3 एक्सरसाइज रूटीन, जो करें बाँहों को सुडौल बनाने का चमत्कार

जून 27, 2019
शरीर से फैट को गलाना और संतुलित आहार लेना चर्बी को घटाने में मदद करेगा और बाँहों को सुडौल बनाएगा।

क्या आपने इन तीन  व्यायामों के बारे में सुना है जो आपकी बाँहों को सुडौल बनाते हैं?

ऐसे बहुत से लोग हैं जो मोटापे का शिकार है, जिन्होंने इसका ट्रीटमेंट भी कराया है, डाइट बदली है, यहां तक कि सर्जरी भी कराई है ताकि वे कुछ दुबले-पतले दिख सकें। समस्या यह है कि पेट, पैर और हाथ जैसे कुछ अंग इन सबके बाद भी थुलथुले दिखते हैं।

यही थुलथुले अंग लोगों को तनाव में डाल देते हैं।

सौंदर्य की दृष्टि से ट्राइसेप्स के आसपास निश्चय ही थुलथुली चर्बी अच्छी नहीं दिखती।

बहुत से लोग जिनमें ज्यादातर महिलाएं शामिल हैं, इस स्थिति से निपटने का प्रयास करते हैं। समस्या यह  है कि ये आपकी देह के वे क्षेत्र हैं जहां कठिन से कठिन एक्सरसाइज का असर बहुत ही मुश्किल से ही हो पाता है।

अगर आप इस थुलथलेपन को अपनी बाँहों से दूर करना चाहते हैं, उन्हें टोन करना चाहते हैं, तो यहाँ हम आपको कुछ ख़ास एक्सरसाइज के बारे में बताने जा रहे हैं। इन्हें रोजाना करके आप बाँहों को सुडौल बनाकर आकर्षक शरीर पा सकते है।

मुझे क्या करना चाहिए?

बाइसेप्स या ट्राइसेप्स के लिए व्यायाम करने से पहले यह ज़रूरी है कि पूरे शरीर पर ध्यान दिया जाए।

आपकी डाइट उपयुक्त होनी चाहिए जो न केवल हाथ-पैर जैसे आम अंगों, बल्कि पूरे शरीर से फैट को गलाने में आपकी सहायता करे। तभी आप किसी एक हिस्से पर भी फोकस कर पायेंगे।

बाँहों को सुडौल बनाने के लिए आहार

बाँहों को सुडौल बनाने के लिए फैट गलाएँ

दुर्भाग्यवश सिर्फ किसी एक जगह से ही फैट को हटाना लगभग असंभव है। इसलिए आपको अपने पूरे शरीर से वसा को घटाने का प्रयत्न करना चाहिए।

इसी कारण यह सलाह दी जाती है कि आप लो-कैलोरी डाइट से शुरुआत करें, जिससे भूखा रहे या किसी कठोर  दिनचर्या को अपनाए बिना ही आप फैट कम कर सकें।

यह बहुत ज़रूरी है कि उपवास न रखें या तुरंत परिणाम देने वाले आहार को अपनी दिनचर्या में शामिल न करें, क्योंकि ये उपाय सिर्फ शरीर के तरल और मांसल वजन को कम करते हैं, फैट को नहीं। इसलिए बाँहों को दुबला करने या उन्हें सुडौल बनाने में ये प्रभावी नहीं हैं।

बाँहों को सुडौल बनाने की इस कवायद की शुरुआत भोजन की मात्रा कम करके करें और संतुलित आहार लें जिससे  दिन में पाँच बार खा सकें। इनमें तीन मुख्य भोजन और दो नाश्ते शामिल हों।

कुछ आदतों को बदलने का प्रयास कीजिए: फैट वाले फुल क्रीम दूध की बजाय टोंड मिल्क पियें और कम फैट वाला भोजन करें। ये आपके कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करते हैं।

