हनुमान फल का जूस पीने के 10 फायदे

अक्टूबर 25, 2019
क्या आपने कभी हनुमाल फल को आजमाने की कोशिश की है? यदि नहीं, तो यहां 10 कारण बताए गए हैं कि आपको इसे क्यों खाना चाहिए!

सैउअसाप (Soursop) यानी हनुमान फल विटामिन और खनिजों से भरपूर एक उष्णकटिबंधीय फल है। इसमें मौजूद तत्वों में विटामिन C, B1 व B2 और मैग्नीशियम, पोटेशियम, कॉपर और आयरन होते हैं

हनुमान फल का वैज्ञानिक नाम एनोना म्यूरीकेटा (Annona Muricata) है। हनुमान फल के स्वाद में स्ट्रॉबेरी और अनानास का संयोजन है। हनुमान फल एनोना फैमिली के सीताफल, रामफल जैसा ही फल है, लेकिन इस ग्रुप में यह सबसे बड़ा होता है। यह मैक्सिकन, कैरिबियन और दक्षिण अमेरिका में होता है। हालांकि अफ्रीका और दक्षिण-पूर्व एशिया में भी कहीं-कहीं इसकी खेती होती है।

यह फल अपने हाई फाइबर कंटेंट के लिए भी जाना जाता है, जो पाचन प्रक्रिया को तेज करता है। विभिन्न स्थितियों के लिए हनुमान फल का जूस पीना एक अच्छा विकल्प है।

दुकानों में इस फल को पाना आपके लिए आसान नहीं होगा। लेकिन यह स्वादिष्ट होता है और कई तरह के जूस और ड्रिंक में उम्दा काम करता है।

इसके शानदार स्वाद के अलावा इसे खाने या पीने पर आपको हेल्थ बेनिफिट भी मिलेंगें।

1. इसमें ऐसे गुण हो सकते हैं जो कैंसर से लड़ने में दद करते हैं

यह साबित हुआ है कि हनुमान फल का जूस पीने से कैंसर या किसी दूसरे घातक ट्यूमर का रिस्क कम करने में मदद मिल सकती है

इसके अलावा, यह उन कुछ नेचुरल ट्रीटमेंट में से एक है जिनमें कई प्रकार के कैंसर – विशेषकर ब्रेस्ट, कोलोन, प्रोस्टेट और लंग कैंसर – को रोकने वाली खूबियाँ हैं

  • हनुमान फल का जूस पीने से शरीर के लिए एंटीऑक्सिडेंट मिलता है क्योंकि यह कैंसर जैसे पुराने रोगों का कारण बनने वाले टॉक्सिक पदार्थों को खत्म करने में मदद करता है
  • इस कारण कुछ एक्सपर्ट सलाह देते हैं कि कैंसर के रोगी दूसरे ट्रीटमेंट के प्राकृतिक सहयोगी के रूप में हनुमान फल का जूस का सेवन करते हैं।

2. वजन कम करने के लिए हनुमान फल का जूस पीना बहुत अच्छा है

वजन कम करने के लिए हनुमान फल का जूस

यह फल वजन घटाने में मदद करता है क्योंकि इसमें कैलोरी कम होती है। 100 ग्राम हनुमान फल  में सिर्फ 65 कैलोरी होती है।

अगर आपका लक्ष्य वजन कम करना है, तो यह सबसे अच्छे फलों के जूस में से एक है

सामग्री

  • 1 पका हुआहनुमान फल
  • डेढ़ कप दूध, वाष्पित दूध या पानी (375 ग्राम)
  • 1 चम्मच जायफल (nutmeg) (4.7 ग्राम) (वैकल्पिक)
  • 1 बड़ा चम्मच वेनिला (14.3 ग्राम) (वैकल्पिक)
  • ½ चम्मच ग्रेटेड अदरक (2.4 ग्राम) (वैकल्पिक)
  • 1 बड़ा चम्मच शहद (25 ग्राम) (वैकल्पिक)

निर्देश

  • फल को छीलकर दूध के कटोरे में डालें।
  • हाथों से फलों को निचोड़ें और रस को दूध में मिलाएं।
  • अगर यह मुश्किल लगे तो आप इसे ब्लेंडर से भी कर सकते हैं। हालांकि, अगर आप ब्लेंडर का इस्तेमाल करेंगे तो बीज और फाइब्रस पल्प को निकालने के लिए जूस को छानना होगा।
  • बची हुई सामग्री को स्वादानुसार डालें।
  • हनुमान फल का जूस आमतौर पर अच्छा लगता है अगर आप इसे ठंडा या बर्फ के साथ पिएँ।

इसे भी पढ़ें : 4 फल जो कैंसर का खतरा कम कर सकते हैं

3. यह आपके अंगों की हिफाजत और उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करता है

हनुमान फल का जूस पीने से नर्व डैमेज को रोकने और हृदय की सेहत को बनाए रखने में मदद मिलती है

