेस दूर करता है।

इन लाभों के लिए, हमें उन सभी को जोड़ना होगा जो जॉगिंग से संबंधित हैं, जिनका हमने पहले ही उल्लेख किया था।

जॉगिंग और रनिंग : मुख्य अंतर क्या हैं

जॉगिंग और रनिंग के बीच मुख्य अंतर स्पीड या इंटेंसिटी की है। जैसा कि हमने पहले ही बताया है, व्यक्ति जब रनिंग करता है तो माना जाता है कि उसे एक मील की दूरी तय करने में 10 मिनट लगते हैं।

जॉगिंग और रनिंग के बीच मुख्य फर्क में से एक है एक्सरसाइज के दृष्टिकोण से इसे करना। जो लोग जॉगिंग करते हैं वे दौड़ने के लिए बाहर जाते हैं क्योंकि वे एरोबिक एक्सरसाइज का आनंद लेते हैं। हालांकि, रनर निश्चित उद्देश्यों और बहुत स्पष्ट दिशानिर्देशों के साथ एक ट्रेनिंग प्लान का पालन करते हैं।

इसका मतलब है, टेक्नोलॉजी, डिवाइस, फ़ूड और प्रेरणा में स्पष्ट फर्क। उदाहरण के लिए रनर आमतौर पर अपने जूते और कपड़े बहुत सावधानी से चुनते हैं। इसके अलावा ट्रेनिंग से पहले, उसके दौरान और बाद में वे क्या खाते और पीते हैं, यह बहुत अहम है।

जॉगिंग या रनिंग कर सकते हैं

दौड़ने के अभ्यास में अधिक पेशेवर पहलू है क्योंकि इसमें तकनीक और उपकरण शामिल हैं।

आप अपनी सेहत के आधार पर जॉगिंग या रनिंग कर सकते हैं

हालाँकि रनिंग एक [पॉपुलर स्पोर्ट्स है, पर यह सभी के लिए नहीं है। आपकी शारीरिक स्थिति इस प्रकार के प्रशिक्षण की अनुमति देती है या नहीं, यह देखना जरूरी है और इसके लिए अच्छी शेप और पर्याप्त कार्डियो- रेस्पिरेटरी क्षमता की आवश्यकता होती है।

जो लोग पहले कभी नहीं दौड़ते हैं और इस अभ्यास के लाभों का आनंद लेना चाहते हैं, वे जॉगिंग द्वारा शुरू कर सकते हैं, इस गतिविधि को अन्य अभ्यासों के साथ पूरक कर सकते हैं। समय के साथ, शायद, आप एक कदम आगे ले जा सकते हैं और एक धावक बन सकते हैं।

उसी समय, हमें चोटों के मुद्दे को नहीं भूलना चाहिए। एक व्यायाम जितना गहन होता है, चोट का खतरा उतना ही अधिक होता है। इलाके, गड्ढों या अप्रत्याशित फिसलन वाले क्षेत्रों में असमानता के बारे में भी यही सच है।

अब, एक अंतिम सिफारिश: यदि आप दौड़ने का निर्णय लेते हैं, तो अपने पैरों के अनुकूल और जिस तरह से आप आगे बढ़ते हैं, उसके बिना यह न करें। प्रारंभिक निवेश का एक हिस्सा चलने वाले जूते की एक अच्छी जोड़ी है।