बाँहों को सुडौल

ज्यादा एनर्जी खर्च करें

ज्यादा ऊर्जा व्यय करके आप अधिक कैलोरी की खपत कर सकते हैं और शरीर की अनावश्यक वसा से अपेक्षाकृत जल्दी और कुशलतापूर्वक निजात पा सकते हैं।

  • प्रतिदिन 20 से 30 मिनट तक टहलने जाना सर्वोत्तम उपाय है। यह मेटाबोलिज्म को सक्रिय करेगा। इसके साथ सही आहार लेने से कम समय में ही बेहतर परिणाम प्राप्त होंगे।

अपने शरीर के लिए किसी भी प्रकार की ट्रेनिंग रेजीम अपनाने से पहले एक सामान्य मेडिकल जांच करके आश्वस्त हो लें कि आपका स्वास्थ्य ठीक है।

इससे आप अपनी एक्सरसाइज सुरक्षित रूप से कर सकते हैं।

बाँहों को टोन कीजिए

बाँहों को सुडौल बनाने, उनका वजन कम करने का सर्वोत्तम विकल्प डम्बल या दूसरे किस्म के वजन का इस्तेमाल करना है जिनसे मांसपेशियों की मशक्कत हो सके।

इन वेट्स की सहायता से आप मांसपेशियों को सिकोड़ पाएंगे और उन्हें टोन कर पाएंगे। हालांकि वेट हर तरह के व्यायाम के लिए जरूरी नहीं है। बिना ज्यादा मेहनत किए ही बाजूओं के व्यायाम के लिए अनेक विकल्प उपलब्ध हैं।

आप इन तीन व्यायामों को अपनी ट्रेनिंग रूटीन में सम्मिलित कर सकते हैं या फिर इन्हें एक संतुलित आहार के साथ स्वतंत्र रूप में भी कर सकते हैं।

1. बाइसेप्स

बाँहों को सुडौल बनाने के लिए बाइसेप्स को मजबूत बनाना सबसे महत्वपूर्ण व‌ सरलतम व्यायाम है।

  • आधा लीटर या एक लीटर वाली दो बोतलों में पानी भरिए।
  • बोतलों को दोनों हाथों में इस प्रकार ले लीजिए जिससे आपकी कोहनियां आपकी तरफ मुड़ी हों।
  • बाँहों को इस प्रकार फैलाएं जिससे कोहनियां 90 डिग्री का कोण बनाएं।
  • पूरी प्रक्रिया के चार दोहराव करें, और इसे 15 बार दोहराएं।
बाँहों को सुडौल बनाने की एक्सरसाइज

2. ट्राइसेप्स

यह बाइसेप्स की प्रक्रिया के जैसा ही है, फर्क बस इतना है कि इसमें आप हाथ ऊपर उठाते हैं।

  • आधा या एक लीटर की बोतल अपने हाथ में ले लें और हाथों को सिर से ऊपर की तरफ उठाएं।
  • कोहनी को मोड़ते  हुए हाथों को पीछे की तरफ झुकाएं।
  • बांहों को फैलाते हुए इस प्रक्रिया को 15 बार दोहराएं।

3. पेट व बांह दोनों के लिए

यह व्यायाम आपके कंधों के साथ पीठ और पेट  की कसरत करवाने में सहायक है।

  • ठुड्डी की ऊंचाई पर अपनी कोहनियों को मिलायें। फिर हाथों को इस प्रकार जोड़ें की हथेलियों की दिशा ऊपर की तरफ हो।
  • सीधे बैठें।
  • कोहनियों को बिना अलग किए माथे तक ऊंचा उठाएं।
  • इस प्रक्रिया को करीब 20 बार दोहराएं।

अब जब आपके पास बाजुओं का वजन कम करने के नुस्खे हैं, तो इंतजार किस बात का? इन्हें आजमायें और अपने सुडौल, छरहरे, आकर्षक व्यक्तित्व से दुनिया को अचंभित करें।