अपने पिम्पल्स को आपको क्यों नहीं फोड़ना चाहिए

जुलाई 1, 2019
एक बात तो आपको माननी ही पड़ेगी: अपने चेहरे पर मौजूद उन भद्दे पिम्पल्स को फोड़ देना हम सभी को अच्छा लगता है। लेकिन अपने पिम्पल्स को फोड़ देने का मतलब होता है ज़िन्दगीभर के लिए ऐसी परेशानियों को दावत देना, जिनसे अपनी ख़ुराक और चेहरे पर इस्तेमाल की जाने वाली कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स के मामले में थोड़ी-सी सावधानी बरतकर बचा जा सकता है।

क्या कभी अपने पिम्पल्स (pimples) या चेहरे के मुँहासे को फोड़ देने का आपका बहुत मन किया है? अपने मन के घोड़ों पर ज़रा लगाम लगाइए! अपने पिम्पल्स को फोड़ देने से आप ज़िन्दगीभर के लिए ऐसी समस्याओं को दावत दे सकती हैं। अपनी ख़ुराक और अपने चेहरे पर इस्तेमाल की जाने वाली कॉस्मेटिक प्रोडक्ट के मामले में थोड़ी-सी सावधानी बरतकर इनसे बचा जा सकता है।

अपने पिम्पल्स को फोड़ने से परहेज़ करें

अपना कोई पिम्पल फोड़ते हुए रंगे हाथ पकड़े जाने पर अपनी माँ या पार्टनर से आपने कितनी बार डांट खाई है? पर शायद वह डांट खाने के बाद भी उस पिम्पल को फोड़ देने की आपकी इच्छा ज़रा भी कम न हुई हो। पिम्पल्स की अनदेखी करना बहुत मुश्किल होता है। वे भद्दे होते हैं, उनमें दर्द होता है व सच कहें तो उन्हें फोड़ने में हमें एक अजीब-सा मज़ा आता है।

लेकिन यहाँ सवाल तो यह है कि क्या उन्हें फोड़ देना इतना बुरा होता है? जी हाँ!

इस बात की पुष्टि की जा चुकी है कि आपको अपने पिम्पल्स को नहीं फोड़ना चाहिए। यहाँ तक कि त्वचा विशेषज्ञों का भी यही मानना है कि अपने पिम्पल्स को फोड़ देने का बिल्कुल उल्टा असर पड़ता है। उनका कहना है कि ऐसा कर उनके ‘न होने’ से होने वाले नुकसान उनके होने से पैदा होने वाली खीज से कहीं ज़्यादा होते हैं

पिम्पल्स आपकी त्वचा पर कुछ ही दिनों तक रहते हैं, लेकिन उन्हें ज़बरदस्ती हटा देने के नतीजे जिंदगीभर आपके साथ रह सकते हैं

क्या यह जोखिम उठाने के लिए आप तैयार हैं? अगर हाँ, तो इस लेख की मदद से जानिए कि दरअसल हम आपसे ऐसा क्यों कह रहे हैं। सबसे पहले तो हम इस बात पर थोड़ी गहराई से गौर करेंगे कि आख़िर पिम्पल्स होते क्या हैं और वे हमारी त्वचा पर पैदा क्यों होते हैं। उसके बाद हम उन्हें न फोड़ने के दो कारणों पर एक नज़र डालेंगे।

इसे भी आजमायें : 5 टॉप घरेलू ट्रीटमेंट अंडर आई बैग्स के लिए

पिम्पल्स आख़िर होते क्या हैं, वे क्यों उभरते हैं?

अब कहें पिम्पल्स को अलविदा

अक्सर हम पिम्पल्स को किशोरावस्था के साथ जोड़ देते हैं, पर पिम्पल्स के होने के कारण से ज़्यादातर लोग अनजान होते हैं। हमेशा की तरह, उनके लिए हमारी शारीरिक प्रणाली में मौजूद कुछ कारण ज़िम्मेदार होते हैं। अपने खान-पान, हवा की गुणवत्ता या फ़िर अपने हॉर्मोन में आए बदलावों की वजह से हमारे शरीर में ज़रूरत से ज़्यादा टॉक्सिन जमा हो जाते हैं

पिम्पल्स का उभरना इस चेतावनी के कई संकेतों में से एक होता है।

इसी बात को आगे ले जाते हुए हम यह कह सकते हैं कि कील-मुहांसों और पिम्पल्स की समस्याओं से जूझते किसी भी व्यक्ति को अपनी कुछ आदतों में बदलाव लाने के बारे में सोचना चाहिए। ऐसा करके आप यह सुनिश्चित कर लेंगे कि फोड़ने के लिए आपके चेहरे पर कोई पिम्पल्स ही नहीं हैं!

