ब्राह्मी और नींबू से बना कैरुलिम नेचुरल ट्रीटमेंट

12 जुलाई, 2020
हालांकि कैरुलिम एक नेचुरल ट्रीटमेंट है जो शरीर की ऊर्जा को तरोताजा करने के लिए जाना जाता है, यह एक क्लींजिंग ड्रिंक है जो जहरीले पदार्थों के शरीर से छुटकारा पाने में मदद कर सकता है।

कैरुलिम पैराग्वे का एक प्राचीन नेचुरल ट्रीटमेंट है। यह केन लिकर (cane liqueur), ब्राह्मी (rue) और नींबू से बना प्रोडक्ट है। लोग इसे इसलिए पीते हैं क्योंकि उनका मानना ​​है कि यह खून को साफ करने और देह को ऊर्जा से भरपूर बनाने में मदद कर सकता है।

इस आर्टिकल में आप रहस्यमय और आश्चर्यजनक कैरुलिम नेचुरल ट्रीटमेंट के बारे में सब कुछ जान सकते हैं।

कैरुलिम क्या है?

कैरुलिम (Carrulim) एक औषधीय मादक पेय है, जैसा कि इसके नाम से पता चलता है, इसमें केन लिकर (cane liqueur), ब्राह्मी (rue) और नींबू शामिल हैं। हालांकि शहद और मेंहदी के साथ भी इसकी कुछ किस्में बनती हैं।

यह पेय पैराग्वे के साथ-साथ पड़ोसी देशों ब्राजील और अर्जेंटीना में भी बनाया और पिया जाता है।

परंपरा के अनुसार, इसे हर साल 1 अगस्त को जरूर पीना चाहिए। इस दिन वहाँ आप किसी भी सड़क के किनारे कैरुलिम खरीद सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : 5 नेचुरल ट्रीटमेंट जो देते हैं शानदार कर्ल

कैरुलिम नेचुरल ट्रीटमेंट की उत्पत्ति

ब्राह्मी और नींबू से बना कैरुलिम नेचुरल ट्रीटमेंट

पैराग्वे की स्वदेशी गुआरानी संस्कृति मानती है कि अगस्त हमारी सेहत और आम तौर पर हमारी किस्मत के लिए सबसे कठिन महीना होता है।

इस वजह से उन्होंने एक ऐसा नुस्खा बनाया जो शरीर को मजबूत बनाने और ऊर्जा से तरोताजा करने, उसे बेहतर बनाने में मदद कर सकता है।

परंपरा के अनुसार, कैरुलिम 1 अगस्त को पिया जाता है क्योंकि यह तिथि वर्ष की दूसरी एंट्री का प्रतिनिधित्व करती है। आखिरकार यह सीधे पैराग्वे की सर्दियों से मेल खाता है।

जहाँ तक इसे पीने का सवाल है, तो इसके अलग-अलग ऑप्शन हैं:

  • कुछ लोग कहते हैं कि आप तीन घूंट लें, जबकि दूसरे लोग पीना घूँट पीना पसंद करते हैं।
  • ज्यादातर रूढ़िवादी लोग एक चम्मच का इस्तेमाल करना चुनते हैं क्योंकि वे कहते हैं कि यह इतना असरदार है कि यह लगभग जादुई है।
  • हालांकि ऐसे दूसरे लोग हैं जो इस नुस्ख़े का दुरुपयोग करते हैं, जो किसी भी दूसरे मादक पेय की तरह है, इसके नकारात्मक परिणाम हैं।

औषधीय गुण

ब्राम्ही (Rue)

ब्राम्ही  को स्फूर्तिदायक गुणों के लिए जाना जाता है। यह सर्कुलेशन और पाचन कार्यों को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है।

कुछ संस्कृतियों में, हम लोगों को किसी भी स्थिति से बचाने के लिए घरों के प्रवेशद्वार पर ब्राम्ही लटकाते हुए देख सकते हैं जो उन्हें खतरे में डाल सकती है। यदि पौधा मर जाए तो उसे किसी दूसरी जगह लटका दिया जाता है।