  • इसमें मौजूद विटामिनB1 की बदौलत यह फल मेटाबोलिज्म को तेज करता है, जो आपके ब्लड सर्कुलेशन और ब्लड प्रेशर को बेहतर बनाने में मदद करता है।
  • इसके अलावा, इसकी विटामिन बी 2 सामग्री आपको ऊर्जा देने, तंत्रिका तंत्र को सुचारू रूप से कार्य करने और हृदय स्वास्थ्य बनाए रखने के लिए आवश्यक है।
  • इसकी बड़ी मात्रा में विटामिन सी इसे एक उत्कृष्ट एंटीऑक्सिडेंट बनाते हैं। इस पोषक तत्व के साथ, यह शरीर के रोगों के प्रतिरोध को बढ़ाने में मदद करता है और बुढ़ापे की प्रक्रिया को धीमा कर देता है।

4. हनुमान फल का जूस पीने से आप फ्लू से बचा सकते हैं

हनुमान फल का जूस पीने से आप फ्लू

विटामिन C की भारी मात्रा की बदौलत हनुमान फल फ्लू और सामान्य सर्दी-जुकाम को रोकने में भी मदद करता है

विटामिन C इम्यून सिस्टम को मजबूत करने के मामले में पॉजिटिव असर डालता है। यह आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को वायरस और बैक्टीरिया का मुकाबला करने के लिए डिफेन्स सिस्टम को बढ़ाता है

इसके अलावा इसके पोषण गुण आपके शरीर को स्वस्थ रहने की सहूलियत देते हैं।

5. यह आपकी हड्डियों को सख्त बनाता है और ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा कम करता है

फॉस्फोरस और कैल्शियम की प्रचुर मात्रा की बदौलत यह फल हड्डी और दांतों की सेहत को बढ़ावा देने के लिए आदर्श है।

एक्सपर्ट मेनोपाज से गुजर रही महिलाओं के लिए इसकी सिफारिश करते हैं, क्योंकि एस्ट्रोजेन की कमी से होने वाली हड्डियों की घनत्व में कमी से बचने का एक शानदार तरीका है।

6. हनुमान फल का जूस पीना लिवर के लिए अच्छा होता है

इस फल को रेगुलर खाना लिवर और गाल ब्लैडर दोनों के कामकाज को सपोर्ट करता है। यह एंटीऑक्सिडेंट से समृद्ध है। यह लिवर की शुद्धि को बढ़ावा देता है।

7. यह डायबिटीज के शिकार लोगों के लिए एक स्वस्थ विकल्प है

इस फल में मौजूद शुगर का मेटाबोलिज्म आसान होता है और उनके कम्पाउंड ब्लड शुगर की बढ़त को स्टेबल रखने में मदद कर सकते हैं

डायबिटीज से पीड़ित लोगों के लिए बिना पके हुए हनुमान फल का जूस एक नेचुरल विकल्प है। यह ड्रिंक शुगर लेबल को बदले बिना ज़रूरी कैलोरी प्रदान करेगा।

इसे भी पढ़ें : स्ट्रेस, एंग्जायटी और डर से उबरने की 14 ट्रिक्स

8. हनुमान फल आंतों के संक्रमण को कंट्रोल करता है

इसमें मौजूद नेचुरल फाइबर के कारण हनुमान फल का रस कब्ज के खिलाफ एक शक्तिशाली हथियार है।

दूसरी ओर यह आंतों की फ्लोरा को बहाल करने में भी उपयोगी है। यह आपके पाचन तंत्र के अनुकूलन की ओर जाता है।

9. अनिद्रा की समस्या वाले लोगों के लिए यह मददगार है

जो अनिद्रा से पीड़ित हैं, नींद से जुड़ी उनकी बीमारियों से निपटने में हनुमान फल खाने की सलाह दी जाती है। यह फल शांतिपूर्ण और आरामदेह नींद पाने में मदद करने के लिए जाना जाता है।

एक्सपर्ट उन लोगों के लिए भी इसकी सिफारिश करते हैं जो क्रॉनिक एंग्जायटी या स्ट्रेस से पीड़ित हैं। इसमें ऐसे पोषक तत्व होते हैं जो नर्व सिस्टम पर काम करते हैं। इसके अलावा यह एक नेचुरल सेडेटिव के रूप में काम करता है जो आपको बिस्तर पर जाने से पहले रिलैक्स होने में मदद करेगा।

10. हनुमान फल एनर्जी बढ़ाता है

नुकसानदेह तत्वों से बने कमर्शियल एनर्जी बूस्टर का सहारा लेने से बचने के लिए यह ध्यान में रखना चाहिए कि हनुमान फल ऊर्जा का हेल्दी सोर्स है

इसमें फ्रुक्टोज़ की पर्याप्त मात्रा होती है, जितनी आपको फलों से नेचुरल शुगर मिल सकता है। यह शरीर को शारीरिक और मानसिक दोनों तरह से सक्रिय कर सकता है।

दिन की एनर्जी भरी शुरुआत के लिए हम नाश्ते में हनुमान फल का जूस पीने की सलाह देते हैं।