जहाँ तक सवाल खान-पान का है तो अपनी ख़ुराक में सावधानी बरतकर आपको इन चीज़ों का कम से कम सेवन करना चाहिए:

  • सैचुरेटेड फैट्स
  • तले हुए खाद्य पदार्थ
  • एडेड स्वीटनर्स
  • सफ़ेद चीनी

इन चीज़ों को हज़म करना बेहद मुश्किल होता है व इनके हानिकारक कंपाउंड हमारे शरीर के अंदर ही रह जाते हैं। उनसे छुटकारा पाने की अपनी कोशिश में हमारा शरीर उन्हें पिम्पल्स में तब्दील कर देता है। शराब आदि व कार्बोनेटेड ड्रिंक्स के साथ भी कुछ यही कहानी होती है।

साथ ही, अपने मेकअप में आप कौन-सी सामग्री का इस्तेमाल कैसे कर रही हैं, इस बात में भी आपको काफ़ी सावधान रहना चाहिए। यह सच है कि कॉस्मेटिक उद्योग अपनी प्रोडक्ट्स को हमारी त्वचा के लिए बेहतर बनाने की भरपूर कोशिश कर रहा है। लेकिन इस काम में अभी तक वे पूरी तरह से कामयाब नहीं रहे हैं व इसमें सफल रहने वाली गिनी-चुनी चीज़ें अभी हरेक के लिए आसानी से उपलब्ध भी नहीं हैं।

इसीलिए अपनी त्वचा को हफ्ते में कुछ दिन का आराम आपको ज़रूर देना चाहिए। अपनी सभी कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स की सामग्री-सूची को भी आपको एक बार ध्यान से पढ़ लेना चाहिए। अपनी त्वचा को दुरुस्त बनाकर उसमें नमी लाने के लिए प्राकृतिक उपायों का सहारा ले लेने में भी कोई हर्ज़ नहीं होता।

तो चलिए, अब पिम्पल्स को फोड़ देने से पैदा होने वाली दो प्रमुख समस्याओं पर गौर करते हैं।

इसे भी आजमाएं : 4 नाईट क्रीम घर पर बनाएं, पायें स्वस्थ शानदार त्वचा

अपने पिम्पल्स को आपको क्यों नहीं फोड़ना चाहिए

अपने पिम्पल्स को फोड़ने से परहेज़ करें

1. आपको संक्रमण हो सकता है

अपनी ज़िन्दगी में हम सब ने कभी न कभी तो कोई पिम्पल फोड़ा ही है। उसे फोड़ देने के बाद रह जाने वाले छोटे-से निशान से भी आप वाकिफ़ ही होंगी। आमतौर पर हम उस पर इतना ध्यान नहीं देते, और देंगे भी क्यों? आख़िर परेशान कर देने वाले उस पिम्पल से हमें छुटकारा जो मिल चुका होता है! लेकिन वह निशान किसी घाव जैसा ही होता है। आसान शब्दों में कहें तो उसके संक्रमित हो जाने का खतरा लगातार बना ही रहता है।

नतीजतन उसके इलाज के लिए आपको एंटीबायोटिक दवाओं का सहारा लेना पड़ जाता है, जो आपके चेहरे पर मौजूद उस जटिलता से तो आपको राहत दिला देते हैं, पर आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा जाते हैं। यानी कि आपका नुकसान दुगुना होता है

2. आपके चेहरे पर दाग-धब्बे हो जाते हैं

ऐसा करने के दरअसल और भी कई साइड इफेक्ट होते हैं। क्या आपने ऐसे लोगों को देखा है, जिनके चेहरे पर दाग ही दाग होते हैं? ज़्यादातर मामलों में ऐसा पिम्पल्स को फोड़ देने की वजह से होता है।

कुछ लोगों की त्वचा बेहद संवेदनशील होती है। फोड़े जाने पर उनके पिम्पल्स अपने पीछे छोड़ जाते हैं ऐसे निशान, जिनसे छुटकारा पाना नामुमकिन होता है। कई लोग उन्हें मेकअप से ढकने का रास्ता तो अपना लेते हैं, पर यह भी कोई सही रास्ता नहीं होता। मेकअप उनके चेहरे पर और दाग-धब्बों को सबब जो बन सकता है।

अपने पिम्पल्स को अकेला छोड़ दें

पिम्पल्स का सबसे अच्छा इलाज होता है, उन्हें अपने हाल पर छोड़ देना। हाँ, लगातार होने वाले पिम्पल्स से निपटने के लिए आपको अपने डॉक्टर की सलाह ले लेनी चाहिए। ज़्यादातर विशेषज्ञ आपको ऐसी क्रीम्स और लोशन का इस्तेमाल करने की सलाह देंगे जो आपके चेहरे के प्रभावित भाग का इलाज कर वहां पिम्पल्स को पैदा होने से रोक देंगे।

हालात कुछ भी हों, प्राकृतिक क्लेंजर्स, टोनर्स और मॉइस्चराइज़र से अपने चेहरे को धोना एक अच्छी आदत होती है। आख़िर रोकथाम ही तो सबसे अच्छा इलाज होता है।

कुल मिलकर देखा जाए तो जहाँ अपने चेहरे पर मौजूद पिम्पल्स को फोड़ देना हमेशा ही एक लुभावना ख्याल होता है, इस लेख को पढ़ने के बाद शायद आप खुद को ऐसा करने से रोक सकें। कोई भी समझदार इंसान सब कुछ जानते-समझते हुए भी अपने चेहरे पर दर्जनों दाग-धब्बे या फ़िर अपने खून में कई सारे एंटीबायोटिक नहीं रखना चाहेगा।

Revuz, J. (2010). Diet and acne. Annales de Dermatologie et de Venereologie. https://doi.org/10.1016/S0151-9638(10)70048-X