प्रेगनेंसी के दौरान इसका सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि इसे गर्भपात में सहायक पौधा माना जाता है।

नींबू

शरीर को डिटॉक्स करने में मदद करने के लिए नींबू सबसे बेहतरीन फलों में से एक है। यह विषाक्त पदार्थों को खत्म करने में मदद कर सकता है और अम्लीय होने के बावजूद, यह हमारे पीएच लेवल को रेगुलेट करने और हाइपरसिटी को बेअसर करने की क्षमता रखता है।

यह साइट्रिक फल हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है और लिवर, किडनी और आंतों के कामकाज को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है।

इसे भी आजमायें : वेरीकोस वेंस (Varicose Veins) के लिए 5 वैकल्पिक ट्रीटमेंट

रोजमैरी (Rosemary)

ब्राम्ही की तरह रोजमेरी हमारे शरीर को शुद्ध करने में मदद कर सकती है। इसके अलावा यह पाचन के लिए एक उत्कृष्ट पौधा है जो लिवर और आंत के कामकाज को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है।

रोजमेरी इम्यून सिस्टम को मजबूत करने और संक्रमण से लड़ने में मदद कर सकती है क्योंकि यह एक नेचुरल एंटीबायोटिक के रूप में काम करती है।

अंत में, मेंहदी शरीर को उत्तेजित करने में मदद कर सकती है, ब्लडप्रेशर में मामूली वृद्धि कर सकती है और सर्कुलेशन में मदद कर सकती है।

अल्कोहल के बिना हमारा नुस्ख़ा

पुराने कैरुलिम नेचुरल ट्रीटमेंट नुस्ख़े से हमने अल्कोहल के बिना एक और आधुनिक नुस्खा बनाया है जिसमें अभी भी औषधीय तत्व शामिल हैं:

सामग्री

  • 1 ऑर्गनिक नींबू (रस और छिलका)
  • 4 कप पानी (1 लीटर)
  • 1/2 चम्मच रोजमेरी (3 ग्राम)
  • 1 बड़ा चम्मच ब्राम्ही (4 ग्राम)
  • 2 बड़े चम्मच शहद (60 ग्राम)

प्रक्रिया

  • नींबू निचोड़ें और रस को इकठ्ठा करें।
  • कटे हुए नींबू के छिलके और रोजमेरी के साथ उबालने के लिए पानी डालें। इसे 15 मिनट तक पकने दें।
  • जब 13 मिनट बीत गए हैं, तो ब्राम्ही डालें।
  • बर्तन को कवर करें और 10 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • मिश्रण को छानें, नींबू का रस डालें और शहद के साथ मीठा।

कैसे पीना है?

इस नुस्ख़े को कई बार पियें:

  • खाली पेट 2 गिलास।
  • 1 ग्लास मिडमर्निंग के वक्त।
  • दोपहर के समय 1 गिलास।

आप इस मेडिसिनल ड्रिंक को 7 दिनों तक पी सकते हैं…

  • Zhou, T., Zhang, Y. J., Xu, D. P., Wang, F., Zhou, Y., Zheng, J., … Li, H. Bin. (2017). Protective effects of lemon juice on alcohol-induced liver injury in mice. BioMed Research International. https://doi.org/10.1155/2017/7463571
  • Kato, Y., Domoto, T., Hiramitsu, M., Katagiri, T., Sato, K., Miyake, Y., … Harada, T. (2014). Effect on blood pressure of daily lemon ingestion and walking. Journal of Nutrition and Metabolism. https://doi.org/10.1155/2014/912684
  • Al-Sereiti, M. R., Abu-Amer, K. M., & Sen, P. (1999). Pharmacology of rosemary (Rosmarinus officinalis Linn.) and its therapeutic potentials. Indian Journal of Experimental Biology. https://doi.org/10.5897/JMPR10.399
  • Al-Sereiti, M. R., Abu-Amer, K. M., & Sen, P. (1999). Pharmacology of rosemary (Rosmarinus officinalis Linn.) and its therapeutic potentials. Indian Journal of Experimental Biology. https://doi.org/10.5897/JMPR10.399